Realize Value of Time Management in Life

 

“भविष्य को वैसा समय मत बनने दीजिये, जब आप यह कामना करें कि आपको वह काम करना चाहिए था, जो आप आज नहीं कर रहे हैं।”
– अज्ञात

 

समय यूँ तो एक छोटा सा शब्द है, पर मनुष्य के संपूर्ण जीवन को अपनी परिधि में समेटे हुए है। जन्म और मृत्यु जिसके दो छोर कहे जा सकते हैं। जिंदगी में दूसरी सभी चीजें तो मिलती और बिछडती रहती हैं, लेकिन बस समय ही एक ऐसी चीज़ है, जो लगातार हमसे बिछड ही रहा है। मुट्ठी में पानी को शायद रोककर रख भी लिया जाये, पर समय को इच्छानुसार रोकना, उस पर पूर्ण नियंत्रण करना संभव नहीं है।

हम इसे बचाने के लिये जो कर सकते हैं, वह बस यह है कि आज मिले हुए समय को ही पूरी दक्षता से भुना लें, आज ही उसका भरपूर सदुपयोग कर लें। क्योंकि एक बार बीत जाने के बाद, फिर उसे लौटाया जा सकना संभव नहीं है।

Time is Priceless समय अमूल्य है : –

समय बेशकीमती है। शायद इसीलिए Benjamin Franklin ने कहा है, “खोया हुआ समय फिर कभी हासिल नहीं होता।” इस जीवन में एक भी क्षण ऐसा नहीं है जिसे हम साधारण कह सकें। हर क्षण असाधारण और अमूल्य है। समय के एक विशेष क्षण ही हमने जन्म लिया था और एक निश्चित समय ही हम इस काया के पिंजरे को छोड़ेंगे।

वह भी समय का एक क्षण ही होता है, जो हमें प्रसन्नता या अप्रसन्नता महसूस कराता है, हमें सफलता का आशीर्वाद देता है या फिर असफलता के गर्त में फेंक देता है। हर क्षण अपने साथ कितने ही चित्र-विचित्र अनुभव लाता है। समय की ये चाल देखते हुए, सच्ची बुद्धिमानी इसी बात में है कि हम समय के हर क्षण का ढंग से सदुपयोग कर लें।

समय अपने साथ अनेकों वरदान और बेशकीमती अवसर लेकर आता है, लेकिन समय की कीमत जानने वाले और मौके पर न चूकने वाले सतर्क व्यक्ति ही बुद्धिमानी से उसका उपयोग कर पाते हैं। जो लोग अपना जीवन बिना किसी उद्देश्य के और असावधानी से गुजारते हैं, वे उन महत्वपूर्ण उपलब्धियों को पाने से चूक जाते हैं।

कई लोग तो उन चीज़ों को भी गवां देते है, जो पहले ही उनके पास होती हैं। अगर कोई व्यक्ति ध्यान से असफलता के कारणों की खोज करे, तो वह पायेगा कि केवल अपने अन्दर बसे आलस्य और अनियमितता की वजह से ही वह असफल हुआ है। काम से जी चुराने वाली यह बुराई समय को फूलझडी की तरह जलाकर राख कर देती है।

Realize Value of Time समय की कीमत पहचानिये : –

जिंदगी में समय की कितनी कीमत है, इसे हर कोई नहीं समझ सकता। समय की वास्तविक कीमत तो वही आदमी बता सकता है, जिसने समय की कीमत पर बहुत कुछ खोया हो। शायद यह घटना समय की कुछ महत्ता बता सके –

कुछ साल पुरानी बात है। दो व्यक्ति सड़क पर अपने वाहन से जा रहे थे। यह सड़क वन विभाग के क्षेत्र में पड़ती थी। अचानक जंगल से दो हिरण लड़ते-झगड़ते सड़क पर आ गए। उनका आना इतना अप्रत्याशित था कि वे लोग उन्हें सही तरह से देख भी नहीं सके। अचानक बचाने के चक्कर में गाडी फिसली और दोनों आदमी गिर पड़े। दोनों बुरी तरह घायल थे और मदद की पुकार लगा रहे थे।

एक तो उस वीरान क्षेत्र से कम ही लोग निकलते थे, लेकिन जो उस रास्ते से गुजर रहे थे उन्होंने भी कोई मदद न की। किसी तरह उनमे से एक घायल व्यक्ति ने जो अब तक कुछ होश में था, किसी तरह अपने एक परिचित को फ़ोन किया और फिर बेहोश हो गया। वह परिचित वहाँ से लगभग 100 किमी. दूर था, इसलिए पहुँचने में 2 घंटे लग गए।

हॉस्पिटल ले जाने के थोड़ी देर बाद ही दोनों लोगों ने दम तोड़ दिया । दुखी मन से डॉक्टर ने कहा, अगर आप इन्हें थोड़ी देर पहले ले आये होते, तो इन लोगों की जान बचाई जा सकती थी। 10-15 मिनट का समय हम ज्यादा नहीं मानते, लेकिन इतना समय भी जीवन में अनेकों अवसरों पर अमूल्य सिद्ध होता है; जिसे हम बड़ी से बड़ी कीमत देकर भी हासिल नहीं कर सकते हैं।

Walk with Time समय के साथ चलिए : –

निस्संदेह समय बेशकीमती है। अपनी सारी संपत्ति को दांव पर लगाकर भी हम, जिंदगी में समय के दो पल नहीं खरीद सकते हैं। भले ही यह कम हो या ज्यादा, लेकिन यही हमारी जिंदगी का दर्द है, फिर भी हम इस सच को स्वीकार नहीं करना चाहते। हमारे अवचेतन में छुपी हुई वासनाएं, आदतें और संस्कार हमारी चेतना पर इतने ज्यादा छाये रहते हैं कि हम यह तय नहीं कर पाते कि हमें किस समय क्या करना उचित है।

और इस तरह एक के बाद एक अवसर हाथ से निकलते रहते हैं। अगर इस सब में कोई बदलाव लाना है, तो हमें अभी खड़ा होना होगा। जागिये इसी क्षण से और अपने उद्देश्य की ओर कदम बढाइये। क्योंकि इस क्षण की महत्ता, भूत और भविष्य के सारे क्षणों से बढ़कर है। यह आपके लिए जागृति का सुनहरा उपहार लेकर आया है।

यह आपको समय की पवित्रता बताने और स्वयं के कर्तव्य के बारे में सचेत करने आया है। इस क्षण को व्यर्थ मत जाने दीजिये। इससे जो लाभ उठाना है, उठा लीजिये। जो अपने लक्ष्य की दिशा का निर्धारण कर लेता है, अपना खुद का रास्ता बनाता है और सतत प्रयास के दम पर समय की धारा को चीरता चला जाता है, निश्चय ही किनारे अपनी मंजिल तक पहुँच जाता है।

लेकिन आज ऐसे दिलेर कितने होंगे। इसीलिये यदि आप अपने जीवन में कोई बदलाव लाना चाहते हैं तो इसी क्षण यह संकल्प लीजिये कि आप किसी चैंपियन तैराक की तरह समय के प्रचंड बहाव में उतरेंगे और अपने जीवन की इस सबसे महत्वपूर्ण सम्पदा को व्यर्थ नहीं जाने देंगे, तब भी नहीं जब आप उपलब्धियों के शिखर पर बैठे होंगे और उनका सुख ले रहे होंगे।

“समय ही जिंदगी है। अगर आप अपना समय बर्बाद करते हैं, तो इसका अर्थ है कि आप अपनी जिंदगी ख़त्म कर रहे हैं और अगर आपने समय को सही ढंग से इस्तेमाल करना सीख लिया है, तो आपने जिंदगी जीना सीख लिया है।”
– ऐलन लेकिन

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!