Guava Fruit Benefits in Hindi अमरुद के फायदे

 

“अमरुद एक मीठा, स्वादिष्ट और मौसमी फल है जो अनेकों विटामिन और मिनरल्स से भरपूर है और लगभग अधिकांश देशों में उगाया और खाया जाता है। यह न केवल सुपाच्य है, बल्कि कैंसर, स्कर्वी, कब्ज, मधुमेह, रक्तचाप, ह्रदय रोग, थाइराइड, दन्त रोग, खाँसी और त्वचा रोग सहित, दर्जनों रोगों में आहार और औषधि दोनों के रूप में प्रयुक्त होता है।”

 

Amazing Health Benefits of Guava in Hindi
स्वास्थ्य के लिये बहुत फायदेमंद है अमरुद

Guava in Hindi अमरुद की सामान्य जानकारी

Guava Benefits in Hindi में आज हम आपको अमरूद के बारे में बतायेंगे। अमरुद (Guava) एक उष्णकटिबंधीय फल (Tropical Fruit) है, जो दुनिया के अधिकांश Tropical और Subtropical क्षेत्रों में उगाया जाता है। इसका वानस्पतिक नाम, सिडियम गुजावा (Psidium Guajava) है। ऐसा माना जाता है कि अमरुद सबसे पहले मध्य अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप के उत्तरी भाग में पैदा हुआ था। वहीँ से यह दक्षिण-पूर्व एशिया, उत्तरी अफ्रीका और फिर सारे संसार में फैला था।

अमरूद के लिए गर्म तथा शुष्क जलवायु सबसे अधिक उपयुक्त मानी जाती है। यह गरमी तथा पाला दोनों सहन कर सकता है और सिर्फ छोटे पौधे ही पाले से प्रभावित होते हैं। यह हर प्रकार की मिट्टी में उपजाया जा सकता है, परंतु बलुई दोमट इसके लिए आदर्श मिट्टी है। अधिक सहनशील होने के कारण, इसकी खेती सफलतापूर्वक अनेक प्रकार की मिट्टी तथा जलवायु में की जा सकती है।

अमरुद मध्यम ऊंचाई वाला वृक्ष है तथा इसका पेड़ सामान्यतः 2.5 से 5 मीटर की ऊँचाई का होता है। इसके फूल सफ़ेद रंग के और फल हरे-पीले रंग के तथा बीजयुक्त होते हैं। वैसे तो पका हुआ अमरुद मीठा ही होता है, लेकिन इसकी कुछ प्रजातियों के फल हल्का खट्टापन लिये हुए भी होते हैं। जाड़े की ऋतु में अमरुद इतना अधिक तथा सस्ता मिलता है कि लोग इसे गरीबों का सेव कहते हैं।

भारत, संसार में अमरुद का सबसे बड़ा उत्पादक देश है। वर्ष 2017 में भारत में कुल 17,650,000 मीट्रिक टन अमरुद का उत्पादन हुआ था। इसके पश्चात चीन, थाईलैंड, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, मैक्सिको, ब्राज़ील, केन्या, बांग्लादेश और नाइजीरिया इसके सबसे बड़े उत्पादक देश हैं। [Source: Horticulture Statistics Division,Department of Agriculture, Government of India]

Guava Fruit in Hindi लाजवाब फल है अमरुद

खाने योग्य लोगों के जितने भी पसंदीदा फल हैं, उनमे Guava का विशेष स्थान है। क्योंकि अपने स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण, यह किसी प्राकृतिक औषधि से कम नहीं है। यहाँ तक कि इसकी पत्तियों में भी कई ऐसे तत्व होते हैं जो कुछ रोगों के उपचार में विशेष रूप से प्रभावी होते हैं। अमरुद को गरीबों का सेव भी कहा जाता है, क्योंकि यह सेव की तुलना में सस्ता होता है। लेकिन साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर भी होता है।

अमरुद के पेड़ पर वर्ष में दो बार फल लगते हैं। भारत में अमरूद की कई प्रसिद्ध किस्में उगायी जाती हैं, जिनमे इलाहाबादी सफेदा, लाल गूदेवाला, चित्तीदार, करेला, बेदाना, अमरूद सेब तथा स्ट्राबेरी अमरुद प्रमुख हैं। अमरुद के फल, इसकी प्रजाति के अनुसार, अंडाकार या गोलाकार होते हैं।

अमरुद का फल गूदेदार, बीजयुक्त तथा पतले छिलके वाला होता है। यह मीठा, स्वादिष्ट और बहुत ही स्वास्थ्यवर्धक फल है। अमरुद का गूदा अन्दर से सफ़ेद भी हो सकता है और गुलाबी रंग का भी। इसके गूदे में ही छोटे-छोटे कठोर बीज होते हैं, जो खाने योग्य होते हैं। पके हुए अमरुद में से एक विशेष सुगंध निकलती रहती है, जो इसकी विशिष्ट पहचान की बोधक है।

अमरुद से जूस भी तैयार किया जाता है जो एक Healthy Drink माना जाता है। Guava को स्वास्थ्य के लिये एक अच्छा फल इसलिये भी माना जाता है, क्योंकि सेव, केले या अंगूर की तरह इस पर ज्यादा Chemicals या Pesticides का छिडकाव नहीं होता है। अमरुद से कैंडी, जैली, मसाले, जैम सहित कई चीज़ें बनायीं जाती हैं।

Nutritional Facts about The Guava in Hindi

इन पोषक तत्वों से भरपूर है अमरुद

अमरुद खाने योग्य रेशे (Dietary Fiber) और विटामिन C का बहुत अच्छा स्रोत है, इसमें फोलिक एसिड भी होता है। संतरा कुछ खट्टा और बहुत रसीला होता है, लेकिन आपको जानकार आश्चर्य होगा कि अमरुद में संतरे की तुलना में चार गुना ज्यादा विटामिन C होता है। हालाँकि अमरुद में प्रचुर पोषक तत्व पाये जाते हैं, लेकिन इनकी मात्रा अमरुद की किस्मों के अनुसार, अलग-अलग होती है।

अमरुद के बीजों से तेल भी निकाला जाता है जो पाकशाला और कॉस्मेटिक्स से संबंधित उत्पादों में प्रयुक्त होता है। इसमें बीटा कैरोटिन, विटामिन A, विटामिन C, कॉपर, जिंक और सेलेनियम होता है। नीचे हम अमरुद में पाए जाने वाले महत्वपूर्ण पोषक तत्वों के विषय में बता रहे हैं।

अमरुद के छिलके और गूदे में कई प्रकार के फाइटोकेमिकल्स (Phytochemicals) पाये जाते हैं। इसके अलावा अमरुद के बीजों में, बीटा कैरोटिन, विटामिन A, विटामिन C, कॉपर, जिंक, सेलेनियम और कई प्रकार के फैटी एसिड्स पाये जाते हैं, जिनमे लौरिक एसिड, मिरिस्टिक एसिड, पलमिटिक एसिड, स्टियरिक एसिड, ओलियक एसिड, लिनोलेक एसिड, संतृप्त वसा और असंतृप्त वसा मुख्य है।

100 ग्राम अमरुद (Guava) में पाये जाने वाले मुख्य विटामिन्स और मिनरल्स इस प्रकार हैं –

इन तत्वों के अलावा अमरुद में और भी अनेकों तत्व, बेहद सूक्ष्म मात्रा में पाये जाते हैं, जिनमे से मुख्य हैं – बीटा कैरोटिन (374 माइक्रोग्राम), और लाइकोपिन (5204 माइक्रोग्राम)

21 Amazing Health Benefits of Guava in Hindi

1. जानलेवा कैंसर के रोग से बचाती है अमरुद की पत्तियाँ

Guava Protects from Cancer in Hindi: अमरुद कैंसर जैसे खतरनाक रोग से बचने में मदद करता है। क्योंकि इसमें उपस्थित कैंसर रोधी तत्व (Anti-cancer Elements), कैंसर कोशिकाओं को न केवल बढ़ने से रोकता है, बल्कि यह मेटास्टिटिस की समस्या को भी ख़त्म कर सकता है। पिछले कुछ वर्षों में संपन्न हुए शोध प्रयोगों में यह सिद्ध हुआ कि अमरुद का नियमित सेवन, स्तन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और मुख के कैंसर की रोकथाम में सहायक है।

अमरुद की पत्तियों में गैलोक्टेचिन (Gallocatechin) और ल्यूकोसिनाडीन (Leucocyanidin) जैसे कैरोटिनोईडस (Carotenoids) और पोलीफिनोल्स (Polyphenols) होते हैं। जिनके कारण इसकी पत्तियों से बनाये गए गये तेल में Antiproliferative Properties होती हैं जो कैंसर कोशिकाओं की बढवार रोकने में, असरदायक सिद्ध हो सकता है। अमरुद में प्रचुर मात्रा में पाया जाने वाला ल्यकोपिन नामक एंटीऑक्सीडेंट, प्रोस्टेट कैंसर होने के खतरे को कम करता है।

2. डायबिटीज के रोगियों के लिये बहुत फायदेमंद है अमरुद

Guava Helps in Controlling Diabetes (Lower Blood Sugar Levels) in Hindi: अमरुद, मधुमेह (Diabetes) के रोगियों के लिये बहुत ही लाभदायक फल है, क्योंकि इसमें उपस्थित विटामिन C और रेशे (Dietary Fiber) की प्रचुर मात्रा, शुगर के रोगियों की रक्त शर्करा का स्तर कम बनाये रखती है। इन रोगियों को प्रतिदिन एक अमरुद का सेवन करना चाहिये।

कई Laboratory Tests में यह सिद्ध हुआ है कि नियमित रूप से अमरुद का सेवन करने पर टाइप-2 डायबिटीज होने की सम्भावना को भी टाला जा सकता है। डायबिटीज के कुछ रोगियों ने अपने अनुभव में यह बताया है कि यदि Blood Sugar को बढाने वाला कोई पदार्थ नहीं लिया जा रहा है, तो अमरुद का सेवन शुगर का स्तर अवश्य घटाता है।

3. एंटीऑक्सीडेंट्स का प्रचुर स्रोत है अमरुद

Guava has Powerful Antioxidants in Hindi: अमरुद में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंटस होते हैं, जो शरीर में उत्पन्न होने वाले खतरनाक फ्री रेडिकल्स को समाप्त करके उसे रोगों और जीवाणुओं के आक्रमण से बचाते हैं। यह तत्व कैंसर और ह्रदय रोग जैसी जानलेवा बीमारियाँ होने के कुछ मुख्य कारणों में से एक हैं। इसलिये अगर रोज एक मध्यम आकार के अमरुद का सेवन किया जाय, तो कई रोगों से बचा जा सकता है।

4. आपकी आँखों की रौशनी बढाता है अमरुद

Guava Improves Eyesight in Hindi: अमरुद विटामिन A (रेटिनॉल) का बहुत अच्छा स्रोत है, और सभी जानते हैं कि विटामिन A आँखों के स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिये कितना जरुरी है। यह विटामिन मोतियाबिंद, मैकुलर डिजनरेशन जैसी समस्याओं के जल्दी उभरने की रफ़्तार को धीमा करता है और आँखों की रौशनी को बनाये रखने में मदद करता है। अमरुद आपकी आँखों की कोशिकाओं की सुरक्षा भी करता है, इसलिये इसका सेवन जरुर करें।

5. ब्लड प्रेशर को सही रखता है अमरुद

Guava Regulates Blood Pressure in Hindi: अमरुद रक्त में उपस्थित कोलेस्ट्रोल का स्तर घटाते में मदद करता है और इसे गाढ़ा होने से रोकता है। इस तरह से यह रक्त की तरलता को बरकरार रखता है और उच्च रक्तचाप को घटाता है। कई अध्ययन में पाया गया है कि जो भोजन फाइबर से रहित होते हैं, वह ब्लड प्रेशर बढ़ाते हैं। लेकिन अमरुद में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है, इसीलिये यह रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

6. थाईराइड की समस्या को दूर करता है अमरुद

Guava Helps in Thyroid Problems in Hindi: Guava अमरुद थाईराइड की समस्या में भी बड़ा लाभदायक सिद्ध होता है, क्योंकि इसमें उपस्थित कॉपर चयापचय की प्रक्रिया को संतुलित करके, हार्मोनों के उत्पादन और अवशोषण को नियंत्रित करता है। इसके अलावा अमरूद में आयोडीन भी अच्छी मात्रा में होता है, जिससे थायरॉइड की समस्या में आराम होता है। अगर आप एक अमरुद रोज खाते हैं, तो शरीर में हार्मोनल संतुलन बना रहता है।

7. तनाव को कम करता है अमरुद

Guava Lowers Tension and Depression in Hindi: अमरुद में उपस्थित मैग्नीशियम, शरीर की नसों-नाड़ियों और माँसपेशियों को रिलैक्स करता है और तनाव को घटाता है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन C और दूसरे महत्वपूर्ण फायटोन्यूट्रीएंट्स, फ्री रेडिकल्स को ख़त्म करते हुए, शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं।

Incredible Benefits of The Guava Fruit in Hindi

8. दिमाग की क्षमता बढाता है अमरुद

Guava Improves Brain Performance in Hindi: अमरुद मस्तिष्क से संबंधित कई समस्याओं में भी लाभदायक है। इसमें विटामिन B3 (नायसिन) और विटामिन B5 (पायरीडॉक्सीन) की अच्छी मात्रा में पायी जाती है। विटामिन B3 रक्त संचार बढ़ाता है और दिमाग को तेजी से काम करने में मदद करता है।

जबकि पायरीडॉक्सीन, दिमाग और नसों के लिए एक बेहतरीन और फायदेमंद पोषक तत्व है। अमरुद खाने से स्मरण शक्ति अच्छी होती है और एकाग्रता बढती है। इसी वजह से गर्भवती महिलाओं को भी नियमित रूप से अमरुद खाने के सलाह दी जाती है, ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे के मस्तिष्क का पूर्ण रूप से विकास हो।

9. वजन कम करने में मदद करता है अमरुद

Guava aids in Weight Loss Management in Hindi: पूरी दुनिया में मोटापे की समस्या लगातार बढती जा रही है और अमरुद इसे कम करने में भी एक अहम भूमिका निभा सकता है, क्योंकि यह वजन को कम करने में मददगार है। फाइबरयुक्त और कम कैलोरी वाला खाद्य पदार्थ होने की वजह से, आप इसे अपनी डाइट में जरुर शामिल करें।

अमरुद मोटापे से पीड़ित लोगों या उसकी ओर बढ़ रहे लोगों का सच्चा दोस्त इसलिये भी है, क्योंकि इससे उन्हें अपने प्रोटीन, विटामिन्स और फाइबर से समझौता नहीं करना पड़ता। इसके अलावा अमरुद में न तो कोई कोलेस्ट्रोल होती है और साथ ही दूसरे फलों की तुलना में इसमें शुगर भी कम होती है। जिससे मोटापा कम करने और शुगर कण्ट्रोल करने, दोनों में मदद मिलती है।

10. पाचन तंत्र के लिये वरदान है अमरुद

Guava is Highly Beneficial for Digestive System in Hindi: पेट के रोगों में अमरुद किसी वरदान से कम नहीं है, विशेषकर कब्ज, अजीर्ण जैसे रोगों में तो यह बहुत ही लाभदायक सिद्ध होता है। अमरुद में पाया जाने बाला रेशा या मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखने की सबसे अच्छी कुदरती दवा है। जिन लोगों का पेट खराब (गैस और एसिडिटी की समस्या) रहता है, वह रोजाना खाने के बाद, एक पके अमरुद का काले नमक के साथ अवश्य सेवन करें।

अमरुद हमारे पेट और हाजमे के लिये इसलिये भी बहुत अच्छा है, क्योंकि इसके बीज एक शानदार रेचक का काम करते हैं। अमरुद के फाइबर और बीज आँतों की चाल को ठीक करते हैं और जमे हुए मल को खुरचकर साफ़ करते हैं। जिन लोगों को अक्सर कब्ज़ की शिकायत रहती है, डॉक्टर उन्हें अमरुद खाने की सलाह देते हैं। याद रखिये कब्ज से 72 प्रकार की बीमारियाँ पनपती हैं और अमरुद आपको इनसे बचा सकता है।

11. आपके दिल के लिये बहुत अच्छा फल है अमरुद

Guava can Keep Your Heart Healthy in Hindi: अमरुद आपके ह्रदय को लंबे समय तक स्वस्थ रखने में सहायक है। क्योंकि इसमें उपस्थित प्रचुर सुपाच्य फाइबर, उस खराब कोलेस्ट्रोल को कम करता है, जो आगे चलकर दिल की बीमारियों को जन्म दे सकता है। इसके अलावा अमरूद में मौजूद पोटैशियम की उच्च मात्रा, शरीर में सोडियम के प्रभाव को कम करती है और ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा दिलाती है।

एक अमरुद में एक केले के बराबर पोटैशियम होता है। इसके अलावा अमरुद की पत्तियों में उपस्थित पोलीसैक्राइडस, एक एंटीऑक्सीडेंट का काम करते हुए, उस ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है जो आपके दिल को कमजोर बना सकती है।

12. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है अमरुद

Guava Boosts Immune System in Hindi: अमरुद शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाकर, उसे असमय ही बीमारियों का शिकार होने से बचाता है। अमरूद में संतरे के मुकाबले चार गुना अधिक विटामिन सी होता है। विटामिन सी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाते हैं और कई प्रकार के रोगों से लड़ने में शरीर की मदद करते हैं।

अमरुद का जूस एक जीवाणुनाशक तत्व के रूप में भी काम करता है। इसका जूस पीने से आपके शरीर में बनने वाले हानिकारक विषैले पदार्थ तथा बाहर से प्रवेश करने वाले बैक्टीरिया बाहर निकल जाते हैं। अगर आप रोजाना एक अमरुद का सेवन करते हैं, तो जान लीजिये आप लम्बे समय तक कई तरह की बीमारियों से बचे रहेंगे।

13. स्कर्वी रोग में फायदेमंद है अमरुद

Guava is Beneficial in Scurvey Disease in Hindi: चूँकि अमरुद में विटामिन C संतरे और दूसरे कई खट्टे फलों की तुलना में, कहीं ज्यादा प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, इसीलिये यह स्कर्वी रोग के होने की संभावना को दूर करता है और रोग होने पर उसे जल्दी से ठीक करने में भी मदद करता है। क्योंकि यह रोग शरीर में इस विटामिन की कमी होने की वजह से होता है। देखा जाय तो अमरुद इस विटामिन का एक स्वादिष्ट और लजीज स्रोत है जो आपको भी पसंद आयेगा।

14. हड्डियों को मजबूत बनाता है अमरुद

Guava is Good for Strong Bones in Hindi: अमरुद में उपस्थित कैल्शियम और पोटैशियम हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार है। इसके अलावा यह इनके लचीलेपन और घनत्व को बढ़ाने में भी सहायता करता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि प्रतिदिन कुछ दिन तक दो पके अमरुद खाने से हड्डियों का स्वास्थ्य सुधरता है।

Great Benefits of Guava in Hindi अमरुद के फायदे

15. विटामिन और मिनरल्स का शानदार स्रोत है अमरुद

Guava is A Rich Source of Minerals and Vitamins in Hindi: अमरुद में लगभग सभी विटामिन्स पाये जाते हैं। इसके अलावा यह बहुत सारे मिनरल्स से भी भरपूर है, लेकिन इन सभी में प्रमुख है – विटामिन सी। अमरूद में विटामिन सी छिलके में और उसके ठीक नीचे होता है तथा भीतरी भाग में यह मात्रा घटती जाती है।

लेकिन फल के पकने के साथ-साथ यह मात्रा बढ़ती जाती है। सिट्रिक अम्ल अमरूद में उपस्थित प्रमुख अम्ल है और इसका छह से बारह प्रतिशत भाग इसके बीज में होता है। इसके अलावा और भी कई अन्य अम्ल अमरुद में पाये जाते हैं, जो स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने में मददगार हैं।

16. त्वचा की चमक और सौन्दर्य बढाता है अमरुद

Guava is A Great Fruit for Skin Health in Hindi: चूँकि अमरुद विटामिन सी, कैरोटिन और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध फल है, इसलिये यह आपकी त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है। यह आपकी त्वचा की रंगत और उसके स्वरुप को सुधारता है। ऐसे बहुत से ब्यूटी प्रोडक्ट्स हैं जिनमे अमरुद के गूदे का इस्तेमाल किया जाता है। चूँकि अमरुद में कुदरती तत्व होते हैं, इसलिये यह आपको कृत्रिम ब्यूटी क्रीम और स्किन टोनिंग जेल से होने वाली स्किन प्रोब्लेम्स से बचा सकता है।

अगर आप भी सुन्दर, मुलायम और चमकदार त्वचा चाहते हैं, तो अमरुद को अपनी डाइट और सौंदर्य प्रसाधनों में शामिल करें। इसके अलावा गुलाबी अमरूद में लाइकोपीन, टमाटर से दोगुनी मात्रा में होता है जो त्वचा का अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाव करता है और त्वचा के कैंसर से बचाता है।

17. दाँतों की समस्याएँ दूर करता है अमरुद

Guava helps in Dental Problems in Hindi: अमरुद की पत्तियाँ एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती हैं और रोगाणुओं को मारकर इन्फेक्शन ख़त्म करती हैं। इसलिए अमरुद की पत्तियाँ दांतों की समस्याओं के लिए एक असरदार घरेलू नुस्खा सिद्ध हो सकती हैं। अमरुद की पत्तियाँ चबाकर खाने से, न सिर्फ दाँतों के दर्द से छुटकारा मिलता है, बल्कि मसूड़ों की सूजन और मुँह के छालों के उपचार में भी यह काफी फायदेमंद होती है।

18. श्वसन तंत्र की समस्याओं को दूर करता है अमरुद

Guava is a Simple Remedy for Many Respiratory Problems in Hindi: सामान्य श्वास रोगों में अमरुद एक वरदान के रूप में काम कर सकता है। कच्चे और अधपके अमरुद का जूस या फिर इसकी पत्तियों का स्वरस सर्दी और मलगम दूर करने में बड़ा फायदेमंद है। यह न सिर्फ म्यूकस घटाता है बल्कि श्वसन मार्ग, फेफड़ों और गले को संक्रमण से भी मुक्त करता है।

सर्दी-जुकाम होने पर भुना हुआ अमरुद, नमक व काली मिर्च के साथ खाने से, जुकाम की स्थिति से छुटकारा मिलता है। इसमें मौजूद विटामिन सी जुकाम में काफी फायदेमंद सिद्ध होता है। आज भी भारत में कई जगहों पर अमरुद को भूनकर खाया जाता है और इन रोगों का उपचार किया जाता है।

19. आँव और पेचिस का कुदरती उपचार है अमरुद

Guava is A Natural Treatment of  Dysentry & Diarrohea in Hindi: अमरुद में ऐसे कई स्तम्भन कारक गुण होते हैं जो डायरिया और पेचिस जैसी पाचन संस्थान की कई बीमारियों को दूर करने में मदद कर सकते हैं। फिर चाहे तो आप अमरुद की पत्तियाँ चबा लीजिये या फिर इसका फल खाइये, इसके स्तम्भनकारी गुण आँतों को शिथिल करने और डायरिया के लक्षण घटाने में मदद करेंगे ही।

यह स्तंभक तत्व क्षारीय प्रकृति के होते हैं और संक्रमणनाशक तथा एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होते हैं। यह जीवाणुओं को समाप्त करते हैं और आँतों से अतिरिक्त म्यूकस को हटा देते हैं। अपने इन्ही गुणों के कारण अमरुद, गैस्ट्रोएनटेरीटिस (Gastroenteritis) की समस्या को भी दूर करने में मददगार है।

20. स्त्रियों के मासिक धर्म में सहायक है अमरुद

Guava can helps Woman suffering with Menstruation Problems in Hindi: 197 स्त्रियों पर हुए एक शोध अध्ययन में यह पाया गया था कि मासिक धर्म के दौरान दर्द होने की समस्या से पीड़ित महिलायें, अगर अमरुद के सार की 6 मिग्रा मात्रा प्रतिदिन लें, तो उन्हें इस दर्द में बड़ा आराम मिलता है। एक अन्य दक्षिण एशियाई अध्ययन में पाया गया था कि अमरुद की पत्तियाँ अपने Spasmolytic Effects के कारण, गर्भाशय की माँसपेशियों में उठने वाले दर्द से राहत दिलाती हैं।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •