Incredible, Rare Facts about India in Hindi

 

यदि इस धरती पर कोई जगह है, जहाँ इंसानों के स्वप्न पलते हैं, तो वह भारत है।”
– रोम्या रोलां

 

Incredible Rare Facts about India in Hindi
भारत के बारे में इन 20 अविश्वसनीय तथ्यों को जानकर आप दंग रह जायेंगे

Great and Wonderful Country Bharat महान और अदभुत देश भारत : –

भारत कई विषयों में अदभुत है। चाहे वह आध्यात्मिक मूल्यों पर स्थापित अत्यंत विकसित और परिपूर्ण जीवनशैली के आविष्कारकों का देश हो या फिर अत्यंत कुशल तकनीकी पेशेवरों को पैदा करने वाला राष्ट्र हो, चाहे सर्वाधिक युवा और उत्साही लोगों का निवासस्थान हो या फिर सर्वाधिक विस्तृत जैव विविधता को आश्रय देने वाला स्थल हो।

शायद यही कारण है कि न केवल हम ही अपने इस देश को इतना अधिक चाहते हैं, बल्कि विदेशी भी स्वयं को यहाँ आने से नहीं रोक पाते और बस यहीं के होकर रह जाना चाहते हैं। यह बात अलग है कि कुछ लोग जिन्हें भारत की दिव्यता और अतुल्यता के विषय में कुछ भी ज्ञात नहीं है, उसे ढूँढने को दुनिया भर में मारे-मारे फिरते हैं।

लेकिन अंत में उन्हें भी इसका बोध अवश्य हो जाता होगा कि जिसके पीछे-पीछे वे सारी जिंदगी दौड़ते फिरते रहे, वह उन्हें कुछ न दे सका और जिसे उन्हें सचमुच में पाना था उसे वे स्वयं ही छोड़ आये और वह हरदम उनके क़दमों तले ही था।

समय के फेर और विवेकहीन आधुनिकता के कारण पनपी अनेकों बुराइयों के बावजूद आज भी अपने देश और उसकी संस्कृति पर गर्व करने लायक न जाने कितनी ही बातें एक सच्चे देशभक्त के मन में उतरती हैं, जिनमे से कुछ बातों को यहाँ उल्लिखित किया जा रहा है। आशा है यह तथ्य आपके मन में भी भारत के प्रति गौरव की भावना को उत्पन्न कर सकेंगी।

1. विश्व की सर्वाधिक प्राचीन सभ्यता –

भारतीय सभ्यता संसार की प्राचीनतम सभ्यता है और यह उन सर्वाधिक प्राचीन सभ्यताओं में से एकमात्र सभ्यता है जो समय के भीषण झंझावातों को सहते हुए आज भी अविचल विद्यमान है। दुनिया की अन्य प्राचीनतम सभ्यताओं में शामिल यूनान और मिस्र की सभ्यताएँ आज काल के गर्त में समा चुकी हैं।

2. ज्ञान की दिव्य सम्पदा का देश –

भारत ही वह एकमात्र देश है जो ज्ञान के साथ-साथ अपनी शूरता के लिये भी विश्वविख्यात रहा है। अपने महान आध्यात्मिक और खगोलीय ज्ञान की दिव्य सम्पदा को उदारता से बाँटने के लिये संपूर्ण विश्व आज भी भारत का कृतज्ञ है। पर केवल इतना ही नहीं, बल्कि भारत अपने भविष्य ज्ञान, योग विज्ञान, मंत्र विज्ञान, भौतिक और आणवीय विज्ञान, शिल्प और स्थापत्य कला और चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में भी सिरमौर रहा है और संसार भर से अनेक जिज्ञासु सदा से ही इन विधाओं में निष्णात होने हेतु भारत आते रहे हैं।

3. सर्वश्रेष्ठ शूरवीरों का देश –

प्राचीन रोमन सभ्यता को धूल में मिला देने वाले बर्बर हूण जब अपने वेग से जमीन को कंपकंपाते हुए भारत आये, तो महान गुप्त सम्राट स्कंदगुप्त के भीषण पराक्रम ने उन्हें उल्टे पाँव लौटने पर मजबूर कर दिया। मध्य एशिया में आतंक का तांडव मचाने वाले चंगेज खां को यहाँ आने का साहस कभी नहीं हुआ। सिकंदर का विजय रथ भी इसी देश में आकर रुका था।

मातृभूमि की रक्षा के लिये युद्ध में हँसते-हँसते प्राण न्योछावर करने वाली राजपूत जाति, जिसके विषय में कर्नल टॉड जैसे विद्वान का भी यह मानना है कि इनसे बढ़कर योद्धा संसार भर में नहीं हुए, इसी राष्ट्र का गौरव हैं। पर ऐसे शूरवीरों का देश होते हुए भी यह किसी आश्चर्य से कम नहीं कि पिछले कई हजार वर्षों में भारत ने कभी किसी विदेशी राष्ट्र पर आक्रमण नहीं किया और न ही किसी व्यापक नरसंहारको अंजाम दिया।

4. सर्वाधिक रंग-बिरंगी संस्कृतियों वाला देश –

भारत ही विश्व का एकमात्र ऐसा देश है जिसकी कोई एक विशेष संस्कृति नहीं है। यह अनेकों प्राचीन संस्कृतियों का देश है। सामन्यतः प्रत्येक राज्य की अपनी एक समृद्ध सामजिक विरासत है जो कई रीति-रिवाजों, विश्वास और विचित्र प्रथाओं को आत्मसात किये है। जनमानस में गहराई तक पैठ बना चुके यह सांस्कृतिक रिवाज भारत की संस्कृतियों की इन्द्रधनुषी छटा का विलक्षण स्वरुप प्रकट करते हैं और संपूर्ण विश्व को आश्चर्यचकित किये हुए हैं।

यह सांस्कृतिक रिवाज ही भारत में प्रचलित विभिन्न त्यौहारो और परम्पराओं का मुख्य कारण हैं जो इसे सर्वाधिक उत्सवों का देश बनाते हैं। विश्व के लगभग सभी देशों की संस्कृति उनके संपूर्ण क्षेत्र में प्रायः एक ही होती है, लेकिन भारत में प्रत्येक राज्य की अपनी एक अलग ही संस्कृति है। यही कारण है कि दुनिया भर से सैलानी इन संस्कृतियों और उत्सवों के अनूठे मनमोहक स्वरुप का लुत्फ़ उठाने यहाँ पहुँचते हैं।

5. सर्वाधिक बोलियों वाला देश –

भारत में विश्व के किसी भी अन्य राष्ट्र की युलना में अधिक भाषाएँ बोली जाती हैं। एक शोध के अनुसार यहाँ 1600 से अधिक भाषाएँ हैं और उनमे से 200 भाषाएँ आज भी किसी न किसी रूप में बोली जाती हैं या फिर प्रचलन में हैं। शायद भाषाओँ की इतनी विविधता के कारण ही यहाँ यह उक्ति प्रचलित है – “दस कदम पर पानी बदले, कोस-कोस पर भाषा।”

6. सर्वाधिक पशुओं का देश –

पशुओं (लगभग सभी प्रकार के चौपायों जैसे – गाय, भैस, कुत्ते, सूअर, ऊँट, भेद-बकरी, घोड़े, गाढे इत्यादि सहित) की संख्या के मामले में भी भारत विश्व में प्रथम स्थान पर है। यहाँ लगभग 60 करोड़ से भी अधिक पशु हैं जो अर्थव्यवस्था की मजबूती में भी अपनी भागीदारी निभाते हैं।

7. विश्व का सर्वाधिक प्राचीन शहर –

गंगा के सुरम्य तट पर बसा उत्तर प्रदेश का वाराणसी शहर न केवल भारत का, बल्कि संपूर्ण विश्व का सबसे पुराना शहर है। यह माना जाता है कि यह नगर पाँच हजार वर्ष से भी अधिक पुराना है।

8. सर्वाधिक ऊंचाई पर बना खेल का मैदान –

दुनिया में सबसे अधिक ऊँचाई पर बना खेल का मैदान भी भारत में ही है। सन 1893 में एक पहाड़ी को समतल कर बनाया गया चैल क्रिकेट स्टेडियम, जो हिमाचल प्रदेश में स्थित हैं, समुद्र स्तर से 2444 मीटर की ऊँचाई पर बना है।

9. सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान –

भारत के मेघालय राज्य में स्थित मासिनराम नामक स्थान पर दुनिया के किसी भी अन्य स्थान की तुलना में सर्वाधिक वर्षा होती है। इसका कारण यह है कि यह स्थान हर तरफ से पहाड़ियों और घने वनों से घिरा है। यह गाँव इसी राज्य में फैली खासी की पहाड़ियों पर स्थित है। मेघालय राज्य में ही स्थित चेरापूंजी सर्वाधिक वर्षा के मामले में दूसरे स्थान पर है।

10. सबसे ऊँचा पुल –

हिमालय पर्वत की लद्दाख घाटी में द्रास और सुरु नदी पर बना बैली ब्रिज विश्व का सबसे ऊँचा पुल है, जिसका निर्माण भारतीय सेना ने अत्यंत मुश्किल परिस्थितियों में सन 1982 में किया था।

11. विश्व का सबसे बड़ा गणतन्त्र –

भारत विश्व का सबसे बडा गणतंत्र है, जो 131 करोड़ से अभी अधिक लोगों के अटूट विश्वास और निष्ठा का प्रतीक है। हमारा संविधान विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान है, जो प्रत्येक व्यक्ति को संसार के किसी भी अन्य राष्ट्र की तुलना में कहीं अधिक स्वतंत्रता देता है।

12. विश्व का सबसे बड़ा नियोक्ता –

भारतीय रेलवे विश्व का सबसे बड़ा नियोक्ता है, जिसमे लगभग 15 लाख लोग काम करते हैं। इसके साथ-साथ यह विश्व के चौथे सबसे बड़े रेलमार्ग का भी सञ्चालन करता है।

13. विश्व का सबसे बड़ा मेला –

भारत में लगने वाला कुम्भ मेला जो हर 12 वर्ष के पश्चात लगता है, न केवल दुनिया का सबसे प्राचीन मेला है, बल्कि यह दुनिया का एक ही स्थान पर लगने वाला सबसे बड़ा मेला भी है, और इसमें भी सबसे विचित्र तथ्य यह है कि इसमें भाग लेने के लिए कभी भी किसी व्यक्ति को सूचना देने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

एक निश्चित समय पर सारे देश से लोग इस प्राचीन धार्मिक उत्सव में सम्मिलित होने के लिए आते है। सन 2011 में लगे कुम्भ मेले में लगभग 10 करोड़ व्यक्तियों के स्नान करने का अनुमान है।

14. सर्वाधिक जैव विविधता वाला देश –

भारत के पास विश्व के संपूर्ण धरातल का केवल 2.4% हिस्सा है, लेकिन इस जरा से क्षेत्र में विश्व की संपूर्ण जैव विविधता का 60% से भी अधिक भाग समाया हुआ है। हमारे देश में स्तनपायी जीवों की 500 से भी अधिक प्रजातियाँ हैं, जिनमे से 21 प्रजातियाँ दुनिया में और कहीं नहीं पायी जाती हैं। भारत में विश्व की बाघों की सर्वाधिक आबादी निवास करती है।

जंगलों में शेर और बाघ साथ-साथ भारत के अलावा किसी अन्य देश में नहीं पाए जाते हैं। भारत में पक्षियों की 2000 से भी अधिक प्रजातियाँ निवास करती हैं, जो संपूर्ण उत्तरी अमेरिकी महाद्वीप में पाए जाने वाली पक्षियों की प्रजातियों से कहीं अधिक है। जिसमे लगभग 800 प्रजातियाँ ही मिलती हैं, जबके क्षेत्रफल में वह भारत से कई गुना बड़ा है।

15. सबसे सुरक्षित स्थान –

महाराष्ट्र राज्य में स्थित शनि शिंगणापुर गाँव न केवल दुनिया के सबसे विचित्र गाँवों में से एक है, बल्कि यह सबसे सुरक्षित स्थान भी है। इस गाँव में रहने वाले ग्रामीण अपने घरों की सुरक्षा के लिए कोई ताला इत्यादि सुरक्षा का साधन इस्तेमाल नहीं करते। यहाँ तक कि कई घरों में तो दरवाजे तक नहीं हैं और ऐसा सदियों से चलता आ रहा है। ऐसा इस कारण से है, क्योंकि इसी गाँव में भारत का सर्वाधिक प्रसिद्ध शनि मंदिर है।

लोग मानते हैं कि जो कोई भी इस स्थान से कुछ भी चुरायेगा, उसे शनिदेव का शाप लगेगा और बहुत भयंकर फल भुगतना पड़ेगा। शनि, जिसे भारतीय धर्मग्रंथों में न्याय का देवता माना जाता है, अपने न्याय और दंड के लिए सम्पूर्ण भारत में प्रसिद्द है। इस गाँव में कोई पुलिस स्टेशन भी नहीं है।

अन्य आकर्षक तथ्य –

16. संसार की सर्वाधिक सदानीरा नदियों का स्रोत –

दुनिया की सबसे बड़ी और ऊँची पर्वत श्रंखला भारत से ही होकर जा रही है। जिससे दुनिया की कुछ सबसे बड़ी ऐसी नदियाँ निकली हैं, जो वर्ष भर जल से परिपूर्ण रहती हैं।

17. सर्वाधिक पोस्ट ऑफिसों वाला देश –

भारत में दुनिया के सबसे अधिक पोस्ट ऑफिस हैं।

18. विश्व की दूसरी सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश –

भारत में चीन के पश्चात, विश्व की दूसरी सबसे बड़ी जनसँख्या निवास करती है और आज यह 130 करोड़ से भी अधिक हो चुकी है। जनसँख्या की इस तीव्र वृद्धि दर के कारण भारत आने वाले कुछ ही वर्षों में चीन को भी पीछे छोड़ देगा। वह भी तब, जबकि भारत का क्षेत्रफल चीन के कुल क्षेत्रफल का लगभग एक तिहाई ही है।

19. विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था –

भारतीय अर्थव्यवस्था आज अमेरिका और चीन की अर्थव्यवस्था के पश्चात विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और उनसे अधिक तेज गति से वृद्धि कर रही है। भारत क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है और नाभिकीय क्षमता से युक्त छठा राष्ट्र है।

20. विश्व की दूसरी सबसे अधिक सैन्य सामर्थ्य वाला देश –

वैसे तो भारतीय दर्शन सत्य और अहिंसा के सूत्रों में समाहित है, लेकिन अशांत पड़ोसी राष्ट्रों के कारण हमें अपनी सुरक्षा के लिये भी सशक्त व्यवस्था करनी पड़ती है। भारतीय सेना आज चीन की पीपुल्स सेना के पश्चात विश्व की दूसरी सबसे बड़ी सेना है, जिसमे लगभग 13 लाख से भी अधिक सैनिक हैं।

“भारत मानव जाति और संस्कृत यूरोपियन भाषाओँ की जननीहै। दर्शन की शुरुआत भी यहीं से हुई। भारत कई मामलों में हम सबकी मातृभूमि है।”
– विल डूरांट

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!