Most Dangerous Volcanoes in The World in Hindi

 

मानव इतिहास की सबसे बड़ी प्राकृतिक दुर्घटनाओं में से एक ज्वालामुखी के कारण ही घटित हुई थी, जब सन 62 में विसूवियस ज्वालामुखी में विस्फोट के कारण इटली के दो प्रसिद्ध शहर पोम्पई और हेर्कुलनेअम रातो-रात तप्त राख और धूल के विशाल गुबार के नीचे जमींदोज हो गये थे। संसार के अलग-अलग क्षेत्रों में स्थित यह ज्वालामुखी आज भी मानवता के लिये एक बड़ा खतरा हैं।

Most Dangerous Volcanoes in The World in Hindi
दुनिया का सबसे खतरनाक ज्वालामुखी यहाँ है

दुनिया के सबसे ऊँचे ज्वालामुखियों के बारे में हमने आपको 10 Highest Volcanoes of The World in Hindi इस लेख में बताया था आज हम आपको बता रहे हैं संसार के उन सबसे खतरनाक ज्वालामुखियों के बारे में जो लगभग सक्रिय अवस्था में ही हैं और जिनमे हुआ एक भी बड़ा विस्फोट लाखों लोगों की मौत का कारण बन सकता है इनमे से अधिकाँश ज्वालामुखी आबादी वाले क्षेत्रों के समीप स्थित हैं और यह पिछले 100 वर्षों में कई बार धधके हैं जिसके कारण इन्हें एक बड़ा खतरा माना जाता है

ज्वालामुखियों और धरती की भूगर्भीय संरचना (आंतरिक) का अध्ययन और विश्लेषण करने वाले संगठन International Association of Volcanology and Chemistry of the Earth’s Interior (IAVCEI) ने संपूर्ण विश्व के 16 ऐसे ज्वालामुखियों की एक सूची तैयार की है जो अपने बड़े और विनाशकरी विस्फोटों के इतिहास और आबादी वाले स्थानों के पास होने की वजह से विशेष रूप से ध्यान देने योग्य हैं इस सूची को डिकेड वोल्कैनोस लिस्ट (Decade Volcanoes List) के नाम से भी जाना जाता है

1. Erta Ale in Ethiopia एर्टा अले : –

इथोपिया में स्थित एर्टा अले अफ्रीका महाद्वीप का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी है कुछ लोग इसे स्मोकिंग माउंटेन के नाम से भी पुकारते हैं इसमें अंतिम बड़ा विस्फोट सन 2008 में हुआ था लेकिन लावे का प्रवाह सतत बना रहता है इस ज्वालामुखी का क्षेत्र संसार के सबसे कठोर और प्रतिकूल वातावरण में से एक माना जाता है यह ज्वालामुखी इस मायने में भी अद्भुत है क्योंकि जहाँ अन्य ज्वालामुखियों की सिर्फ एक लावा झील होती है इसकी दो झीलें हैं

Sakurajima of Japan सकुराजिमा : –

सकुराजिमा को जापान का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी माना जाता है पहले यह एक द्वीप हुआ करता था लेकिन सन 1914 में जब इसमें विस्फोट हुआ तो इससे इतना अधिक लावा बाहर निकला कि यह निर्जन स्थान ओसुमी द्वीप से जुड़ गया और तभी से यह लगातार धधक रहा है पूर्व में हुए विस्फोटों के कारण इस क्षेत्र में श्वेत बालू के कई ऊँचे पठार भी बने हुए हैं आस-पास के वातावरण में फैली राख की विशाल मात्रा और गर्म गैसों तथा धूल के ऊँचे गुबार के कारण सहज ही इस ज्वालामुखी की सक्रियता का अंदाजा हो जाता है इसके समीप ही सकुराजिमा नगर भी स्थित है जहाँ हजारों लोग निवास करते हैं रोमांच के शौक़ीन हजारों पर्यटक जान की परवाह किये बिना हर साल यहाँ इस ज्वालामुखी को देखने के लिये आते हैं

Mount Merapi of Indonesia माउंट मेरापी : –

इंडोनेशिया में स्थित माउंट मेरापी न केवल इंडोनेशिया का, बल्कि दुनिया का भी सबसे सक्रिय ज्वालामुखी समझा जाता है यह सन 1548 से निरंतर प्रस्फुटित हो रहा है मेरापी का अर्थ है आग उगलने वाला पहाड़ और इसे यह नाम यूँ ही नहीं दिया गया है वर्ष में लगभग 300 दिन इस ज्वालामुखी के मुख से धूल और राख का स्राव होता है इस ज्वालामुखी के इतना सक्रिय होने के पीछे मुख्य कारण है इसकी कम आयु दक्षिणी जावा में स्थित सभी ज्वालामुखियों में यह सबसे नया है केंद्रीय जावा और इंडोनेशिया के बीच की सीमा पर स्थित माउंट मेरापी बेहद खतरनाक ज्वालामुखी माना जाता है सन 1994 में हुए एक विस्फोट के कारण यहाँ 27 लोगों की मौत हो गयी थी

Spread Your Love