Wonderful Fruit Benefits: Figs in Hindi

 

“अंजीर (Fig) उन चुनिंदा फलों में से एक है जो स्वादिष्ट होने के साथ-साथ बहुत पौष्टिक भी हैं। यह स्मरण-शक्ति को बेहतर करता है, नाड़ियों को बल प्रदान करता है और शुक्र धातु को बढाता है। सिर्फ इतना ही नहीं अंजीर, मस्तिष्क, ह्रदय और पुरुष प्रजनन संस्थान के लिये भी बहुत अच्छा होता है।”

 

Fig Fruit Benefits in Hindi
पौष्टिक और बलवर्धक फल है अंजीर

What is Fig in Hindi आखिर क्या है अंजीर

Figs in Hindi: अंजीर, मानव इतिहास के कुछ सबसे प्राचीन फलों में से एक है। यह शहतूत (Mulberry) के परिवार का ही एक सदस्य है। इसका वैज्ञानिक या वानस्पतिक नाम, फिचस कैरिका (Ficus carica) है। अंजीर एक फल है जो अंजीर के वृक्ष (Ficus Tree) पर लगता है। अंजीर का पेड़ किसी बड़ी झाड़ी जैसा प्रतीत होता है और इसकी सामान्य ऊँचाई 7 से 10 मीटर तक हो सकती है।

अंजीर का मूल स्थान पश्चिमी एशिया को माना जाता है। यहीं से इसका प्रसार बाकी दुनिया में हुआ और आज यह लगभग अधिकांश देशों में उगाया जाता है। अंजीर का बाहरी छिलका हरे रंग का होता है, लेकिन पकने पर इसका रंग हल्का बैंगनी या भूरा हो जाता है।

इसका छिलका उतारने पर, अन्दर से सफेद रंग का गूदा निकलता है जो कई फाँकों के रूप में बंटा होता है। अंजीर का फल आकार में शंकु या नाशपाती जैसी आकृति वाला होता है। आम तौर पर अंजीर का फल (Fig Fruit in Hindi) हरे रंग का होता है, लेकिन यह सफेद, पीले, बैंगनी, लाल, हरे और काले रंग का भी हो सकता है।

Fig Fruit in Hindi अंजीर की सामान्य जानकारी

अंजीर मीठा, रसदार और गूदे से भरा फल है। इसका अनोखा स्वाद ही इसे दूसरे फलों की श्रेणी से अलग खड़ा करता है। वैसे तो अंजीर कई प्रकार का होता है, लेकिन इसकी चार वैरायटी मुख्य हैं – कैप्री फिग, जो सबसे प्राचीन है और जिससे अन्य अंजीरों की उत्पत्ति हुई है, स्माइर्ना, सफेद सैनपेद्रू और साधारण अंजीर।

भारत में मार्सेलीज़, ब्लैक इस्चिया, पूना, बँगलोर तथा ब्राउन टर्की नाम की किस्में प्रसिद्ध हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा अंजीर तुर्की में पैदा होता है। अंजीर में कई प्रकार के फायटोकेमिकल्स, जिनमे गाल्लिक एसिड, क्लोरोगेनिक एसिड, सिरिंजिक एसिड, कैटचिन एपिकटेचिन और रूटीन जैसे पोलीफिनोल्स भी शामिल हैं, प्रचुरता से पाये जाते हैं।

Nutritional Facts about Fig Fruit in Hindi

यह हैं अंजीर में उपस्थित पोषक तत्व

सूखे अंजीर में पोषक तत्वों की मात्रा ताजे फल की तुलना में अधिक होती है। जैसे कि ताजे अंजीर में सिर्फ 74 कैलोरी उर्जा होती है, लेकिन सूखे अंजीर में 249 कैलोरी उर्जा होती है जो कि लगभग 3.5 गुणा ज्यादा है। इसी तरह 100 ग्राम ताजे अंजीर में 0.3 ग्राम वसा होती है, जबकि इतने ही वजन वाले सूखे अंजीर में 0.9 ग्राम वसा होती है।

ताजे अंजीर में पोटैशियम 232 मिग्रा, जबकि सूखे में 680 मिग्रा पोटैशियम होता है। इसके अलावा यह विटामिन A, C, D, B-6, B-12, और पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स का प्रचुर स्रोत भी है। 100 ग्राम ताजे अंजीर में पाये जाने वाले पोषक तत्वों की मात्रा इस प्रकार है –

Amazing Health Benefits of Fig Fruit in Hindi

अंजीर एक पौष्टिक फल है और इसके इस बलवर्धक गुण के कारण ही इसका उपयोग, कृश शरीर को पुष्ट करने के लिये किया जाता है। सिर्फ इतना ही नहीं, अंजीर मस्तिष्क, ह्रदय और पुरुष प्रजनन संस्थान के लिये भी बहुत अच्छा होता है। आइये अब जानते हैं, अंजीर के अनोखे फायदों के बारे में –

1. विटामिन और मिनरल्स का शानदार स्रोत है अंजीर

Fig is A Great Source of Vitamins and Minerals in Hindi: अंजीर, हर उम्र के व्यक्ति के लिये उपयुक्त है। चाहे वह बच्चे, युवा, प्रौढ़ और वृद्ध क्यों न हों? इसका कारण है अंजीर में पाये जाने वाले Essential Minerals और Vitamins और साथ ही आसानी से पचने वाला फाइबर भी। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, मैंगनीज, विटामिन A, विटामिन B, विटामिन K और विटामिन C जैसे महत्वपूर्ण तत्व पाये जाते हैं।

इसके अलावा इसमें कई प्रकार के फायटोन्यूट्रीएंट्स (Phytonutrients) और एंटीऑक्सीडेंट्स भी पाये जाते हैं, जो शरीर की कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा करते हैं। 100 ग्राम सूखे अंजीर में 62 ग्राम शुगर, जबकि ताजे पके फल में 22 प्रतिशत शुगर होती है, जो इसे तुरंत शक्ति प्रदान करने वाला आहार बनाती है।

2. आपके दिल के लिये बहुत लाभदायक है अंजीर

Fig is Beneficial for Heart Health in Hindi: अंजीर ह्रदय रोगों में लाभदायक है, क्योंकि कुछ स्टडी के अनुसार शुष्क अंजीर, रक्त में ट्राइग्लिसराइड (Triglyceride) का स्तर घटा देता है। ट्राइग्लिसराइड वसा के वह तत्व होते हैं जो दिल की बीमारियाँ पैदा करने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। इसके अतिरिक्त अंजीर में पोलीफिनोल्स (Polyphenols) और ओमेगा-3 तथा ओमेगा-6 जैसे वसा अम्ल (Fatty Acids) भी होते हैं जो ह्रदय रोग होने का खतरा कम करते हैं।

चूँकि अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट्स का उच्च स्तर होता है, इसीलिये यह उन फ्री रेडिकल्स को दूर रखने में भी मदद करते हैं जो रक्त वाहिनियों (धमनियों) को क्षतिग्रस्त करके दिल की बीमारियों को जन्म दे सकते हैं। अंजीर उस हाइपरटेंशन को भी रोकते हैं, जो कोरोनरी हार्ट डिजीज (CHD) जैसी खतरनाक दिल की बीमारी के विकास में एक बड़ा रिस्क फैक्टर हैं।

3. शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है अंजीर

Fig Boosts The Immune System in Hindi: अंजीर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने वाला आहार है। आयुर्वेद के अनुसार, अंजीर की पत्तियों, छाल और फल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं, इसलिए यह शरीर को अंदरूनी इंफेक्शन से बचाता है। अंजीर बदलते मौसम के साथ होने वाले आम संक्रमण, बुखार और सर्दी-जुकाम के संक्रमण से राहत दिलाता है।

इतना ही नहीं, यह मुँह में उपस्थित हानिकारक जीवाणुओं और माइक्रोब्स को खत्म कर, ओरल हेल्थ प्रोब्लेम्स से भी सुरक्षित रखता है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity Power) बढ़ाने के लिए अंजीर का प्रयोग पिछले हजारों सालों से होता रहा है।

ऐसा माना जाता है कि यह 3 दर्जन से ज्यादा बीमारियों को ठीक करने की सामर्थ्य रखता है। जिनमे मुख्य रूप से त्वचा रोग, मुँह के छाले, कब्ज, यकृत रोग, मूत्र मार्ग का संक्रमण, एसिडिटी, मधुमेह, एनीमिया,अनिद्रा, मानसिक तनाव, कैंसर, गुर्दा रोग, दिल के रोग, कुष्ठ, नपुंसकता और पुरुषों के यौन रोग शामिल हैं।

4. आपके पाचन तंत्र के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है अंजीर

Fig Makes Digestive System Healthy in Hindi: अंजीर में डायटरी फाइबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है जो उदर-आँत मार्ग (Gastrointestinal Tract) को सही रखता है। यह कब्ज से छुटकारा दिलाता है और आँतों की चाल को नियमित करता है। इसके लिये प्रतिदिन रात्रि के समय, दो या तीन सूखे अंजीर लेकर, उन्हें पानी में 8 घंटे के लिये भिगोकर रख दें। फिर प्रातः काल उठने पर, उन्हें शहद के साथ खा लें, पर उस पानी को भी फेंके नहीं।

नियमित रूप से कुछ दिन तक ऐसा करने से, धीरे-धीरे कब्ज की समस्या दूर होने लगती है। सिर्फ 3 सूखे अंजीर में ही 5 ग्राम फाइबर होता है जो प्रतिदिन की आवश्यकता का 20 प्रतिशत है। अंजीर IBS यानि इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम को ठीक करने में भी मदद करता है। इसमें आँतों के अन्दर रहने वाले जीवाणुओं की मदद करने वाले प्रीबायोटिक्स भी होते हैं, जो पाचन को सुधारते हैं।

5. शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंटस उपस्थित होते हैं अंजीर में

Fig has Powerful Antioxidant Properties in Hindi: अंजीर में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंटस की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जिन्हें फिनोल्स कहते हैं सन 2005 के एक अध्ययन के अनुसार शुष्क अंजीरों में बहुत ही उच्च क्वालिटी के एंटीऑक्सीडेंटस पाये जाते हैं जी हाँ ताजे प्राकृतिक अंजीर से भी ज्यादा एंटीऑक्सीडेंटस फ्री रेडिकल्स जैसे हानिकारक तत्वों को दूर करते हैं।

यह तत्व कोरोनरी धमनियों को नुकसान पहुँचाते हैं और Coronary Heart Disease का कारण बनते हैं। अगर आपने जीवनसूत्र पर एंटीऑक्सीडेंटस के बारे में पढ़ा है तो आप जानते ही होंगे कि यह शरीर के अन्दर पैदा होने वाले खतरनाक फ्री-रेडिकल्स (मुक्त अणुओं) के दुष्प्रभाव से कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं।

6. वजन को नियंत्रित रखने में मदद करता है अंजीर का फल

Fig Aids in Weight Management in Hindi: अंजीर वजन को नियंत्रित रखने और मोटापा कम करने में मदद करता है, क्योंकि यह डायटरी फाइबर का अच्छा स्रोत है और इसमें कैलोरी भी कम होती है। फाइबर की अधिक मात्रा आपको तृप्त रखती है, जिससे हंगर पैंग्स (थोड़ी-थोड़ी देर में उठने वाली भूख) को घटाने में मदद मिलती है। इसीलिये यह मोटापे को कम करने में सहायक है।

Mind Blowing Benefits of The Fig Fruit in Hindi

7. कैंसर जैसे घातक रोग को दूर रखने में मददगार है अंजीर

Fig Thwarts Off Cancer in Hindi: चूँकि अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट्स की प्रचुर मात्रा पायी जाती है, इसलिये यह कोशिकाओं के डीएनए को, उन फ्री रेडिकल्स द्वारा क्षतिग्रस्त होने से रोकता है, जो कैंसर कोशिकाओं का निर्माण करते है। अंजीर की पत्तियों में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट्स, कैंसर कोशिकाओं और दूसरे कैंसरकारक तत्वों की वृद्धि होने से रोकते हैं।

यह स्तन कैंसर (विशेष रूप से मेनोपॉज के बाद होने वाला) और कोलोन कैंसर होने की संभावना को कम करता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि जो औरतें ज्यादा फाइबर से युक्त फल जैसे कि सेव, खजूर, अंजीर, नाशपाती आदि का सेवन करती हैं, उनमे स्तन कैंसर होने का खतरा, फलों का रेशा न खाने वाली स्त्रियों की तुलना में 34 प्रतिशत तक कम होता है।

एक हालिया अध्ययन में वैज्ञानिको ने पाया है कि ताजे अंजीर से निकलने वाला लेटेक्स, पेट के कैंसर की कोशिकाओं के प्रति रेस्पोंस देते हुए उनकी वृद्धि को रोकता है। साथ ही इसका सामान्य कोशिकाओं पर कोई विषैला प्रभाव भी नहीं पड़ता है। इसके अलावा एक दूसरे ट्रायल में सूखे अंजीर को, तीन महीने तक एक मिली डिस्टिल्ड वाटर में रखा गया था। जब उनसे पानी को बाहर निकालकर, अंजीरों की जाँच की गयी तो पता चला कि उनके कैंसररोधी गुण अभी भी बचे हुए थे।

एक अन्य अध्ययन में पाया गया था कि दूसरे आहार की तुलना में, अंजीरों में फिनोलिक एंटीऑक्सीडेंटस और कुछ अन्य पोषक तत्व अधिक सघन मात्रा में होते हैं, जो कोलन कैंसर (बड़ी आंत का कैंसर) का खतरा कम करते हैं। अंजीर के बीजों में मुसिन का उच्च स्तर होने के कारण, यह आँतों के अन्दर के मल और अतिरिक्त म्यूकस को शरीर से बाहर निकाल देते हैं।

8. कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है अंजीर

Fig Lowers Cholesterol in Hindi: अंजीर कोलेस्ट्रोल का स्तर कम करता है। सूखे अंजीर की एक औंस मात्रा में 3 ग्राम फाइबर होता है जो न सिर्फ कब्ज को दूर करता है, बल्कि आपके पेट को लम्बे समय तक भरे रहने में भी मदद करता है। अंजीर कोलेस्ट्रोल और रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करता है, क्योंकि इसमें एक घुलनशील फाइबर पेक्टिन होता है।

जब फाइबर पाचन तंत्र से होकर गुजरता है, तो यह अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल को अपने साथ बाँध लेता है और उत्सर्जन तंत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है। इसके साथ-साथ पेक्टिन, आँतों की चाल को नियमित होने में भी मदद करता है। पेक्टिन की वजह से ही अंजीर में रेचक का नैसर्गिक गुण होता है।

इसके अलावा अंजीर में विटामिन B6 भी होता है जो सेरेटोनिन हार्मोन को पैदा करने के लिये जिम्मेदार है। यह सेरेटोनिन आपके मूड को सही करता है और कोलेस्ट्रोल को कम करता है। चूँकि सूखे अंजीर में ओमेगा-3, ओमेगा-6 फैटी एसिड और फायटोस्टेरोल होते हैं, इसीलिये यह शरीर में कोलेस्ट्रोल के प्राकृतिक संश्लेषण को घटाकर, कुल कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करते हैं।

9. श्वास रोगों को दूर करने में भी लाभदायक है अंजीर

Fig is A Home Remedy in Respiratory Problems in Hindi: अंजीर सामान्य श्वास रोगों को ठीक कर सकता है। यह दमा (Asthama) के उपचार में लाभदायक सिद्ध होता है। दमा की आरंभिक और मध्यम अवस्था जिसमे कफ (बलगम) निकलता हो, उसमें अंजीर खाना फायदेमंद है, क्योंकि इससे कफ बाहर आ जाता है। जुकाम या फेफड़े से संबंधित रोगों में, चार-पाँच अंजीर पानी में उबाल कर छान लें, फिर यह पानी सुबह-शाम पियें।

इसके अलावा यह नजला, कुक्कुर खाँसी आदि में फौरी राहत देता है। अंजीर में मुसिलेज की उच्च मात्रा होने के कारण, यह गले की खराश को ठीक करने के साथ-साथ, उससे सुरक्षा भी करता है। साथ ही अंजीर में उपस्थित, प्राकृतिक जूस, वोकल कार्डस पर दबाव कम करने के साथ-साथ, दर्द में भी राहत देते हैं।

10. शरीर में आयरन की कमी को दूर करता है अंजीर

Fig Treats Iron Deficiency in Hindi: लोहा एक महत्वपूर्ण खनिज है। यह मिनरल, शरीर में हीमोग्लोबिन के साथ मिलकर काम करता है। अगर आपके शरीर में आयरन की कमी के कारण खून की कमी आ गई हो, तो अंजीर एनीमिया को दूर करने का एक सरल माध्यम हो सकता है, क्योंकि सूखे अंजीर आयरन का प्रचुर स्रोत हैं।

बढ़ते हुए बच्चों, वयस्कों, मासिक धर्म से परेशान रहने वाली और गर्भवती स्त्रियों को दूसरी समस्याओं से बचने के लिये, अपने शरीर में आयरन के स्तर पर निगाह रखनी चाहिये। इसके अलावा अगर आप बीमार हैं या फिर आपकी अभी-अभी सर्जरी हुई है, तो अपनी डाइट में अंजीर को शामिल करने से आप अपने खून में आयरन का स्तर बढ़ा सकते हैं।

11. शरीर के अंगों में आई सूजन को कम करता है अंजीर

Fig has Anti-inflammatory Properties in Hindi: अंजीर शरीर के अंगों और नसों की सूजन को ठीक करता है। यह कमर व सिर दर्द को दूर करता है और मल की चाल को मुलायम बनाकर बवासीर में आराम देता है। इसके एंटी-इन्फ्लेमेटररी गुण के कारण मस्सों में आयी सूजन कम होती है और रक्त का बहना रुक जाता है।

22 Surprising Benefits of Figs in Hindi with Images

12. मजबूत और चमकदार बालों के विकास में मदद करता है अंजीर

Fig helps in Development of Strong and Shiny Hair in Hindi: कई शैम्पू, कंडीशनरस और हेयर मास्क्स में, अंजीर का खूब इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि यह फल आपके बालों को मजबूत बनाने के साथ-साथ उसे आवश्यक नमी भी प्रदान करता है और बालों को बढाता भी है। हालाँकि अंजीर का बालों पर क्या प्रभाव पड़ता है, इसका भी अभी तक कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

लेकिन इस बात के कुछ सुबूत जरुर हैं कि अंजीर में उपस्थित विटामिन्स और मिनरल्स बालों को जरुरी पोषण देते हैं। अंजीर में उपस्थित विटामिन C कोलाजेन का निर्माण करता है और बालो को वक्त से पहले ही भूरा होने से रोकता है। NIH की एक स्टडी में बालों के गिरने में जिंक और कॉपर की भूमिका की जाँच की गयी थी और इसमें पाया गया था कि जिंक हेयर फोलिकल (बालों के सूक्ष्म रोमकूप) की रिकवरी की रफ़्तार को बढाता है।

इस शोध में यह भी पता चला कि जिंक की कमी बालों के गिरने की वजह जरुर हो सकती है, लेकिन कॉपर की नहीं। बाद में हुए एक अध्ययन में जिसमे मेनोपॉज के दौरान बाल खोने वाली स्त्रियों के पोषण की जाँच की गयी थी, से पता चला कि अंजीर में उपस्थित कई न्यूट्रीएंटस, जैसे कि जिंक, कॉपर, सेलेनियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, विटामिन B और C बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

13. चेहरे के जवां निखार और खिली त्वचा में मददगार है अंजीर

Fig Rejuvenate Your Skin in Hindi: चूँकि अंजीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड का उच्च स्तर पाया जाता है, इसीलिये यह त्वचा की चमक और स्निग्धता को बरकरार रखता है और उसके नैसर्गिक सौंदर्य पर उम्र का प्रभाव दृष्टिगोचर नहीं होने देता। कच्चे अंजीर को पोषण देने वाले और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर फेस मास्क बनाने के लिये इस्तेमाल किया जा सकता है। बस अंजीर को हल्का सा कुचलिये और गोलाई में मसाज करते हुए अपने चेहरे पर लगायें।

अतिरिक्त मोस्चुराईजिंग इफेक्ट्स के लिये, इसमें एक चमचा दही (Yogurt) मिला लें। अब इस मास्क को अपने चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दें और फिर बाद में हलके गर्म पानी से अच्छी तरह धो लें। लेकिन अगर आपको लेटेक्स से किसी प्रकार की कोई एलर्जी है, तो अंजीर का इस्तेमाल अपनी त्वचा पर न करें। मैश किये हुए अंजीर मुँहासों को ठीक करने के लिये एक पोपुलर घरेलू औषधि है।

लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि यह वास्तव में काम करती भी है या नहीं। इसके अलावा अंजीर में उपस्थित विटामिन्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंटस भी आपकी स्किन को ग्लोइंग बनाने में भरपूर मदद करते हैं, क्योंकि यह डेड सेल्स को हटाते हैं और त्वचा की रंगत को निखारते हैं। अंजीर का पैक आपके फटे और सूखे हुए होठों को भी ठीक कर सकता हैं।

14. शरीर की कमजोरी दूर करके उसे शक्तिशाली बनाता है अंजीर

Fig Makes Your Body Strong in Hindi: अंजीर का फल शताब्दियों से काफी प्रसिद्ध रहा है और अपने स्वाद तथा पोषनीय होने के चलते यह कई बीमारियों के इलाज में भी कारगर है। कच्चे और सूखे अंजीर दोनों ही स्वास्थ्य के लिये बहुत अच्छे होते हैं। अपने मीठे, मृदु फ्लेवर और बहुमुखी प्रयोगों के चलते अंजीर एक शानदार फल माना जाता है।

यह कम कैलोरी वाला और वसारहित फल है। एक बड़े और कच्चे अंजीर में सिर्फ 74 कैलोरी उर्जा होती है, लेकिन सूखे अंजीर में 249 कैलोरी तक उर्जा होती है। अंजीर के फल में प्रचुर उर्जा होने के कारण ही यह शारीरिक या मानसिक परिश्रम करने के उपरांत पैदा हुई थकावट को दूर करने में समर्थ है। एथलीट और वर्क आउट करने वाले लोगों को इसका जरुर सेवन करना चाहिये।

15. उच्च रक्तचाप की समस्या को दूर करने में फायदेमंद है अंजीर

Fig Prevents Hypertension/High Blood Presure in Hindi: अंजीर हाइपरटेंशन यानि उच्च रक्तचाप को रोक सकता है। जब आप ज्यादा नमक खाते हैं तो आपके खून में सोडियम का स्तर बढ़ जाता है, जिसके कारण रक्त में सोडियम और पोटैशियम का संतुलन बिगड़ जाता है। यह समस्या फिर हाइपरटेंशन में बदल जाती है। अंजीर इस असंतुलन को दूर करके हाइपरटेंशन से बचाता है, क्योंकि एक सूखे हुए अंजीर में 129 मिग्रा पोटैशियम और सिर्फ 2 मिग्रा सोडियम होता है।

अंजीर रक्तचाप को नियंत्रित करता है। इसमें उपस्थित पोटैशियम, उच्च रक्तचाप का स्तर घटाता है। इसके अलावा अंजीर में उपस्थित, घुलनशील पेक्टिन, शरीर में आसानी से घूमता है और कोलेस्ट्रोल को रोकता है।
चूँकि इनमे क्षार का उच्च स्तर पाया जाता है, इसीलिये यह शरीर के pH स्तर को नियंत्रण में रखते हैं। पोटैशियम के अलावा ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड भी ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं।

16. आपकी हड्डियों को मजबूत बनाये रखने में मदद करता है अंजीर

Fig Makes Your Bones Strong in Hindi: अंजीर हड्डियों को मजबूत बनाता है तथा साथ ही उनके घनत्व को भी। चूँकि इसमे कैल्शियम की प्रचुर मात्रा होती है, इसीलिये यह उम्र बढ़ने पर सामने आने वाली ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं से बचाने में मददगार सिद्ध होता है।

अंजीर पोटेशियम का भी बहुत अच्छा स्रोत हैं और यह दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं के साथ-साथ, ज्यादा नमक खाने के कारण, खोने वाले कैल्शियम की पूर्ति करने में भी सहायक हैं। पाठक जानते ही होंगे कि अगर कैल्शियम का स्राव लगातार जारी रहता है तो हड्डियाँ तेजी से पतली और भंगुर होने लगती हैं।

17. आँखों की सुरक्षा करके रौशनी बरकरार रखता है अंजीर

Fig Prevents Macular Degeneration in Hindi: अंजीर नेत्र रोगों से बचाव करता है। हर रोज तीन या उससे ज्यादा अंजीर खाने से, उम्र बढ़ने के साथ होने वाली मैकुलर डीजनरेशन की बीमारी का खतरा कम होता है। क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स, कैरोटीनोईडस और विटामिन A, C और E उपस्थित होते हैं जो आँखों की रौशनी को बढ़ाते हैं।

Anjeer Khane ke Fayde in Hindi अंजीर के फायदे

18. मधुमेह के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है अंजीर

Fig can Reduce Symptoms of Diabetes in Hindi: ऐसा नहीं है कि सिर्फ इस झाडी के फल ही स्वास्थ्यप्रद होते हैं, बल्कि कुछ ऐसे प्रमाण भी उपलब्ध हैं जो बताते हैं कि अंजीर की झाड़ी की पत्तियाँ भी काफी गुणकारी होती हैं। यह मधुमेह के लक्षणों को नियंत्रित करने में मददगार हो सकती हैं। सन 2016 में चूहों पर हुए एक अध्ययन में पाया गया था कि अंजीर की पत्तियों से निकाले गये सार में फिकुसिन नाम का एक तत्व पाया जाता है।

जिसमे इन्सुलिन की संवेदनशीलता (Insulin Sensitivity) को सुधारने के साथ-साथ, दूसरे मधुमेह रोधी गुण (Antidiabetic Properties) भी होते हैं। इसका तात्पर्य है कि इसमें डायबिटीज के रोगियों द्वारा ली जाने वाली इन्सुलिन की खुराक को कम रखने की सामर्थ्य होती है। अंजीर में पाया जाने वाला पोटैशियम, भोजन के बाद अवशोषित होने वाली शुगर की मात्रा में कमी लाता है।

सन 2003 में जानवरों पर हुए एक शोध में यह पता चला था कि अंजीर का सार, रक्त में उपस्थित वसा अम्लों और विटामिन E के स्तर को सामान्य करके, मधुमेह के उपचार में योगदान देता है। पर ध्यान रखिये अंजीर हेल्दी ईटिंग और दवाइयों का विकल्प नहीं है।

19. कई स्किन प्रोब्लेम्स के उपचार में कारगर हो सकता है अंजीर

Fig can Help in Many Skin Problems in Hindi: कुछ प्राचीन चिकित्सा पद्धतियों में अंजीर का इस्तेमाल, कई प्रकार की त्वचा की बीमारियों जैसे कि एक्जीमा, सोरायसिस और विटिलीगो को ठीक करने में किया जाता रहा है। हालाँकि इसका कोई वैज्ञानिक साक्ष्य उपलब्ध नहीं है, लेकिन प्राचीन समय के प्रमाण कुछ हद तक उम्मीद जगाते हैं।

सन 2007 की एक स्टडी के अनुसार, अंजीर के पेड़ से निकलने वाला दूध (लेटेक्स) मस्सों को ख़त्म कर सकता है। इस शोध के दौरान 25 लोगों ने अंजीर के पेड़ का दूध, अपने शरीर के एक तरफ के आम मस्सों पर लगाया था, जबकि दूसरी तरफ के मस्सों को क्रायोथेरेपी के जरिये जमा दिया गया था।

अंजीर के पेड़ का दूध, क्रायोथेरेपी से बस हल्का सा कम प्रभावशाली निकला था, जबकि इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं था। इसके अतिरिक्त अंजीर त्वचा की सूजन, फफोले, और घाव को ठीक होने में भी मदद करता है। यह रोमछिद्रों में कसाव लाता है और सेबम के ज्यादा स्राव को नियंत्रित करता है।

20. सेक्स समस्याओं को दूर करके यौन शक्ति बढाता है अंजीर

Fig Enhances Sexual Health and Increase Stamina in Hindi: अंजीर कई प्रकार की सेक्स समस्याओं को दूर करता है। यह पुरुषों की शीघ्रपतन और नपुंसकता जैसी बीमारियों के उपचार में असरदायक है। यह शुक्राणुओं की संख्या बढाता है। यूनानी लोग प्राचीन काल में अंजीर का इस्तेमाल, एक प्राकृतिक कामोद्दीपक औषधि (Natural Aphrodisiac) के रूप में करते थे।

अंजीरों को एक पवित्र फल समझा जाता था और यह प्रेम और उर्वरकता से संबंध रखता था। आज कुछ स्टडी के माध्यम से यह प्रमाणित भी हो गया है कि अंजीर, फर्टिलिटी और सेक्स लिबिडो को बढ़ाने में मददगार है। अंजीर नाड़ियों को बल प्रदान करता है और शुक्र धातु को बढाता है। अंजीर में पाया जाने वाला मैग्नीशियम, एंड्रोजन और एस्ट्रोजन जैसे सेक्स हार्मोन को उत्पन्न करने के लिये जरुरी है।

21. मस्तिष्क की क्षमता में सुधार लाकर कई रोग दूर करता है अंजीर

Fig Improves Performance of Your Brain in Hindi: अंजीर मस्तिष्क के साथ-साथ सम्पूर्ण तंत्रिका तंत्र के स्वास्थ्य के लिये एक आदर्श फल है। यह अल्झाइमर और अनिद्रा रोगों के उपचार में एक प्रभावशाली औषधि के रूप में कार्य करता है। अंजीर स्मरण-शक्ति को बेहतर करता है और एकाग्रता में सुधार लाता है। अंजीर में उपस्थित पॉलीफिनाल्स स्ट्रेस को कम करने में मददगार हैं।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •