Health Benefits of Milk in Hindi

 

Know Incredible Health Benefits of Milk दूध के अविश्वसनीय लाभ : –

 

Essential Health Benefits of Milk in Hindi
शरीर को स्वस्थ और बलशाली बनाये रखना चाहते हैं तो दूध पीना मत भूलिये

आयुर्वेद में और भारतीय पौराणिक साहित्यों में दूध को अमृत कहा गया है, विशेषकर गौ के दूध को। जो लोग दूध को नापसंद करते हैं या इसकी महत्ता के बारे में नहीं जानते हैं उन लोगों को यह वाक्य अतिरंजित लग सकता है। लेकिन जब आप इस लेख को पूरा पढ़ लेंगे, तब आप भी इस प्राचीन और निर्विवाद सत्य से इंकार नहीं कर सकेंगे कि दूध वास्तव में कितना अधिक गुणकारी है और अच्छे स्वास्थ्य और बलवान शरीर के निर्माण में इसकी भूमिका कितनी ज्यादा अहमियत रखती है।

पुष्ट माँसपेशियों से लेकर मजबूत हड्डियों तक, सुद्रढ़ दांतों से लेकर चमकती त्वचा तक, प्रखर मस्तिष्क से लेकर शरीर की बेशकीमती धातुओं के निर्माण तक और सशक्त पाचन तंत्र से लेकर बलवान हृदय और फेफड़ों तक शरीर का कोई अंग ऐसा नहीं है जिसे धरती के अमृत दूध की प्रचंड सूक्ष्म-शक्ति बल और ओज न प्रदान करती हो।

सिर्फ इतना ही नहीं, दूध हमारे Immune System को इतना सशक्त बना सकता है कि यह लम्बे समय तक हमारे शरीर का खतरनाक Bacteria और Virus से बचाव कर सके। आज वैज्ञानिक और चिकित्सक दूध के अतुल्य गुणों की प्रशंसा करते नहीं थकते हैं, क्योंकि व्यापक शोध के बाद उन्हें जो निष्कर्ष प्राप्त हुए हैं उससे वह भी अचंभित हैं।

लेकिन हमारे प्राचीन ऋषि-मुनि आरम्भ से ही इसके गुणों से परिचित थे, इसलिये उन्होंने गौपालन पर विशेष बल दिया ताकि हर व्यक्ति को उसके जन्मकाल से ही शुद्ध दुग्ध पीने को मिल सके। यही कारण है कि हर औसत भारतीय अपनी संतान के उत्तम स्वास्थ्य हेतु सर्वोत्तम भोजन के रूप में दूध को प्रथम स्थान पर रखता है।

Properties of Milk दूध के गुण : –

अधिकांश लोग दूध के आरोग्यदायक गुणों से परिचित हैं और वे अच्छी तरह समझते भी हैं कि यह उत्तम स्वास्थ्य हेतु अनिवार्य आवश्यकताओं में से एक है, लेकिन यह वायु और जल की तरह सर्वसुलभ नहीं है। क्योंकि यह प्रकृति में मुक्त रूप से नहीं मिलता है। इसके लिये हम पूरी तरह से सजीव प्राणियों और उनमे भी सिर्फ मादा पशुओं पर निर्भर हैं।

क्योंकि केवल उनके अन्दर ही उन Mammary Glands (दुग्ध उत्पादक ग्रंथियों) का विकास हो पाया है जिनके अन्दर दूध का निर्माण होता है। जीवन का संचालन करने के लिये सृष्टि के निर्माता ने कमजोर से कमजोर प्राणी की आवश्यकता का ध्यान रखा है और ऐसे ही जीवों में हैं शामिल है मनुष्य और पशुओं के नवजात शिशु जो अपने निर्बल शरीर और अविकसित अंगों के कारण स्वयं अपना भरण-पोषण करने में असमर्थ हैं।

दूध ऐसे ही जीवों के लिये प्राणदायी अमृत है। आयुर्वेद के अनुसार दूध श्वेत रंग का (कुछ प्राणियों में दूध का श्वेत रंग हल्के पीले या लाल रंग की आभायुक्त भी हो सकता है) स्निग्ध, कफवर्धक, नाड़ियों के लिये बलकारक, और शीतल प्रकृति का द्रव्य है। अपने अनोखे गुणों के कारण इसकी गणना एक विशिष्ट रसायन के रूप में भी की जाती है।

Which is The Best Milk सर्वोत्तम दूध : –

दूध सिर्फ पशुओं (चौपाये और मनुष्य) से ही प्राप्त होता है, क्योंकि पक्षियों (चमगादड़ एक अपवाद है) में दुग्ध-उत्पादक ग्रंथियाँ नहीं होती हैं। पालतू पशुओं से लेकर जंगली जानवर तक सभी अपने शिशुओं को दूध का पान कराते हैं। इंसानों को अपनी आवश्यकता लायक दूध गाय, भैंस, बकरी, भेड, ऊँटनी और याक जैसे पालतू पशुओं से आसानी से मिल जाता है।

इन सभी जीवों के दूध की अपनी अलग-अलग विशेषता है, जिसकी उपलब्धता वातावरण और व्यक्ति विशेष की आवश्यकता पर निर्भर करती है। जैसे रेगिस्तानी प्रदेश में रहने वाले लोगों को भेड़ या ऊँट के दूध पर निर्भर रहना पड़ता है, तो पर्वतीय प्रदेश में रहने वालों को याक के दूध पर। अन्य सभी लोगों की आवश्यकताएँ गाय, भैंस और बकरी के दूध से पूरी हो जाती है।

भैंस का दूध इन तीनों पशुओं की तुलना में अधिक गाढ़ा और भारी होता है। बकरी का दूध अपने औषधीय गुणों के कारण कुछ रोगों के उपचार में विशेष सहायक होता है। गाय का दूध हल्का, सुपाच्य और बुद्धिवर्धक होने के कारण सबसे श्रेष्ठ माना गया है। इसलिये जहाँ तक संभव हो सके सामान्य रूप से पीने के लिये गाय के दूध का ही चयन करें।

How You should Consume Milk दूध कैसे पीयें : –

दूध किस तरह पीना चाहिये इसके विषय में कई लोग कुछ नहीं जानते हैं। Internet पर भी इसके बारे में कोई विशेष सामग्री उपलब्ध नहीं है। आयुर्वेद, प्राचीन साहित्य और अनुभवी लोगों के अनुभव के आधार पर आज हम आपको बतायेंगे कि दूध पीते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिये जिससे कि आप इसकी सम्पूर्ण शक्ति को ग्रहण करने में समर्थ हो सकें।

अच्छे स्वास्थ्य हेतु आपको सिर्फ दो प्रकार का दूध पीना चाहिये। एक धारोष्ण दुग्ध और दूसरा इसे अच्छी तरह से उबालने के पश्चात। धारोष्ण दुग्ध का तात्पर्य है तुरंत ही निकाला गया दूध। इसे 5 से 10 मिनट के अन्दर ही पी लेना चाहिये, अन्यथा इसमें Bacteria पैदा हो जाते हैं जो आपके पाचन तंत्र के लिये समस्या पैदा कर सकते है।

आयुर्वेद में कुछ बीमारियों के उपचार के लिये दवाओं को धारोष्ण दूध के साथ देना लाभकारी बताया गया है। धारोष्ण दुग्ध बहुत अच्छा माना जाता है लेकिन आसानी से सुलभ नहीं होता। इसलिये बेहतर यही है कि दूध को अच्छी तरह उबालकर ठंडा करके तब उसे पिया जाय। Packaged Pasteurized Milk भी एक बेहतर विकल्प है। जब आप दूध पीये तो इन कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखे –

1. दूध पीने के लिये दो अवसर सर्वोत्तम हैं – एक प्रातः काल का समय, जब आप नाश्ता करते हैं और दूसरा रात्रि के भोजन (कम से कम 2 घंटे का अंतर अवश्य हो) के पश्चात। दूध को हमेशा खाली पेट ही पिया जाना चाहिये। इसके साथ दूसरी कोई अन्य चीज़ नहीं खानी चाहिये। जैसे – बिस्कुट, नमकीन या दूसरे स्नैक्स।

2. कुछ लोगों को दूध के साथ भोजन करने की भी आदत होती है, वे रोटी-सब्जी या ऐसी ही कुछ अन्य चीजें दूध के साथ खाते हैं। ऐसे लोगों से हमारा अनुरोध है कि वह यह करना बंद कर दें। क्योंकि इससे न केवल दूध के सारे नैसर्गिक शक्तिप्रदायक गुण नष्ट हो जाते हैं, बल्कि विपरीत प्रकृति के खाद्य पदार्थ उनकी पाचन शक्ति को भी बिगाड़ देते हैं।

3. ध्यान रहे इसका पता तुरंत नहीं चलता है, बल्कि कुछ समय बाद जब वह विकार काफी तीव्र हो जाते हैं, तभी हम उनसे दो-चार होते हैं। दूध में चीनी मिलकर पीना भी स्वास्थ्य के लिये नुकसानदेह है। क्योंकि जब चीनी को शुद्ध किया जाता है तब उसमे कुछ chemicals मिलाये जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिये अच्छे नहीं होते हैं। यदि आपको मीठा दूध ही पीना है तो कच्ची खांड या गुड की शक्कर का प्रयोग करें।

Nutritional Value of Milk दूध का पोषणीय महत्व : –

दूध को Complete Food माना गया है क्योंकि इसमें हर वह चीज उपस्थित है जिसकी हमारे शरीर को अनिवार्य रूप से आवश्यकता होती है। यह Essential Minerals और Important Vitamins का आदर्श प्राकृतिक स्रोत है। दूध को प्रतिदिन अपने भोजन में शामिल करने से आपको एक well-balanced diet मिलती है।

क्योंकि दूध Vitamin A, Vitamin B1, Vitamin B2 (Riboflavin), Vitamin B12, Vitamin D जैसे महत्वपूर्ण विटामिनों और प्रमुख खनिजों जैसे Calcium, Phosphorous, Magnesium, और Zinc का शानदार स्रोत है। इसके अतिरिक्त  यह Carbohydrate, Protein और Light Fat का भी बहुत ही अच्छा जरिया है।

यह समझ लीजिये कि भोजन करने के पश्चात भी यदि शरीर में किसी nutrients की कमी रह जाती है तो वह सब दूध से पूरी हो जाती है। अब हम आपको दूध के उन Incredible Health Benefits के बारे में बतायेंगे जिसके लिये यह प्रसिद्द है।

Great Health Benefits of Drinking Milk दूध पीने के शानदार लाभ : –

1. Milk is A Good Acidity Regulator –

कभी-कभी कुछ लोगों में अम्लपित्त की अधिकता के कारण पेट में जलन की शिकायत पैदा हो जाती है। यह जलन खाली पेट भी हो सकती है, ऐसे में व्यक्ति की भूख भी मर जाती है। जिन्हें यह समस्या हो वह आधा या एक गिलास ठंडा दूध (10-15 °C) पीयें। यह समस्या दूर हो जायेगी, बशर्ते कोई अन्य स्वास्थ्य समस्या न हो। यह प्रयोग हमारा अनुभव किया हुआ है।

2. Milk Betters Heart Health –

दूध मनुष्य के ह्रदय के लिये भी लाभदायक है। तीन प्रसिद्द विश्वविद्यालयों Reading University, Cardiff University और Bristol University द्वारा किये गये एक शोध के अनुसार प्रतिदिन दूध पीने से Coronary Heart Disease (CHD) और Heart Stoke जैसी खतरनाक दिल की बीमारियों से रोगी के मरने का खतरा 15-20% तक कम हो सकता है।

यह निर्णय milk consumption की 324 studies के आधार पर निकाला गया है, जिन्हें प्रोफेसर Peter Elwood (Cardiff University) ने  Reading University के प्रोफेसर Ian Givens के साथ मिलकर संपन्न किया है। इसके अतिरिक्त दूध Atherosclerosis और अन्य Cardiovascular Disease में भी लाभप्रद हैं। सावधानी के लिहाज से गाय का दूध पीना सर्वोत्तम है, क्योंकि इसका fat-content काफी कम होता है।

3. Milk is A Great Body Builder –

दूध शरीर को शक्ति देने के साथ-साथ उसे बलिष्ठ भी बनाता है। इसमें उपस्थित प्रोटीन और वसा शरीर को पुष्ट और सुडौल बनाती है। शारीरिक रूप से कमजोर लोगों के लिये दूध पीना विशेष रूप से लाभदायक है। क्योंकि कमजोर पाचन शक्ति वाले लोगों के लिये शुद्ध वसा जैसे घी आदि पेट के रोगों का कारण बन सकती है। लेकिन दूध इन लोगों को भी सही प्रकार से पच सकता है। ऐसे लोगों के लिये गाय का दूध सर्वोत्तम है, क्योंकि भैंस का दूध पचने में थोडा भारी होता है।

4. Milk is The Complete Food –

Milk एक पूर्ण भोजन है। जिसमे लगभग हर वह चीज़ उपस्थित है जिसकी मनुष्य शरीर को आवश्यकता है। फिर चाहे वह आँखों के लिये आवश्यक विटामिन A हो या फिर खून बढाने के लिये आवश्यक विटामिन B। तंत्रिका तंत्र के लिये आवश्यक पोटैशियम हो या पेशीय तंत्र के लिये जरुरी मैग्नीशियम। शरीर की वृद्धि, पुष्टि और मरम्मत करने के लिये प्रोटीन, वसा और अनेकों चीज़ें दूध में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं।

5. Milk is Potential Source of Energy –

दूध में Carbohydrates का प्रचुर भंडार होता है, जो शरीर को तुरंत शक्ति और बल प्रदान करता है। किसी भारी शारीरिक कार्य को करने पर या कठोर मानसिक परिश्रम करने के उपरांत पैदा हुई थकान को दूर करने के लिये दूध एक शक्तिदायक पेय है। यह Glucon-D या Fruit Juice का एक बहुत ही अच्छा विकल्प है।

या यह कहें कि यह उनसे भी ज्यादा बेहतर है। क्योंकि दूध अपनी Energy उनकी तुलना में थोड़ी धीमी गति से release करता है जिससे व्यक्ति की Energy Requirement और ज्यादा लम्बे समय के लिये पूरी हो सकती हैं।

6. Milk Balances Body Fluids –

शरीर को स्वस्थ रखने के लिये जल कितना आवश्यक है यह हम Health Benefits of Water in Hindi में पहले ही बता चुके हैं। मनुष्य शरीर में हर समय metabolism की अनेकों क्रियाएँ चलती रहती हैं। Body Fluids का balance maintain करने के लिये हमें प्रतिदिन 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिये। चूँकि दूध में 90 से 95% तक पानी होता है इसलिये यह शरीर में लवणों का आवश्यक संतुलन बनाये रखने में मदद करता है।

7. Milk Vitalize The Body Skin –

दूध में लैक्टिक अम्ल पाया जाता है जो त्वचा की dead cells (मृत कोशिकाओं) को हटाने में सहायक होता है। इस तरह यह skin को एक नया जीवन प्रदान करता है और उसे हमेशा जवां और तरोताजा बनाये रखता है। इसके अलावा दूध Antioxidants का भी प्रचुर स्रोत है जो हमारे शरीर के अन्दर metabolism (चयापचय) की प्रक्रिया के दौरान पैदा होने वाले खतरनाक free radicals को खत्म करते हैं।

इस तरह यह skin पर असमय पड़ने वाली झुर्रियों और त्वचा की जीर्णावस्था को रोकते हैं। दूध का सौंदर्य प्रसाधनों में उपयोग प्राचीनकाल से होता आया है। हल्दी और दूध का उबटन या फिर त्वचा पर दूध की मलाई का लेप करना इसके प्रचलित प्रयोग हैं, जिनसे हर कोई वाकिफ है। सर्दियों में skin की dryness को दूर करने और इसे फटने से बचाने के लिये दूध और इसकी वसा बहुत गुणकारी है।

8. Milk is An Immunity Booster –

Milk एक Potential Immunity Booster है। Bacterial Disease और Viral Infection से बचाव करने के लिये एक Strong Immune System का होना बहुत जरुरी है। दूध (विशेषकर गाय का) अपने high Immunoglobulin (IgA, IgG, IgM) content के कारण अनेकों pathogens जैसे pathogenic bacteria और virus से human body को protect करता है।

9. Milk is The Source of Essential Minerals –

दूध में शरीर के लिये आवश्यक प्रायः सभी major और trace minerals होते हैं। जैसे – कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस, सोडियम, आयरन, जिंक और मौलिब्लेडीनम आदि। Minerals हमारे शरीर के लिये क्यों जरुरी होते हैं यह आप Health Benefits of Essential Minerals में पढ़ सकते हैं।

10. Milk Prevents Cancer –

दूध कैसर के आक्रमण को रोकता है, यह कुछ लोगों को सुनने में विचित्र लग सकता है। लेकिन कुछ Research के अनुसार दूध Colon Cancer (आँतों के कैंसर) और Prostate Cancer (शिश्नग्रंथियों के कैंसर) को रोकने में प्रभावी भूमिका निभाता है। क्योंकि इसमें उपस्थित Antibodies, Cancer Cells को ख़त्म करते हैं, विशेषकर गाय का प्रथम दूध जिसे आम भाषा में खीच भी कहते हैं।

11. Milk Prevents HIV Infection –

University of Melbourne के वैज्ञानिकों द्वारा conduct की गयी एक research ‘Cow’s milk prevent HIV‘ के अनुसार गाय के दूध में उपस्थित Antibodies खतरनाक HIV Infection से हमारी सुरक्षा कर सकती हैं। आप जानते ही होंगे कि AIDS की लाइलाज बीमारी HIV से ही फैलती है।

12. Milk Strengthens Bones  –

दूध कैल्शियम और Vitamin D दोनों का प्रचुर स्रोत है और हड्डियों की मजबूत संरचना और उनके उचित विकास के लिये इन दोनों की अनिवार्य रूप से आवश्यकता होती है। हड्डियों से संबंधित रोग जैसे Osteoporosis आदि को (जो अक्सर प्रौढ़ावस्था या वृद्धावस्था में ही होता है) समय रहते, प्रतिदिन नियमित रूप से दूध लेने से रोका जा सकता है।

यह देखा गया है कि bone fracture की समस्या होने पर दूध नहीं पीने वाले लोगों की तुलना में दूध पीने वाले लोगों की चोट में ज्यादा तेजी से सुधार होता है, बशर्ते वह pills के रूप में कैल्शियम और विटामिन की अतिरिक्त खुराक न लें रहे हों।

13. Milk makes Teeth Strong –

हड्डियों की ही तरह, दूध दाँतों के लिये भी बहुत अच्छा माना जाता है। यह दाँतों की outer Enamel coating की अम्लीय चीज़ों से सुरक्षा करता है जिससे हमारे मसूड़े और दांत लंबे समय तक मजबूत और स्वस्थ बने रहते हैं। ध्यान दीजिये पेप्सी, कोका-कोला जैसे soft drinks/cold drinks हमारे दाँतों के लिये बिल्कुल अच्छे नहीं होते हैं, क्योंकि यह दांतों की कठोर enamel की परत को खराब करते हैं।

14. Milk is Vitamins Enriched –

दूध उन विटामिनों का प्रचुर स्रोत है जो शरीर की कई Biochemical Process को संपन्न करने के लिये अनिवार्य है। लगभग सभी Fat Soluble Vitamins जैसे A, D, E, और K दूध में पाये जाते हैं। दूध में आँखों की ज्योति के लिये आवश्यक Vitamin A की भी प्रचुर मात्रा पाई जाती है। गाय के दूध में तो कैरोटीन नामक तत्व भी पाया जाता है जो और भी ज्यादा फायदेमंद है।

इसके अतिरिक्त दूध Thiamin, Riboflavin और Vitamin B12 का भी अच्छा स्रोत है। इसमें थोड़ी मात्रा में Niacin, Pantothenic Acid, Vitamin B6, Vitamin C और Folate भी पाया जाता है। शरीर के लिये विटामिन कितने आवश्यक हैं, इसके बारे में आप Health Benefits of Vitamins in Hindi में पहले ही पढ़ चुके हैं।

15. Invisible Benefits of Milk –

इन सब लाभों के अतिरिक्त दूध के अनेकों Invisible Health Benefits भी हैं जिनके बारे में scientific world अभी तक अनभिज्ञ है। भविष्य में होने वाली Researches से शायद यह रहस्य भी प्रकट हो सकें। कुछ लोगों को जिन्हें लैकटोज से परेशानी होती है, उन्हें दूध के कारण पेट से सम्बंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जैसे – पेट-दर्द, गैस और दस्त आदि। ध्यान रखें, दस्तों में कभी दूध न पीयें।

इसके लिये एक उपचार यहाँ दिया जाता है, यह हमारा अनुभव किया हुआ है। आवश्यक नहीं है कि यह सभी को लाभ दे, क्योंकि हर व्यक्ति के शरीर की प्रकृति अलग-अलग होती है। लेकिन आशा है कि अधिकांश लोगों को इससे लाभ ही होगा –

जिन लोगों को दूध पीने के बाद गैस बनने की समस्या से रूबरू होना पड़ता हो या जिनकी पाचन शक्ति कमजोर है वह दूध को तोड़कर पीयें। अर्थात दूध को इतना फेंटे कि वह कणों में विखंडित हो जाय। एक गिलास में दूध लेकर उसे किसी चौड़े बर्तन में कुछ ऊपर से गिरायें और ऐसा 5 से 7 मिनट तक करें। जब बर्तन में काफी झाग उठ जाँय तब इसे पी लें। यदि सौंफ और मुनक्का का प्रयोग कर सकें तो और ज्यादा बेहतर रहेगा।

“दवाइयों के सहारे जिंदगी तो बढाई जा सकती है, लेकिन मौत तो चिकित्सक को भी दबोच लेगी।”
– विलियम शेक्सपियर

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!

Spread The Love