Incredible Health Benefits of Apple in Hindi

 

“हल्के लाल पीले रंग वाला सेव लोगों के सबसे पसंदीदा फलों में से एक है जिसे दुनियाभर में उगाया और खाया जाता है। शरीर के लिये जरुरी पोषक तत्वों से भरपूर यह शानदार फल न केवल खाने में स्वादिष्ट और सरस है, बल्कि सुपाच्य और शक्तिवर्धक भी है। कई विशेषज्ञ तो सेव को मस्तिष्क और ह्रदय के लिये सर्वश्रेष्ठ फल मानते है। यही कारण है कि सेव को चाहने वाले करोड़ों की संख्या में हैं। तो देर किस बात की है आज से ही सेव खाना शुरू कर दीजिये।”

 

Amazing Health Benefits of Apple in Hindi
हर रोज एक सेव खाइये और डॉक्टर को दूर भगाइये

सेव एक मध्यम ऊँचाई वाला पेड़ है जो गुलाब के कुल का ही है। यदि व्यवसायिक रूप से खेती की जाय तो सेव का पेड़ लगभग 1.8 से 4.6 मीटर (6 से 15 फुट) ऊँचा होता है, लेकिन जंगलों में उगने वाले सेव के वृक्ष 12 मीटर से भी अधिक ऊँचे हो सकते हैं। सेव को बीज बोने के स्थान पर इनकी कलम लगाकर उगाया जाता है ताकि इनकी लम्बाई सीमित रहे। सेव के वृक्ष की पत्तियाँ गाढे हरे रंग की और फूल पाँच पंखुड़ियों वाले तथा सफेद रंग के होते हैं।

अपने अनोखे मीठे स्वाद और स्वास्थ्यकर गुणों के कारण यह हर किसी का पसंदीदा फल है और लगभग पूरी दुनिया में इसकी खेती की जाती है। चीन इसका सबसे बड़ा उत्पादक देश है जो सकल विश्व का लगभग 48 प्रतिशत सेव अकेले ही उत्पन्न करता है। सन 2016 में पूरी दुनिया में सेव का कुल उत्पादन 9 करोड़ टन से भी अधिक था।

Nutritional Facts about Apple : –

पका हुआ सेव लाल-पीले रंग का मीठा और गूदेदार फल है, जबकि कच्चा सेव हरे रंग का होता है। सेव का Binomial (पादप) या Scientific Name (वैज्ञानिक नाम) Malus Pumila (मालुस पुमिला) है। आयुर्वेद के अनुसार सेव पित्त प्रकृति का और बलवर्धक फल है। एक पके हुए सामान्य सेव का औसत वजन लगभग 240 ग्राम होता है। 100 ग्राम छिलकेरहित केले में 10.4 ग्राम शर्करा, 13.8 ग्राम कार्बोहायड्रेट, 2.4 ग्राम फाइबर और 52 कैलोरी उर्जा होती है। इसके अतिरिक्त इसमें 0.26 ग्राम वसा और 0.17 ग्राम प्रोटीन भी होता है।

सेव के छिलके, गूदे और केंद्र में कई प्रकार के Phytochemicals पाये जाते हैं जिनमे कई तरह के Flavonoids (फ्लेवोनोइड) जैसे Catechins, Flavanols व Quercetin और Phenolic Compounds जैसे Epicatechin और Procyanidins शामिल हैं। सेव के भूरे होने के पीछे मुख्य कारण इसमें पाया जाने वाला Polyphenol Oxidase नाम का तत्व है जो फल पकते समय बढ जाता है। सेव में पाये जाने वाले मुख्य Vitamins और Minerals इस प्रकार हैं –

Vitamins in Apple –

1. 100 ग्राम सेव में 3 माइक्रोग्राम Vitamin A होता है।
2. इसमें 0.017 मिग्रा Vitamin B1 (थायमिन), 0.026 मिग्रा Vitamin B2 (रिबोफ्लेविन), 0.091 मिग्रा Vitamin B3 (नियासिन), 0.061 मिग्रा Vitamin B5 (पैंटोथेनिक एसिड) 0.041 मिग्रा Vitamin B6 और 3 माइक्रोग्राम Vitamin B9 (फोलेट) पाया जाता है।
3. इसके अलावा सेव में 4.6 मिलीग्राम Vitamin C, 0.18 मिग्रा Vitamin E और 2.2 माइक्रोग्राम Vitamin K भी होता है।

Minerals in Apple –

1. सेव में 6 मिग्रा कैल्शियम, 107 मिग्रा पोटैशियम, 5 मिग्रा मैग्नीशियम और 11 मिग्रा फॉस्फोरस होता है।
2. इसके अतिरिक्त इसमें 1 मिग्रा सोडियम, 0.04 मिग्रा जिंक, 0.035 मिग्रा मैंगनीज और 0.12 मिग्रा आयरन भी पाया जाता है
3. 100 ग्राम सेव में 85.56 ग्राम पानी, 3.3 माइक्रोग्राम फ्लोराइड और 2.4 ग्राम Dietary Fiber भी होता है।

How and When should You eat Apple : –

सेव को जहाँ तक हो सके खाली पेट ही खाया जाना चाहिये और इसके छिलके सहित ही इसका सेवन करना उचित है। कई लोग सेव के छिलके को अनुपयोगी वस्तु समझकर फेंक देते हैं, लेकिन ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि छिलके में भी कई महत्वपूर्ण तत्व होते हैं। हाँ, छोटे बच्चों को यह अवश्य छिलकर दिया जा सकता है।

प्रातः काल का समय सेव खाने की दृष्टि से सर्वोत्तम है, इसके पश्चात सांयकाल का समय भी उत्तम है। सेव खाने के आधे से एक घंटे पश्चात तक कुछ न खायें। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार सेव के बाद दूध की कुछ मात्रा लेने में कोई हानि नहीं है। कई लोग इसका जूस या शेक बनाकर भी पीते हैं।

Wonderful Health Benefits of Apple : –

सेव के गुणों से सम्बंधित एक पुरानी कहावत है – “रोज एक सेव खाइये और बीमारी को दूर भगाइये।” आइये जानते हैं कि आखिर सेव में ऐसी क्या बात है जो इसे स्वास्थ्य के लिये आवश्यक सबसे महत्वपूर्ण फलों में से एक बनाती है –

Apple is Great source of Vitamins and Minerals –

सेव में शरीर के लिये जरुरी लगभग सभी Vitamins और Mierals पाये जाते हैं फिर चाहे उनकी मात्रा थोड़ी कम ही क्यों न हो। मिनरल्स के अभाव में शरीर कई बीमारियों से रोगग्रस्त हो जाता है, जैसे – कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियों से सम्बंधित समस्याएँ पैदा होने लगती है और विटामिनों की कमी होने पर शरीर खनिजों के अवशोषण में असमर्थ हो जाता है। इसीलिये यदि हर रोज एक सेव खाया जाय तो शरीर में इन तत्वों का आवश्यक संतुलन बनाये रखने में काफी मदद मिल सकती है।

Apple is Rich Source of Antioxidants –

University of Maryland Medical Center के अनुसार सेव के अन्दर एक Powerful Natural Antioxidant प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया के दौरान पैदा होने वाले फ्री रेडिकल्स को समाप्त करके उनसे शरीर को होने वाले नुकसान को रोकता हैं और असमय ही दस्तक देने वाली वृद्धावस्था को दूर रखने में मदद करता है।

Apple makes Your Body Strong –

सेव न केवल आपकी सामयिक उर्जा की आवश्यकता को पूरा करता है, बल्कि यह आपके शरीर को शक्तिशाली भी बनाता है। इसके लिये सेव का मुरब्बा विशेष रूप से सहायक है। आयुर्वेद के अनुसार प्रतिदिन खाली पेट एक मुरब्बा खाने से शरीर की दुर्बलता को दूर करने में विशेष रूप से सहायता मिलती है। इसके अतिरिक्त सेव प्रतिदिन की व्यस्त दिनचर्या में पैदा होने वाली शारीरिक कमजोरी को भी दूर कर सकता है। चाय या स्नैक्स खाने के बजाय एक सेव खाइये और फिर इसका लाभ देखिये।

Apple is Good for Your Heart –

सेव को दिल के लिये सबसे बेहतर फल माना जाता है। आप किसी भी कुशल ह्रदय चिकित्सक से पूछ लीजिये, वह आपको स्वस्थ दिल के लिये इसका सेवन करने को कहेगा। क्योंकि इसमें उपस्थित Polyphenols और Flavonoids अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों से ह्रदय की मांसपेशियों की शरीर में बनने वाले खतरनाक तत्वों से सुरक्षा करते हैं। इनमे से अधिकांश सेव के छिलके में ही होते हैं। सेव में पाया जाने वाला Epicatechin नामक फ्लेवोनोइड बढे हुए रक्तचाप को कम कर सकता है।

एक शोध में यह सिद्ध हुआ है कि flavonoids की अधिक मात्रा Heart Attack के खतरे को 20 प्रतिशत तक कम कर सकती है। इसके अतिरिक्त फ्लेवोनोइड कोलेस्ट्रोल और LDL Oxidation को कम करके दिल की खतरनाक बीमारियों से बचाते हैं। एक अन्य शोध में यह पाया गया है कि हर 25 ग्राम सेव खाने के साथ दिल के दौरे का खतरा 9 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

Apple Protects Your Brain –

मानसिक परिश्रम करने वाले व्यक्तियों के लिये सेव विशेष तौर पर लाभदायक है, क्योंकि यह मस्तिष्क के उतकों में हानिकारक Reactive Oxygen Species (ROS) के

Apple is Good for Digestive System –

National Health Service के अनुसार सेव में उपस्थित Dietary Fiber पाचन संस्थान को स्वस्थ रखने में सहायक है, क्योंकि यह आँतों को प्राकृतिक रूप से साफ करता है। सभी जानते हैं कि ज्यादातर पेट रोगों के पीछे कब्ज, गैस और अजीर्ण जैसे रोगों का हाथ होता है जिनमे आँतों की अशुद्धि ही मुख्य कारण होती है। एक रिपोर्ट के अनुसार सेव पेट को NSAID दवाइयों (Nonsteroidal Anti-inflammatory Drugs) से होने वाली क्षति से बचाने में भी मदद करता है, हालाँकि यह प्रयोग पशुओं पर संपन्न किया गया था। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार सेव IBS और बवासीर जैसे रोगों से बचाने में भी लाभदायक होता है।

Apple is Beneficial for Your Lungs –

Antioxidants से भरपूर सेव आपके फेफड़ों को oxidative damage से सुरक्षित रखने में सहायता करता है। 68,000 स्त्रियों पर हुए एक वृहत शोध के अनुसार नियमित रूप से सेव खाने वाली औरतों में दमा (asthama) रोग होने का खतरा, सेव न खाने वाली स्त्रियों की तुलना में कम था।

Apple has Anticancer Properties –

सेव में कैंसररोधी तत्व पाये जाते हैं। कई Research में यह पाया गया है कि नियमित रूप से सेव खाने वाले लोगों में कैंसर होने का खतरा काफी कम होता है, क्योंकि सेव में उपस्थित Antioxidant और Anti-inflammatory तत्व कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं। American Institute for Cancer Research के वैज्ञानिकों के अनुसार फ्लेवोनोइड की अधिक मात्रा युक्त सेव का सेवन करने से पैंक्रियास के कैंसर होने का खतरा 23 प्रतिशत तक कम हो जाता है। Cornell University में हुए एक शोध में पाया गया है कि सेव के छिलके में पाया जाने वाला ट्रीटेरपेनोइड (Triterpenoids) कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि होने से रोकता है।

Apple helps in Vision Problems –

सेव बढती उम्र के साथ होने वाली आँखों से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं को दूर रखने में भी लाभदायक है। विटामिन A से भरपूर Velvet Apples बच्चों में रतौंधी की समस्या को दूर रखने में सहायता कर सकता है। इसके अलावा आँखों के नीचे होने वाले डार्क सर्किल को हटाने में भी सेव उपयुक्त भूमिका अदा कर सकता है।

Apple Saves from Diabetes –

जो लोग नियमित रूप से सेव खाते हैंउनमे Type 2 Diabetes होने का खतरा उन लोगों की तुलना में 28 प्रतिशत तक कम हो जाता है जो सेव नहीं खाते हैं। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि सेव में उपस्थित polyphenols Pancreas (अग्नाशय) की उन बीटा कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाते हैं जो इंसुलिन का निर्माण करती हैं। डायबिटीज के रोगियों को मीठी वस्तुओं का सेवन करना हानिकारक सिद्ध हो सकता है, फिर चाहे वह फल ही क्यों न हो।

लेकिन सेव इसका अपवाद कहा जा सकता है क्योंकि एक Research में यह सिद्ध हुआ है कि सेव खाने वाले टाइप 2 डायबिटीज से ग्रस्त रोगियों के स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पडता है और उनकी शुगर नियंत्रित रहती है। यदि वह दूसरा कोई ऐसा पदार्थ न ले रहे हो जो रक्त शर्करा का स्तर बढाता हो।

Apple Boosts Immunity –

सेव शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में भी बहुत ही लाभदायक है, क्योंकि सेव के छिलके में कुएरसेटिन (Quercetin) नामक flavonoid पाया जाता है जो हमारे Immune System के लिये लाभदायक है। इसके अतिरिक्त सेव में उपस्थित Anti-inflammatory Compounds शरीर की सूजन को भी कम करते है।

Apple betters Sexual Health –

सेव को एक शक्तिवर्धक फल माना जाता है, क्योंकि यह शरीर की धातुओं को पुष्ट करता है। आयुर्वेद में पुरुषों के शारीरिक स्वास्थ्य के लिये सेव का एक प्रयोग दिया गया है, जो इस प्रकार है – एक अच्छी तरह पके सेव को लेकर उसमे तीस लौंग भीतर तक प्रविष्ट करा दें। फिर दो दिन पश्चात उसमे से एक लौंग निकालकर प्रतिदिन खायें और ऊपर से दूध का सेवन करें। इस सेव को एक शुष्क और नमीरहित स्थान पर रखें। यह प्रयोग सर्दियों में ही करें, क्योंकि जिस प्रकार के सेव की इसमें आवश्यकता है वह केवल इन्हीं दिनों उपलब्ध हो पाता है।

Apple vitalize Your Skin –

सेव त्वचा को चिकना, कोमल और चमकदार बनाने में लाभकारी है। सेव के गूदे में कोलाजेन होता है जो आपकी त्वचा के जवां निखार को बनाये रखने में मदद करता है। चेहरे पर इसका फेशियल पैक बनाकर लगाने से यह दाग-धब्बों, मुहांसों और त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने में सहायता करता है, यह तैलीय त्वचा पर भी उतना ही असरदार सिद्ध होगा। इसके अलावा चेहरे की झाइयों और झुर्रियों को कम करने में भी सेव प्रभावशाली है। यह आपकी त्वचा में कसाव लायेगा और रक्त प्रवाह को तीव्र करेगा।

Apple helps in Bone Disease –

यह माना जाता है कि फल हड्डियों के उच्च घनत्व को बनाये रखने में मदद करते हैं और सेव भी इसका अपवाद नहीं है। सेव में उपस्थित कैल्शियम और पोटैशियम (अच्छी तरह पके हुए सेव में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है) हड्डियों को मजबूत और लचीला बनाने में मदद करते हैं। इसीलिये अक्सर बढती उम्र के साथ होने वाली Osteoporosis और Rheumatoid Arthritis की समस्या से बचने के लिये सेव का नियमित रूप से सेवन करें।

Apple can prevent many Hair Problems –

कुछ शोधों के अनुसार सेव बालों से जुडी कई समस्याओं को दूर करने में सहायक सिद्ध हो सकता है। जैसे – बालों का झड़ना, सिर में रूसी होना, बालों की नैसर्गिक चमक लुप्त हो जाना आदि। सेव में Biotin नामक तत्व होता हैं जो बालों को बढ़ाने में लाभदायक माना गया है। सेव में उपस्थित Procyanidin B-2 नामक पदार्थ बालों को लंबा और घना बनाने के साथ-साथ उनकी मोटाई भी बढाता है।

Apple can help in Weight Management –

सेव वजन को नियंत्रित करने में सहायक है। 50 मोटी स्त्रियों पर अध्ययन करने के पश्चात यह निष्कर्ष निकाला गया है कि प्रतिदिन नियमित रूप से सेव का सेवन करने पर मोटापे में कमी संभव है। सभी जानते हैं कि मोटापे का बड़ा कारण अधिक कैलोरीयुक्त और वसा प्रधान भोजन है। चूँकि सेव में इन दोनों ही चीज़ों का अभाव है, इसीलिये यह मोटापे पर शीघ्र नियंत्रण करने में असरदार सिद्ध हो सकता है।

Common Side-effects of Apple –

कुछ लोगों में सेव खाने से एलर्जी की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। सेव से होने वाली एक प्रकार की एलर्जी जिसे ‘Birch-Apple Syndrome’ भी कहते हैं, उत्तरी यूरोप में अक्सर देखी गयी है। जिसमे गले और मुख की खुजली की हल्की समस्या से लेकर पेट-दर्द और उल्टी होने जैसी गंभीर समस्याएँ भी पैदा हो सकती है। एलर्जी की यह समस्या सेव में उपस्थित एक प्रोटीन के कारण होती है और यह सेव को पकाने पर भी नष्ट नहीं होता।

इसीलिये इस समस्या से बचने का उपाय सेव को न खाना ही है। ताजे और अधिक पके हुए सेव में इस एलर्जिक प्रोटीन की मात्रा सर्वाधिक होती है। सेव के बीजों को खाना भी उचित नहीं है, क्योंकि इनमे कोई पोषक तत्व नहीं होता है। इसके अतिरिक्त इन बीजों में Amygdalin नाम का एक हानिकारक तत्व भी पाया जाता है जो शर्करा और सायनाइड से मिलकर बना यौगिक है। यह कम संख्या में खाने पर तो कोई समस्या पैदा नहीं करता है, लेकिन बहुत अधिक बीज खाने पर प्रतिकूल समस्या पैदा हो सकती है।

“हर व्यक्ति समय-समय पर उत्साही होता है। एक आदमी में 30 मिनट तक जोश रहता है; दूसरे में 30 दिन तक, लेकिन जो अपने जीवन को सफल बनाता है वो, वह व्यक्ति होता है जो इसे 30 साल तक बरकरार रख पाता है।”
– एडवर्ड बटलर जॉर्ज

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!

Spread Your Love