Secret World of Dreams in Hindi

 

“गुजरा कल और कुछ नहीं, बल्कि आज के दिन की स्मृति है; और आने वाला कल, आज का सपना है।”
– खलील जिब्रान

 

Top Secret World of Dreams in Hindi
सपने हमारे आने वाले कल और जीवन की झलक हैं

Understand the Secret of Dreams सपनों के रहस्य को सुलझाइये : –

सपनों का अर्थ जानने की इच्छा रखने वाले लोगों की संख्या हजारो-लाखों में है और जनसामान्य में उनके प्रति कौतूहल भी बहुत अधिक है। लेकिन जानकारी के अभाव में अपने अविज्ञात जीवन को जानने-समझने का एक अत्यंत सरल और महत्वपूर्ण सूत्र हमारे हाथ से ऐसे ही निकल जाता है। हम नहीं चाहते कि हमारे पाठकों को भी दूसरे लोगों की तरह इस अवसर से वंचित रहना पड़े।

केवल थोडा सा प्रयास करने पर वह अपने आगामी जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं की एक झलक अपने सपनों के जरिये पा सकते हैं। पिछले लेख में हम पढ़ चुके हैं कि हमें सपने क्यों दिखाई देते हैं और सपनों को समझने के लिए किन बातों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। इस लेख में हम यह जानेंगे कि अच्छे और बुरे सपनों का स्वरुप क्या है और उनका विशेष अर्थ क्या है?

किसी व्यक्ति को दिखाई देने वाले सपने, मन के भावों के अनुसार हजारों-लाखों की संख्या में हो सकते हैं, इतने अधिक सपनों का फल बता पाना, किसी भी मनुष्य की सामर्थ्य के बाहर की बात है। इसलिए यहाँ हमने प्रचलित सपनों का फल कहने का ही प्रयास किया है। आगे इस विषय पर एक अलग पुस्तक के जरिये और अधिक सपनों के स्वरुप और उनके फल पर चर्चा की जायेगी।

Form of Dreams and Their Consequence स्वप्न का स्वरुप और उनका फल : –

सबसे पहले यहाँ पर कुछ ऐसे सपनों के विषय में बताया जा रहा है जो प्रायः अधिकांश लोगों को दिखाई देते हैं। लगभग किसी न किसी व्यक्ति ने अपने पूरे जीवन में इनमे से कोई न कोई सपना अवश्य ही देखा होगा –

1. Getting Money धन की प्राप्ति होना –

यह स्वप्न कई लोगों को, कई तरह से दिखा हैं – जैसे – राह चलते सोने और चांदी के सिक्के चुगना, नोटों के बण्डल उठाना, किसी व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति को प्रचुर धन उपहार में देना, अपने या अन्य किसी के ऊपर धन की वर्षा का होना, बहुत सारे धन का पैरों के नीचे पड़ा होना, किसी स्थान पर पड़े धन को संकेत रूप में दिखलाया जाना आदि।

हो सकता है कि यह स्वप्न आपको किसी अन्य रूप में दिखायी पड़ा हो। इन सभी सपनों में आपको धन अवश्य ही प्राप्त हुआ है, पर इसका यह तात्पर्य नहीं है कि वास्तविक जीवन में आपको धन निश्चित रूप से मिल ही जायेगा। जैसे – यदि आप स्वप्न में स्वयं को राह चलते सोने और चांदी के सिक्के चुगते देखते हैं, तो इसका यह अर्थ नहीं है कि आपको धन कहीं पर पड़ा हुआ मिल जायेगा

बल्कि इसका यह तात्पर्य है कि आपको जल्दी ही एक ऐसा अवसर प्राप्त होने वाला है जो आपके लिए धन-प्राप्ति का कारण बनेगा। क्योंकि महत्वपूर्ण अवसर भी किसी धन से कम नहीं होता है। यह स्वप्न यह भी इंगित करता है कि आपको अपने जीवन में मिलने वाले छोटे-छोटे अवसरों का उपयोग करके ही आगे बढ़ना पड़ेगा।

एकदम से किसी बड़ी उपलब्धि या अवसर का मिलना संभव नहीं है। उपहार में धन-प्राप्ति का अर्थ है – आपको दूसरे के जरिये जल्दी ही कुछ लाभ होने वाला है, यह धन के रूप में भी हो सकता है और अन्य किसी साधन के द्वारा भी। धन-वर्षा का तात्पर्य है – आपके जीवन में सुख का दीर्घकाल के लिए आगमन होने वाला है,

आपके सुकृतों का पुण्यफल एक साथ उदय हुआ है यह धन, कार्य-व्यवसाय की सफलता, इष्ट-मित्रों की प्राप्ति और अचानक प्राप्त हुए शानदार अवसर और उपलब्धि के जरिये आपके जीवन में घटित होगा। ठीक इसी तरह आप अपने दूसरे सपनों के संकेत समझ सकते हैं।

2. गड्ढे या कुँए में गिरना –

प्रतिष्ठा का नाश होना, अवनति होना, कार्य का असफल होना, बुरे समय का आरम्भ

3. स्वयं या अन्य को नंगा देखना –

जल्दी ही किसी विपत्ति का आना, मान नष्ट होना, मृत्युतुल्य कष्ट का आगमन

4. ऊंचाई से गिरना –

अचानक किसी संकट में फँसना

5. धन का छीना जाना –

सुख की निवृत्ति व दुःख का आगमन,

6. रक्त व मांस का दिखना –

सामान्य अवस्था में शुभ है, परन्तु यदि पहले से ही संकटग्रस्त व्यक्ति को यह वीभत्स रूप में दिखाई दे तो अत्यंत भीषण संकट की ओर संकेत करता है।

7. दुग्ध और श्वेत चीज़ों का दर्शन होना –

शुभ है, कार्य-व्यवसाय में लाभ होगा, सुख-शांति सभी ओर से जीवन में आयेगी, इष्ट-मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा।

8. धर्मस्थान के दर्शन करना –

धर्मस्थान (मंदिर, चर्च आदि) का दर्शन शुभ है यह सौभाग्य का, सुखमय जीवन का संकेत है, परेशानियाँ दूर होंगी।

9. यात्रा पर जाना –

पैदल यात्रा जीवन संघर्षपूर्ण रहने का संकेत है, वाहन से यात्रा करना जीवन सुखमय बीतने का संकेत है।

10. सर्पों व नागों का दिखाई देना –

आपत्ति का, पित्रदोष का सूचक

11. काले रंग की, अनेक रूप धारण करने वाली मलिन वेशधारी स्त्री का दिखना –

भयंकर दैवी प्रकोप और दुर्भाग्य, पतन व पीड़ा का सूचक

Dreams of Adversity अशुभ स्वप्न : –

1. अपनी नाभि के अतिरिक्त दूसरे अंगों में घास-फूस व पेड़ों का उगना –
2. मस्तक पर कांसे का कूटा जाना –
3. स्वयं को मुंडित(गंजा) देखना –
4. स्वयं को नग्न देखना –
5. गंदे वस्त्रों को पहनना –

6. देह में तेल लगाना –
7. कीचड़-मिटटी में धँसना –
8. शरीर पर लेप लगाना –
9. ऊँचे स्थान से गिरना –
10. झूले पर चढ़ना –

11. कीचड़ और लोहे को इकठ्ठा करना –
12. घोड़ों को मारना-पीटना –
13. लाल फूल वाले पेड़ दिखना –
14. गधे, सूअर, रीछ और ऊँट पर चढ़ना –
15. पक्षी, मछली, तेल और खिचड़ी का भोजन –

16. स्वयं को या अन्य को नाचते, हँसते और गाते हुए देखना –
17. अपना या अन्य किसी का विवाह होते देखना –
18. वीणा को छोड़कर अन्य बाजों को देखना, बजाना –
19. जल के सोते में स्नान करने के लिए जाना –
20. गोबर लगाकर पानी में नहाना –

21. कीचड के पानी में तथा धरती के थोड़े पानी में नहाना –
22. माँ के पेट में प्रवेश करना –
23. चिता पर चढ़ना –
24. इन्द्रध्वज का गिरना –
25. चंद्रमा और सूर्य का पतन(अस्त) होते देखना –

26. आसमान में बिजली चमकना, भूकंप, तूफ़ान आदि दैवी कोप देखना –
27. कुमारी कन्याओं का आलिंगन करना –
28. अपने शरीर का नाश होता देखना –
29. पुरुषों या स्त्रियों के साथ सम्भोग करना –
30. उल्टी-दस्त होते देखना –

31. दक्षिण दिशा की यात्रा करना –
32. किसी रोग से पीड़ित होना –
33. फूलों और फलों का नाश करना –
34. घरों का गिरना, घरों की सफाई होना –
35. पिशाच, माँसाहारी जीवों, बंदरों, रीछ और मनुष्यों के साथ खेलना –

36. दुश्मन से हारना या से उससे किसी तरह का खतरा दिखाई देना –
37. काषाय वस्त्र धारण करना या वैसे वस्त्र पहनने वाली स्त्री के साथ क्रीडा करना –
38. तेल पीना या उसी में स्नान करना –
39. लाल फूल और लाल चन्दन को धारण करना –
40. अपना विवाह होता देखना

41. साँप का दिखाई पड़ना –
42. चूहे और टिड्डीयों का दिखाई देना –
43. नाभि का स्पर्श करना –

Remedy of Bad Dreams उपचार –

ये स्वप्न यदि किसी व्यक्ति को दिखाई दें, तो समझना चाहिये कि कार्यों में अवरोध उत्पन्न होने की प्रबल सम्भावना है। बुरे सपने दिखाई देने पर उन्हें तुरंत ही उठकर दूसरे से कह देना चाहिये और कुछ देर के लिए पुनः सो जाना बेहतर है। जब कभी आपको ऐसे सपने दिखाई दें और उस समय आपका मन शांत रहा हो तो उनकी शांति करने के लिए प्रातः उठकर स्नान करे, फिर गायत्री मंत्र का जाप करते हुए प्रभु की उपासना करे, अग्निहोत्र करके बड़ों का आशीर्वाद लें, दीन-दुखियों की सेवा करें। सेवा किसी भी अनिष्ट की शांति का सबसे प्रभावशाली माध्यम है। किसी विशेषज्ञ की मदद लें सकते हैं।

Auspicious Dreams शुभ स्वप्न : –

1. पहाड़ और राजमहल पर चढ़ना –
2. हाथी, घोड़े और बैल पर चढ़ना –
3. सफ़ेद फूलों वाले पेड़ों पर चढ़ना –
4. नाभि में घास-फूस और पेड़ों क पैदा होना –
5. कई सारे सिरों और भुजाओं का होना –

6. फलों का दान करना –
7. सुन्दर, श्वेत माला पहनना, श्वेत वस्त्र पहनना –
8. सूर्य, चंद्रमा, ग्रह और तारों को हाथ से पकड़ना, उन्हें साफ़ करना –
9. इन्द्रधनुष को पकड़ना या उसे ऊपर उठाना –
10. धरती और समुद्र को निगलना, उनका जल पीना –

11. कच्चे माँस और मछली को खाना –
12. रक्त का दर्शन या उसमे स्नान करना –
13. शराब, खून, खीर और दूध पीना –
14. अपनी आँतों से धरती को बांधना –
15. निर्मल, स्वच्छ आकाश को देखना –

16. गाय, भैंस, बकरी, हथिनी, शेरनी और घोड़ी को देखना या अपने मुख से उनका दूध पीना –
17. देवता, गुरु, तपस्वी, श्रेष्ठ वीर और ब्राह्मणों के दर्शन करना, उनके चरण छूना, प्रसन्न देखना –
18. गौओं के सींगों से जल चूकर अपने ऊपर गिरना –
19. चंद्रमा से गिरे जल का मस्तक पर गिरना –
20. राज्याभिषेक होना, सिर का कटना –

21. मृत्यु होना –
22. आग का जलना, घर में आग लगना –
23. दुश्मनों का नाश करना व उनसे जुए, लड़ाई और विवाद में जीतना –
24. राजचिंह हासिल होना, वीणा का स्वर सुनाई पड़ना –
25. जल में तैरना, समुद्र व नदी को साहस से पार करना –

26. दुर्गम स्थानों को पार करना –
27. घर में गाय, हथिनी और घोड़ी के बच्चे को जन्म देना –
28. घोड़े पर सवार होना –
29. किसी को रोते देखना –
29. सुन्दर स्त्रियों की प्राप्ति होना तथा उनका आलिंगन करना –
30. जंजीरों में बंधना, शरीर पर मल-मूत्र का लेप करना –

31. जीवित मित्रों को देखना –
32. देवताओं और निर्मल जल का दर्शन –
33. सूर्य, चन्द्र और इन्द्रध्वज को देखना –
34. नेवला दिखाई देना –
35. श्रंगार, चँवर और दर्पण देखना

36. सोने-चाँदी के आभूषण देखना
37. बालों का गिरना
38. वृक्षारोपण करना
39. गाय, भैंस और शेरनी को बाँधना
40. शेर और भेड़ को तथा जलचर जंतु को मारकर स्वयं खाने से

41. स्वयं के अंग या अस्थि को देखना
42. अग्नि का भक्षण करना, मदिरा पीना
43. सोने, चाँदी और पद्यपत्र के पात्र में खीर खाना
44. जुए या युद्ध में अपनी विजय देखना
45. अपने शरीर का जलना देखना और स्वयं के सिर को बंधन में देखना

46. घोड़े और पशु-पक्षी को देखना
47. अश्व या रथ पर यात्रा करना
48. वेदाध्ययन देखना
49. सुन्दर अंगों को देखना
50. सपने में कीड़ों का भोजन करना
51. मंगलदायक वस्तुओं को देखना(ढोल-बाजे, वीणा आदि)

“सपनें आने वाले कल की वास्तविकताओं के बीज हैं।”
– अरविन्द सिंह

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!