What is The Meaning of DNA in Hindi

 

“मानव शरीर में DNA का कार्य, उस विशाल सूचना का संग्रह करना है जो किसी भी शरीरधारी प्राणी की जैविक क्रियाओं को निर्धारित करती है। DNA में वह अत्यंत महत्वपूर्ण सूचनाएँ होती हैं जो किसी प्राणी के विकसित होने, जीने और प्रजनन के लिये आवश्यक होती हैं। DNA एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में हस्तांतरित होता जाता है।”

 

Human DNA in Hindi
जिंदगी का ब्लूप्रिंट है डीएनए

DNA Meaning in Hindi क्या है डीएनए का अर्थ

DNA का अर्थ है – डी-ऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल (Deoxyribonucleic Acid), यह एक तंतुनुमा दोहरा अणु (Double Stranded Molecule) है, जिसमें जीवों की उत्पत्ति और विकास से जुडी बेहद महत्वपूर्ण जेनेटिक सूचनाएँ स्टोर रहती हैं। यूँ तो ईश्वर की हर कृति बेमिसाल है, लेकिन इंसान उसकी अद्भुत कारीगरी का नायाब उदाहरण हैं। हर रोज आप खुद को शीशे में निहारते हैं, अपने सुंदर, स्वस्थ और बलिष्ठ शरीर को देखकर प्रसन्न होते हैं।

यदि कभी कोई रोग आ घेरता है, तो आप चिकित्सक के पास जाकर उसका उपचार कराते हैं और हमेशा इस बात का ध्यान रखने का प्रयास करते हैं कि किस तरह आपका शरीर, एक लंबे वक्त तक, आपकी हर इच्छा को पूरा करने में अंतिम समय तक साथ दे। पर क्या कभी आपने सोचा है कि यह इतना बड़ा शरीर और इसके अद्भुत अंग किस प्रकार बने हैं?

माता-पिता संतान की उत्पत्ति में एक बहुत छोटी सी भूमिका निभाते हैं, फिर किस प्रकार से एक नये जीव की सृष्टि उसी आकार में होती है, जैसा समस्त मनुष्य जाति का नजर आता है। आखिर शरीर की वह सबसे आधारभूत संरचना क्या है जो शरीर का उसके पूर्वजों की देह के साद्रश्य ही पुनर्निर्माण करती है और वह भी बिना हमारे ज्ञान में आये, बिना किसी व्यवधान के।

DNA in Hindi मानव जीवन का ब्लूप्रिंट है डीएनए

DNA Meaning in Hindi: जीव विज्ञान के विद्यार्थी जानते हैं कि कोशिका ही, संपूर्ण मानव शरीर का मूल आधार है। हमारे शरीर का प्रत्येक अंग, हर छोटा-बडा हिस्सा, इसी कोशिका की वृहत इकाइयों से मिलकर बना है और सिर्फ इन्सान ही क्यों, धरती पर जितने भी सजीव प्राणी हैं, उनके अस्तित्व का बीज भी, इसी कोशिका के अंदर ही छिपा है। क्योंकि इसी कोशिका के केन्द्रक के भीतर उपस्थित है, मानव जीवन का ब्लूप्रिंट, जिसे दुनिया DNA के नाम से जानती है।

मानवजाति के लिये DNA की खोज कितनी महत्वपूर्ण थी, इसका पता इस बात से चलता है कि हर साल 25 अप्रैल के दिन World DNA Day मनाया जाता है। क्योंकि 25 अप्रैल 1953 के दिन ही, DNA अणु की रासायनिक संरचना की खोज हुई थी, जिसे आज हम डबल हेलिक्स के रूप में जानते हैं।

DNA या डी-ऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड, आपकी जेनेटिक संरचना का कोड है। आज हम आपको इसी डीएनए से सम्बंधित कुछ ऐसे तथ्य बतायेंगे, जिन्हें आप पहले से नहीं जानते होंगे। कृपया ध्यान दीजिये DNA Meaning and Facts in Hindi, आनुवंशिकता यानि जेनेटिक्स पर दिया जाने वाला पहला लेख है। इस क्षेत्र से संबंधित अन्य लेखों को पढने के लिये, नीचे दिये जाने वाले लिंक्स की सहायता लें –

Amazing Facts about The Human DNA in Hindi

मानव डीएनए की संरचना से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

1. डी-ऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड, जिसे आम तौर पर DNA के नाम से जाना जाता है और कुछ नहीं, बल्कि एक ऐसा अणु है जिसमें वह जेनेटिक सूचनाएं कोड (निबद्ध) होती हैं, जो एक सजीव जीवधारी के विकास और शक्ति को नियंत्रित करती है। आसान शब्दों में कहें तो DNA, एक प्राणी के जेनेटिक निर्माण से संबंधित सूचना को इकट्ठा करके रखता है। यह जेनेटिक सूचना, एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी को हस्तांतरित होती जाती है।

2. डीएनए की डबल हेलिक्स आकृति होती है जो कि एक घुमावदार सीढ़ी जैसी दिखती है। सीढ़ी का प्रत्येक चरण न्यूक्लियोटाइडस का एक जोड़ा होता है। प्रत्येक न्यूक्लियोटाइड में एक फास्फेट ग्रुप, डिऑक्सीराइबोस नाम का एक शुगर ग्रुप, और एक नाइट्रोजन बेस होता है।

3. भले ही DNA उस सारी सूचना को कोड करके रखता हो जो किसी प्राणी का निर्माण करती है, पर यह खुद सिर्फ चार मूल इकाइयों (चार आधार) से मिलकर बना होता है, जिन्हें न्यूक्लियोटाईडस कहते है। इन चार न्यूक्लियोटाइडोन को अडेनिन, ग्वानिन, थाइमिन और साइटोसिन कहा जाता है।

4. हर न्यूक्लियोटाइड एक नाइट्रोजन युक्त वस्तु है और इन न्यूक्लियोटाइडोन को एक फॉस्फेट के अणु से जोड़ते है।

DNA in Hindi क्या आप डीएनए के बारे में यह जानते हैं

5. DNA, लाल रक्त कोशिकाओं को छोड़कर, शरीर की लगभग सभी कोशिकाओं में उपस्थित होता है। हालाँकि सभी लाल रक्त कोशिकाओं की उत्पत्ति के समय, उनमे DNA उपस्थित होता है। लेकिन परिपक्व होने की प्रक्रिया के दौरान, वह अपने केन्द्रक को नष्ट कर देती हैं, क्योंकि अब उन्हें इसकी जरुरत नहीं होती।

6. अभी तक हम DNA की डबल हेलिक्स संरचना के बारे में जानते हैं, लेकिन हाल में वैज्ञानिकों ने, सजीव मानव कोशिकाओं (Human Cells) में डीएनए के दूसरे स्वरुप का भी पता लगाया है। इसे आई-मोटिफ (I-motif) का नाम दिया गया है और DNA की चार तंतु वाली गाँठ (Four-stranded Knot of DNA) के रूप में प्रदर्शित किया गया है।

7. एक जैसे जुड़वाँओं का एक जैसा जेनेटिक कोड होता है। लेकिन जैसे-जैसे वे बढ़ते जाते हैं, वातावरण और लाइफस्टाइल के कारक, उनके जीन की अभिव्यक्ति में अहम् भूमिका अदा करने लगते हैं। इसका अर्थ है कि वह एक जैसे दिखते हुए भी, अपने अन्दर सूक्ष्म बदलाव ला सकते हैं।

8. मानव शरीर में सिर्फ अंडाणु और शुक्राणु कोशिकाएँ ही, एकमात्र हैपलॉईड कोशिकाएँ होती हैं। सैद्धांतिक रूप से एक अंडे के जेनेटिक मैटर को एक पुरुष के DNA से बदला जा सकता है और फिर इसे शुक्राणु (Sperm) से निषेचित किया जा सकता है। यानि दो पुरुष, एक ही बच्चे के जैविक अभिभावक हो सकते हैं।

DNA in Hindi डीएनए में खराबी होने से होते हैं रोग

9. किसी प्राणी का डीएनए, प्रत्येक कोशिका में रोजाना लगभग 10 लाख बार क्षतिग्रस्त होता है, लेकिन यह डैमेज कोशिकाओं के डैमेज रिपेयर पाथवेज के माध्यम से लगातार सही होता रहता है। अगर शरीर DNA की मरम्मत करने में असफल हो जाय, तो इससे न सिर्फ कैंसर, बल्कि कोशिकाओं की मौत भी हो सकती है। इसी बात से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि शरीर में बदलाव की प्रक्रिया, हर क्षण आपकी कल्पना से भी कहीं ज्यादा तेज गति से होती रहती है और जिसका आपको कभी पता नहीं चलता।

10. अगर आपके कभी बॉन मेरो ट्रांसप्लांट हुआ हो, तो आपके रक्त में डोनर का डीएनए होगा। लेकिन आपकी लार और बालों का DNA आपका ही होगा। इस कारण से DNA Evidence के आधार पर, गलत लोगों की भी गिरफ्तारियाँ हुई हैं, क्योंकि कई देशों में क़ानून में डीएनए सैंपलिंग एक अहम् प्रमाण होता है।

11. कैंसर, मधुमेह, हीमोफीलिया और ऐसे ही कुछ दूसरे रोग DNA की खराबी के कारण, आगे आने वाली पीढ़ियों में भी संक्रमित हो सकते हैं। विशेषकर कैंसर के 70% से अधिक रोगों में, जीन की खराबी ही सबसे बडा कारण होती है।

12. घातक विकिरण जैसे सूर्य की तेज पराबैंगनी किरणे और आणविक विकिरण, हमारे DNA की संरचना को बदल सकते हैं, या स्थायी नुकसान पहुँचा सकते हैं।

Mind Blowing Facts about Human DNA in Hindi

क्या डीएनए से जुड़े होश उड़ाने वाले हैरतंगेज तथ्य जानते हैं आप

13. एक मानव डीएनए का सीक्वेंस, लगभग 3 अरब रासायनिक अक्षरों (इन्हें ही बेस कहते हैं) की एक चेन (श्रंखला) के रूप में प्रदर्शित होता है और यह डाटा की अत्यंत विशाल मात्रा है। अगर DNA सीक्वेंस को, किताबों में टाइप करके स्टोर करना हो और किताब के हर पेज पर 1000 अक्षर लिखे जांय, तो सिर्फ एक मानव कोशिका के डीएनए सीक्वेंस की सूचना को स्टोर करने के लिये, 1000 पेज की 3300 किताबों की जरुरत पड़ेगी।

14. मानव शरीर में 100,000,000,000,000 यानि 100 ट्रिलियन कोशिकाएँ होती हैं। अगर आप इन कोशिकाओं में स्थित समस्त डीएनए को निकालकर सीधा कर लें, यानि अगर आप अपने शरीर के सभी DNA अणुओं को एक-दूसरे के सिरों से जोड़ते चले जाँय, तो DNA इतना फ़ैल जायेगा कि इससे धरती से लेकर सूरज तक की दूरी को 1200 बार मापा जा सकता है।

15. अगर आप एक मिनट में 60 शब्द टाइप कर सकें, और हर रोज 8 घंटे तक यही काम करते रहें, तो मानव जीनोम को लिखने में आपको 50 साल लग जायेंगे।

16. आप सिर्फ एक व्यस्क बाल की चौड़ाई जितनी जगह में भी, डीएनए की 25 हजार स्ट्रेंड्स के सिरे से सिरे मिलाकर, फिट कर सकते हैं।

17. लगभग 2 ग्राम DNA में, इस दुनिया की सारी डिजिटल जानकारी स्टोर की जा सकती है।

DNA in Hindi अदभुत और अकल्पनीय है डीएनए की क्षमता

18. अगर आपके शरीर की सम्पूर्ण कोशिकाओं में समाहित DNA को निकालकर सीधा कर लिया जाय, तो यह 10 अरब किमी की दूरी तय कर लेगा और जानते हैं, यह दूरी कितनी है? इससे आप प्लूटो तक आने-जाने की दूरी आसानी से माप सकते हैं। जानकारी के लिये बता दें कि प्लूटो, Solar System का सबसे दूरस्थ स्थित ग्रह हुआ करता था।

19. निःसंदेह DNA एक लम्बी संरचना है, लेकिन अगर आप अपने बाल की चौड़ाई से इसकी तुलना करें, तो यह बेहद पतला होता है। जानकारी के लिये बता दें कि DNA के दोनों तंतु (Double Helix) सिर्फ 2.5 नैनोमीटर चौड़े होते हैं। जबकि मनुष्य के बाल का औसत व्यास 181 माइक्रोमीटर होता है। (1 मीटर = 10*9 नैनोमीटर और 10*6 माइक्रोमीटर)

20. डीएनए की डबल हेलिकल स्ट्रेंड्स, 20-26 एन्गस्ट्राम चौड़ी होती हैं और प्रत्येक न्युक्लियोटाइड यूनिट 3.3 एन्गस्ट्राम चौड़ी होती हैं। इसकी संरचना में एक बड़ा खाँचा और एक छोटा खाँचा रहता है।

21. हार्वर्ड विश्वविद्यालय के एक अध्ययन के अनुसार, एक ग्राम DNA में 700 टेराबाइट डेटा पूर्ण रूप से स्टोर किया जा सकता है।

DNA Length in Hindi कैसे जानें डीएनए की लम्बाई

22. आप शायद इस बात पर यकीन ना करें, लेकिन यह बिल्कुल सच है कि एक सामान्य स्तनधारी की कोशिका के अन्दर उपस्थित, डीएनए हेलिक्स (वर्तुल) की लम्बाई लगभग 2.2 मीटर होती है। DNA Helix की लम्बाई इस फ़ॉर्मूले से आसानी से पता लगायी जा सकती है –

आधार जोड़ों (Base Pairs) की कुल संख्या × दो निरंतर आधार जोड़ों के बीच की दूरी।

एक सामान्य स्तनधारी की कोशिका के सन्दर्भ में –
कुल आधार जोड़ों की संख्या = 6.6×109
दो निरंतर आधार जोड़ों के बीच की दूरी = 0.34×10-9
डीएनए की कुल लम्बाई = [6.6×109]X[0.34×10-9] = 2.224 मीटर

23. अब आप सोचेंगे कि आखिर यह सवा 2 मीटर लम्बा DNA, सिर्फ 2 माइक्रोमीटर लम्बे केन्द्रक में कैसे फिट हो जाता है। इसकी वजह है, डीएनए स्ट्रेंड्स का एक-दूसरे से बेहद कसकर गुंथा होना।

Facts about Animal and Human DNA in Hindi

इंसानों, पौधों और जानवरों के डीएनए से जुड़े अविश्वसनीय तथ्य

24. कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों का मानना है कि इंसानों का DNA, कीचड के कीड़े से मिलता-जुलता है और यह हमारा सबसे नजदीकी जेनेटिक संबंधी है। दूसरे शब्दों में कहें, तो किसी ऑक्टोपस, मकड़ी, या शेर की तुलना में आप, जेनेटिकली मड वर्म से ज्यादा मिलते-जुलते है।

25. आप अपने पास बैठे हुए इन्सान से 99.9 प्रतिशत तक मिलते हैं, क्योंकि इतने ही आधार जोड़े सभी इंसानों में एक जैसे ही होते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं, हम अपना बहुत सारा डीएनए, दूसरे जानवरों, पौधों और अन्य सूक्ष्म जीवाणुओं से भी बाँटते हैं।

26. आप यकीन नहीं करेंगे, लेकिन यह सच है कि इंसान का डीएनए, केले के डीएनए से 50% तक मिलता है। केलों के जीनोम में 36 हजार प्रोटीन कोडिंग जीन मिलते हैं, जो उससे कहीं ज्यादा हैं जिनकी संभावना इंसानों में व्यक्त की गयी है।

27. इंसानों में 1 से 4 प्रतिशत निएंडरथल डीएनए होते हैं, जबकि चिम्पैंजी से हमारी जेनेटिक संरचना, 94 से 98 प्रतिशत तक मिलती है।

Animal DNA in Hindi जानवरों के डीएनए से जुड़े तथ्य

28. जहर के स्थान पर, ब्रैकोनिड़ ततैया (Braconid Wasp) एक ऐसा वायरस (Immune-suppressing Virus) उत्पन्न करता है, जो उसके शिकार के शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को भेद देता है और इसके परजीवी लार्वा (Parasitic Larvae) को होस्ट के शरीर में घुसने में मदद करता है। अनुकूलन की यह प्रक्रिया, एक 10 करोड़ साल पुराने वायरस का परिणाम है, जिसने इस ततैये के DNA को इस कदर बदल दिया कि अब इसके शरीर में एक ऐसा अंग ही विकसित हो गया है, जिसका एकमात्र लक्ष्य सिर्फ इस वायरस को इकट्ठा करना है।

29. दुनिया में एक ऐसा, पानी में रहने वाला सूक्ष्म प्राणी (Microscopic Aquatic Animal) है, जिसका अस्तित्व लगभग 8 करोड़ साल पुराना है और जो पूरी तरह से मादाओं से बना है। इसका नाम है – डेल्लोइड रोटीफायर्स (Bdelloid Rotifers)। इस प्राणी ने दूसरे जीवों का DNAचुराया और फिर अपने खुद के ही जींस में म्यूटेशन करके, कुछ नये गुण पैदा किये। आज यह इतना सक्षम है कि 9 साल का सूखा भी बड़े आराम से झेल सकता है।

30. पहला क्लोन किया हुआ प्राणी एक भेड़ थी, जिसका नाम डॉली था। जिसे एक मादा भेड़ के नयूक्लिअर मटेरियल को, दूसरी मादा भेड़ के अंडाणु कोशिका में प्रविष्ट कराकर, क्लोन किया गया था।

31. इन्सान भले ही खुद-ब-खुद अपने खुद के जींस को कुदरती ढंग से न बदल सकें, लेकिन ऑक्टोपस ऐसा कर सकता है।

DNA Facts in Hindi इंसानों के डीएनए से जुड़े अनजाने राज

32. सन 2004 में एक बलात्कारी ने, DNA टेस्ट जैसी जाँच को भी धता बता दिया था। क्योंकि उसने एक दूसरे व्यक्ति के रक्त से भरी हुई ट्यूब को सर्जरी के द्वारा, अपनी बाँह में इम्प्लांट करा लिया था और फिर वह लैबोरेटरी के टैकनीशियनों को यह समझाने में सफल रहा कि वे उसके ब्लड का सैम्पल वहीँ से लें, जहाँ उसने वह ट्यूब छिपा रखी थी।

33. दुनिया में एक 18 वर्षीय शख्स ऐसा भी है, जो बचपन में चलना शुरू करने के बाद, फिर कभी न तो शारीरिक रूप से विकसित हुआ और न ही मानसिक रूप से। वैज्ञानिक उम्मीद जता रहे हैं कि एक दिन उसका डीएनए इन्सान की मौत के संबंध में कुछ गहरे राज खोलेगा।

34. जर्मनी की पुलिस, एक ज्वेल थीफ (रत्नचोर) को पकड़ने के बाद भी कोर्ट में उस पर, इसलिये मुकदमा नहीं चला सकी, क्योंकि उनके डीएनए सैंपल, दो एक-जैसे जुड्वाओं से बिल्कुल मिलते थे और उन दोनों ने ही अपराध को स्वीकारने से इंकार कर दिया था, इसीलिये दोनों ही छूट गये।

DNA Info in Hindi इनसे भी मिलता है इंसानों का डीएनए

35. वनमानुष, शारीरिक संरचना के आधार पर, मनुष्य के सबसे निकटवर्ती जीव माने जाते हैं। दरअसल इसके पीछे कारण छिपा है, इनके जीन की संरचना में। मानव का डीएनए, चिम्पैंजी के डीएनए, से 98% तक मेल खाता है।

36. हम चूहे से 92 प्रतिशत, फ्रूट फ्लाई से 51 प्रतिशतऔर जीवाणु से 18 प्रतिशत मिलते हैं।

37. किसी माता-पिता और उसके बच्चे का 99.5 प्रतिशत DNA, एक जैसा होता है।

38. आपका 98 प्रतिशत DNA, एक चिम्पैंजी (बनमानुष) से मेल खाता है।

39. इंसानों और बंदगोभी का 40 से 50 प्रतिशत DNA, एक जैसा होता है।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •