Team Management Skills are Must for A Top Career

 

“जो आपकी सामर्थ्य में है उसी का सर्वश्रेष्ठ उपयोग कीजिये, और बाकी को वैसे ही लीजिये जैसे यह घटित होता है।”
– एपिक्टेटस

 

Team Management Skills समूह/दल प्रबंधन कौशल : –

“एक से भले दो” यह आम प्रचलित कथन अन्य स्थानों पर जितना सही बैठता है उतना ही सही यह Team Management के सन्दर्भ में भी है। लोगों को साथ लेकर चलना और उनका हार्दिक सहयोग पाना बड़े और महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा करने के लिये एक अनिवार्य शर्त रही है। पर सबसे ज्यादा मुश्किल काम उस व्यक्ति को खोजना रहा है जो लोगों को कार्य के पूर्ण होने तक एकजुट रख सके और उनकी संपूर्ण क्षमता का बेहतर ढंग से उपयोग कर सके।

Team Management Skills के जरिये employer अपने prospective employee में यह गुण खोजते हैं कि क्या वह बड़े लक्ष्यों को पूर्ण करने के लिये अपने दूसरे सहयोगियों के साथ अपने अहम् को दूर रखते हुए, कदम से कदम मिलाकर चलने को तैयार हैं और यदि आप इस योग्य हैं तो उनकी नजरों में निश्चित रूप से एक अच्छे Team Player साबित हो सकते हैं।

“अकेला चना भाड नहीं फोड़ सकता” यह कहावत उन वृहत कार्यों पर बिल्कुल सही तरह से लागू होती है, जहाँ अकेला व्यक्ति चाहे वह कितना भी प्रतिभाशाली और परिश्रमी क्यों न हो, सब कुछ नहीं कर सकता। Team Work का यह सिद्धांत केवल लोगों के एक समूह तक ही सीमित नहीं है, बल्कि प्रत्येक व्यक्ति के लिए है।

यदि हम इन सिद्धांतों को अपने जीवन में उतार सकें – जैसे अपने व्यक्तित्व को मिलनसार बनाना, दूसरों के साथ सहयोग करना, आदर्शों पर दृढ रहना आदि, तो हम स्वयं को एक उत्कृष्ट मार्गदर्शक के रूप में विकसित कर सकते हैं। यदि हम अपने जीवन को एक सही दिशा दे सकें, तब हम न केवल स्वयं एक अच्छे इंसान बन सकेंगे, बल्कि दूसरों को भी उनकी आवश्यकता के समय प्रेरणा दे सकेंगे।

Team Skills क्यों जरुरी हैं : –

एक मस्तिष्क की तुलना में दो मस्तिष्क ज्यादा बेहतर है, बशर्ते वे किसी पूर्वाग्रह को दूर रखकर एक यूनिट के रूप में एक ही उद्देश्य को सामने रखकर कार्य करें। Team Management में सबसे बड़ी चुनौती यही है कि दो different mindset वाले व्यक्तियों को, जिनकी work approach, qualification, experience, passion अलग-अलग हो सकते हैं, उन्हें आखिर किस तरह साथ लाया जाय, जो वे एक ही प्लेटफ़ॉर्म पर साथ आकर काम कर सकें।

इसलिये यह बेहद आवश्यक हो जाता है कि न केवल टीम के सदस्यों को चुनने में पर्याप्त सावधानी और समझदारी बरती जाय, बल्कि उनका नेतृत्व भी किसी ऐसे व्यक्ति के हाथ में ही दिया जाय जो आगे बढ़कर चतुराई के साथ उनका नेतृत्व करे और आपसी मतभेदों को दूर कर सके। इस प्रक्रिया में Team Leader और Team Members दोनों ही नई Skills सीखते हैं और ज्ञान प्राप्त करते हैं।

जब एक कुशल Team Leader और Team Members के बीच उचित समन्वय होता है, तो Team Work प्रत्येक व्यक्ति की कार्य-कुशलता में सकारात्मक बदलाव लाता है। चाहे कोई कार्य सफल हुआ हो, या फिर असफल, यह निश्चित रूप से हर उस व्यक्ति के अनुभव को बढायेगा जिसने इस पर कार्य किया है।

यह टीम को उस अनुभव का भविष्य में उपयोग करने और अधिक दक्षतापूर्वक कार्य करने में स्मार्ट बनाती है। जब लोग किसी टीम में रहकर कार्य करते हैं, तो वे टीम के दूसरे सदस्यों के संपर्क में आकर कई चीज़ें सीखते हैं। यह ज्ञान उनके व्यक्तिगत जीवन और करियर में काफी मददगार होता है।

लोग Communication के महत्व को समझते हैं, अपनी निर्णय लेने की क्षमता को निखारते हैं और एक योजना को पूर्ण करने की प्रक्रिया को सीखते हैं। Team अपने ज्ञान और कौशल को दूसरे Team Members के सामने प्रदर्शित करने का एक शानदार स्थान है जो आपको अपने हुनर को और निखारने का एक अवसर देता है।

Corporate World में Team Management क्यों जरुरी बनता जा रहा है? –

Team Management Skills आज निःसंदेह modern corporate world की most sought after soft skills में से एक है जिसकी मांग आज हर नियोक्ता अपने कर्मचारी से करता है। यह न केवल नियोक्ता की नजरों में आपकी योग्यता को दूसरे प्रतिस्पर्धीयों की तुलना में इक्कीस ठहराती है, बल्कि career की दौड़ में लम्बे समय तक टिके रहने में भी मदद करती है।

किसी बड़े और महत्वपूर्ण Project पर कार्य करने के लिए अमूनन हर संगठन को एक बेहतरीन टीम की जरुरत होती है। जो न केवल उस Project को एक Imaginative Blueprint से बाहर निकालकर उसे Real World में साकार कर सके, बल्कि उसे एक Model of Excellence भी बना सके। एक अच्छी टीम निश्चित रूप से उसके अच्छे Team Members पर निर्भर करती है।

क्योंकि Team Members की Personal Performance समग्र टीम के प्रदर्शन का अहम पहलू है। लेकिन इससे व्यक्तिगत अनुभव और योग्यता के आधार पर टीम का चुनाव करने वाले Selectors की एक बेहतर टीम तैयार करने की जिम्मेदारी कम नहीं हो जाती। इसलिये प्रत्येक सदस्य की खूबियों और खामियों की सूक्ष्मता से परीक्षा करने के बाद ही उन्हें कोई महत्वपूर्ण दायित्व सौपा जाना चाहिये।

क्योंकि एक टीम उतनी ही शक्तिशाली होती है जितना उसका सबसे कमजोर सदस्य। वास्तव में बेहतरीन Leadership Skills के बिना एक बेहतर Team को सही प्रकार से manage कर पाना संभव नहीं है। इसलिये एक अच्छी टीम का चुनाव करते समय Team Management Skills और Leadership Skills, दोनों को समान रूप से अहमियत देनी चाहिये।

एक बेहतर Team का निर्माण किस तरह करें : –

एक बेहतर टीम तैयार करते समय Team Management Skills के उन मूल बिन्दुओं पर अवश्य ध्यान दिया जाना चाहिये, जो संपूर्ण प्रक्रिया के आधार-स्तम्भ हैं। अन्यथा एक आकर्षक, प्रभावशाली और अनुभवी नेतृत्व के अभाव में एक अच्छी टीम भी अपना उद्देश्य पूरा करने के पहले ही दम तोड़ सकती है।

नीचे दिये जा रहे इन सात बिन्दुओं को देखने पर आसानी से पता चलता है कि व्यक्ति की अन्य किसी भी योग्यता की तुलना में उसके अपने चारित्रिक सद्गुणों का महत्व कहीं ज्यादा है। ईमानदारी, साहस, उदारता, निष्कपटता, विनम्रता, विवेकशीलता, विश्वसनीयता और उत्साह जैसे गुणों की महत्ता किसी पेशेवर के तकनीकी ज्ञान और अक्लमंदी से अधिक बढ़कर है।

क्योंकि किसी भी व्यक्ति का सहर्ष सहयोग इन विशिष्ट गुणों और सरल स्वभाव के आधार पर ही पाया जा सकता है, केवल अपने कौशल और शुष्क ज्ञान के आधार पर नहीं। इसलिये जब टीम के सदस्यों को चुना जाय तो उनके हुनर के साथ-साथ उनकी इन स्वभावगत विशेषताओं का भी ध्यान रखा जाय जो यहाँ नीचे दी जा रहीं हैं –

1. चरित्र, योग्यता व अनुभव के आधार पर सभी सदस्यों के लिए जिम्मेदारियां तय की जाँय।

2. प्रत्येक सदस्य को बिना दबाव के कार्य पूर्ण करने की स्वतंत्रता दी जाय।

3. टीम के प्रत्येक सदस्य के भीतर परस्पर सहयोग व सम्मान की भावना विकसित की जाय।

4. सर्वाधिक अनुभवी, उत्साही और योग्य व्यक्ति के हाथों में नेतृत्व सौंपा जाय।

5. अनुशासन, समय प्रबंधन और प्रभावी सम्प्रेषण पर ध्यान दिया जाय।

6. व्यक्तिगत मतभेदों को सहन करने में टीम का प्रत्येक सदस्य सक्षम होना चाहिये।

7. सभी सदस्य मिलकर सफलता का आनंद उठायें।

आखिर क्या देखते हैं Employer अपने कर्मचारी में इस Skill के जरिये : –

Team Management Skills भी Soft Skills का ही एक विशेष स्वरुप हैं जिसमे आपके व्यक्तित्व की वह विशेषता खोजी जाती है जो आपको अलग-अलग पृष्ठभूमि के व्यक्तियों के साथ मिलकर एक सामूहिक लक्ष्य की पूर्ति के लिये कार्य करने के योग्य बनाती है। Organization की growth के लिये और एक Effective Team build up करने के लिये प्रत्येक संगठन और नियोक्ता आपके भीतर इन विशेषताओं को देखना चाहते हैं –

1. कोई कर्मचारी अपने समूह के दूसरे सहयोगियों के साथ कितनी सहजता से और कार्यकुशल तरीके से कार्य कर सकता है।

2. कर्मचारी में ऐसी कौन सी खूबी या विशेषता है जिसका उपयोग संगठन दूसरे कार्य में अधिक बेहतर तरह से कर सकता है।

3. व्यक्ति संगठन में रहने या काम करने लायक है या नहीं।

4. क्या उस व्यक्ति पर बड़े कार्यों का उत्तरदायित्व सौंपा जा सकता है?

5. क्या व्यक्ति किसी प्रकार के अहम् भाव से ग्रस्त है?

6. व्यक्ति के बौद्धिक स्तर और भावनात्मक सामर्थ्य का समूह में काम करने पर क्या स्तर है?

“एक व्यक्ति के संघर्ष की तीव्रता ही उसकी सफलता का स्तर तय करती है।”
– अरविन्द सिंह

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!