Two Frogs Story in Hindi: कुँए के मेंढक मत बनिये

  Attitude of Two Frogs Story in Hindi   “सकारात्मक रहने की क्षमता और एक कृतज्ञतापूर्ण द्रष्टिकोण ही, इस बात का निर्णय करेंगे कि आप अपना जीवन कैसे जीने जा रहे हैं।” – जोएल आस्टीन   स्वामी रामकृष्ण परमहंस अक्सर अपने शिष्यों के बीच इस प्रसंग को सुनाया करते थे, जो मनुष्य के सीमित दृष्टिकोण को उजागर करता है। एक […]