Surprising Facts about World War I in Hindi

 

प्रथम विश्व युद्ध के बारे में आप अपने स्कूली जीवन में पहले ही पढ़ चुके होंगे, क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटना है। यह युद्ध मानव इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदियों में से एक है। इस युद्ध में लाखों लोगों ने अपनी जान गंवाई थी और इससे दोगुने घायल हो गये थे। लाखो लोगों को बेघर होने के कारण, असमय ही गरीबी, भुखमरी और तंगहाली में जीवन जीना पड़ा था।

Surprising Facts about World War I in Hindi
लाखों लोग मारे गये थे प्रथम विश्व युद्ध में

आज 28 जुलाई है और इसे विश्व इतिहास के एक अत्यंत महत्वपूर्ण दिन के रूप में याद रखा जाता है क्योंकि आज ही के दिन प्रथम विश्व युद्ध आरम्भ हुआ था दो देशों के बीच हुई एक हल्की झड़प ने किस तरह सम्पूर्ण विश्व को एक खतरनाक और अनिश्चितकाल काल की त्रासदी में फँसा दिया था यह युद्ध उसका ज्वलंत उदाहरण है विश्व युद्ध से तात्पर्य एक ऐसे युद्ध से है जिसमे कई देश एक दूसरे से अपने-अपने निहित स्वार्थों की पूर्ति हेतु लडे थे

जब चार वर्ष के लम्बे अंतराल के पश्चात विश्व युद्ध समाप्त हुआ तब तक संसार के चार बड़े साम्राज्य बर्बादी की हालत मे पहुँच गये थे लेकिन संयुक्त राज्य अमेरिका एक महाशक्ति बनकर उभरा था समूचे यूरोप की सीमाएँ फिर से निर्धारित हुई थी पराजित राष्ट्रों को अपमानजनक संधियाँ स्वीकार करने को विवश किया गया और उनका समस्त गौरव और अहंकार धुल-धूसरित हो गया

चूँकि सभ्यता के इतिहास में प्रथम विश्व युद्ध एक अविस्मरणीय घटना है इसीलिये आज हम आपको इस युद्ध की सबसे महत्वपूर्ण घटनाओं से संबंधित तथ्यों और सूचनाओं के बारे मेंबताने जा रहे हैं और साथ ही यह भी बतायेंगे कि आखिर यह विनाशकारी युद्ध हुआ ही क्यों –

पहला विश्व युद्ध 28 जुलाई सन 1914 के दिन आरंभ हुआ था और चार वर्ष बाद 11 नवंबर सन 1918 में जाकर समाप्त हुआ इस तरह प्रथम विश्व युद्ध लगभग 52 महीने तक चला था

यह युद्ध एशिया, यूरोप और अफ्रीका इन तीन महाद्वीपों में लड़ा गया था

इस युद्ध में दो पक्ष थे एक केंद्रीय शक्तियाँ और दूसरे मित्र राष्ट्र जर्मनी, ऑस्ट्रिया, हंगरी और उस्मानिया केंद्रीय शक्तियाँ थीं तो ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, इटली और जापान मित्र राष्ट्र

संयुक्त राज्य अमेरिका मित्र राष्ट्रों की ओर शामिल हो गया था।

जल, थल तथा आकाश में लड़ा गया। प्रारंभ में जर्मनी की जीत हुई। 1917 में जर्मनी ने अनेक व्यापारी जहाज़ों को डुबोया। एक बार जर्मनी ने इंगलैण्ड की लुसिटिनिया जहाज़ अपने पनडुब्बी से डूबा दी। जिसमे कुछ अमेरिकी नागरिक संवार थे इससे अमरीका ब्रिटेन की ओर से युद्ध में कूद पड़ा लेकिन रूसी क्रांति के कारण रूस महायुद्ध से अलग हो गया। 1918 ई. में ब्रिटेन , फ़्रांस और अमरीका ने जर्मनी आदि राष्ट्रों को पराजित किया। जर्मनी और आस्ट्रिया की प्रार्थना पर 11 नवम्बर 1918 को युद्ध की समाप्ति हुई।

Spread Your Love