10 Powerful Personality Development Tips in Hindi

 

व्यक्तित्व (चरित्र) वह चीज़ नहीं है जिसके साथ आप पैदा हुए थे और अपनी उँगलियों के निशान की तरह जिसे आप बदल नहीं सकते। यह वह चीज़ है जिसके साथ आप पैदा नहीं हुए थे पर जिसे ढालने की जिम्मेदारी आपको अवश्य लेनी है।
– जिम राँन

 

Powerful Personality Development Tips in Hindi
कैसे बनायें एक चुम्बकीय व्यक्तित्व

कामयाबी को निर्देशित करने वाली चीजों में कोई भी इतनी प्रभावशाली नहीं है जितना कि व्यक्ति का व्यक्तित्व व्यक्तित्व चरित्र के बीज से जन्मा पौधा है जिस पर उपलब्धियों के फल लगते हैं अधिकाँश व्यक्ति जब किसी महान आत्मा के व्यक्तित्व का मूल्यांकन करते हैं तब वह सिर्फ उसके गौरवशाली जीवन की उपलब्धियों से चमत्कृत होकर ही संतुष्ट हो जाते हैं लेकिन कोई भी व्यक्ति उनके चरित्र के उन उद्दात्त गुणों का विश्लेषण नहीं करना चाहता जो सफलता का सबसे सशक्त आधार थे

Personality को पारिवारिक पृष्ठभूमि, रूप-रंग और चाल-ढाल से जोड़कर देखना गलत है इसका तात्पर्य व्यक्ति के सुंदर, आकर्षक और सुडौल शरीर से नहीं है जैसा कि ज्यादातर लोग मानते हैं अगर व्यक्तित्व की परख केवल इन्ही चीज़ों के आधार पर होने लगेगी तो महात्मा गाँधी, अब्राहम लिंकन, नेल्सन मंडेला, महर्षि रमण और इनके ही जैसे न जाने कितने उच्चतर व्यक्तित्व वाले व्यक्ति इस कसौटी पर खरे न उतर सकेंगे

वास्तव में व्यक्तित्व तो सिर्फ कलेवर (आवरण) है असल चीज है चरित्र जब भी हम व्यक्तित्व विकास की बात करते हैं तो यथार्थ रूप में हम चरित्र को श्रेष्ठ बनाने की ही बात कर रहे होते हैं इसीलिये Personality को Character in Action कहना ज्यादा तर्कसंगत होगा इस लेख में हम केवल उन तरीकों के बारे में बातें करेंगे कि किस प्रकार से एक साधारण व्यक्तित्व को एक चुम्बकीय व्यक्तित्व के रूप में बदला जा सकता है

किस प्रकार से हम लोगों को अपने व्यक्तित्व के सहारे सही कार्य के लिये प्रेरित कर सकते हैं और सबसे बढकर कि किस तरह हम स्वयं को उस आदर्श व्यक्ति के रूप में निर्मित कर सकते हैं जिसकी कल्पना हमने अपनी जिंदगी में कई बार की है Personality क्या है और यह किन चीज़ों से प्रभवित होती है इसके बारे

ऊँची अभिलाषा रखिये

High Self Confidence : –
आत्मविश्वासी बनिये

Be Humble Humility
विनम्र बनिये

Have A Feeling of Gratitude –
ह्रदय में कृतज्ञता का भाव लायें

Leadership
आगे बढ़कर नेतृत्व करें

Generosity
उदारता दिखाइये

Trustworthy Honesty
Enthusiasm

Do not Intervene in MAtters of others

Patience
धैर्यवान बनिये

Maintain Your Dignity –
आत्मगौरव मत खोइये

अपनी गलतियों और भूलों को स्वीकार करना और उन्हें सुधारना आत्म-सम्मान का सर्वोच्च रूप है। कोई गलती करना निर्णय लेने में केवल एक त्रुटि भर है, लेकिन जब इसे खोज लेने पर भी गलतियाँ होती रहती हैं, तो यह चरित्र की कमजोरी को प्रकट करता है।”
– डेल टर्नर

Spread Your Love