What is The Meaning of Impotent in Hindi

 

“नपुंसक का तात्पर्य उस पुरुष से है जो सही प्रकार से यौन सम्बन्ध बनाने और स्त्री को सम्भोग क्रिया में संतुष्टि प्रदान करने में असमर्थ है। नपुंसकों में मुख्य रूप से अविकसित लिंग या इन्द्रिय दौर्बल्य का दोष ही ज्यादा देखने में सामने आता है। नपुंसक पुरुष को अल्पवीर्य भी कहा जाता है।”

 

What is The Meaning of Impotent in Hindi
नपुंसकता लाइलाज नहीं है

Impotent Meaning in Hindi में आज हम आपको Impotent का अर्थ और कैसे कोई पुरुष इम्पोटेंट बनता है, इसके बारे में विस्तार से बताएँगे। Impotent शब्द का अर्थ है – नपुंसक, पुंसत्वहीन, कापुरुष और वीर्यहीन। Impotent शब्द का तात्पर्य उस पुरुष से है जो सही प्रकार से यौन सम्बन्ध बनाने और स्त्री को सम्भोग क्रिया में संतुष्टि प्रदान करने में असमर्थ है। सरल शब्दों में कहें तो ऐसे पुरुष का लिंग/शिश्न, सम्भोग क्रिया के दौरान या तो बिल्कुल ही उत्तेजित नहीं होता या फिर वह अपनी द्रढ़ता नहीं बनाये रख पाता है।

नपुंसक को भारतीय समाज में क्लीव के नाम से भी संबोधित किया जाता है। आम तौर पर नपुंसक शब्द केवल पुरुषों के लिये प्रयुक्त किया जाता है, स्त्रियों के लिये नहीं। लिंग के उत्तेजित नहीं होने के कारण या पर्याप्त समय तक खड़ा नहीं रह पाने के कारण नपुंसक पुरुष, सम्भोगकाल में स्त्री को संतुष्ट नहीं कर पाता है।

Impotent in Hindi नपुंसक पुरुष की पहचान

अक्सर देखा गया है कि या तो नपुंसकों के यौनांग पूर्ण रूप से विकसित नहीं होते हैं या फिर उनका वीर्य शुद्ध नहीं होता हैं। ज्यादातर नपुंसको की इन्द्रिय छोटी और इतनी दुर्बल होती है कि वह स्त्री की योनि में अपना लिंग तक प्रविष्ट नहीं करा पाते हैं। ऐसे पुरुषों का लिंग 1 या 1.5 इंच से ज्यादा बड़ा नहीं होता है, वहीँ कुछ नपुंसक ऐसे होते हैं जिनका लिंग योनि में प्रविष्ट होते ही अपनी उत्तेजना खो बैठता है।

नपुंसकों की इस अक्षमता का नाम है – नपुंसकता जिसे यौन असमर्थता, यौन अक्षमता आदि नामों से भी जाना जाता है। अंग्रेजी में इसे Erectile Dysfunction (ED) या Impotency भी कहते हैं। आम तौर पर नपुंसक दो प्रकार के होते हैं –

“एक वह जिनके लिंग में सेक्स की इच्छा जागने के बावजूद उत्तेजना नहीं पैदा होती है, ऐसे पुरुष पूरी तरह से नपुंसक होते हैं। ऐसे लोगों को बहुत ज्यादा उत्तेजित किये जाने पर भी उनके लिंग में द्रढ़ता नहीं आती है। दूसरी श्रेणी के पुरुष आंशिक या अस्थायी रूप से नपुंसक होते हैं, क्योंकि इनका लिंग उत्तेजित होने के बाद, किसी कारणवश जल्दी स्खलित हो जाता हैं।”

Types of Impotent in Hindi नपुंसकों के प्रकार

नपुंसक पुरुषों को मुख्य रूप से दो वर्गों में बाँटा जा सकता है – एक जन्मजात नपुंसक और दूसरे असंयम के कारण बने नपुंसक। ध्यान रखने योग्य बात यह है कि जन्मजात नपुंसक, शारीरिक विकृति का शिकार होते है। जबकि असंयम करने के कारण नपुंसकता का शिकार बनने वाले नपुंसकों में शारीरिक और मानसिक दोनों ही कारण सम्मिलित होते हैं।

जन्मजात नपुंसक

जन्मजात नपुंसक जन्म से ही पुंसत्वहीन होते हैं, क्योंकि गर्भ में उनकी इन्द्रिय का विकास सही प्रकार से नहीं हो पाता है। ऐसे पुरुषों का यौन अंग मात्र एक चिन्ह भर होता है। उनके लिंग की लम्बाई भी आधे या एक इंच से अधिक नहीं होती है। ऐसे पुरुष को पुरुष हिजड़ा भी कहते हैं। इस प्रकार के नपुंसक पुरुष आम तौर पर जीवन भर नपुंसक ही बने रहते हैं।

जब तक विशेष शल्य चिकित्सा और हार्मोन चिकित्सा न करायी जाय, तब तक वह नपुंसक का जीवन बिताने को विवश होते है। यह नपुंसक, शुक्राणुहीनता (शुक्राणुओं का नहीं बनना) की समस्या से भी पीड़ित होते हैं, क्योंकि या तो उनके अंडकोष बहुत ही छोटे होते हैं या फिर होते ही नहीं हैं। इसके अतिरिक्त नपुंसक व्यक्ति संतान को जन्म देने में भी असमर्थ होते है, क्योंकि उनके प्रजनन अंग पूर्ण रूप से विकसित नहीं होते हैं।

असंयम के कारण बने नपुंसक

जन्मजात नपुंसकता को दूर करना एक मुश्किल और कष्टसाध्य प्रक्रिया है, हालाँकि यह यदा-कदा ही देखने को मिलती है। नपुंसकता के 99 प्रतिशत से अधिक मामले, असंयम के कारण पैदा हुई नपुंसकता से संबंधित होते हैं, जो शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की होती है। इस प्रकार के नपुंसकों की नपुंसकता के पीछे उनकी असंयमित जीवनशैली या कोई गंभीर चोट ही सबसे बड़ा कारण होती है।

Why A Man Becomes Impotent in Hindi

किसी भी पुरुष के लिये नपुंसकता एक अभिशाप है, क्योंकि प्रत्येक समाज में नपुंसक व्यक्ति को नीची दृष्टि से देखा जाता है। आज भी अगर कहीं कोई व्यक्ति किसी पुरुष को सबके सामने नपुंसक के नाम से संबोधित करता है, तो वह उसके मान-सम्मान पर बहुत बड़ा धब्बा माना जाता है। इसके अलावा नपुंसक व्यक्ति न तो अपनी पत्नी को संतुष्ट करके सुखमय विवाहित जीवन का आनंद ले सकता है और न ही संतान पैदा कर सकता है।

इसीलिये हर व्यक्ति को उन बातों को जानना जरुरी है जो उसे जाने-अनजाने नपुंसक बना सकती हैं। नपुंसकता की परिभाषा तथा इसके कारण और लक्षणों के बारे में हमने Erectile Dysfunction Meaning in Hindi नामक लेख में विस्तार से बताया हैं। यहाँ तो हम सिर्फ नपुंसकता के उन कारणों के बारे में बतायेंगे जिनका वर्णन इस लेख में नहीं किया जा सका था।

क्यों बनता है पुरुष नपुंसक

पैदायशी नपुंसकता को छोड़ दिया जाय तो लगभग हर तरह की नपुंसकता से बचा जा सकता है, लेकिन अमर्यादित और असंयमी जीवन जीने के कारण आजकल के पुरुषों में यह बीमारी बड़ी तेजी से फैलती जा रही है। हालिया शोध अध्ययनों में यह सिद्ध हुआ है कि अगर कोई पुरुष नीचे दी जा रही चीजों का सेवन करता है या वह इन कार्यों में लिप्त है, तो उसके नपुंसक बनने की सम्भावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है।

1. लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करने से नपुंसक होने का खतरा बढ़ जाता है।

2. ज्यादा मात्रा में स्टेरॉयड लेने वाले पुरुष आगे चलकर नपुंसक बन सकते हैं।

3. अधिक दबाव की स्थिति में सेक्स करना आपको नपुंसक बना सकता है।

4. स्मार्टफोन को सामने की जेब में रखने से भी नपुंसक होने का खतरा बढ़ जाता है।

5. ज्यादा धूम्रपान करना और ज्यादा शराब पीना खुद को नपुंसक बनाने जैसा है।

6. अपने दाँतों को सही प्रकार से साफ़ न करना भी नपुंसकता की ओर धकेल सकता है।

7. ज्यादा खर्राटे लेने वाले लोगों के नपुंसक होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

याद रखिये यह चीजें भी आपको नपुंसक बना सकती हैं

8. ज्यादा मात्रा में शीतल पेय या कोका कोला पीना भी यौन स्वास्थ्य के लिये अच्छा नहीं है।

9. हेयर लोस ट्रीटमेंट के कारण पुरुषों में नपुंसकता का खतरा बढ़ जाता है।

10. बहुत ज्यादा अश्लील चित्र और फिल्में देखना आपको नपुंसक बना सकता है।

11. गर्म पानी से अक्सर स्नान करने से नपुंसक होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

12. सनस्क्रीन का ज्यादा इस्तेमाल करने से नपुंसकता का खतरा बढ़ जाता है।

13. सेक्स टॉयज का ज्यादा इस्तेमाल करने वाले नपुंसकता का शिकार बन सकते है।

14. ज्यादा नमक खाने वाले पुरुषों में भी नपुंसकता का खतरा बढ़ जाता है।

“पुरुष नपुंसकता, संभोग के समय शिश्न के उत्तेजित न होने या उसे बनाए न रख सकने के कारण पैदा हुई यौन निष्क्रियता की स्थिति है।”

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •