Ocean Meaning and Name of Oceans in Hindi

 

“प्रशांत महासागर विश्व का सबसे बड़ा और सबसे गहरा महासागर है। इसका कुल क्षेत्रफल 165,250,000 वर्ग किमी (63,800,000 वर्ग मील) तथा आयतन लगभग 710,000,000 किमी3 है। धरती का सबसे गहरा स्थान मेरियाना ट्रेंच (Marianas Trench) भी इसी महासागर में ही स्थित है।”

 

Ocean Meaning and Name of Oceans in Hindi
प्रशांत महासागर धरती का सबसे बड़ा महासागर है

Ocean Meaning in Hindi महासागर का अर्थ

Ocean Meaning in Hindi में आज हम आपको बतायेंगे, दुनिया के सबसे बड़े और विशाल उन पाँच महासागरों के बारे में, जिनके सम्बन्ध में लोगों को कम ही जानकारी है। इन सभी महासागरों का वर्गीकरण और इनके जलीय क्षेत्र का सीमांकन International Hydrographic Organization करता है। यह एक Inter-governmental Organization है जिसकी स्थापना सन 1921 में हुई थी। इसका मुख्यालय मोनाको में है और 100 से भी अधिक देश इसके सदस्य हैं।

Ocean (ओशन) का हिंदी में Meaning है – महासागर या महासमुद्र। ओशन शब्द की उत्पत्ति प्राचीन यूनानी शब्द ओकानोस (Okeanós) से हुई है। आपमें से कई लोग यह सोचते होंगे कि आखिर सागर और महासागर में क्या अंतर है, जबकि वे दोनों ही अथाह जलराशि का भंडार होते हैं।

इसका सरल सा उत्तर यह है कि जहाँ सागर का क्षेत्र किसी एक या एक से अधिक देश की सीमा तक ही सीमित होता है, वहीँ महासागर का क्षेत्र एक या एक से अधिक महाद्वीप तक विस्तृत होता है। कुछ महासागर तो इतने अधिक विशाल है कि उनमे दुनिया के सबसे बड़े महाद्वीप तक समा जाँय।

क्या जानते हैं आप धरती के सात महाद्वीपों के बारे में – 7 Continents Meaning in Hindi

Hindi Ocean Facts महासागरों से जुड़े जरुरी तथ्य

धरती का प्रत्येक महासागर, विश्व महासागर (World Ocean) का ही हिस्सा है, सिर्फ आसान वर्गीकरण के लिये इसे पाँच भागों में बाँटा गया है। महासागर खारे पानी का अत्यंत विशाल स्रोत होते है और यह पृथ्वी के जल मंडल का 71% भाग खुद में समाहित किये हुए है, जो लगभग 36.1 करोड वर्ग किलोमीटर बैठता है।

इन अंतहीन महासागरों की औसत गहराई 3700 मीटर है। धरती के जैवमंडल का 90 प्रतिशत भाग भी Oceans के दायरे में आता है। पृथ्वी के जल का 97 प्रतिशत भाग इन Oceans के ही अन्दर है। अगर समुद्र विज्ञानियों (Oceanographers) की मानें, तो अभी तक महासागरों के सिर्फ 5 प्रतिशत भाग का ही अन्वेषण किया जा सका है।

महासागरों का कुल आयतन 1 अरब 35 करोड़ घन किमी है। चूँकि World Ocean धरती के जलमंडल का मुख्य घटक है, इसीलिये यह जीवन के लिये अनिवार्य है। ऐसा माना जाता है कि सागर में जीवों की 20 लाख से भी ज्यादा प्रजातियाँ निवास करती हैं आइये अब संक्षिप्त रूप से संसार के पाँच महासागरों के बारे में जाने !

यह हैं दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण ज्वालामुखी – Volcano Facts and Meaning in Hindi

 

5 Largest Oceans in World in Hindi

1. The Pacific Ocean प्रशांत महासागर

प्रशांत महासागर विश्व का सबसे बड़ा और सबसे गहरा महासागर है। इसका कुल क्षेत्रफल 165,250,000 वर्ग किमी (63,800,000 वर्ग मील) तथा आयतन लगभग 710,000,000 किमी3 है। यह उत्तर में आर्कटिक महासागर से लेकर दक्षिण में अंटार्कटिका महाद्वीप या दक्षिणी महासागर तक फैला हुआ है। इसके पूर्वी छोर पर उत्तरी और दक्षिणी अमेरिकी महाद्वीप हैं, तो पश्चिमी छोर पर एशिया और ऑस्ट्रेलिया।

प्रशांत महासागर की औसत गहराई 4,280 मीटर (14,040 फीट) है। धरती का सबसे गहरा स्थान मेरियाना ट्रेंच (Marianas Trench) भी इसी महासागर में स्थित है। प्रशांत महासागर की कुल तटीय सीमा 135,663 किमी (84,297 मील) है जो सभी महासागरों में सर्वाधिक है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह महासागर अटलांटिक से भी दोगुना बड़ा है।

यह फिलिपींस तट से लेकर पनामा 9,455 मील चौड़ा तथा बेरिंग जलडमरूमध्य से लेकर दक्षिण अंटार्कटिका तक 10,492 मील लंबा है। प्रशांत महासागर का धरातल प्राय: समतल है और यह एशिया और ऑस्ट्रेलिया को अमेरिका महाद्वीप से अलग करता है।

संसार के 50 सबसे बड़े द्वीप और उनसे जुड़े तथ्य – Island Facts and Meaning in Hindi

2. The Atlantic Ocean अटलांटिक महासागर

क्षेत्रफल की दृष्टि से अटलांटिक महासागर विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महासागर है। इसे अंध महासागर भी कहा जाता है। इसका कुल क्षेत्रफल 106,460,000 वर्ग किमी (41,100,000 वर्ग मील) है। पृथ्वी की सतह के कुल क्षेत्रफल का लगभग 20 प्रतिशत और इसके जलीय भाग का लगभग 29 प्रतिशत जल इस महासागर का हिस्सा है। अटलांटिक महासागर के पूर्व में एशिया, यूरोप और अफ्रीका महाद्वीप हैं, तो इसके पश्चिम में उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप।

अटलांटिक को सभी महासागरों में सबसे अधिक खारा माना जाता है। इसका कुल आयतन 310,410,900 किमी3 है। इस महासागर का आकार लगभग अंग्रेजी अक्षर 8 के समान है और लंबाई की अपेक्षा, इसकी चौड़ाई बहुत कम है। दुनिया के सबसे रहस्यमय स्थानों में से एक बरमूडा ट्रायंगल भी इसी महासागर का ही एक हिस्सा है।

संसार की 50 सबसे विशाल और गहरी झीलें – Lake Facts and Meaning in Hindi

3. The Indian Ocean हिंद महासागर

हिंद महासागर विश्व का तीसरा सबसे बड़ा महासागर है। इसका कुल क्षेत्रफल 70,560,000 वर्ग किमी (27,240,000 वर्ग मील) है। पृथ्वी की सतह के कुल क्षेत्रफल का लगभग 15 प्रतिशत और इसकी सतह पर उपलब्ध जल का लगभग 20 प्रतिशत भाग इस महासागर में समाहित है। हिन्द महासागर का नाम भारतीय उपमहाद्वीप के नाम पर रखा गया है, क्योंकि भारत इस क्षेत्र का सबसे महत्वपूर्ण और बड़ा देश है।

यह महासागर उत्तर में एशिया, पश्चिम में अफ्रीका, पूर्व दिशा में ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप और दक्षिण में अंटार्कटिका या यह कहें कि दक्षिणी महासागर से घिरा हुआ है। हिंद महासागर की अधिकतम चौड़ाई 10,000 किमी है तथा इसका कुल आयतन 264,000,000 किमी3 है।

अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी सिरों पर, इस महासागर की चौड़ाई करीब 10,000 किलोमीटर (6200 मील) है। विश्व में केवल यही एक महासागर है जिसका नाम किसी देश के नाम यानी, हिन्दुस्तान (भारत) के नाम है। संस्कृत में इसे रत्नाकर यानि रत्न उत्पन्न करने वाला कहते हैं, जबकि पुरातन विद्वानों ने इसे हिन्द महासागर कहा है।

क्या जानते हैं आप धरती के 10 सबसे बड़े सागरों के बारे में – Sea Facts and Meaning in Hindi

 

Facts about World Oceans in Hindi

4. The Southern Ocean दक्षिणी महासागर

दक्षिणी महासागर दुनिया का चौथा सबसे बड़ा महासागर है। इसे अंटार्कटिक महासागर या ऑस्ट्रल महासागर के नाम से भी जाना जाता है। इसका कुल क्षेत्रफल 20,327,000 वर्ग किमी (7800000 वर्ग मील) है। इसकी औसत गहराई 4,000 से 5,000 मीटर तथा तटीय सीमा 17968 किमी है। सन 2000 ई0 से पूर्व तक विश्व में केवल चार ही महासागर थे। लेकिन International Hydrographic Organization के भूगर्भ विज्ञानियों के समुदाय ने भौगोलिक क्षेत्रों के सरल पृथक्करण के लिये वर्ष 2000 में एक नये महासागर की रचना की और अब यह आधिकारिक रूप से दुनिया का पाँचवा महासागर है।

इसका विस्तार 60° दक्षिण अक्षांश से दक्षिण में है और यह संपूर्ण अंटार्कटिका महाद्वीप को घेरे हुये है। हालाँकि भूगोलविज्ञानियों में दक्षिणध्रुवीय महासागर की उत्तरी सीमा को लेकर मतभेद हैं। यहाँ तक कि कुछ तो इसके अस्तित्व को ही नकारते हैं और इसे दक्षिणी प्रशांत महासागर, दक्षिणी अटलांटिक महासागर या हिन्द महासागर का दक्षिणी हिस्सा मानते हैं।

धरती से जुडे यह आश्चर्यजनक तथ्य नहीं जानते होंगे आप – History of The Earth in Hindi

5. The Arctic Ocean आर्कटिक महासागर

लगभग 14,056,000 वर्ग किमी (5,427,000 वर्ग मील) क्षेत्रफल के साथ आर्कटिक महासागर, दुनिया के पाँचो महासागरों में सबसे छोटा और सबसे उथला महासागर है। इसका अधिकांश भाग उत्तरी गोलार्द्ध के मध्य में स्थित आर्कटिक उत्तर ध्रुवीय क्षेत्र में पड़ता है। इसे उत्तरीध्रुवीय महासागर भी कहते हैं और इसका क्षेत्रफल लगभग अंटार्कटिका महाद्वीप के बराबर ही है। अंतरराष्ट्रीय जल सर्वेक्षण संगठन (IHO) इसको एक महासागर स्वीकार करता है।

आशा है Ocean शब्द का अर्थ और दुनिया के पाँचों महासागरों के बारे में बताने वाला यह लेख आपको जरुर पसंद आया होगा। आर्कटिक अन्य सभी महासागरों की तुलना में सबसे कम खारा है, क्योंकि यह दूसरे महासागरों से सीमित रूप से ही जुड़ा है। आर्कटिक महासागर की तटीय सीमा की लम्बाई 45,390 किमी (28,200 मील) है। इसका कुल आयतन 18070000 किमी3 है। रूस, नॉर्वे, ग्रीनलैंड, आइसलैंड, कनाडा और संयुक्त राज्य अमेरिका इस महासागर की सीमाओं से लगते देश हैं।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •