Amazing Benefits of The Milk in Hindi

 

“आयुर्वेद में और भारतीय पौराणिक साहित्यों में दूध को अमृत कहा गया है, विशेषकर गौ के दूध को। जो लोग दूध को नापसंद करते हैं या इसकी महत्ता के बारे में नहीं जानते हैं, उन लोगों को यह वाक्य अतिरंजित लग सकता है। लेकिन जब आप इस लेख को पूरा पढ़ लेंगे, तब आप भी इस प्राचीन और निर्विवाद सत्य से इंकार नहीं कर सकेंगे कि Milk वास्तव में कितना अधिक गुणकारी है और अच्छे स्वास्थ्य और बलवान शरीर के निर्माण में इसकी भूमिका कितनी ज्यादा अहमियत रखती है।”

 

Milk Benefits in Hindi
इस धरती पर अमृत के समान ही है दूध

Milk Benefits in Hindi: दूध एक अपारदर्शक, सफेद रंग का तरल है, जो मादा जीवों के स्तनों में उपस्थित दुग्ध ग्रन्थियों द्वारा बनाया जाता है। पुष्ट माँसपेशियों से लेकर मजबूत हड्डियों तक, सुद्रढ़ दांतों से लेकर चमकती त्वचा तक, प्रखर मस्तिष्क से लेकर शरीर की बेशकीमती धातुओं के निर्माण तक और सशक्त पाचन तंत्र से लेकर बलवान हृदय और फेफड़ों तक, शरीर का कोई अंग ऐसा नहीं है जिसे धरती के अमृत दूध की प्रचंड सूक्ष्म-शक्ति बल और ओज न प्रदान करती हो।

सिर्फ इतना ही नहीं, दूध हमारे Immune System को इतना सशक्त बना सकता है कि यह लम्बे समय तक हमारे शरीर की खतरनाक Bacteria और Virus से सुरक्षा कर सके। आज वैज्ञानिक और चिकित्सक, दूध के अतुल्य गुणों की प्रशंसा करते नहीं थकते हैं, क्योंकि व्यापक शोध के बाद उन्हें जो निष्कर्ष प्राप्त हुए हैं, उससे वह भी अचंभित हैं।

लेकिन हमारे प्राचीन ऋषि-मुनि आरम्भ से ही इसके गुणों से परिचित थे, इसलिये उन्होंने गौपालन पर विशेष बल दिया, ताकि हर व्यक्ति को उसके जन्मकाल से ही शुद्ध दुग्ध पीने को मिल सके। यही कारण है कि हर औसत भारतीय, अपनी संतान के उत्तम स्वास्थ्य हेतु, सर्वोत्तम भोजन के रूप में दूध को प्रथम स्थान पर रखता है।

Milk in Hindi दूध की सामान्य जानकारी

अधिकांश लोग दूध के आरोग्यदायक गुणों से परिचित हैं और वे अच्छी तरह समझते भी हैं कि यह उत्तम स्वास्थ्य हेतु अनिवार्य आवश्यकताओं में से एक है। लेकिन यह वायु और जल की तरह सर्वसुलभ नहीं है, क्योंकि यह प्रकृति में मुक्त रूप से नहीं मिलता है। इसके लिये हम पूरी तरह से सजीव प्राणियों और उनमे भी सिर्फ मादा पशुओं पर निर्भर हैं।

क्योंकि केवल उनके अन्दर ही उन Mammary Glands (दुग्ध उत्पादक ग्रंथियों) का विकास हो पाया है, जिनके अन्दर दूध का निर्माण होता है। जीवन का संचालन करने के लिये, सृष्टि निर्माता ने कमजोर से कमजोर प्राणी की आवश्यकता का ध्यान रखा है और ऐसे ही जीवों में हैं शामिल है, मनुष्य और पशुओं के नवजात शिशु, जो अपने निर्बल शरीर और अविकसित अंगों के कारण, स्वयं अपना भरण-पोषण करने में असमर्थ हैं।

दूध (Milk in Hindi), ऐसे ही जीवों के लिये प्राणदायी अमृत है। आयुर्वेद के अनुसार, दूध श्वेत रंग का (कुछ प्राणियों में दूध का श्वेत रंग हल्के पीले या लाल रंग की आभायुक्त भी हो सकता है) स्निग्ध, कफवर्धक, नाड़ियों के लिये बलकारक, और शीतल प्रकृति का द्रव्य है। अपने अनोखे गुणों के कारण इसकी गणना एक विशिष्ट रसायन के रूप में भी की जाती है।

 

Nutritional Facts about The Milk in Hindi

यह हैं दूध में उपस्थित पोषक तत्व

दूध को Complete Food यानि सम्पूर्ण भोजन माना गया है, क्योंकि इसमें हर वह चीज उपस्थित है जिसकी हमारे शरीर को अनिवार्य रूप से आवश्यकता होती है। यह Essential Minerals और Important Vitamins का आदर्श प्राकृतिक स्रोत है। दूध को प्रतिदिन अपने भोजन में शामिल करने से आपको एक Well-balanced Diet मिलती है।

क्योंकि दूध विटामिन A, विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन B12, विटामिन D जैसे महत्वपूर्ण विटामिनों और प्रमुख खनिजों जैसे कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और Zinc का शानदार स्रोत है। इसके अतिरिक्त यह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा का भी बहुत ही अच्छा जरिया है।

दूध को उबालकर इससे जो मलाई निकाली जाती है वह भी बड़ी गुणकारी होती है आयुर्वेद के अनुसार दूध की मलाई, शीतल, बलवर्धक, गरिष्ठ, पुष्टिदायक, कफकारक और धातुवर्धक होती है। यह वायु और पित्त के विकार को खत्म करती है तथा रक्त को शुद्ध करती है। दूध की सबसे बड़ी विशेषता है, इसमें पाये जाने वाले दर्जनों प्रोटीन्स की, जो अन्य किसी आहार में नहीं मिलते।

100 ग्राम दूध में उपस्थित पोषक तत्वों की मात्रा इस प्रकार है –

 

Amazing Health Benefits of The Milk in Hindi

दूध एक ऐसा अतुल्य आहार है, जिसकी किसी दूसरी चीज से तुलना संभव नहीं है। यह समझ लीजिये कि भोजन करने के पश्चात भी, यदि शरीर में किसी पोषक तत्व की कमी रह जाती है, तो वह सब दूध से पूरी हो जाती है। अपने स्वास्थ्यप्रद गुणों के कारण ही यह ज्यादातर इंसानों का पसंदीदा आहार बना हुआ है। शरीर को रोगों से बचाने और उसे लम्बे समय तक स्वस्थ रखने में, दूध के पोषक तत्वों की अहम् भूमिका है। अब हम आपको दूध के उन Health Benefits के बारे में बतायेंगे जिनके लिये यह प्रसिद्ध है।

1. विटामिन्स और मिनरल्स का शानदार स्रोत है दूध

Milk is The Source of Vitamins and Minerals in Hindi: दूध उन विटामिनों का प्रचुर स्रोत है जो शरीर की कई जैविक क्रियाओं (Biochemical Process) को संपन्न करने के लिये अनिवार्य है। लगभग सभी वसा में घुलनशील विटामिन्स (Fat Soluble Vitamins) जैसे कि A, D, E, और K दूध में पाये जाते हैं। दूध में आँखों की ज्योति के लिये आवश्यक विटामिन A की भी प्रचुर मात्रा पाई जाती है। गाय के दूध में तो कैरोटीन नामक तत्व भी पाया जाता है जो और भी ज्यादा फायदेमंद है।

इसके अतिरिक्त दूध थायमिन, रिबोफ्लेविन और विटामिन B12 का भी अच्छा स्रोत है। इसमें थोड़ी मात्रा में नियासिन, पैंटोथेनिक एसिड, विटामिन B6, विटामिन C और फोलेट भी पाया जाता है। शरीर के लिये विटामिन कितने आवश्यक हैं, इसके बारे में आप Health Benefits of Vitamins in Hindi में पहले ही पढ़ चुके हैं।

दूध में शरीर के लिये आवश्यक प्रायः सभी Major और Trace Minerals होते हैं, जैसे – कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस, सोडियम, आयोडीन, आयरन, जिंक और मौलिब्लेडीनम आदि। Minerals हमारे शरीर के लिये क्यों जरुरी होते हैं यह आप Health Benefits of Essential Minerals में पढ़ सकते हैं।

 

2. कुदरत में पाया जाने वाला सम्पूर्ण भोजन है दूध

Milk is The Complete Food in Hindi: दूध एक सम्पूर्ण भोजन है, जिसमे लगभग हर वह चीज़ उपस्थित है जिसकी मनुष्य शरीर को आवश्यकता है। फिर चाहे वह आँखों के लिये आवश्यक विटामिन A हो या फिर खून बढाने के लिये आवश्यक विटामिन B। तंत्रिका तंत्र के लिये आवश्यक पोटैशियम हो या पेशीय तंत्र के लिये जरुरी मैग्नीशियम। शरीर की वृद्धि, पुष्टि और मरम्मत करने के लिये प्रोटीन, वसा और अनेकों चीज़ें दूध में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं।

साधारणतया दूध में 85 प्रतिशत जल होता है और शेष भाग में ठोस तत्व यानी खनिज व वसा उपस्थित होते है। दूध प्रोटीन, खनिज, वसा और विटामिन्स का उत्तम स्रोत है। इसमें लगभग सभी जरुरी खनिज और विटामिन्स पाये जाते हैं। इसके अलावा इसमें कई एंजाइम और कुछ जीवित रक्त कोशिकाएं (अगर दुग्ध ग्रंथियाँ क्षतिग्रस्त हों) भी हो सकती हैं।

3. हड्डियों को मजबूत बनाता है दूध

Milk Strengthens Bones in Hindi: दूध कैल्शियम और विटामिन D दोनों का प्रचुर स्रोत है और हड्डियों की मजबूत संरचना और उनके उचित विकास के लिये, इन दोनों की अनिवार्य रूप से आवश्यकता होती है। क्योंकि शरीर में कैल्शियम का अवशोषण, विटामिन डी की मदद से ही होता है। हड्डियों से संबंधित रोग जैसे ओस्टियोपोरोसिस आदि को, जो अक्सर प्रौढ़ावस्था या वृद्धावस्था में ही होता है, समय रहते प्रतिदिन नियमित रूप से दूध लेने से रोका जा सकता है।

यह भी देखा गया है कि हड्डियों में फ्रैक्चर की समस्या होने पर, दूध नहीं पीने वाले लोगों की तुलना में, दूध पीने वाले लोगों की चोट में ज्यादा तेजी से सुधार होता है, बशर्ते वह Pills के रूप में कैल्शियम और विटामिन की अतिरिक्त खुराक न लें रहे हों।

4. दिल के लिये भी बहुत फायदेमंद है दूध

Milk Betters Heart Health in Hindi: दूध मनुष्य के ह्रदय के लिये भी लाभदायक है। रीडिंग विश्वविद्यालय, कार्डिफ विश्वविद्यालय और ब्रिस्टल विश्वविद्यालय जैसे तीन प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों द्वारा किये गये एक शोध के अनुसार, प्रतिदिन दूध पीने से CHD (Coronary Heart Disease) और दिल के दौरे (Heart Stoke )जैसी खतरनाक दिल की बीमारियों से, रोगी के मरने का खतरा 15-20% तक कम हो सकता है।

यह निर्णय Milk Consumption की 324 स्टडी के आधार पर निकाला गया है, जिन्हें प्रोफेसर पीटर एलवुड (Cardiff University) ने Reading University के प्रोफेसर इयान गिविंस के साथ मिलकर संपन्न किया है। इसके अतिरिक्त दूध एथेरोस्केलोरोसिस (Atherosclerosis) और अन्य Cardiovascular Disease में भी काफी लाभप्रद हैं। सावधानी के लिहाज से गाय का दूध पीना सर्वोत्तम है, क्योंकि इसमें वसा की मात्रा काफी कम होती है।

5. शरीर में तरल पदर्थों को संतुलित रखता है दूध

Milk Balances Body Fluids in Hindi: शरीर को स्वस्थ रखने के लिये जल कितना आवश्यक है ,यह हम Health Benefits of Water in Hindi में पहले ही बता चुके हैं। मनुष्य शरीर में हर समय Metabolism की अनेकों क्रियाएँ चलती रहती हैं। शारीरिक तरल (Body Fluids) का Balance Maintain करने के लिये, हमें प्रतिदिन 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिये। चूँकि दूध में 85 से 90% तक पानी होता है, इसीलिये यह शरीर में लवणों का आवश्यक संतुलन बनाये रखने में मदद करता है।

20 Incredible Benefits of The Milk in Hindi

6. त्वचा को जवां और तरोताजा बनाये रखता है दूध

Milk Vitalize The Body Skin in Hindi: दूध में लैक्टिक अम्ल पाया जाता है जो त्वचा की Dead Cells (मृत कोशिकाओं) को हटाने में सहायक होता है। इस तरह यह Skin को एक नया जीवन प्रदान करता है और उसे हमेशा जवां और तरोताजा बनाये रखता है। इसके अलावा दूध एंटीऑक्सीडेंट्स का भी प्रचुर स्रोत है जो हमारे शरीर के अन्दर Metabolism (चयापचय) की प्रक्रिया के दौरान, पैदा होने वाले खतरनाक फ्री रेडिकल्स को खत्म करते हैं।

इस तरह यह त्वचा पर असमय पड़ने वाली झुर्रियों और त्वचा की जीर्णावस्था को रोकते हैं। दूध का सौंदर्य प्रसाधनों में उपयोग प्राचीनकाल से होता आया है। हल्दी और दूध का उबटन या फिर त्वचा पर दूध की मलाई का लेप करना इसके प्रचलित प्रयोग हैं, जिनसे हर कोई वाकिफ है। सर्दियों में त्वचा की ड्राईनेस को दूर करने और इसे फटने से बचाने के लिये दूध और इसकी वसा बहुत गुणकारी है।

दूध की मलाई से त्वचा पर मालिश करने से त्वचा न सिर्फ कोमल और मुलायम होती है, बल्कि इसकी रंगत भी निखरती है। अगर आप तेज धूप से बचना चाहते हैं तो दूध की मलाई और गुलाबजल को मिलाकर चेहरे पर मलें। यह किसी सनस्क्रीन की तरह से काम करेगी। इसके अलावा दूध की मलाई और शहद को मिलाकर चेहरे पर लेप करने से भी फायदा होता है।

क्या आप जानते हैं कि दूध में स्नान करना कितना लाभदायक है? अगर नहीं तो प्राचीन इतिहास में भारतीय राजकुमारियों और मिस्र की रानी क्लियोपेट्रा की खूबसूरती के रहस्यों की कहानी को पढ़कर, आप भी जान जायेंगे कि त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाने के लिये यह कितना फायदेमंद है।

7. मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है दूध

Milk Improves Your Mental Health in Hindi: दूध आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिये भी बहुत फायदेमंद है, विशेषकर मानसिक रूप से परिश्रम करने वाले विद्यार्थियों और पेशेवरो के लिये तो यह अनिवार्य आहार है। क्योंकि इसमें Brain के लिये फायदेमंद अच्छा कोलेस्ट्रोल होता है जो मस्तिष्क के न्यूरोंस की संरचना और कार्यक्षमता को बेहतर बनाता है।

इसके अलावा दूध में उपस्थित विटामिन और मिनरल्स तनाव को कम करने (Stress Reliever) का काम भी करते हैं। तो जब कभी भी आप ऑफिस से थके-हारे घर लौटें, तो बस एक गिलास दूध बैठकर, शांति के साथ पीयें। आप थोड़ी ही देर में तरोताजा और ज्यादा बेहतर महसूस करने लगेंगे।

इंटरनेशनल डेयरी जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, यूनिवर्सिटी ऑफ मायने में किए गए एक शोध से यह सिद्ध हो चूका है कि जो लोग रोजाना कम से कम एक ग्लास दूध पीते हैं, वे उन लोगों की तुलना में हमेशा मानसिक और बौद्धिक तौर पर बेहतर स्थिति में होते हैं, जो दूध का सेवन नहीं करते।

8. तुरंत शक्ति और उर्जा देता है दूध

Milk is Potential Source of Energy in Hindi: दूध में कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) का प्रचुर भंडार होता है, जो शरीर को तुरंत शक्ति और बल प्रदान करता है। किसी भारी शारीरिक कार्य को करने पर या कठोर मानसिक परिश्रम करने के उपरांत पैदा हुई थकान को दूर करने के लिये, दूध एक शक्तिदायक पेय है।

यह ग्लूकोन डी या फलों के जूस (Fruit Juice) का एक बहुत ही अच्छा विकल्प है, या यह कहें कि यह उनसे भी ज्यादा बेहतर है। क्योंकि दूध अपनी Energy उनकी तुलना में थोड़ी धीमी गति से Release करता है जिससे व्यक्ति की Energy Requirement और ज्यादा लम्बे समय के लिये पूरी हो सकती हैं।

9. आपके दाँतों को मजबूत और चमकदार बनाता है दूध

Milk Makes Teeth Strong in Hindi: हड्डियों की ही तरह, दूध दाँतों के लिये भी बहुत अच्छा माना जाता है। यह दाँतों की बाहरी सुरक्षा परत (Outer Enamel Coating) की अम्लीय चीज़ों से सुरक्षा करता है, जिससे हमारे मसूड़े और दांत लंबे समय तक मजबूत और स्वस्थ बने रहते हैं।

ध्यान दीजिये पेप्सी, कोका-कोला जैसे Soft Drinks/Cold Drinks हमारे दाँतों के लिये बिल्कुल भी अच्छे नहीं होते हैं, क्योंकि यह दांतों की इस परत को खराब करते हैं। इसके अलावा दूध, कैविटी और दाँतों के क्षरण की समस्या को भी दूर करता है

10. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है दूध

Milk is A Great Immunity Booster Food in Hindi: दूध एक शक्तिशाली प्रतिरक्षा संवर्धक (Potential Immunity Booster) आहार है। Bacterial Disease और Viral Infection से बचाव करने के लिये एक Strong Immune System का होना बहुत जरुरी है। दूध (विशेषकर गाय का) अपने उच्च इम्यूनोग्लोब्युलिन संघटन (Immunoglobulin Content: IgA, IgG, IgM) के कारण, अनेकों पैथोजेन जैसे रोग फैलाने वाले Bacteria और Virus से Human Body का बचाव करता है।

20 Wonderful Benefits of The Milk in Hindi

11. एड्स के वायरस से बचाता है दूध

Milk Prevents HIV Infection in Hindi: मेलबर्न विश्वविद्यालय (University of Melbourne) के वैज्ञानिकों द्वारा संपन्न हुए एक शोध, Cow’s milk prevent HIV के अनुसार, गाय के दूध में उपस्थित एंटीबाडीज खतरनाक HIV Infection से हमारी सुरक्षा कर सकती हैं। एंटीबाडी वह प्रोटीन होते हैं, जिनका इम्यून सिस्टम, बैक्टीरिया और वायरस की पहचान करने और फिर उन्हें ख़त्म करने में इस्तेमाल करता है।

यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने यह प्रयोग, कुछ गर्भवती गायों के छोटे समूह पर किया था। उन्होंने गाय के प्रथम दूध जिसे खीच या कोलेस्ट्रम कहते हैं, पर यह स्टडी की थी। उन्होंने पाया कि गर्भवती गायों में अपने पहले दूध में एंटीबाडीज की ज्यादा मात्रा उत्पन्न करने की शक्ति होती है, हालाँकि दूसरे और तीसरे दूध में इनकी संख्या कम होती जाती है।

एसोसिएट प्रोफेसर डेमियन पर्केल का कहना है कि अगर जन्म के तुरंत बाद बछड़े को पहले दूध के यह पहले एंटीबाडीज नहीं मिलते हैं, तो उसके संक्रमित होने और मरने की काफी संभावना रहती है। एड्स के वायरस HIV के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसके कई अलग-अलग स्ट्रेंस होते हैं।

यहाँ तक कि एक ही व्यक्ति के शरीर में इसके सैकड़ों-हजारों अलग-अलग जेनेटिक वर्जन पैदा हो जाते हैं और बहुत ही थोड़े से लोगों का शरीर, इतने एंटीबाडी बना सकता है जो इन सबकी एक साथ पहचान कर सकें। गाय के दूध में उपस्थित एंटीबाडीज की मदद से, शरीर में एंटीबाडीज की विशाल मात्रा पैदा की जा सकती है और इस रोग से लड़ने में बहुत हद तक मदद मिल सकती है।

 

12. अम्लपित औरर सीने की जलन को दूर करता है दूध

Milk is A Good Acidity Regulator in Hindi: कभी-कभी कुछ लोगों में अम्लपित्त की अधिकता के कारण, पेट और सीने में जलन की शिकायत पैदा हो जाती है। यह जलन खाली पेट भी हो सकती है, ऐसे में व्यक्ति की भूख भी मर जाती है। जिन्हें यह समस्या हो, वह आधा-आधा गिलास ठंडा दूध (10-15 °C) दिन में 3 बार पीयें। यह समस्या दूर हो जायेगी, बशर्ते कोई अन्य स्वास्थ्य समस्या न हो।

यह प्रयोग हमारा अनुभव किया हुआ है, लेकिन ध्यान रखिये कि इसमें सिर्फ गाय और बकरी के दूध का ही प्रयोग करना चाहिये। क्योंकि भैंस के दूध का पाचन देरी से होने के कारण, वह हानिकारक होता है। इसके अलावा आधे गिलास कच्चे दूध में, इतना ही पानी और 2 पिसी हुई छोटी इलायची मिला लें, इससे भी अम्लपित्त में लाभ होगा।

13. कैंसर जैसे जानलेवा रोग की रोकथाम करता है दूध

Milk Prevents Cancer in Hindi: दूध कैसर के आक्रमण को रोकता है, यह कुछ लोगों को सुनने में विचित्र लग सकता है। लेकिन कुछ Research के अनुसार, दूध आँतों के कैंसर (Colon Cancer) और गदूद के कैंसर (Prostate Cancer) को रोकने में प्रभावी भूमिका निभाता है। क्योंकि इसमें उपस्थित एंटीबाडीज, Cancer Cells को ख़त्म करते हैं, विशेषकर गाय का प्रथम दूध जिसे आम भाषा में खीच भी कहते हैं।

14. वजन को नियंत्रित रखने में कारगर है दूध

Milk Helps in Weight Management in Hindi: कई शोध में यह सिद्ध हुआ है कि जो स्त्रियाँ रोजाना दूध पीती हैं, उनका वजन दूध नहीं पीने वाली स्त्रियों की तुलना में, कहीं ज्यादा तेजी से कम होता है। चिंता मत कीजिये, यह नुस्खा सिर्फ मोटापे से पीड़ित स्त्रियों के लिये ही है। अन्यथा दूध व्यक्ति को स्वस्थ और सबल ही बनाता है। सभी जानते हैं कि लड़कियों और स्त्रियों को दूध कम ही रास आता है। लेकिन उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिये, क्योंकि वह स्वास्थ्य के लिये बेहद जरुरी आहार को छोड़ रही हैं।

15. मेनोपॉज के बाद की समस्याओं को दूर करता है दूध

Milk Reduces PMS Symptoms in Hindi: 50 की उम्र के बाद की वह स्त्रियाँ जो मेनोपॉज की अवस्था से गुजर रही होती हैं, उनमे अक्सर पोस्ट मेनौपाज के बाद पैदा होने वाली समस्याओं के लक्षण प्रकट होने लगते हैं। इनमे चिडचिडापन, निराशा, अवसाद, शारीरिक बेचैनी जैसी समस्याएँ प्रमुख हैं। कई शोध में पाया गया है कि दूध शरीर को रिलैक्स करके, इन परेशानियों को दूर करने में मदद करता है और मासिक धर्म की अनियमितता भी।

Surprising Benefits of Milk in Hindi दूध के फायदे

16. पुरुषों के शरीर में बल और वीर्य की वृद्धि करता है दूध

Milk Improves Sexual Stamina in Men in Hindi: दूध एक शक्तिवर्धक पेय है और पुरुषों के प्रजनन संस्थान पर इसका बड़ा असर पड़ता है। यह न सिर्फ शरीर में वीर्य की मात्रा बढाता है, बल्कि प्रजनन अंगों को भी बल देता है। यह पुरुषों की यौन शक्ति (कामोत्तेजक शक्ति) को बढ़ाने वाला आहार है और इसका कई प्रकार से प्रयोग किया जाता है। जैसे दूध में शहद मिलाकर पीने से बल और वीर्य की वृद्धि होती है, दूध में रोजाना 4-5 छुहारे डालकर खाने से यौन शक्ति का विकास होता है।

अगर गर्म दूध में घी, शहद और मिश्री डालकर, इसका 30 दिनों तक सेवन किया जाय, तो नपुंसकता, शीघ्रपतन, और दूसरे यौन रोग दूर होते हैं, शरीर में स्फूर्ति आती है और स्टेमिना बढ़ता है। सर्दियों में यह प्रयोग विशेष रूप से लाभदायक है। 300 मिली दूध को गर्म करके उसमें केसर की 5-7 पत्तियाँ, मिश्री और पिसी हुई इलायची अच्छी तरह से मिलायें।

फिर इसे सुबह के समय खाली पेट या रात को सोते समय पीयें। ऐसा करने से नामर्दी दूर होती है, शरीर में ताकत आती है, शारीरिक क्लांति और निर्बलता से छुटकारा मिलता है। जिन लोगों के शरीर में झूरी सी आई रहती है, उन्हें भी लाभ होता है। रात के समय पिया जाने वाला दूध विशेष रूप से लाभप्रद होता है, क्योंकि यह बुद्धिवर्द्धक, वीर्यवर्धक, क्षयरोग नाशक, और यौवन की प्राप्ति कराने वाला होता है।

17. शरीर को सुडौल और ताकतवर बनाता है दूध

Milk is A Great Body Builder in Hindi: दूध शरीर को शक्ति देने के साथ-साथ, उसे बलिष्ठ भी बनाता है। इसमें उपस्थित प्रोटीन और वसा शरीर को पुष्ट और सुडौल बनाती है। दूध का सेवन करने से माँसपेशियों की वृद्धि होती है, इसलिये कई एथलीट वर्कआउट करने से पहले दूध पीना पसंद करते हैं। इसके अलावा दूध माँसपेशियों की रुक्षता को भी रोकता है और शारीरिक कामों को करने के दौरान निकले तरल की पूर्ति करता है।

शारीरिक रूप से कमजोर लोगों के लिये दूध पीना विशेष रूप से लाभदायक है। क्योंकि कमजोर पाचन शक्ति वाले लोगों के लिये शुद्ध वसा जैसे घी आदि पेट के रोगों का कारण बन सकती है। लेकिन दूध इन लोगों को भी सही प्रकार से पच सकता है। ऐसे लोगों के लिये गाय का दूध सर्वोत्तम है, क्योंकि भैंस का दूध पचने में थोडा भारी होता है।

18. शिशुओं का एकमात्र आहार है दूध

Milk is The Only Food for Babies in Hindi: वैसे तो दुनिया में बहुत से आहार हैं और मनुष्य अपनी इच्छानुसार उन्हें चुनने के लिये स्वतंत्र है, लेकिन नवजात और 6 मास तक की आयु के शिशुओं के लिये, आहार का कोई विकल्प नहीं है और उन्हें अपने शरीर के लिये जरुरी समस्त पोषण दूध से ही हासिल करना पड़ता है।

क्योंकि उनका निर्बल और अविकसित शरीर दूसरे आहारों को नहीं पचा सकता है, फिर चाहे वह अपनी माता का दूध पीये या दूसरे जानवरों का। प्रायः नवजात शिशु तब तक दूध पर ही निर्भर रहता है जब तक कि वह अन्य पदार्थों का सेवन करने में सक्षम नहीं हो जाता।

19. अच्छी नींद लाने में मदद करता है दूध

Milk Treats Insomnia in Hindi: आजकल अनिद्रा का रोग तेजी से बढ़ता जा रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि दूध आपकी इस समस्या को भी दूर कर सकता है। क्योंकि दूध में उपस्थित एमिनो एसिड्स मस्तिष्क को शांत करने और नाड़ियों के तनाव को कम करने में मदद करते हैं। अच्छी नींद लाने के लिये आधा या एक चम्मच गाय का घी, प्रतिदिन हलके गरम दूध में मिलाकर सोने से पहले पियें।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •