Coconut Water, Oil and Milk Benefits in Hindi with Images

 

“सेहत के लिये जरुरी तत्वों से भरा नारियल, सारी दुनिया के लोगों की पसंद है। जो शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढाने के साथ-साथ, दिल, दिमाग, हड्डियों, आँखों, पेट और त्वचा से सम्बंधित, कई स्वास्थ्य समस्याओं को भी दूर कर सकता है। यह एक शानदार पेय है जो प्यास बुझाने के साथ-साथ, एनर्जी ड्रिंक का भी काम करता है।”

 

Coconut Water, Oil and Milk Benefits in Hindi
बहुत गुणकारी है नारियल

What is Coconut in Hindi आखिर क्या है नारियल

Coconut Water and Oil Benefis in Hindi में आज हम आपको नारियल के फायदों के बारे में बतायेंगे। नारियल, ताड़ वृक्ष के ही परिवार का सदस्य है। यह एक पतला और ऊँचा वृक्ष है जो सागर के निकट तटीय इलाकों में पाया जाता है। इसके पेड़ को कोकोनट ट्री के नाम से भी पुकारा जाता है। नारियल एक हर दिल अजीज फल है जिसे बच्चे से लेकर बूढ़े तक खाना पसंद करते हैं।

नारियल का कच्चा फल हरे रंग का होता है, जिसे हरा नारियल भी कहते हैं। हरा नारियल रिफ्रेशमेंट ड्रिंक के रूप में ताजा ही तोड़कर पिया जाता है। इसके भीतर भरा नारियल पानी, स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिये फायदेमंद भी होता है। चूँकि यह शीतल प्रकृति का होता है, इसलिये लोग गर्मी और उमस से पैदा होने वाली थकान को दूर करने के लिये इनका खूब सेवन करते हैं।

जब नारियल का फल सूख जाता है तब इसका खोल कड़ा हो जाता है और इसका रंग भी हरे के स्थान पर भूरा हो जाता है। नारियल को फोड़ने पर सबसे पहले इसमें जटा जैसा आवरण निकलता हैं। उसके पश्चात एक कठोर खोल तोड़कर, तब उसके अन्दर से, नारियल की गिरी को अलग किया जाता है।

Coconut Fruit in Hindi नारियल की सामान्य जानकारी

कच्ची गिरी का रंग एक तरफ से हल्का काला-भूरा और दूसरी तरफ से दूधिया सफ़ेद रंग का होता है। जबकि पक्की नारियल की गिरी शंकु जैसी और भूरे-सफ़ेद रंग की होती है। सूखे या पके नारियल से तेल निकाला जाता है, जिसका इस्तेमाल बहुत सारी चीजों में किया जाता है। इंडोनेशिया, नारियल का सबसे बडा उत्पादक देश है जो हर साल लगभग 19 करोड़ टन नारियल पैदा करता है। इसके पश्चात फिलीपिंस, भारत, ब्राजील और श्रीलंका का स्थान आता है।

नारियल को इसके गुणों और पोषक तत्वों के कारण, पाश्चात्य जगत में एक्सोटिक फ्रूट (Exotic Fruit) माना जाता है। तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोग तो पानी के स्थान पर ज्यादातर नारियल पानी ही पीते दिखायी देते हैं। उनके ऐसा करने की वजह भी आसानी से समझ में आ जाती है, क्योंकि नारियल पानी, प्रकृति में मौजूद सबसे अच्छे तरल में से एक है और यह जल का सर्वश्रेष्ठ विकल्प है।

कोकोनट वाटर की एक खास बात और है। इसमें कैलोरी तो काफी कम होती है, लेकिन साथ ही कई प्रकार के विटामिन्स और मिनरल्स भी पाये जाते हैं। जो प्यास तो बुझाते ही हैं, शरीर को भी पोषण देते हैं। नारियल में सभी महत्वपूर्ण विटामिन्स के अलावा, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, और दूसरे खनिज तत्व प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं।

Nutritional Facts about Coconut Fruit in Hindi

यह हैं नारियल में उपस्थित पोषक तत्व

नारियल की प्रकृति (तासीर) ठंडी होती है। इसका पानी हल्का, प्यास बुझाने वाला, अग्निप्रदीपक, वीर्यवर्धक तथा मूत्र संस्थान के लिए बहुत उपयोगी होता है। आज हम आपको नारियल के पानी, तेल और फाइबर के फायदों के बारे में बतायेंगे, पर सबसे पहले नजर डालते हैं, इसमें पाये जाने वाले पोषक तत्वों के संघटन पर।

100 ग्राम नारियल गिरी में उपस्थित पोषक तत्वों की मात्रा इस प्रकार है –

Health Benefits of Coconut Water and Oil in Hindi

1. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है नारियल

Coconut Boosts Immune System in Hindi: नारियल शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढाने के लिये एक बहुत ही अच्छा फल है, क्योंकि इसमें जीवाणुरोधी (Antibacterial), फफूंदरोधी (Antifungal), विषाणुरोधी (Antiviral) और परजीवियों को नष्ट करने वाले (Anti-parasitic) तत्व होते हैं। यह तत्व शरीर को रोगग्रस्त करने वाले हानिकारक बैक्टीरिया, वायरस और फंगस को समाप्त कर देते हैं।

नारियल माइक्रोब्स (सूक्ष्म जीवाणुओं) से फैलने वाली अनेकों बीमारियों जैसे कि इन्फ्लुएंजा, गले के संक्रमण (Throat Infections), मूत्र संक्रमण (Urinary Tract Infections), फीताकृमि (टैपवर्म), हर्पीज, गोनोरिया, ब्रोंकाइटिस आदि को ठीक करने में मददगार होता है।

इसके लिये विशेष रूप से कच्चा नारियल और नारियल पानी ज्यादा लाभदायक हैं, क्योंकि यह शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने वाले तत्वों से भरपूर होते हैं। चिकित्सक बीमार लोगों को नारियल पानी पीने की सलाह भी इसीलिये देते हैं, क्योंकि यह जल्दी पचाने के साथ-साथ, उनके इम्युन सिस्टम को भी बेहतर बनाता है।

2. एक शानदार एनर्जी ड्रिंक भी है नारियल पानी

Coconut is A Great Energy Drink in Hindi: नारियल एक स्वास्थ्यवर्धक फल होने के साथ-साथ एक शानदार पेय भी है, जो प्यास बुझाने के साथ-साथ एनर्जी ड्रिंक का भी काम करता है। स्पोर्ट्समैन, एथलीटस, स्प्रिंटर, और कड़ी मेहनत करने वाले सभी लोग नारियल पानी की रेफ्रेशिंग पॉवर का फायदा उठा सकते हैं। कोकोनट वाटर की इसी खासियत का फायदा, स्पोर्ट्स ड्रिंक्स बनाने वाली कंपनियाँ भी उठाती हैं।

जो हर साल कई तरह की नेचुरल स्पोर्ट्स ड्रिंक्स बनाकर खूब कमाई करती हैं। जिम में वर्कआउट करने वाले वे लोग जो कसरत करने से पहले, अपने शरीर में उर्जा का स्तर बढ़ाने के लिये, कृत्रिम एनर्जी बूस्टर का इस्तेमाल करते हैं, वह भी कोकोनट वाटर से ताकत हासिल कर सकते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं, कसरत के बाद होने वाली थकान से बचने के लिये भी इसका सेवन किया ज़ा सकता है।

इसके अलावा कोकोनट, हमेशा रहने वाली थकान (क्रोनिक लिथार्जी) से भी बचाता है, क्योंकि इसमें उपस्थित वसा (ट्राइग्लिसराइड्स) शरीर की बढ़ी हुई उर्जा आवश्यकता को पूरा करती है। इसका यही गुण भूख से पैदा होने वाले दर्द को कम कर सकता है, क्योंकि यह कीटोन के रूप में चयापचयित होते हैं।

3. स्वास्थ्य के लिये बहुत ही फायदेमंद है नारियल

Coconut is Beneficial for The Health in Hindi: लौरिक एसिड की उपस्थिति के कारण, नारियल का पानी काफी पौष्टिक और स्वास्थयप्रद माना जाता है। यहाँ तक कि नारियल के दूध को पोषक तत्वों के मामले में माँ के दूध के बराबर माना जाता है। ऐसा मानने के पीछे उपयुक्त कारण भी हैं, क्योंकि कोकोनट वाटर स्टेराइल यानि जीवाणुमुक्त होता है, जिसके लिये इसकी फिल्टर जैसी भूसी/खोल जिम्मेदार है।

देखा जाय तो नारियल का पानी, एक समान स्तर में रक्त में उपस्थित, एक प्राकृतिक आइसोटोनिक पेय की तरह होता है। इसके अलावा इसमें प्रचुर मात्रा में साइटोकिन्स नामक प्रोटीन भी पाया जाता है, जो शरीर की कोशिकाओं की संख्या बढ़ाने में मदद करता हैं।

4. गर्भवती स्त्रियों के लिए बहुत अच्छा है नारियल

Coconut is Great Food for Pregnant Women in Hindi: जीवाणुओं से मुक्त और पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण, नारियल का पानी गर्भवती महिलाओं के लिए भी बहुत ही अच्छा माना जाता है। यह माँ और बच्चे दोनों की Immunity को बढाता है, उनके शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को संतुलित रखता है तथा संक्रमण दूर करते हुए कई बीमारियों का शिकार होने से बचाता है।

नारियल के पानी से भ्रूण के समग्र स्वास्थ्य में सुधार के लिए अमानोस्टिक तरल पदार्थ के स्तर को भी बढ़ाया जा सकता है। कुछ लोगों का तो यह भी मानना है कि गर्भावस्था में कोकोनट वाटर का सेवन करने से बच्चे की रंगत भी सुधरती है।

5. बुढ़ापे की रफ़्तार को धीमा करता है नारियल

Coconut Delays Ageing Process in Hindi: कोकोनट के एंटीऑक्सीडेंटस गुण बुढ़ापे की रफ़्तार को धीमा करते हैं, क्योंकि यह शरीर की हानिकारक फ्री रेडिकल्स से सुरक्षा करते हैं। नारियल में मौजूद साइटोकीनिन, किनेटिन और ट्रांस-व्हाटिन शरीर पर थर्मोमोटिक, कैंसररोधक और वृद्धावस्था विरोधी प्रभाव डालते हैं। इसके लिये कोकोनट वाटर पीने के साथ-साथ, अपनी त्वचा पर हर रोज नारियल तेल की कुछ बूँदों से हल्की-हल्की मालिश करें जो आपको सूखेपन की समस्या से भी दूर रखेगी।

6. ओरल हेल्थ प्रोब्लम्स को दूर करता है नारियल

Coconut Overcomes Oral Health Problems in Hindi: नारियल पानी में मोनोलॉरिन और लौरिक एसिड की उच्च मात्रा उपस्थित होती है। इसीलिये अगर कोकोनट वाटर से कुल्ला किया जाय, तो यह न सिर्फ बैक्टीरिया को मारकर, खराब साँस की समस्या (Oral Health Problems) को दूर करता है, बल्कि दाँतों के स्वास्थ्य को भी सही रखता है।

7. रक्त परिसंचरण को सुधारता है नारियल

Coconut Improves Blood Circulation in Hindi: अगर नियमित रूप से नारियल का सेवन किया जाय, तो त्वचा में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ जाता है और रक्त परिसंचरण सुधरता है। स्वस्थ शरीर के लिये हमारी कोशिकाओं को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है, जो स्वस्थ और सही रक्त परिसंचरण तंत्र से ही पूरी हो सकती है। जब शरीर में रक्त प्रवाह सही रहता है, तो इससे शरीर के अंगों में स्फूर्ति आती है और उन्हें एक नया जीवन मिलता है।

Amazing Health Benefits of Coconut in Hindi

8. कैंसररोधी गुणों से भरपूर फल है नारियल

Coconut is Enriched with Cancer Fighting Elements in Hindi: नारियल में कैंसर रोधी गुण भी पाये जाते हैं, अर्थात यह शरीर में कैंसर फैलने से रोकता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि नारियल का पानी, कोलोरेक्टल कैंसर (बड़ी आँत का कैंसर) और स्तन कैंसर की रोकथाम में प्रभावशाली सिद्ध हुआ है। इसके अलावा नारियल, त्वचा कैंसर को भी दूर रखता है।

जब नारियल तेल को शरीर और त्वचा पर मोस्चरॉइज़र के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, तो यह कुदरती तरीके से त्वचा को हाइड्रेट करता है। इस तरह से यह 20% कठोर अल्ट्रा वायलेट किरणों को अवरुद्ध करके त्वचा के कैंसर को रोकता है। इसके अलावा यह शरीर में लिपिड प्रोफाइल को भी सुधारता है।

9. अनिद्रा की समस्या को दूर करता है नारियल

Coconut Treats Insomania in Hindi: आज दुनिया में लाखों लोग अनिद्रा यानि नींद नहीं आने की समस्या के कारण पीड़ित हैं। नारियल इस बीमारी का एक सरल उपचार सिद्ध हो सकता है, क्योंकि अपने प्रशामक तत्वों के कारण, यह अनिद्रा की समस्या दूर करने में समर्थ है। इसके लिये रात को खाना खाने के कम से कम 1.5 या 2 घंटे बाद आधा गिलास नारियल का पानी पीयें। सिर्फ कुछ दिन तक ऐसा करने से ही, नींद न आने की समस्या दूर होने लगती है।

हालाँकि यह प्रयोग सफल हो, इसके लिये तनाव से बचना भी बहुत जरुरी है। अगर सिरदर्द के कारण नींद नहीं आती है, तो इसमें भी नारियल बड़ा कारगर है। इसके लिये नारियल के तेल में, बादाम का तेल मिलाकर सिर पर लगायें और अच्छी तरह से मालिश करें। इससे सिर के दर्द में तुरंत आराम मिलता है, हालाँकि यह दर्द सामान्य दर्द ही होना चाहिये।

10. पानी की कमी पूरी करके जानलेवा लू से बचाता है नारियल

Coconut Protects from Dehydration in Hindi: ताजे हरे नारियल का पानी (Coconut Water), गर्मियों की खतरनाक लू से बचाता है। क्योंकि इसमें जल के साथ-साथ पर्याप्त मात्रा में लवण (Electrolytes) भी होते हैं, जो आपके शरीर को तेज धूप और उमस में भी हाइड्रेट रखने में मददगार सिद्ध होते है।

नारियल का पानी एक बेहतर विकल्प इसलिये भी है, क्योंकि यह सादे पानी से अधिक स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर है। इसके अलावा जो लोग हमेशा नारियल के उत्पादों का उपयोग करते हैं, उनमें कई घंटों तक कुछ न खाने के बावजूद, हाइपोग्लाइसीमिया का कोई प्रभाव जल्दी से दृष्टिगोचर नहीं होता।

11. विटामिन और मिनरल्स से भरपूर है नारियल

Coconut is Full of Vitamins and Minerals in Hindi: दुनिया में ऐसी बहुत ही कम चीजें हैं जो स्वादिष्ट और लजीज होने के साथ पोषक तत्वों से भी भरपूर हों और नारियल इस शर्त को आसानी से पूरा करता है। यह फाइबर, विटामिन्स, मिनरल्स और एमिनो एसिड्स का शानदार स्रोत है। इसमें बहुत सारा कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम और साथ ही बहुत सारे इलेक्ट्रोलाईटस होते है। यह सभी तत्व शरीर के लिये आवश्यक अनिवार्य पोषक तत्व हैं।

12. माँसपेशियों के दर्द में आराम देता है नारियल

Coconut Leaves Treats Muscles Cramps in Hindi: एक अध्ययन में खुलासा हुआ है कि नारियल मसल्स क्रैम्प यानि माँसपेशियों के दर्द में भी आराम दिलाता है। इसमें नारियल के पेड़ के पत्ते एक प्रभावशाली औषधि हैं। जिन लोगों को मांसपेशियों में दर्द की शिकायत रहती है, अगर वह नारियल के पत्तों को तोड़कर, उन्हें पानी में उबालकर, फिर उस पानी का सेवन करें, तो उन्हें मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है।

इसके अलावा अगर नारियल के पत्तों को पानी में डालकर, फिर उस पानी से नहाया जाय, तो उससे भी मांसपेशियों के दर्द को कम किया जा सकता है। हालाँकि अभी नारियल के इस गुण पर और शोध होने बाकी हैं।

Great Health Benefits of Coconut Oil in Hindi

13. पाचन तंत्र के लिये फायदेमंद है नारियल

Coconut is Beneficial for Digestive System in Hindi: नारियल फाइबर का अच्छा स्रोत है, विशेषकर कच्चा नारियल। आहार विशेषज्ञों के अनुसार Dietary Fiber, मानव पाचन संस्थान (Digestive System) को स्वस्थ रखने के लिये बहुत आवश्यक होता है। यह न केवल आमाशय और आँतों की सफाई करता है, बल्कि कब्ज और मलावरोध जैसी समस्याओं को दूर करने में भी प्रभावी होता है।

सिर्फ इतना ही नहीं , नारियल पानी में मौजूद लोरिक एसिड, मेटाबॉलिज्म को भी बेहतर बनाता है। नारियल का तेल भी पाचन तंत्र को मजूबत बनाने का कार्य करता है, क्योंकि सरसों के तेल की तुलना में यह हल्का होता है। जिन लोगों का पाचन तंत्र कमजोर है, उन लोगों को नारियल तेल में बने हुए भोजन का सेवन करना चाहिये।

दरअसल नारियल के तेल में संतृप्त वसा (सैचुरेटेड फैट्स) की उच्च मात्रा होती है, जो सीमित मात्रा में नुकसानदायक नहीं होती। क्योंकि इसमें ट्राइग्लिसराइड्स (फैटी एसिडस) होते हैं जो मध्यम श्रंखला अणु होते हैं। यह शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। सूखे नारियल का सेवन करने से, पाचन सम्बंधित सभी समस्याओं से बचने में मदद मिलती है।

14. मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है नारियल

Coconut Improves Mental Health in Hindi: नारियल आपके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है और मस्तिष्क से संबंधित रोगों से बचाने में कारगर है। चूँकि कोकोनट एक कीटोनयुक्त भोजन है, इसलिये यह बच्चों में मिर्गी की समस्या को दूर करने में सहायता करता है। जिस भोजन में कार्बोहाइड्रेट कम होती है, लेकिन वसा ज्यादा होती है, उससे रक्त में कीटोन तत्व की सांद्रता बढ़ जाती है, जिससे मिर्गी से पीड़ित बच्चों को पड़ने वाले दौरों की संख्या में कमी आ जाती है।

इसके अतिरिक्त नारियल आपको स्मृति को भी बढ़ा सकता है। इसके लिये नारियल की गिरी को पीसकर, उसे बादाम, अखरोट और मिश्री के साथ मिलाकर, हर रोज खायें। ऐसा करने से एकग्रता की क्षमता में वृद्धि होती है और याददाश्त सुधरती है। अगर शुरुआत से ही बच्चों को नारियल खिलाना जाय, तो इससे उनका दिमागी विकास भी होता है। मस्तिष्क विकार जैसे अल्जाइमर पर भी नारियल का सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

15. बालों को पोषण और ताकत देता है नारियल

Coconut Shines Your Hair in Hindi: सिर्फ इतना ही नहीं नारियल का तेल, आपके बालों को भी स्वस्थ और चमकदार बनाता है। अपनी सरल संरचना के कारण, यह बालों की जड़ों में जाकर जल्दी से अवशोषित हो जाता है। क्योंकि यह कृत्रिम रूप से तैयार किये गये उन तेलों की तुलना में हल्का होता है, जिनका मुख्य घटक आम तौर पर पेट्रोलियम से निकलने वाला मिनरल आयल होता है।

कोकोनट आयल, हल्का होने की वजह से बालों को चिपचिपा भी नहीं बनाता। इसके अलावा सिर की खुश्की, रूसी और फियास से बचने के लिये भी नारियल का तेल बहुत फायदेमंद है। इसके तेल में नींबू का रस मिलाकर बालों में लगाने से, बहुत जल्दी रूसी से छुटकारा मिल जाता है और यह अपना आजमाया हुआ प्रयोग है।

16. हड्डियों और दाँतों को स्वस्थ व मजबूत बनाता है नारियल

Coconut Makes Bones and Teeth Healthy in Hindi: नारियल खाने से मजबूत और स्वस्थ हड्डियों तथा दाँतों का विकास होता है, क्योंकि यह शरीर की कैल्शियम और मैग्नीशियम की अवशोषण की क्षमता बढाता है। इसके अतिरिक्त यह ओस्टियोपोरोसिस नामक बीमारी की भी रोकथाम करता है, जिसमे हड्डियाँ भंगुर होकर अपना घनत्व खो बैठती हैं और उनकी हालत पतली तथा नाजुक हो जाती है।

नारियल का यह गुण इसे उन लोगों के लिये एक शानदार चॉइस बनाता है जो लैक्टोज इन्टोलरेंट होने के कारण दूध को नहीं पचा सकते हैं, पर फिर भी मजबूत दाँत और हड्डियाँ चाहते हैं। जानकारी के लिये बता दें 100 ग्राम नारियल में 14 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है।

17. स्वादिष्ट भोजन तैयार होता है नारियल तेल से

Coconut Prepares Delicious Food in Hindi: पके नारियल से तैयार किया जाने वाला नारियल तेल (Coconut Oil) न केवल एक Healthy Oil है, बल्कि इसमें बनाया भोजन भी काफी स्वादिष्ट होता है। यह सरसों के तेल, जैतून के तेल और अलसी के तेल का एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। जैसे उत्तर भारत में खाना बनाने में सरसों के तेल का व्यापक इस्तेमाल किया जाता है, ठीक उसी तरह से दक्षिण भारतीय राज्यों में नारियल तेल का इस्तेमाल होता है।

18. स्वादिष्ट मिठाइयाँ भी तैयार होती हैं नारियल से

Coconut Makes Sweet Dishes in Hindi: यदि आप नारियल को सिर्फ एक फल या मेवा ही समझते हैं, तो आप इसके महत्व को कम करके आँक रहे हैं। इससे स्वादिष्ट मिठाइयाँ तक बनायीं जाती हैं। आज उत्तर और दक्षिण भारत में कई स्थानों पर नारियल के स्वादिष्ट मोदक/लडडू बनाये जाते हैं। कहीं-कहीं पर नारियल की बर्फी भी बनायीं जाती है जो खाने में बहुत ही लजीज होती हैं।

Coconut Khane ke Fayde in Hindi नारियल के फायदे

19. स्किन से जुडी समस्याओं को दूर करता है नारियल

Coconut Treats Skin Problems in Hindi: नारियल त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। कोकोनट कई प्रकार के त्वचा रोगों (Skin Disorders) जैसे एक्जिमा (Eczema), सोरायसिस (Psoriasis), और डर्मेटाइटिस (Dermatitis) में औषधियों के साथ लिये जाने पर शीघ्र स्वस्थ होने में सहायता करता है, क्योंकि यह त्वचा की ड्राईनेस को दूर करके, उसे और ज्यादा फटने से बचाता है।

मुंहासों से छुटकारा पाने में भी नारियल बड़ा फायदेमंद है। इसके लिये कोकोनट आयल में, नींबू का रस अथवा ग्लिसरीन को मिलाकर चेहरे पर लेप करना चाहिये। अगर इस प्रयोग को करने से पहले चेहरे की त्वचा को हल्की गर्म भाप से मुलायम कर लिया जाय तो और फायदा होता है। विभिन्न त्वचा रोगों जैसे खाज-खुजली में नारियल के तेल में, नीबू का रस और कपूर मिलाकर प्रभावित स्थान पर लगाने से लाभ मिलता है।

चेहरे को दाग-धब्बों, और डार्क सर्किल्स से मुक्त करने के लिये, कोकोनट वाटर में खीरे का रस मिलाकर, चेहरे पर लगाना चाहिये। आम तौर पर नियमित रूप से 30 दिन तक ऐसा करने से दाग-धब्बे मिटने लगते हैं और चेहरे पर काफी ग्लो आ जाता है और वह सुन्दर दिखने लगता है। हालाँकि इन सौन्दर्य प्रयोगों में पित्त को कुपित करने वाली चीजों का सेवन नहीं करना चाहिये।

20. कई बीमारियों के इलाज में काम आता है नारियल

Coconut Trets Many Diseases in Hindi: नारियल अनेकों रोगों के उपचार में भोजन के साथ-साथ एक प्रमुख औषधि के रूप में भी काम करता है। विशेषकर गर्मी और पित्त से पैदा होने वाले रोगों के निवारण में यह बहुत लाभदायक है। चूँकि कोकोनट ऑइल में ऐसे जीवाणुरोधी गुण (एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज) होते है जो कई प्रकार के बैक्टीरिया, फंगस और परजीवियों से लड़ने में मदद करती है, इसीलिये नारियल संक्रमण से राहत दिलाता है।

विशेषकर गले के संक्रमण (Throat Infections), मूत्र मार्ग के संक्रमण (Urinary Tract Infections), हर्पीज (Herpes), सुजाक (Gonorrhea), श्वास (Bronchitis), और बवासीर (Piles) जैसे रोगों में यह बहुत लाभदायक सिद्ध होता है।

अगर पित्ताशय (गॉलब्लेडर), मूत्र संक्रमण (यूरिनरी इन्फेक्शन) और गुर्दों से जुड़ी बीमारी होने पर, नारियल के पेड़ की जड़ों को हल्के नमकीन पानी में उबाल कर पीया जाय, तो इन बीमारीयों में लाभ मिलता है। ऐसा करने के लिये, पहले पेड़ के नीचे की कुछ जमीन खोदकर, उसकी कुछ जड़ें तोड़कर निकाल लें और फिर उन्हें अच्छी तरह साफ़ करके काट लें।

21. मोटापे के नियंत्रण में कारगर है नारियल

Coconut Controls Obesity in Hindi: ज्यादातर लोग जानते ही हैं कि सभी वसाओं में पेट पर जमने वाली वसा सबसे ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि यह दर्जनों नयी बीमारियों को जन्म देती है। मोटापा कम करने में भी नारियल बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इसमें खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है और छोटे और मध्यम श्रृंखला के फैटी एसिड काफी ज्यादा होते हैं। यह वसा अम्ल वजन को नियंत्रित करते हैं।

उपर हम बता ही चुके हैं कि कोकोनट आयल दूसरे खाद्य तेलों की तुलना में, कहीं जल्दी पचता है, इसीलिये यह मोटापा नहीं बढ़ने देता। इसके अलावा यह थायराइड समेत, सभी अन्तःस्रावी ग्रंथियों (एंडोक्राइन ग्लैंड्स) पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। इसलिये अगर मोटे लोग, नारियल का सेवन करें तो वह अपने वजन को घटा सकते है।

एक अध्ययन के अनुसार, अगर 200 ग्राम नारियल का सेवन प्रतिदिन किया जाय, तो सिर्फ 60 दिन में ही BMI इंडेक्स और कमर की परिधि में पर्याप्त कमी आ जाती है। ताजे नारियल में जिंक भी भरपूर मात्रा में होता है और वैज्ञानिकों के अनुसार जिंक मोटापे से बचाता है। एक स्वस्थ वयस्क व्यक्ति के भोजन में प्रतिदिन 15 मिग्रा जिंक होना जरूरी है और नारियल हमें जिंक की आवश्यक मात्रा प्रदान करके मोटापे से बचाता है।

22. डायबिटीज के रोगियों के लिये फायदेमंद है नारियल

Coconut is Beneficial for People with Diabeties in Hindi: डायबिटीज के रोगियों के लिए भी नारियल काफी लाभदायक माना जाता है। क्योंकि कोकोनट आयल, रक्त में शर्करा के नियंत्रण में सहायक होता है। इसके अलावा नारियल एक हाई फाइबर डाइट भी है। हर 100 ग्राम नारियल में 9 ग्राम फाइबर होता है। इस फाइबर के कारण यकृत से होने वाला ग्लूकोज का उत्सर्जन धीमा हो जाता है, जिससे रक्त में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने नहीं पाता है।

इससे शरीर की कोशिकाएँ, कम इन्सुलिन उत्पन्न होने के बावजूद, पर्याप्त उर्जा पैदा कर लेती हैं। दूसरे अर्थों में कहा जाय, तो उच्च फाइबर युक्त भोजन अग्न्याशय और शरीर की एंजाइम प्रणाली को काम के ज्यादा दबाव से रहत दिलाता है और मधुमेह की समस्या के बढ़ने की रफ़्तार को मंदा करता है।

23. ह्रदय रोग व उच्च रक्तचाप में लाभ देता है नारियल

Coconut Helps in High Blood Pressure in Hindi: जो लोग हाई ब्लड प्रेशर यानि उच्च रक्तचाप की बीमारी से पीड़ित हैं, वह नारियल पानी की मदद से अपने हाई ब्लड प्रेशर पर नियंत्रण पा सकते हैं। इसके अलावा कोकोनट वाटर दिल के रोगियों के लिये भी काफी मुफीद होता है।

अगर रोज सुबह-सुबह नारियल पानी पिया जाय, तो न सिर्फ वजन कम होता है, बल्कि ब्लड प्रेशर भी सही रहता है। हृदय रोग का खतरा कम करने के लिए सूखे नारियल का सेवन करना चाहिये, क्योंकि सूखे नारियल में फाइबर ज्यादा होता है जो हृदय को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है।

24. गुर्दों की कई समस्याओं को दूर करता है नारियल

Coconut Treats Many Kidney Problems in Hindi: गुर्दों में पथरी होने पर, चिकित्सक अक्सर अपने रोगियों को नारियल पानी पीने का सुझाव देते हैं, क्योंकि इसमें मौजूद पोटैशियम गुर्दे की पथरी को घोलकर उसे बाहर निकाल देते हैं। हालाँकि यह इलाज सभी तरह की पथरियों में कारगर नहीं होता।

इसके अलावा अगर Kidney से संबंधित रोगों में, नारियल के फूलों (Coconut Flower) को पानी में उबालकर, उस पानी को पीया जाय, तो गुर्दों के कई रोगों में आशातीत लाभ होता है। क्योंकि इसमें मूत्रवाही संस्थान पर सकरात्मक प्रभाव डालने वाले तत्व होते हैं, विशेषकर मूत्र मार्ग के संक्रमण में यह बहुत असरदार है।

अधिक गर्मी के कारण, अगर मूत्र मार्ग में संक्रमण होने पर, पेशाब में रक्त आने लगे, तो कम से कम एक सप्ताह तक नारियल पानी का सेवन करना चाहिये। इसके सेवन से मूत्र में रक्त आना बंद हो जाता है।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •