Best Sex Tips in Hindi for Husband and Wife

 

“सेक्स संबंध जीव की उत्पत्ति के लिये अनिवार्य है, क्योंकि यह सृष्टि मैथुनी है। लेकिन पति-पत्नी के बीच स्थापित होने वाले शारीरिक संबंधों की महत्ता इससे कहीं ज्यादा है। यह कामवासना की तृप्ति के साथ-साथ उन्हें अपनी आत्मीयता बढ़ाने का सुनहरा अवसर भी प्रदान करता है।”
– पवन प्रताप सिंह

 

Best Sex Tips in Hindi for Husband and Wife

Sex Tips in Hindi सेक्स की जानकारी क्यों जरुरी है

10 Best Sex Tips in Hindi में आज हम आपको सेक्स अर्थात सम्भोग से जुडी उन अनमोल बातों के बारे में बतायेंगे जिन्हें जानना हर पति-पत्नी के विवाहित जीवन के लिये निहायत ही जरुरी है। हमारे कुछ पाठक यह सोच रहे होंगे कि जीवनसूत्र पर तो सिर्फ महापुरुषों के प्रेरक विचार, प्रेरणादायक कहानियों, करियर और सफलता के सूत्र, ज्ञान और अध्यात्म, ज्योतिष और स्वास्थ्य संबंधी लेखों की ही चर्चा की जाती है। फिर सेक्स जैसे बोल्ड विषय पर लिखने का क्या औचित्य है।

क्योंकि स्त्री-पुरुष के अंतरंग संबंधों (Sexual Relationship of Man & Woman) की खुलकर चर्चा करना कुछ अश्लील सा ही जान पड़ता है। हम अपने पाठकों की चिंता समझते हैं, क्योंकि जीवनसूत्र पर बच्चों से लेकर बूढ़े तक जानकारी पाने आते हैं और किशोर मन पर ऐसी चीजों का गलत प्रभाव पड़ सकता है। लेकिन हम आपको विश्वास दिलाना चाहते हैं कि जीवनसूत्र पर किसी भी विषय पर ऐसी कोई चर्चा नहीं की जाती जिससे व्यक्ति का नैतिक पतन हो।

हमारा एकमात्र उद्देश्य व्यक्ति की Total Personality को विकसित करना है। जिसके लिये यह जरुरी है कि उसे जीवन से गहरा संबंध रखने वाली हर उस बात की जानकारी कम से कम उस स्तर तक तो हो, जिससे वह उसे अपने जीवन में उतारकर प्रगति के रास्ते पर आगे बढ़ सके। अपने जीवन को सुखमय, आनंदमय और उद्देश्यपूर्ण बना सके।

Marriage Chart से जानिये क्या वास्तव में एक बेहतर जीवनसाथी हैं आप – Spouse Meaning in Hindi जीवनसाथी का अर्थ

Get The Knowledge of Sex सम्भोग का ज्ञान पाइये

प्राचीन समय में ऋषियों के गुरुकुल में रहने वाले हर विद्यार्थी को (ब्रह्मचर्याश्रम की अवधि में) 64 कलाओं की शिक्षा दी जाती थी, जिसमे नृत्य, साज-श्रंगार से लेकर काम तक की शिक्षा शामिल थी। लेकिन वह उस रूप में नहीं होती थी जिस तरह आज यह एक विकृत रूप में दी जाती है। भगवान के महान भक्त श्री रामकृष्ण परमहंस ने एक बार अपने शिष्यों के साथ वार्तालाप करते हुए ज्ञानी मनुष्य के लक्षण बताये थे –

जिसमे उन्होंने कहा था – ज्ञानी का स्वभाव शांत होता है और उसमे अभिमान नहीं होता; जब वह साधु या संत के पास होता है, तब वह त्यागी होता है; काम करते समय सिंह के समान होता है और स्त्री के पास रसराज यानि रसशास्त्र का पंडित (कामशास्त्र का ज्ञाता) होता है। श्रीकृष्ण अवतार में भगवान ने स्वयं को मानवीय चेतना के सर्वोच्च स्वरुप में प्रकट किया था।

क्योंकि एक ओर तो उन्होंने महाभारत के भीषण युद्ध में गीता जैसा अमूल्य ज्ञान देकर अपने योगेश्वर होने का प्रमाण दिया, तो वहीँ दूसरी ओर उन्होंने अपनी सभी पत्नियों के साथ एक प्रेमपूर्ण दांपत्य जीवन बिताकर अपने आप को रसेश्वर के रूप में प्रकट किया। उनका उच्च और अविश्वसनीय चरित्र, हर गृहस्थ के लिये एक आदर्श है।

क्योंकि स्त्रियों के साथ रहते हुए हुए भी जिस तरह से उन्होंने कमलपत्र की तरह स्वयं को निर्लिप्त रखा और हमेशा अपने आत्मस्वरूप में प्रतिष्ठित रहे, उससे प्रेरणा पाकर न जाने कितने गृहस्थ योगियों और भक्तों ने अपने जीवन के उद्देश्य को हासिल करने में सफलता पायी है।

क्या आप वास्तव में जानना चाहते हैं कि एक सुखी विवाहित जीवन का रहस्य क्या है, तो पढिये – 15 Happy Married Life Tips in Hindi for Couples

 

Sexual Relationship of Couples in Hindi

भगवान ने मानवों को यह बताने का प्रयास किया कि किसी भी अवस्था में जीवन से रस का परित्याग नहीं किया जा सकता है, रस के विकृत होने के डर से भी नहीं। क्योंकि आत्मा का स्वरुप ही रसमय है, वह उसे छोड़कर एक क्षण नहीं रह सकती। लेकिन रस का स्वरुप विकृत न होने पाय, इसके लिये मर्यादाओं की लक्ष्मण रेखा भी खींची गयी।

आगे और कुछ न कहते हुए हम बस आपसे यही कहना चाहते हैं कि यह लेख हमने सिर्फ उन्ही पति-पत्नी के लिये लिखा है जो अपने विवाहित जीवन (Marriage) को गृहस्थाश्रम का श्रेष्ठ प्रतीक बनाकर अपने दांपत्य जीवन का पूरा-पूरा आनंद उठाना चाहते हैं। और इसके लिये जरुरी है कि उन्हें काम-विज्ञान (Science of Sex) का भी गहरा ज्ञान हो, क्योंकि आजकल ज्यादातर पति-पत्नी काम-विज्ञान से पूरी तरह अनजान हैं।

महान योगी और गायत्री के सिद्ध साधक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य ने काम विज्ञान (Science of Kama) के स्वरुप और महत्व पर बड़े विस्तार से लिखा है, पर स्थानाभाव के कारण हम सिर्फ संक्षिप्त रूप से कामशास्त्र से जुडी मु्ख्य-मुख्य बातों का ही वर्णन करेंगे, पर यह भी आपके लिये बेशकीमती सिद्ध होंगी। इसीलिये Marriage को सुखमय बनाने वाले इस लेख को अंत तक बड़े ध्यान से पढ़ें।

जानिये क्यों जरुरी है सेक्स, पति-पत्नी की रिलेशनशिप में – Importance of Sex in Relationship in Hindi

1. Understand The Process of Sex सम्भोग को समझें

Hindi Sex Tip 1: Sex या सम्भोग क्या है, इसका विस्तार से वर्णन हमने दूसरे लेख में किया है। यहाँ हम आपसे यही कहना चाहते हैं कि इससे पहले कि आप अपने पति या पत्नी के साथ सेक्स क्रिया आरंभ करें, पहले सेक्स या सम्भोग का उद्देश्य समझ लें। सम्भोग का अर्थ है – सम+भोग अर्थात बराबर का भोग। सम्भोग (Sex) शब्द का तात्पर्य है वह रति क्रिया जिसमे स्त्री और पुरुष एक समान अभिलाषा, एक-समान आवेग और एक समान उद्देश्य रखकर एक समान आनंद प्राप्त करें।

जिस मैथुन क्रिया में पति-पत्नी में सिर्फ किसी एक को ही आनंद आता है, वह सम्भोग (Sex) नहीं है और जिसमे दोनों को सिर्फ क्षणिक संतुष्टि होती है वह भी सम्भोग (Sex) नहीं है। पूर्ण सम्भोग होने का अर्थ है – स्त्री और पुरुष को एक समान चरम आनंद की उपलब्धि होना। ज्यादातर पति-पत्नी जानकारी न होने के कारण सिर्फ कुछ पलों का आनंद उठाने के लालच में न सिर्फ अपनी जीवनी शक्ति को वैसे ही बेकार हो जाने देते हैं।

बल्कि सम्भोग (Sex) के दौरान उत्पन्न होने वाली उर्जा से भी कोई लाभ नहीं उठा पाते हैं। इस तरह न तो उन्हें शारीरिक तृप्ति मिलती है और न ही उन्हें मानसिक और आत्मिक तृप्ति हो पाती है। ज्यादातर जोड़े, उनमे भी विशेषकर पुरुष सम्भोग (Sex) को सिर्फ वासना की संतुष्टि का, कामुकता की तृप्ति का माध्यम समझते हैं।

यदि सम्भोग का उद्देश्य सिर्फ अपनी वासना की संतुष्टि तक ही सीमित रह जायेगा, तो यह सिर्फ एक शारीरिक क्रिया बनकर रह जायेगी और भावनात्मक विकास, आत्मीयता का प्रसार और ऐसी ही न जाने कितनी महत्वपूर्ण चीज़ें जो आपके गृहस्थ जीवन में बहुत महत्व रखती हैं, आपसे दूर ही रहेंगी। इसीलिये Sex का Meaning समझना बेहद जरुरी है।

अन्यथा आपको सेक्स का कोई लाभ नहीं मिल सकेगा, बल्कि सेक्स करने के बाद भी आप खुद को थका हुआ, परेशान और तनाव में महसूस करेंगे। क्योंकि वो परिश्रम जो आपको प्रचंड शक्ति के साथ-साथ भरपूर आनंद भी दे सकता था, उसे अपने अज्ञान के कारण आपने वैसे ही बर्बाद हो जाने दिया।

जानिये क्या हैं पति-पत्नी के लिये सम्भोग के सर्वश्रेष्ठ आसन – 23 Best Sex Positions in Hindi for Couples

2. Attract Your Partner जीवनसाथी को आकर्षित करें

Hindi Sex Tip 2: अब हम उन Sex Tips का वर्णन करेंगे जिससे आपको रति-क्रिया में अपने जीवनसाथी के साथ-साथ पूरा आनंद मिल सके और थकान के स्थान पर अपने शरीर में एक नयी उर्जा और जोश का अहसास हो। यहाँ हम यह आशा करते हैं कि आपने उपर बताये गये लेख अवश्य ही पढ़ लिये होंगे, क्योंकि सेक्स के बारे में पूरी जानकारी पाये बिना आप सम्भोग का आनंद किसी तरह से नहीं उठा सकेंगे।

चाहे आपकी नयी-नयी शादी (Marriage) हुई हो और यह आपकी First Night हो या फिर आप कई वर्षों से शादीशुदा हों, Sex का पूरा आनंद उठाने के लिये यह जरुरी है कि आपकी ही तरह आपका जीवनसाथी भी इसमें पूरी रूचि लें। अगर आपको सेक्स में रूचि है, पर आपके पार्टनर को कोई रूचि नहीं है, तो फिर सेक्स उसके लिये महज एक उबाऊ और थका देने वाली शारीरिक क्रिया बनकर रह जायेगी और न ही आपको कोई आनंद मिल पायेगा।

इसलिये सेक्स करने से पहले जीवनसाथी को अपने हाव-भाव, कौशल और प्रणय निवेदन करके अपनी ओर आकर्षित करना चाहिये। उसके दिल में भी वही अरमान जगाइये, जो आपके अपने दिल में मचल रहे हैं। जब वह आपकी तरफ आकर्षित हो जायेगा, तब न सिर्फ वह सेक्स क्रिया में आपका साथ देगा, बल्कि उसका पूरा लुत्फ़ भी उठा पायेगा।

फिर शब्दों में न कहे जा सकने वाले आनंद की धारा आप दोनों के शरीरों से प्रवाहित होगी। इसके लिये हमने नीचे कुछ उपाय दिए हैं जिससे आप अपने पति या पत्नी को अपनी ओर आकर्षित करने में जरुर सफल होंगे।

3. Make Yourself Beautiful स्वयं को स्वच्छ और सुन्दर बनायें

Hindi Sex Tip 3: इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा इन्सान होगा जो गंदगी पसंद करता होगा। साफ़-सफाई और स्वच्छता के प्रति हर मन में स्वाभाविक रूप से आकर्षण होता है। इसलिये Sex करने से पहले अपने शरीर को नहा-धोकर के स्वच्छ कर लें। यह तो लगभग हर इन्सान का अनुभव है कि स्नान करने के बाद शरीर किस तरह की ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव करता है। चाहे कोई इन्सान कितना भी थका-मांदा और गन्दा क्यों न दीखता हो नहाने के बाद उसमे होने वाला परिवर्तन अलग ही नजर आता है।

इसलिये अगर आप खुद को थका हुआ, निढाल और अनाकर्षक महसूस कर रहे हों, तो हल्के गुनगुने पानी से या फिर ठन्डे जल से स्नान कर लें। स्वच्छता की तरह सुन्दरता भी सबको भाती है। सुन्दर स्त्री-पुरुष की ओर हमारी आँखे अपने आप ही खिंची चली जाती हैं। इसलिये अगर आप चाहते हैं कि आपका जीवनसाथी भी आपकी ओर खिंचा चला आये और Sex संबंधों के दौरान खुलकर पहल करे, तो खुद को सुन्दर बनाइये।

सुन्दर होने के लिये सुन्दर और आकर्षक चेहरे का होना अनिवार्य नहीं है, आम शक्लो-सूरत वाला कोई भी इन्सान अपने आप को इतना सुन्दर बना सकता है कि लोग उसकी ओर खिंचे चले आये। यहाँ हम आपको कुछ उपाय बता रहे हैं –

1. चन्दन, केवड़े और गुलाब के अर्क को पानी में मिलाकर उससे अच्छी तरह स्नान करें, पानी कुछ गुनगुना हो तो ज्यादा बेहतर है। अपने शरीर को रगड़-रगड़कर मैल को दूर कर लें। चेहरे और सीने पर ज्यादा ध्यान दें, क्योंकि यहाँ की गन्दगी प्रत्यक्ष दिखायी देती है।

2. ब्रश या दातून करके अपने दांतों को साफ़ कर लें। अगर मुँह से बदबू आती है, तो मुँह में लौंग या इलायची डालकर उसे मिटा दें। क्योंकि मुँह की बदबू से आपका साथी आपके पास आने से भी हिचकेगा, फिर सेक्स सम्बन्ध की बात तो दूर ही ठहरी।

3. अपने बालों को किसी सुगन्धित शैम्पू से धोयें, पर उसकी महक ज्यादा तेज नहीं होनी चाहिये। बालों में खुशबूदार तेल भी लगायें।

4. अपने नाखूनों को सही तरह से काट लें और शरीर पर पाउडर या इत्र (सेंट) लगायें। पर ध्यान रहे, इसकी गंध ज्यादा तेज नहीं होनी चाहिये, वरना इसे सहना मुश्किल हो जायेगा।

 

Best Sex Tips for Husband-Wife in Hindi

4. Generate Vigor in Body शरीर में बल और आवेग पैदा करें

Hindi Sex Tip 4: आज की Hectic Life में आदमी दस से 12 घंटे तक काम में ही लगा रहता है। जीने की जद्दोजहद से परेशान आदमी के शरीर में जितनी जान होती है, उसे तो रोजमर्रा के काम ही चूस लेते हैं। फिर वह बेचारा इतनी ताकत कहाँ से लाये जो उसे Sex में कोई रूचि पैदा हो। सब जानते हैं कि कामकाजी और नौकरीपेशा आदमी दिन भर कोल्हू के बैल की तरह अपने-अपने काम-धंधों में लगे रहते हैं और शाम होते ही बिस्तर पर लेटकर निढाल हो जाते हैं।

ऐसी स्थिति में फिर सेक्स के बारे में कौन सोचेगा। जबकि लोग यह नहीं जानते कि शाम 7 बजे दिन ढलने के बाद से मध्य रात्रि के कुछ घंटो तक के समय में, वे अपने शरीर की थकान को मिटाकर खुद को फिर से चुस्त-दुरुस्त और तरोताजा कर सकते हैं। स्वयं को इस लायक बना सकते हैं कि सेक्स संबंधों में पूरे जोशोखरोश से भाग लें सके और आनंद के सागर में डुबकी लगा सकें। आप सोचेंगे कि कैसे, चलिये हम बताते हैं –

1. बाहर से आने के बाद थोड़ी देर विश्राम करके, 15-20 मिनट तक अपने शरीर का पसीना सुखायें। उसके पश्चात सामान्य जल से (पानी न तो बहुत ठंडा हो ना ही गर्म) स्नान करें। शुद्ध जल Positive Energy से युक्त होता है, इसीलिये नहाते ही आदमी को शरीर के अन्दर ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव होता है।

2. इसके पश्चात एक सूखे तौलिये से अपने शरीर की तेजी से मालिश करें। इससे शरीर में विद्युत् उर्जा का संचार होता है और शरीर में जोश और ताकत पैदा होती है।

3. यदि अभी भी शरीर में थकान हो तो लेटकर शरीर की हल्की मालिश करें और 10 मिनट के लिये शवासन में लेट जायें। शवासन के बारे में जानने के लिये योग से संबंधित लेख देखें।

4. सेक्स सम्बन्ध बनाने से 2-3 घंटे पहले हल्का भोजन कर लें। ध्यान रहे रात्रि के भोजन में सलाद, सब्जी और पानी का प्रयोग अधिक करना चाहिये।

5. सेक्स सम्बन्ध बनाने से 20 या 30 मिनट पहले एक गिलास गाय के गर्म दूध में एक चम्मच घी डालकर पी जायें। साथ में दो-तीन छुहारे और अंजीर भी लें ले।

5. Preparation for Sex सम्भोग की पूर्व तैयारी करें

Hindi Sex Tip 5: अक्सर देखा जाता है कि पति-पत्नी अपने-अपने कामों में इतने व्यस्त रहते हैं कि उन्हें सेक्स की पूर्व तैयारी करने का भी समय नहीं मिलता और जब कभी उन्हें समय मिल जाता है तो घर में कहीं भी सेक्स सम्बन्ध बनाना शुरू कर देते हैं। नतीजन उनके मन में धीरे-धीरे सेक्स के प्रति आकर्षण घटता जाता है और फिर बिल्कुल ही बंद हो जाता है। दंपत्ति कभी नहीं सोचते कि आखिर क्या वजह है जो उन्हें सेक्स में रूचि नहीं लेने देती?

आखिर क्या वजह है जो उनका सेक्स संबंध सिर्फ कुछ पलों में समाप्त हो जाता है? आखिर क्या वजह है जो सेक्स करने के बाद भी उनके शरीरों की थकान और मन की बेचैनी नहीं मिटती? दरअसल बात यह है कि वह सेक्स क्रिया को मात्र वासना की पूर्ति का साधन समझते हैं और जब सेक्स को इस गर्हित दृष्टि से देखा जायेगा, तो उसके लाभ मिल पाना असंभव ही है। फिर न तो समय की उपयुक्तता का ध्यान रहता है और न ही स्थान के चुनाव का भान।

जब वक्त मिल गया और जहाँ थोड़ी सी लेटने की या खड़े होने की जगह मिल गयी, वहीँ सेक्स क्रिया शुरू हो गयी। मानो चोरी से या छिपकर कोई गलत और निंदनीय काम कर रहे हों। हो सकता है कि आपको कभी कोई उपयुक्त स्थान न मिल पाया हो, लेकिन इसका यह अर्थ तो नहीं कि आपको कभी ऐसा स्थान मिल ही नहीं पायेगा या फिर आप जानवरों की तरह सुबह, शाम या दोपहर में ही सेक्स करना शुरू कर दें।

ऐसा न करें, वरना आपके मन में सेक्स के प्रति जो रहा सहा आकर्षण है, वह भी खत्म हो जायेगा। सम्भोग की पूरी तैयारी कैसे करें, इस बारे में हम आपको कुछ महत्वपूर्ण बाते बता रहे हैं, इनका ध्यान रखें –

1. Sex करने के लिये स्थान का चुनाव समझदारी से करें। Newly Married Couple के लिये स्थान मिलना मुश्किल नहीं है, वे अपने हनीमून के दौरान सुविधानुसार स्थान खोज सकते हैं और घर में भी प्रायः नवविवाहितों के लिये एक अलग कमरा नियत रहता ही है।

2. जिनके बाल-बच्चे हैं और जिनके पास एक से अधिक कमरे हैं, वह अपने लिये निर्धारित कमरे में Sex करने के लिये जरुरी तैयारी कर सकते हैं। जिन्हें एक ही कमरे में रहने की मजबूरी है, वह सेक्स क्रिया बाकी सदस्यों के सो जाने के बाद, देर रात में ही करें।

3. जिस जगह आपने Sex करने का मन बनाया है, उस स्थान को अच्छी तरह साफ़-सुथरा बना लें। अनावश्यक और इधर-उधर बिखरा सामान बिल्कुल हटा दें। झाड़ू से धूल-गन्दगी वगैरह बाहर निकाल दें।

4. इसके अलावा वहाँ स्वच्छ वस्त्र और एक अच्छी व मजबूत शैय्या (पलंग, खाट) बिछा दें। कमरे में मद्धिम प्रकाश की व्यवस्था हो, और कुछ दूरी पर सुगन्धित फूल से युक्त फूलदान रख दें।

5. यदि कमरे में सुगन्धित अगरबत्ती-धूप का धुआं दे सकें और इत्र का छिडकाव कर सकें तो बहुत अच्छा है। यह मूड फ्रेशनर का काम करेगा और आपको तरोताजा बनाये रखेगा।

6. कमरे में रोशनदान, परदे और वेंटिलेशन आदि की व्यवस्था हो, ताकि शुद्ध हवा के संचार में बाधा न पड़े।

7. सेक्स जब भी करे रात में ही करें। रात्रि के दस बजे से 2 बजे तक का समय सेक्स क्रिया करने के लिये सबसे उपयुक्त है। इसके पीछे क्या कारण है, यह हमने दूसरे लेख में बताया है।

 

Sex Tips to Follow During Sex in Hindi

अभी तक हमने आपको जो 5 Sex Tips बतायी हैं, वह Sex से पहले की तैयारी करने से संबंधित हैं। पर अब हम आपको जिन 5 Sex Tips के बारे में बतायेंगे, वह सिर्फ और सिर्फ Sex क्रिया से संबंधित है। लेकिन आपको यह नहीं सोचना चाहिये कि उपर हमने आपको जो 5 टिप्स बतायी हैं, वह ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं हैं। सच्चाई तो यह है कि उपर दी गयी 5 Sex Tips ही, Sex क्रिया में संतुष्टि पाने का असली आधार हैं।

Sex की पूर्व तैयारी किये बिना आप कभी भी सही तरह से Sex का मजा नहीं ले पायेंगे। इसीलिये इन्हें हल्के में मत लें। तो चलिये अब इस लेख के मुख्य बिंदु Sex कैसे करें, इसकी चर्चा करें –

6. Show Your Love एक-दूसरे के प्रति प्रेम प्रदर्शित करें

Hindi Sex Tip 6: सफल सेक्स क्रिया या सफल सम्भोग का अर्थ है – “मैथुन की वह अंतरंगता जो शरीर के साथ-साथ मन और आत्मा को भी तृप्ति दे सके” और यह तब तक हासिल नहीं हो सकती जब तक कि पति और पत्नी के मन में अपने साथी से सेक्स का आनंद पाने की इच्छा चरम स्तर पर न पहुँच गयी हो। इसके लिये जरुरी है कि पति और पत्नी एक-दूसरे में अपनी रूचि को, एक-दूसरे के प्रति अपने प्यार को अब सिर्फ शब्दों से नहीं, बल्कि शारीरिक चेष्टाओं और हाव-भाव से भी प्रकट करें।

जैसे पति या पत्नी का एक-दूसरे को प्रेम भरी चिकोटी काटना, अचानक साथी के गले में बाँहें डाल देना, पीछे से आकर अपने आलिंगन में भर लेना, अचानक शरीर के किसी हिस्से को चूम लेना, पति का अपनी पत्नी के साडी के पल्लू को खींचना, या फिर कोई प्यार भरी शरारत करना। यह सब क्रियाएँ शरीर में उत्तेजना पैदा करती है, एक अजीब सी सिहरन उठती है और मन में सोये पड़े अरमान जागने लगते हैं।

जब पति-पत्नी एक दूसरे के शरीर के अंगों से यह मीठी लगने वाली छेड़खानी करते हैं, तो उनके दिल में भरा हुआ प्यार उफनने लगता है, और वे एक-दूसरे के और अधिक नजदीक जाने को बेचैन हो जाते हैं। इसी समय चित्त की गहराइयों में दबी पड़ी काम की वासनाएँ जागने लगती हैं और पल-पल बढती चली जाती हैं।

पर यह सब होता तभी है जब पति-पत्नी एक-दूसरे से इतने घुल मिल गये हों कि उनके बीच लाज-शर्म और हर तरह के संकोच का पर्दा मिट गया हो। जिन दम्पत्तियों के बीच लज्जा, डर, संकोच या नफरत की दीवार खड़ी रहती है, वह प्यार की इस खट्टी-मीठी और दिल के तारों को छेड़ने वाली जन्नत की बौछार का आनंद नहीं ले पाते हैं। ऐसे पति-पत्नी सम्भोग का सही आनंद भी कभी नहीं उठा पायेंगे।

जानिये क्यों प्यार के बिना जिंदगी, जिंदगी नहीं है – 100 Love Quotes in Hindi प्यार

7. Sex Tips during Foreplay सम्भोग पूर्व क्रिया में रूचि लें

Hindi Sex Tip 7: अब तक पति और पत्नी के बीच का प्यार इतना परवान चढ़ चुका होता है कि वे एक-दूसरे में समा जाने के लिये बेचैन होने लगते हैं। यहाँ से ही वास्तविक सेक्स क्रिया की शुरुआत होती है, क्योंकि अब वे दोनों एक साथ बिस्तर पर आकर प्रेमालाप करने लगते हैं। इस लेख में ‘हम Sex कैसे करें’ इसका सिर्फ संक्षिप्त वर्णन ही करेंगे। विस्तार से जानने के लिये How to Do Sex in Hindi यह लेख पढ़ें।

Sex करते समय यह बात हमेशा ध्यान रखें कि भले ही स्त्री-पुरुष दोनों मनुष्य योनि से सम्बन्ध रखते हों, लेकिन इनकी प्रकृति में बड़ा भारी अंतर होता है। क्योंकि पुरुष तो कुछ ही क्षणों में उत्तेजना की चरम सीमा तक पहुँच जाता है, लेकिन स्त्री को चरम सीमा तक पहुँचने में बहुत वक्त लगता है। अगर पुरुष 5 मिनट में उत्तेजित होता है, तो स्त्री को उत्तेजना की चरम सीमा तक पहुँचने में 15 से 20 मिनट तक का समय लग सकता है।

यही वह गुप्त रहस्य है जिसके कारण 90 प्रतिशत से अधिक Sex क्रियाएँ (सम्भोग) असफल ही रह जाती हैं। क्योंकि उनमे सिर्फ पुरुष को ही एक सीमा तक (पूरा नहीं) आनंद प्राप्त होता है। स्त्री वैसी की वैसी अतृप्त रह जाती है, क्योंकि वह देर में उत्तेजित होती है। जब तक स्त्री उत्तेजित होती है, तब तक पुरुष स्खलित हो जाता है। इसलिये हर पुरुष को सबसे पहले स्त्री को ही उत्तेजित करने का प्रयास चाहिये।

पुरुष को चाहिये कि अपनी उत्तेजना को काबू में रखते हुए स्त्री को उत्तेजित करने, गर्म करने का प्रयास करे और जब तक वह पूर्ण रूप से उत्तेजित न हो जाय, तक तक कभी भी Sex क्रिया अर्थात सम्भोग न शुरू करे। स्त्री को उत्तेजित करने के लिये इन Tips का ध्यान रखें –

1. नारी के शरीर के इन 14 अंगों में जयदेव ने काम का निवास बताया है यह हैं – ललाट (माथा), नेत्र, होंठ, गाल, गला (कंठ), स्तन, काँख (बगल), नाभि, पेडू (पेट का निचला भाग), कमर का निचला भाग, योनि, जाँघ, घुटने, और पैर के तलवे।

2. स्त्री के शरीर के इन अंगों को सहलाने, दबाने, मर्दन करने, घर्षण करने से स्त्री के शरीर में तेजी से उत्तेजना भरती है, क्योंकि इन स्थानों पर उन नाड़ियों का सघन जाल है जो उसके सूक्ष्म काम केंद्रों से जुडी हैं।

3. स्त्री के शरीर को स्थान-स्थान पर प्रेम से सहलाते हुए उससे उसके रूप-सौंदर्य की भी प्रशंसा करें। इससे उसका न सिर्फ आपके प्रति प्यार बढ़ता है, बल्कि वह Sex में भी खुलकर साथ देती है।

4. स्त्री के शरीर को सहलाते समय अपने शरीर के हर अंग का प्रयोग करना सीखें। जैसे – यदि आप उसका मुख चूम रहे हों, तो अपने हाथों से उसके शरीर के मुख्य-मुख्य काम केन्द्रों को भी हल्के-हल्के सहलायें।

5. आप Sex करते समय अपनी Creativity और Talent भी दिखा सकते हैं। निश्चित जानिये हर पत्नी, अपने पति को काम कला का विशेषज्ञ जानकर खुशी के मारे फूली नहीं समायेगी।

8. Sex Tips During Sex सम्भोग के दौरान संयम बरतें

Hindi Sex Tip 8: काम ग्रंथों में स्त्री को आग और पुरुष को घी की संज्ञा दी गयी है। अर्थात जिस तरह अग्नि में घी डालने से उसकी लौ और भड़कती है, वह और भी उग्र रूप में प्रकट होती है, ठीक उसी तरह पुरुष जितने आवेग से स्त्री के साथ Sex क्रिया करता है, उतनी ज्यादा तेजी से स्त्री की कामाग्नि भी भड़कती है। लेकिन इसमें एक समस्या यह है कि जिस तरह आग को घी से तृप्ति नहीं होती, उसी तरह स्त्री को भी पुरुष से तुरंत तृप्ति नहीं मिलती।

ज्यादातर मामलों में स्त्री के तृप्त होने से पहले ही पुरुष इतना बेकाबू हो जाता है कि वह तेजी से स्खलन की ओर बढ़ने लगता है, क्योंकि वह खुद पर संयम नहीं रख पाता है। नतीजन वह स्त्री की कामपिपासा को बुझाने के पहले ही स्खलित हो जाता है और बेचारी पत्नी प्यासी ही रह जाती है। पुरुषों के शीघ्र स्खलन की इस समस्या को ही शीघ्र पतन या Premature Ejaculation कहते हैं।

PE की समस्या दुनिया भर के पुरुषों की सबसे ज्यादा प्रचलित और गंभीर Sex Problem है, जिसे दूर करने के लिये वह तरह-तरह की दवाइयों और यंत्रों का सहारा लेते हैं। लेकिन हजारों रूपये फूँकने के बाद भी 1 प्रतिशत लोगों को भी लाभ नहीं होता, क्योंकि यह बीमारी शरीर की नहीं, बल्कि मन की है और इसका मुख्य कारण पुरुष की असंयमी प्रवृत्ति है।

अगर पुरुष Sex करते समय अपनी भावनाओं पर काबू कर सके, तो न सिर्फ उसकी यह समस्या दूर हो सकती है, बल्कि वह लम्बे समय तक बिस्तर में अपनी पत्नी को संतुष्ट भी कर सकता है। लेकिन लोगों को ठगकर पैसा कमाने वाले चिकित्सक और जालसाज कभी इसकी चर्चा नहीं करते। इसलिये Sex के दौरान खुद ज्यादा उत्तेजित होने के बजाय अपनी पत्नी को ही उत्तेजित करने का प्रयास करें।

यह सोचिये कि आप Sex अपने शरीर की भूख मिटाने के लिये नहीं, बल्कि अपने जीवनसाथी को संतुष्टि देने के लिये कर रहे हैं। जब आपके मन का भाव बदल जाएगा, और जब आपके मन से, किसी भी तरह का डर और संकोच चला जायेगा, तब आप बहुत अच्छी तरह से Sex कर पायेंगे और खुद को किसी रसराज के रूप में ही पायेंगे।

 

Ultimate Sex Tips for Couples in Hindi

9. Sex Tips during Afterplay सम्भोग के पश्चात भी स्नेह प्रकट करें

Hindi Sex Tip 9: Couples की विशेषकर पुरुषों की यह आदत होती है कि Sex करते ही वह एक तरफ चुपचाप लेट जाते हैं और फिर सो जाते हैं। यह बात ठीक है कि Sex के दौरान पुरुष को ही ज्यादा परिश्रम करना पड़ता है, इसीलिये उस पर थकान जल्दी हावी होती है। लेकिन Sexual Relationship के लिहाज से यह बिल्कुल भी ठीक नहीं है। क्योंकि इससे स्त्रियों में अकेलेपन की भावना पैदा हो जाती है जिससे वह तनाव महसूस करने लगती हैं।

उन्हें ऐसा लगता है कि जैसे कि पुरुष ने उसे भोगकर छोड़ दिया हो और वह पुरुष की दृष्टि में सिर्फ एक भोग्या वस्तु से बढ़कर और कुछ नहीं है। ऐसा न करें, Sex के बाद भी आपकी पत्नी को भावनात्मक सहारे की जरुरत होती है। जिससे उसे लगे कि उसका पति सिर्फ उसके शरीर से नहीं, बल्कि उससे ही प्यार करता है। Sex क्रिया खत्म होने के बाद भी, एकांत के इन पलों में पति-पत्नी को शारीरिक रूप से एक दूसरे से जुड़े रहना चाहिये।

वस्त्रहीन अवस्था में एक-दूसरे के शरीर से चिपटे हुए, या जीवनसाथी की गोद में बैठे हुए या उसके मुख से अपना मुख मिलाते हुए अपने प्रेम को अपने मौन या चेहरे की भाव-भंगिमाओं से प्रकट करें। उस अवस्था में बिना शब्दों के भी पति-पत्नी एक-दूसरे के मनोभावों को बड़ी अच्छी तरह से महसूस कर सकते हैं और इससे सिर्फ आपके पति या पत्नी को ही नहीं, बल्कि खुद आपको भी असीम तृप्ति मिलेगी।

इस अवस्था में आपको कम से कम 10 से 15 मिनट तक अपने जीवनसाथी को अपने आलिंगनपाश में बाँधकर इस तरह रखना चाहिये कि न तो उसे और न ही आपको कोई शारीरिक पीड़ा हो। कुछ पत्नियों ने एक सर्वे में यह बताया है कि अगर Sex के पश्चात उनके पति, इस मुद्रा में रहकर उनके साथ बातें करते हैं या फिर उनकी जुल्फों से खेलते हैं तो इससे उन्हें अकथनीय आनंद मिलता है।

दरअसल इसके पीछे वास्तविक कारण उन हार्मोन्स का उत्सर्जन है जो स्त्री के भावनात्मक रूप से संतुष्ट होने पर उत्सर्जित होते हैं। शरीर से हार्मोन्स के उत्सर्जन की यह प्रक्रिया Sex की First Stage अर्थात फोरेप्ले के दौरान ही शुरू हो जाती है और आफ्टरप्ले तक चलती रहती है। इसका विशेष वर्णन हमने Sex Benefits in Hindi में किया है।

इस प्रॉमिस डे पर अपने जीवनसाथी से करें यह वायदे – Promise Day Quotes and Status in Hindi

10. Important Sex Tips in Hindi सेक्स से जुडी महत्वपूर्ण बातें

Hindi Sex Tip 10: अब हम आपको Sex क्रिया से जुडी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बारे बता रहे हैं जिन्हें जानना आपके और आपके पार्टनर के लिये बेहद जरुरी हैं इन्हें न जानने से आपको Sex करते समय कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिये ध्यान से पढ़ें –

1. Sex करते समय कभी भी किसी खतरनाक आसन का प्रयोग न करें। जिस आसन में पुरुष खड़े होकर और असंतुलित अवस्था में स्त्री से सम्भोग करता है और जिन आसनों में स्त्री पुरुषों के उपर रहती है, वह आम तौर पर खतरनाक आसन माने जाते हैं।

2. इससे थोड़ी सी असावधानी होते ही गंभीर चोट लगने का खतरा रहता है। कुछ वर्ष पूर्व अमेरिका में एक ऐसे ही Couple की इस तरह के Sex के दौरान छत से गिरने से मौत हो गयी थी।

3. Sex करने से पूर्व अपने जननांगों (Sex Organs या Genitals) को अच्छी तरह से धोकर साफ़ कर लें, ताकि उनमे लगी गंदगी और मैल दूर हो जाय। पुरुष अपने लिंग की अंदरूनी चमड़ी पर जमी सफेद परत को अच्छी तरह से साफ कर लें।

4. स्त्रियाँ भी अपनी योनि को अन्दर से अच्छी तरह साफ़ कर लें, क्योंकि गर्मियों में बैक्टीरिया, उमस के कारण तेजी से पैदा होता है, जिससे योनि से बदबू आने लगती है। इसके अलावा फंगल डिजीज से भी सतर्क रहें।

5. पुरुष और स्त्री अपने Private Parts के उपर उगने वाले बालों को काट कर साफ़ कर दें, क्योंकि यह Sex के दौरान समस्या पैदा कर सकते हैं।

पति-पत्नी सेक्स के दौरान इन बातों का ध्यान रखे

6. पति और पत्नी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि उनमे से किसी को भी रक्त या वीर्य के संक्रमण से फैलने वाली कोई बीमारी न हो। ऐसी स्थिति में कंडोम का प्रयोग करके ही Sex करना सुरक्षित रहता है।

7. अगर आप बच्चा नहीं चाहते हैं तो असुरक्षित तरीके से सेक्स न करें। अनचाहे गर्भ से बचने के लिये पुरुष कंडोम और स्त्रियाँ कॉपर-टी आदि का प्रयोग कर सकती हैं।

8. स्त्रियों की योनि उनके शरीर का बहुत ही संवेदनशील और सुकोमल अंग है। इसलिये पुरुष सम्भोग करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वह जोश और उत्तेजना में आकर योनि को कोई हानि न पहुँचा दें।

9. यदि पति या पत्नी किसी को भी Sex करते समय थोड़ी सी भी तकलीफ हो, तो उन्हें तुरंत Sex क्रिया रोक देनी चाहिये और अपने साथी से सलाह-मशविरा करते हुए अपने शारीरिक स्वास्थ्य की जाँच करनी चाहिये।

10. Sex करते समय ऐसा कोई काम न करे जिससे आपका ध्यान सेक्स से हटकर किसी दूसरी चीज की तरफ जाय। ऐसा करने से आपके साथी का मन उचट सकता है – जैसे लोग सेक्स करते-करते फोन पर बातें करने लगते हैं।

11. Sex के दौरान अपने जीवनसाथी को दुःख पहुँचाने वाली कोई बात या ऐसा काम कतई न करें। इससे Sex का सारा मजा किरकिरा हो जाता है और यह मन में गाँठ बनकर स्थायी जगह भी ले सकता है।

12. Sex करने के दौरान अधिक बल का प्रयोग मत करें और न ही खुद को ज्यादा जोशीला दिखाने का प्रयास करें। याद रखिये आप किसी मैराथन या फर्राटा में हिस्सा नहीं ले रहे हैं, बल्कि जीवनसाथी के साथ प्यार बाँट रहे हैं।

13. Sex करते समय अपने मन से हर तरह के संकोच, डर और झिझक को मिटा देना चाहिये। याद रखिये आप कोई अपराध नहीं कर रहे हैं।

शादी करने से पहले जानिये क्या हैं एक अच्छे पति के 18 गुण – 18 Qualities of A Perfect Husband in Hindi

Book for Sex Tips in Hindi सेक्स टिप्स पर पुस्तक

हमें विश्वास है आज इस लेख में हमने पति-पत्नी के अंतरंग संबंधों की महत्ता, उनकी सीमा और उपायों की जो चर्चा की है, वह उनके विवाहित जीवन को बेहतर बनाने में अवश्य मदद करेगी। बहुत कोशिश करते-करते भी यह लेख इतना लंबा हो गया है कि हम इसे पढने के लिये इतना वक्त देने पर आपका धन्यवाद किये बिना नहीं रह सकते हैं।

दरअसल Sex का विज्ञान और कामशास्त्र इतना बड़ा है कि इसका पूरा और अच्छी तरह से वर्णन एक बड़े आकार की पुस्तक में ही किया जा सकता है। सिर्फ एक या दो लेख से तो, इसकी एक झलक मात्र ही पायी जा सकती है। जल्दी ही हम पति-पत्नी की Sexual Life को और बेहतर बनाने के लिये एक शानदार पुस्तक लेकर आ रहे हैं जिसमे हम ऐसी कई Sex Tips के बारे में बतायेंगे जिन्हें आपने अब तक कहीं नहीं पढ़ा होगा।

आगे पढिये कैसे बनें एक अच्छे माता-पिता – Meaning of Parents in Hindi

“ईश्वर में सदा निमग्न रहने वाले योगियों की बात छोड़ दी जाय तो काम ने हर अवस्था में, इस दुनिया के हर इन्सान को अपने आकर्षण से परास्त किया है और उसके दिल को अपनी ओर खींचा है।”
– पवन प्रताप सिंह

 

Comments: आशा है पति-पत्नी की Sexual Life के Secrets बताने वाला यह लेख 10 Sex Tips in Hindi for Couples आपको जरुर पसंद आया होगा। कृपया इस हिंदी लेख को सोशल मीडिया पर शेयर करके हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आप हमें अपने सुझाव Facebook, Twitter और दूसरी सोशल साइट्स पर दे सकते हैं। अपने E–mail पर नयी पोस्ट पाने के लिये जीवनसूत्र को सब्सक्राइब करें और वीडियो देखने के लिये Youtube Channel के सदस्य बनना न भूलें। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •