New & Ancient Seven Wonders of The World in Hindi

 

“दुनिया के सात महान अजूबे वह अद्भुत संरचनाएँ हैं, जिनका निर्माण इन्सान ने किया है। प्राचीन और आधुनिक दोनों समय की कलाकृतियों को मिलाकर देखा जाय तो अभी तक संसार में कुल 14 आश्चर्यों का निर्माण हुआ है, जिनमे से अब केवल आठ ही बचे हैं। यह सभी आश्चर्य इंसान द्वारा बनायीं गयीं सभी संरचनाओं में, सबसे बेजोड़ और अपूर्व कारीगरी का ज्वलंत प्रमाण हैं।”

 

7 Wonders of The New & Ancient World in Hindi
यह हैं विश्व के सात महान आश्चर्य

वर्ष 2007 में सम्पूर्ण विश्व की 200 से भी ज्यादा प्रसिद्ध और अद्भुत ऐतिहासिक कलाकृतियों में से सात सर्वश्रेष्ठ धरोहरों को चुनकर आधुनिक विश्व के सात महान आश्चर्यों (7 Wonders of The New World) को चुना गया था। इससे पहले तक संसार के सात महान आश्चर्यों (Seven Wonders) के विषय में बड़ा विवाद था। क्योंकि प्राचीन विश्व के ज्यादातर आश्चर्य (Ancient Wonders of The World) वक्त बीतने के साथ-साथ नष्ट हो गये थे।

लेकिन अभी भी लोग उन्हें एक असाधारण आश्चर्यजनक संरचना के रूप में ही देखते थे। हालाँकि गीजा के पिरामिड को छोड़कर बाकी सभी Seven Wonders के अस्तित्व पर आधुनिक काल के अधिकांश इतिहासकारों ने यह कहकर प्रश्नचिन्ह लगा दिया था कि उनका होना संभव नहीं जान पड़ता।

इसके बाद ही New 7 Wonders Foundation ने एक विश्वव्यापक अभियान चलाया जिसके द्वारा संसार की सात सबसे लोकप्रिय कलाकृतियों को चुना गया था। पाठकों की जानकारी के उद्देश्य से कला के इन असाधारण नमूनों के निर्माताओं, निर्माण-काल, स्थान और मुख्य विशेषताओं का भी संक्षिप्त वर्णन किया जा रहा है। [स्रोत]

इनके बारे में विस्तार से जानने के लिये कृपया उन लेखों का अवलोकन करें जिनका लिंक ठीक उस आश्चर्य के नीचे दिया गया है, क्योंकि स्थानाभाव के कारण सभी Seven Wonders का विस्तृत वर्णन करना संभव नहीं है। यहाँ हम इन Seven Wonders को उनके निर्माण काल के आधार पर दे रहे हैं – [स्रोत]

भारत से जुडी सामान्य ज्ञान की यह जरुरी बातें हर किसी को जाननी चाहियें – India General Knowledge Facts in Hindi

 

New 7 Wonders of The World in Hindi

सबसे पहले हम आपको आधुनिक समय के सात महान आश्चर्यों (New 7 Wonders) के बारे में बतायेंगे जिनका निर्माण पिछले हजार वर्षों के दौरान ही हुआ है, लेकिन वह वर्तमान समय में अब भी अपना अस्तित्व बनाये हुए हैं –

1. Great Wall of China चीन की महान दीवार, चीन

निर्माण स्थल – चीन (पूर्व में दंदोंग से लेकर पश्चिम में लोप झील तक एक आर्क के रूप में फैली हुई है।)

निर्माण काल – 700 ईसा पूर्व

निर्माता – चीन का प्रथम शासक किन शी हुआंग और मिंग वंश के शासक

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – मनुष्य द्वारा निर्मित आज तक बनी सबसे लम्बी संरचना जिसकी लम्बाई लगभग 6400 किमी से भी ज्यादा है। दीवार की अधिकतम चौड़ाई 9.1 मीटर या 30 फुट और ऊँचाई 5 मीटर से लेकर 8 मीटर तक; 359 किमी लम्बी खाइयाँ और सुरंगे; एक बार में 6 घुड़सवार तक दौड़ सकते हैं। दीवार के सभी हिस्सों की कुल लम्बाई 21000 किमी से भी ज्यादा है।

2. Petra of Jordan पेट्रा, जॉर्डन

निर्माण स्थल – मान गवर्नोरेट, जॉर्डन के दक्षिणी भाग में स्थित पेट्रा शहर

निर्माण काल – 312 ईसा पूर्व

निर्माता – नाबतेंस वंश के शासक (अरबी लोग)

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – पत्थरों और चट्टानों को काट कर तराशी गयी दुनिया की सबसे विशाल संरचना जो 250 वर्ग किमी से भी अधिक क्षेत्र में फैली है; अद्भुत और अत्यंत आकर्षक शैली में बनी इस खूबसूरत संरचना में सिर्फ एक ही प्रकार के (गुलाबी रंग के) पत्थर का उपयोग हुआ है।

3. Colosseum of Rome रोम का कोलोसियम, इटली

निर्माण स्थल – इटली की विश्वविख्यात राजधानी रोम शहर के केंद्र में स्थित है।

निर्माण काल – सन 80 में

निर्माता – रोमन सम्राट वेस्पासियन और उसका उत्तराधिकारी टाइटस

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – सम्पूर्ण इतिहास में आज तक निर्मित हुए सभी एम्फीथिएटर में सबसे विशाल; लगभग 6-7 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ कोलोसियम 189 मीटर लम्बा और 156 मीटर चौड़ा है; विचित्र लेकिन भव्य और आकर्षक संरचना है।

4. Chichen Itza चिचेन इत्ज़ा, मैक्सिको

निर्माण स्थल – मैक्सिको देश के युकाटन राज्य के पूर्वी भाग में बसे टिनुम नगर में स्थित है।

निर्माण काल – सन 600

निर्माता – इत्जा वंश के लोग

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – माया सभ्यता के सबसे बड़े शहरों में से एक की दर्शनीय झलक; 5 वर्ग किमी क्षेत्र में फैली संरचना की वास्तुशैली अत्यंत ही विशिष्ट है; कुछ भाग रहस्यमय से प्रतीत होते हैं।

प्रथम विश्व युद्ध से जुड़े 100 दुखद और लोमहर्षक तथ्य – History of First World War in Hindi

 

Seven Wonders of New Era in Hindi

5. Machhu Picchu माक्चु पिच्चु, पेरू

निर्माण स्थल – पेरू देश के कस्को क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले माचू पिक्चू जिले में स्थित है

निर्माण काल – सन 1450

निर्माता – इंका शासक पचकुतेक इंका और टुपक इंका

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – सागर तल से लगभग 2500 मीटर ऊपर बनी एक किलेनुमा संरचना; जटिल और दुर्गम इलाके में स्थित होने के कारण यह विशेष रूप से दर्शनीय हो जाती है; चारों ओर से प्रकृति की गोद में बसे शहर का अत्यंत ही सुन्दर और दिलकश मंजर।

6. Taj Mahal ताज महल, भारत

निर्माण स्थल – भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में यमुना नदी के तट पर

निर्माण काल – सन 1643

निर्माता – मुग़ल बादशाह शाहजहाँ (रचनाकार अहमद लाहौरी)

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 42 एकड़ क्षेत्र में स्थित सफ़ेद संगमरमर पत्थर से बनी हुई एक बेहद खूबसूरत और नक्काशीदार इमारत; 20000 श्रमिकों के रात-दिन के अथक परिश्रम के बाद 20 वर्षों में तैयार, अपनी बेजोड़ और अद्भुत संरचना के कारण “संसार के सात आश्चर्य अभियान” का विजेता चुना गया। पर्यटकों द्वारा देखा जाने वाला दुनिया का दूसरा सबसे लोकप्रिय स्मारक।

7. Christ The Redeemer क्राइस्ट द रिडीमर, ब्राज़ील

निर्माण स्थल – ब्राजील के विख्यात शहर रियो-डी-जेनेरो में एक ऊँची पहाड़ी पर

निर्माण काल – सन 1931

निर्माता – ब्राजीली सरकार (मुख्य रचनाकार फ्रेंच शिल्पविद पॉल लेंडोस्की, निर्माणकर्ता ब्राजीली इंजिनियर हेइटर डिसिल्वा कोस्टा और फ्रेंच इंजीनियर अल्बर्ट काउट)

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 635 टन वजन और 38 मीटर ऊंचाई के साथ यह दुनिया की सबसे दर्शनीय मूर्तियों में से एक है। इसे बनाने में 10 वर्षों का समय लगा।

क्या जानते हैं आप धरती के सात महाद्वीपों के बारे में – 7 Continents of The World in Hindi

 

Ancient 7 Wonders of The World in Hindi

प्राचीन विश्व के सात महान आश्चर्य

आज आधिकारिक रूप से ऊपर दिये गये सात आधुनिक अजूबों को ही विश्व का सात महान आश्चर्य माना जाता है, लेकिन प्राचीन विश्व के कुछ इतिहासकारों ने अपनी पुस्तकों और अभिलेखों में कुछ ऐसी रचनाओं का वर्णन किया है कि जो यदि उस समय विद्यमान थीं तो वह निश्चित ही कला और कारीगरी का बेजोड़ संगम थी। उन्हीं संरचनाओं को बाद में प्राचीन विश्व के सात महान आश्चर्यों के रूप में जाना गया।

हालाँकि गीजा के पिरामिडों को छोड़कर आज ऐसी किसी भी संरचना का अवशेष तक नहीं बचा है जिसके बल पर यह कहा जा सके कि किसी समय वास्तव में उनका अस्तित्व संभव रहा था। यही कारण है कि कई लोग इन्हें सिर्फ एक मिथक ही मानते हैं। खैर सत्य चाहे जो कुछ भी रहा हो, हम यहाँ उन पुराने आश्चर्यों की सूची भी दे रहे हैं, ताकि वर्तमान पीढ़ी कम से कम उनके नामों से तो परिचित हो सके –

यह हैं दुनिया की 50 सबसे ऊँची इमारतें – 50 Tallest Buildings in World in Hindi

1. Great Pyramid of Giza गीजा के महान पिरामिड, मिस्र

निर्माण स्थल – गीजा नेक्रोपोलिस, मिस्र की राजधानी काहिरा के उत्तर में नील नदी के तट पर स्थित हैं।

निर्माण काल – 2584 ईसा पूर्व से 2561 ईसा पूर्व के मध्य

निर्माता – मिस्र के शासक जिन्हें फराओ कहा जाता है

कब और कैसे नष्ट हुए – सभी आश्चर्यों में सबसे प्राचीन पर अभी तक वर्तमान हैं

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 146.5 मीटर ऊंचाई के साथ उस समय की विश्व की सबसे ऊँची संरचना; बीस लाख विशाल पत्थरों से निर्मित और प्रत्येक पत्थर का वजन 2 से लेकर 30 टन तक; पिरामिड का अत्यंत विशाल आकार, बेजोड़ कला-कौशल और इनकी बारीक नक्काशी तथा पूर्ण प्रतिसाम्य स्तब्ध कर देने वाला है। 4500 वर्षों तक मानव निर्मित इमारतों में सबसे अधिक ऊँचे स्मारक रहे हैं।

2. Hanging Gardens of Babylon बेबीलोन के झूलते बगीचे, इराक

निर्माण स्थल – यूफ्रतेस नदी के निकट, इराक के हिल्ला या निनेवेह नामक स्थान पर

निर्माण काल – 600 ईसा पूर्व

निर्माता – बेबीलोन का शासक नेबुचाडनेज्जर द्वितीय

कब और कैसे नष्ट हुए – प्रथम शताब्दी में आये भूकम्पों द्वारा

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – यह बगीचे एक विशाल ईंटों के चढावदार चबूतरों की श्रंखला के आधार पर हवा में लगभग 75 फुट की ऊंचाई तक झूलते रहते थे। सुन्दर व सुगन्धित पेड़-पौधे व सुन्दर वन्य जीव भी इनमे विहार करते थे। अपनी असंभव सी प्रतीत होने वाली संरचना के कारण यह आश्चर्य सबसे अधिक विवादास्पद रहा है।

3. Temple of Artemis at Ephesus एफेसस में आर्टेमिस का मंदिर, तुर्की

निर्माण स्थल – तुर्की के समीप सेल्कक नामक एक शहर

निर्माण काल – 550 ईसा पूर्व और पुनः 323 ईसा पूर्व में

निर्माता – लीडिया का धनवान शासक क्रोएसस, बाद में यूनानियों द्वारा ही पुनर्निर्माण

कब और कैसे नष्ट हुए – 356 ईसा पूर्व हेरोस्ट्रेटस द्वारा और सन 262 ई0 में ओस्ट्रोगाथ द्वारा

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 129 मीटर (425फीट) ऊंचाई और 69 मीटर (225 फुट) चौड़ाई के साथ उस समय का सबसे विशाल मंदिर जो 18 मीटर (60 फुट) ऊँचे 127 खम्भों पर टिका हुआ था। सफ़ेद संगमरमर से निर्मित एक बेहद ही खूबसूरत, विशाल और भव्य संरचना।

4. Statue of Zeus at Olympia ओलंपिया में ज़ीउस की मूर्ति, यूनान

निर्माण स्थल – यूनान के ओलंपिया नामक स्थान पर

निर्माण काल – 466-456 ईसा पूर्व (मन्दिर का निर्माण) और 435 ईसा पूर्व (मूर्ति का निर्माण)

निर्माता – महान यूनानी शिल्पकार फिडियस

कब और कैसे नष्ट हुए – पाँचवीं और छठी सदी के बीच में ईसाइयत का प्रभाव बढ़ने के कारण इसे नष्ट कराया गया

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 12 मीटर ऊँची मूर्ति का निर्माण लकड़ी, हाथी दांत और सोने से किया गया था; अत्यंत सुन्दर और दर्शनीय; उस समय की वास्तुकला का एक बेजोड़ नमूना।

कहाँ हैं दुनिया के 50 सबसे लम्बे पुल – Amazing Bridge Facts in Hindi

 

Seven Wonders of The Ancient World in Hindi

5. Mausoleum at Halicarnassus हेलिकारनासस का मकबरा, तुर्की

निर्माण स्थल – तुर्की के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में स्थित बोडरम शहर

निर्माण काल – 351 ईसा पूर्व

निर्माता – फारसी साम्राज्य के शासक मौसुल की याद में, उसकी प्रिय पत्नी आरटेमीसिया II द्वारा

कब और कैसे नष्ट हुए – बारहवीं और पंद्रहवीं शताब्दी के मध्य में भूकंप द्वारा

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 41 मीटर (135 फुट) ऊँचाई के साथ उस समय का विश्व का सबसे विशाल मकबरा; लिसियन, यूनानी और मिस्री वास्तुशैली की झलक लिये पूरी इमारत सिर्फ सफ़ेद संगमरमर से निर्मित; जटिल ढाँचा और बेहद खूबसूरत नक्काशी।

क्या जानते हैं आप धरती के 10 सबसे बड़े सागरों के बारे में – 10 Largest Seas in World in Hindi

6. Colossus of Rhodes रोहडस की विशाल मूर्ति, यूनान

निर्माण स्थल – यूनान के रोडेज नामक स्थान पर

निर्माण काल – 292-280 ईसा पूर्व

निर्माता – यूनानी

कब और कैसे नष्ट हुए – 226 ईसा पूर्व एक भूकंप द्वारा (800 वर्ष तक उसी स्थान पर पड़ी रही थी)

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 110 फुट ऊँचाई के साथ उस समय विश्व की सबसे ऊँची प्रतिमा; उस समय इसके जैसी विशाल, भारी और कला के अद्भुत कौशल से भरी कोई संरचना नहीं थी; सैकड़ों वर्षों तक इस प्रतिमा पर जंग नहीं लगा।

संसार के 50 सबसे बड़े द्वीप और उनसे जुड़े तथ्य – 50 Largest Islands in World in Hindi

7. Lighthouse of Alexandria अलक्जेंडरिया का प्रकाश स्तम्भ, मिस्र

निर्माण स्थल – फरोस द्वीप, मिस्र के अलक्जेंडरिया शहर के निकट

निर्माण काल – 280 ईसा पूर्व

निर्माता – मिस्र के शासक टॉलमी I द्वारा

कब और कैसे नष्ट हुए – वर्ष 1303-1480 के मध्य आये भूकंपों के कारण

Seven Wonder की मुख्य विशेषताएँ – 134 मीटर (440 फुट) ऊँचाई के साथ उस समय विश्व की तीसरी सबसे ऊँची इमारत; अत्यंत सुन्दर और दर्शनीय; प्रकाश स्तम्भ की रौशनी को समुद्र में 35 मील दूर से भी देखा जा सकता था। आशा है संसार के सात आश्चर्यों (Seven Wonders) पर दिया यह लेख Seven Wonders of The World in Hindi आपको जरुर पसंद आया होगा।

(Visited 1 times, 1 visits today)
जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •