Meaning and Chart of Important Major and Trace Minerals in Hindi

 

Minerals शरीर के लिये जरुरी कई Essential Nutrients में से एक हैं और यह मानव शरीर को सिर्फ जिन्दा रखने के लिये ही नहीं, बल्कि उसे स्वस्थ रखने के लिये भी अनिवार्य हैं पोटैशियम, सोडियम, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, क्लोराइड, गंधक, आयरन, मैंगनीज, कॉपर, जिंक, आयोडीन, सेलेनियम, क्रोमियम, मोलिब्लेडनम, और फ्लोराइड, यह शरीर के लिये सबसे ज्यादा जरुरी 16 खनिज हैं।

 

Essential Minerals for Healthy Human Body in Hindi
शरीर को स्वस्थ बनाये रखने के लिये खनिजों को प्रतिदिन लेना अनिवार्य है

Minerals Meaning in Hindi में आज हम आपको Minerals का अर्थ बताने के साथ-साथ सभी जरुरी Major और Trace Minerals के बारे में भी बतायेंगे ,ताकि आप खुद को लम्बे समय तक स्वस्थ रख सकें। Minerals का अर्थ है – खनिज, यह वह तत्व हैं जो धरती (मिटटी) में ही पैदा होते हैं और Plants तथा Animals जैसी सजीव वस्तुओं से निर्मित नहीं हो सकते हैं। पर फिर भी पौधों, जानवरों और इंसानों को स्वस्थ रहने के लिये, इनकी अदद जरुरत होती है।

एक प्रकार से कहा जाय तो Minerals हमारी जिंदगी का स्पार्क प्लग हैं। यह वह उत्प्रेरक हैं, जो हमारी बैटरी को चालू हालत में रखते हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि मानव शरीर (Human Body) का 4% हिस्सा यह Minerals ही होते हैं। यह Minerals हमारी धरती से आते हैं। अभी तक 103 खनिजों का पता चला है और इनमे से कम से कम 18 मिनरल्स ऐसे हैं, जिनकी हमारे शरीर को बहुत जरुरत रहती है।

पिछले लेख, Types and Importance of Minerals in Hindi में आप पढ़ चुके हैं कि मिनरल्स हमारे शरीर के लिये क्यों आवश्यक हैं। साथ ही साथ आप मिनरल्स के प्रकार और शरीर के लिये उनकी महत्ता के विषय में भी पढ़ चुके हैं। अब इस लेख में पढिये उन 16 मुख्य खनिजों के बारे में, जिनकी जरुरत हमें लगभग रोजाना ही पड़ती है।

इस लेख में हम मिनरल्स के काम, उनकी प्रतिदिन की निर्धारित मात्रा जिसे RDA (Recommended Dietary Allowance) के नाम से भी जाना जाता है और वह किन-किन चीजों में पाये जाते हैं, के बारे में बतायेंगे।

Important Major Minerals for Human Body in Hindi

1. Potassium Mineral in Hindi पोटैशियम खनिज

पोटैशियम एक अनिवार्य और बहुत ही आम इलेक्ट्रोलाइट है, जिसकी दिल की इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी को कण्ट्रोल करने के लिये बड़ी जरुरत होती है। इसके अलावा यह तंत्रिकाओं के स्वास्थ्य के लिये भी बहुत जरुरी होता है। सोडियम के साथ मिलकर, पोटैशियम शरीर में पानी का सामान्य संतुलन बनाये रखता है। साथ ही यह ओस्मोटिक इक्वलीबिरियम और अम्ल-क्षार संतुलन के लिये भी आवश्यक होता है।

कैल्शियम के साथ मिलकर, यह शरीर की न्यूरोमस्कुलर एक्टिविटी को नियंत्रित करता है। पोटैशियम प्रोटीन और माँसपेशियों के निर्माण और कार्बोहाइड्रेट को उर्जा में बदलने में भी इस्तेमाल होता है। केला, एवोकेड़ो, शकरकंद, आलू, सब्जियां, फलियाँ, मशरूम, मछली, लाल मीट और चिकन पोटैशियम के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में पोटैशियम की कमी होने पर, हाइपोकैलेमिया और इसकी अधिकता होने पर, हाइपरकैलामिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 4700 मिग्रा पोटैशियम की आवश्यकता होती है।

2. Chloride Mineral in Hindi क्लोराइड खनिज

क्लोराइड भी सोडियम की तरह एक महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट है। जो आमाशय में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के निर्माण के लिये आवश्यक है, साथ ही यह सेलुलर पम्प फंक्शन के लिये भी जरुरी है। यह शरीर में विभिन्न तरल पदार्थों का उचित संतुलन भी बनाता है। सफ़ेद नमक, खमीर, दूध, ब्रेड, राइ, जैतून, पनीर, सोया सौस और प्रसंस्करित भोजन, क्लोराइड के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में क्लोराइड की कमी होने पर, हाइपोक्लोरेमिया और इसकी अधिकता होने पर हाइपरक्लोरेमिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 2300 मिग्रा क्लोराइड की आवश्यकता होती है।

3. Sodium Mineral in Hindi सोडियम खनिज

पोटैशियम की तरह सोडियम भी एक अनिवार्य खनिज और एक सिस्टेमेटिक इलेक्ट्रोलाइट है, जो पोटैशियम के साथ मिलकर दिल की इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी को कण्ट्रोल करता है। इसके अलावा यह शरीर में तरल पदार्थों के संतुलन, Body के pH लेवल और स्नायविक संदेशों के प्रसारण के लिये भी जरुरी है। घरेलू नमक सोडियम का मुख्य आहार स्रोत है।

इसके अलावा यह समुद्री सब्जियों, दूध, प्रसंस्कृत भोजन और पालक में भी प्रचुरता से पाया जाता है। शरीर में सोडियम की कमी होने पर, हाइपोनाट्रेमिया और इसकी अधिकता होने पर, हाइपरनाट्रेमिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 1500 मिग्रा सोडियम की आवश्यकता होती है।

4. Calcium Mineral in Hindi कैल्शियम खनिज

कैल्शियम वह खनिज है जो हमारे शरीर में सबसे ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। शरीर का 99 प्रतिशत कैल्शियम, सिर्फ दाँतों और हड्डियों में स्टोर होता है। कैल्शियम, दिल और पाचन संस्थान के स्वास्थ्य के साथ-साथ, हड्डियों के निर्माण, माँसपेशियों के संकुचन, और अन्य जैव तत्वों के संश्लेषण के लिये जरुरी है। इसके अलावा यह रक्त कोशिकाओं को अपना कार्य करने में मदद करता है।

दुग्ध उत्पाद, अंडे, सामन और सारडाइन जैसी हड्डीयुक्त कैंड मछलियाँ, हरी पत्तेदार सब्जियां, ड्राई फ्रूट्स, बीज, टोफू, थाइम, ऑरेगैनो, कैल्शियम के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर, हाइपोकैलसेमिया और इसकी अधिकता होने पर, हाइपरकैलसेमिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 1200 मिग्रा कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

5. Phosphorous Mineral in Hindi फॉस्फोरस खनिज

फॉस्फोरस, हमारी हड्डियों और कोशिकाओं का मुख्य घटक है। यह भोजन को उर्जा में बदलता है और पोषक तत्वों को उन अंगो तक पहुँचाने में मदद करता है, जिन्हें उनकी आवश्यकता है। यह फास्फेट के रूप में हमारे DNA, RNA, ATP और फॉस्फोलिपिड्स का भी महत्वपूर्ण घटक है। इसके अलावा यह शरीर में होने वाली कई जैव रासायनिक अभिक्रियाओं का भी सक्रिय एजेंट है।

लाल मांस, मछली, पोल्ट्री, अंडे, दूध, ब्रेड, चावल, जौ, शीतल पेय और प्रसंस्करित भोजन, फॉस्फोरस के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में फॉस्फोरस की कमी होने पर, हाइपोफॉस्फेटेमिया और इसकी अधिकता होने पर, हाइपरफॉस्फेटेमिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 700 मिग्रा फॉस्फोरस की आवश्यकता होती है।

6. Magnesium Mineral in Hindi मैग्नीशियम खनिज

मैग्नीशियम उन तीन Minerals में से एक है जो हड्डियों की मजबूती के लिये जरुरी हैं। मैग्नीशियम ATP प्रोसेसिंग, हड्डियों के निर्माण, अधिक लचीलेपन, बढ़ी हुई क्षारीयता और माँसपेशियों के उचित सञ्चालन के लिये जरुरी है। हमारे शरीर को 300 से भी ज्यादा जैव रासायनिक क्रियाओं (Biochemical Reactions) के लिये, मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है।

बादाम और काजू जैसे ड्राई फ्रूट्स, साबुत अनाज, पालक, फलियाँ, पीनट बटर, एवोकेडो, समुद्री भोजन, चॉकलेट और कठोर जल, मैग्नीशियम के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने पर, हाइपोमैग्नेसेमिया और इसकी अधिकता होने पर, हाइपरमैग्नेसेमिया की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 420 मिग्रा मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है।

7. Sulfur Mineral in Hindi सल्फर खनिज

सल्फर यानि गंधक, एक महत्वपूर्ण खनिज है जो प्रोटीन के अणुओं में पाया जाता है। यह प्रोटीन की जैविक क्रियाओं का निर्धारण करता है और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को सशक्त रखने के लिये जरुरी है। सल्फर शरीर में उर्जा उत्पादन के लिये जरुरी है, क्योंकि इसके बिना इन्सुलिन अपनी जैविक क्रियाओं को सही तरह से संपन्न नहीं कर सकता है।

इसके अलावा, यह शरीर का दो दर्जन से भी ज्यादा रोगों से बचाव करता है। मीट, चिकन, अंडे, मछली, कच्चा दूध, एलोवेरा, फलियाँ, लहसुन, प्याज, ड्राई फ्रूट, सल्फर के प्रमुख स्रोत हैं। हमारे शरीर को प्रतिदिन 1000 मिग्रा सल्फर की आवश्यकता होती है। लेकिन फिर भी इसे उपर वर्णित मिनरल्स जितना महत्वपूर्ण नहीं माना जाता, क्योंकि उनकी तुलना में, इसके बिना शरीर का काम, अधिक समय तक चल सकता है।

Important Trace Minerals for Human Body in Hindi

1. Iron Mineral in Hindi आयरन खनिज

आयरन या लौह तत्व, सबसे महत्वपूर्ण ट्रेस मिनरल में से एक है। क्योंकि कई प्रोटीन और एंजाइम के निर्माण में इसकी जरुरत पड़ती है, विशेष रूप से हीमोग्लोबिन के लिये, ताकि एनीमिया को रोका जा सके। इसी के माध्यम से प्रोटीन ऑक्सीजन को ट्रासपोर्ट कर पाता है और शरीर की कोशिकाओं की वृद्धि संभव होती है, साथ ही यह चयापचय के लिये भी जरुरी है।

अंगों के माँस, लाल मीट, गिरियाँ, मछली, चिकेन, सीफूड, फलियाँ और डार्क चॉकलेट, आयरन के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में आयरन की कमी होने पर कमजोरी और सूजन आ जाती है और इसकी अधिकता होने पर आयरन ओवरलोड की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 18 मिग्रा आयरन की आवश्यकता होती है।

2. Zinc Mineral in Hindi जिंक खनिज

जिंक, कई प्रकार के एंजाइम जैसे कि कार्बोक्सीपेप्टिडेज, लीवर अल्कोहल डीहाइड्रोगिनेज, और कार्बोनिक एनहाईड्रेज के निर्माण के लिये जरुरी है। इसके अलावा यह प्रोटीन और जेनेटिक पदार्थों के निर्माण, घावों को भरने, भ्रूण के सामान्य विकास, शरीर की सामान्य वृद्धि और यौन रूप से परिपक्व होने के लिये भी जरुरी है। स्त्रियों और पुरुषों की फर्टिलिटी कम होने का एक बड़ा कारण, उनके शरीरों में जिंक की कमी भी है।

माँस, मछली, चिकन, और माँसाहार जिंक के प्रमुख स्रोत हैं, क्योंकि शाकाहारी पदार्थों में यह बहुत कम मात्रा में मिलता है। शरीर में जिंक की कमी होने पर, संज्ञानात्मक दुर्बलता, और आनुवंशिक रोग होने का खतरा रहता है। वहीँ इसकी अधिकता होने पर जिंक की विषाक्तता की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 11 मिग्रा जिंक की आवश्यकता होती है।

3. Manganese Mineral in Hindi मैंगनीज खनिज

मैंगनीज, शरीर में उत्पन्न होने वाले एंजाइमों के कार्यों को संपन्न करने में उनकी मदद करता है। यह एक एंटीऑक्सीडेंट है और ऑक्सीजन की प्रोसेसिंग के लिये जरुरी है। यह मेटाबोलिज्म को सही रखता है और Digestive System तथा Skeletel System को स्वस्थ रखने के लिये जरुरी है। साबुत अनाज, फलियाँ, बीज और गिरियाँ, हरी पत्तेदार सब्जियां, चाय, कॉफ़ी, हल्दी, और ब्राउन राइस, मैंगनीज के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में मैंगनीज की कमी होने पर शारीरिक विकास सही से नहीं होता है, वहीँ इसकी अधिकता होने पर मैंगनीज की विषाक्तता की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 2.3 मिग्रा मैंगनीज की आवश्यकता होती है।

4. Copper Mineral in Hindi कॉपर खनिज

कॉपर, लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण के लिये आवश्यक है, साथ ही यह एनर्जी के मेटाबोलिज्म के लिये भी जरुरी है। कॉपर प्रतिरक्षा प्रणाली और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने के लिये भी आवश्यक है। इसके अलावा यह कई रेडोक्स एंजाइम का भी महत्वपूर्ण घटक है, जिनमे साइटोक्रोम सी ओक्सीडेज भी शामिल है।

यकृत, ड्राई फ्रूट, सीड्स, फलियाँ, साबुत अनाज, सीफूड, सीपी और केकड़े, कॉपर के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में कॉपर की कमी होने पर एनीमिया जैसे लक्षण पैदा हो जाते है, वहीँ इसकी अधिकता होने पर कॉपर की विषाक्तता की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.9 मिग्रा कॉपर की आवश्यकता होती है।

5. Iodine Mineral in Hindi आयोडीन खनिज

आयोडीन की आवश्यकता सिर्फ थायरोक्सिन और ट्रियोडोथायरोनिन जैसे थाइराइड हार्मोन्स के जैव संश्लेषण के लिये ही नहीं है, बल्कि यह संभवतया, दूसरे अंगों जैसे कि स्तन, पेट, लार ग्रंथियों और थायमस के लिये भी जरुरी है। इसीलिये कई बार शरीर को आयोडीन की अधिक मात्रा की भी जरुरत पड़ सकती है। यहाँ तक कि कभी-कभी तो इसे मैक्रोमिनरल्स में शामिल किया जाता है।

सीफूड, साबुत अनाज, अंडे, आयोडीन नमक, ब्रेड और भुने-सिके आलू, आयोडीन के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में आयोडीन की कमी होने पर घेंघा रोग हो जाता है, वहीँ इसकी अधिकता होने पर हाइपरथाइरोइडिज्म की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.15 मिग्रा आयोडीन की आवश्यकता होती है।

6. Selenium Mineral in Hindi सेलेनियम खनिज

सेलेनियम एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर मिनरल है और यह ग्लुटाथियोन पेरोक्सीडेज जैसे एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम की क्रियाशीलता के लिये अनिवार्य है। इसके अलावा यह थाइरोइड ग्रंथि और Immune System के कामों को भी प्रभावित करता है। सेलेनियम लम्बी बीमारियों (क्रोनिक डिजीज) की रोकथाम में बड़ी भूमिका अदा करता है।

ब्राजील नट, सीफूड, ऑर्गन मीट, माँस, गिरियाँ, अंडे, साबुत अनाज और दूध से बने उत्पाद, सेलेनियम के प्रमुख स्रोत हैं। शरीर में सेलेनियम की कमी होने से शरीर पर, वृद्धावस्था हावी होने लगती है। वहीँ इसकी अधिकता होने पर सेलेनोसिस की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.55 मिग्रा सेलेनियम की आवश्यकता होती है।

7. Molybdenum Mineral in Hindi मौलिब्डेनम खनिज

मौलिब्डेनम, जैन्थिन ऑक्सीडेज, एलडीहाईड ऑक्सीडेज और सल्फाइट ऑक्सीडेज, जैसे एंजाइम की सक्रियता के लिये जरुरी है, साथ ही यह संचित पौष्टिक पदार्थों को ऊर्जा में भी परिवर्तित करने में मदद करता है।
गिरियाँ, फलियाँ, सीफूड, साबुत अनाज, ब्रेड, पत्तेदार सब्जियाँ, दूध और अंडे, मौलिब्डेनम के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में मौलिब्डेनम की कमी होने पर, कई जैव रासायनिक क्रियाओं के संपन्न होने की गति धीमी पड़ जाती है। वहीँ इसकी अधिकता होने पर, मौलिब्डेनम की विषाक्तता की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.45 मिग्रा मौलिब्डेनम की आवश्यकता होती है।

8. Chromium Mineral in Hindi क्रोमियम खनिज

क्रोमियम ग्लूकोज और लिपिड्स के मेटाबोलिज्म के लिये आवश्यक है। हालाँकि यह शरीर में किस तरह से काम करता है और अच्छे स्वास्थ्य के लिये इसकी कितनी मात्रा जरुरी है, अभी तक इन सब चीजों का पता नहीं लगाया जा सका है। ब्रोकोली, माँस, अंगूर का जूस, साबुत अनाज, अपरिष्कृत भोजन, गिरियाँ, ताज़ी सब्जियाँ और फल, क्रोमियम के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में क्रोमियम की कमी होने पर, क्रोमियम डेफिसीइंसी हो जाती है। वहीँ इसकी अधिकता होने पर, क्रोमियम की विषाक्तता की समस्या पैदा हो जाती है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.035 मिग्रा क्रोमियम की आवश्यकता होती है।

9. Fluoride Mineral in Hindi फ्लोराइड खनिज

फ्लोराइड अनिवार्य ट्रेस मिनरल्स में शामिल नहीं है। लेकिन फिर भी यह इसलिये आवश्यक है, क्योंकि यह दाँतों को सुन्दर व मजबूत बनाये रखने में मददगार है। पीने का पानी, मछली, चिकन और ज्यादातर चाय, फ्लोराइड के प्रमुख स्रोत हैं।

शरीर में फ्लोराइड की कमी होने से कोई विशेष समस्या अभी तक नहीं देखी गयी है, लेकिन इसकी अधिकता होने पर दाँतों के लिये बड़ा खतरा पैदा हो जाता है। हमारे शरीर को प्रतिदिन 0.65 मिग्रा फ्लोराइड की आवश्यकता होती है।

10. Other Minerals in Hindi अन्य खनिज

ऊपर बताये गये 16 खनिजों के अतिरिक्त हमारे शरीर को निकिल, सिलिकॉन, वेनेडियम, बोरोन, कोबाल्ट, जर्मेनियम, रुबिडियम, आदि खनिजों की भी अत्यंत न्यून मात्रा की आवश्यकता होती है, जो आहार में प्रतिदिन लिये जाने वाले भोज्य पदार्थों से आसानी से पूरी हो जाती है। इनके लिये किसी भी तरह के सप्लीमेंट्स को लेने की आवश्यकता नहीं है।

आशा है Minerals Meaning in Hindi में हमने शरीर के लिये जरुरी जिन Essential Minerals का वर्णन किया है, उनका शरीर में क्या काम है और उन्हें हर रोज कितनी मात्रा में लेना चाहिये, यह जानने में आपको काफी मदद मिली होगी।

“मानव शरीर को रोजाना, 7 मुख्य मिनरल्स और 9 अवशेष मिनरल्स की आवश्यकता होती है।”

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •