Honey Benefits and Uses for Skin, Hair and Body in Hindi

 

“दूध के साथ मिलकर शहद एक सम्पूर्ण भोजन बन जाता है और यह हर उम्र और अवस्था के व्यक्ति के लिये एक श्रेष्ठ आहार है, फिर चाहे वह बच्चा हो या बूढा । प्राचीनकाल में भारत, मिस्र, यूनान और इटली जैसे देशों की रानियाँ, खुद को जवान और सुन्दर बनाये रखने के लिये, शहद और दूध का सेवन किया करती थी। क्योंकि यह दोनों ही पदार्थ उन पोषक तत्वों से भरपूर हैं जो यौवन और सौन्दर्य को बनाये रखने में मददगार हैं।”

 

Honey Benefits in Hindi
एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर शहद एक शक्तिशाली प्राकृतिक औषधि है

Honey Benefits and Uses in Hindi: शहद एक मीठा और स्निग्ध (चिपचिपा) अर्ध तरल पदार्थ है जो मुख्य रूप से शहद की मक्खियों (Honey Bees) द्वारा तैयार किया जाता है। शहद का रंग गहरे अम्बर जैसा और गंध मीठी व सुगन्धित होती है। Bees, फूलों के मकरंद (पौधों के पुष्पों का शर्करायुक्त मीठा स्राव) से Regurgitation और विभिन्न प्रकार की एंजाइमयुक्त क्रियाओं (Enzymatic Activity) से शहद को तैयार करती हैं।

आयुर्वेद के अनुसार, शहद पित्त प्रकृति का, वात-कफ शामक, बलवर्धक और सेवन करते ही उर्जा प्रदान करने वाला पदार्थ है। भारतीय लोग, प्राचीन काल (हजारों वर्ष पूर्व) से ही शहद के गुणों से अच्छी तरह परिचित हैं, जिनका वर्णन महर्षि वेद व्यास रचित मतस्य और गरुड पुराण में भी किया गया है।

यूनानी, रोमन और मिस्रवासी भी शहद के अनुप्रयोगों से अच्छी तरह परिचित थे, जिनके बारे में अरस्तू ने 384 BC अपनी पुस्तक में उल्लिखित किया था। यहाँ तक कि बाइबिल में भी शहद के गुणों का वर्णन किया गया है। जिसमे किंग सोलोमन अपने पुत्र से कहता है कि “My son, eat thou honey, for it is good. (मेरे बेटे! तुम्हे शहद खाना चाहिये, क्योंकि यह अच्छा है।”)

Honey in Hindi शहद की सामान्य जानकारी

हालाँकि जैन धर्म में शहद खाने पर प्रतिबन्ध है, क्योंकि तीर्थंकरों द्वारा इसका यह कहकर निषेध किया गया है कि इससे जीव हत्या और चौर कर्म का दोष लगता है। अब आप यह मत सोचिये कि शहद खाना सिर्फ इसीलिये अच्छा है, क्योंकि यह मीठा होने के साथ-साथ अत्यंत स्वादिष्ट भी होता है।

ऐसा करके आप शहद के चमत्कारिक गुणों को कम करके आँक रहे हैं। इसमें ऐसी Antibacterial और Antifungal Properties (जीवाणुनाशक और फफूंद नाशक गुण) हैं, जिन्हें जानकर आप दंग रह जायेंगे और यह केवल आधुनिक चिकित्सा विज्ञान द्वारा ही प्रमाणित नहीं है, बल्कि हमारे पूर्वज प्राचीनकाल से ही इनके विषय में जानते थे।

चूँकि शहद स्वयं में ही एक प्रचंड जीवाणुनाशक द्रव्य है, इसीलिये अधिकांश सूक्ष्मजीवाणु इसमें पैदा नहीं हो पाते हैं। अपने इसी गुण के कारण सीलबंद शहद, हजारों वर्षों तक भी खराब नहीं होता।

Nutritional Facts about The Honey in Hindi

यह हैं शहद में उपस्थित पोषक तत्व

शहद अनेकों पौष्टिक तत्वों से युक्त एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है जो स्वास्थ्य के लिये लाभकारी होने के साथ-साथ कई चिकित्सीय गुणों से भी भरपूर है। शहद, शक्कर और दूसरे यौगिकों का मिश्रण है। इसमें 48% फ्रक्टोज़, 47% ग्लूकोज़ एवं 5% सकरोज़ होते हैं। मधु के शेष कार्बोहाईड्रेट में माल्टोज़, सकरोज़ एवं अन्य जटिल कार्बोहाईड्रेट होते हैं। एक चम्मच शहद में 64 कैलोरी उर्जा होती है।

शहद में नाममात्र के विटामिन एवं खनिज होते हैं। शहद में बहुत थोड़ी मात्रा में कई एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे कि क्राइसिन, पाइनोबैंकसिन, विटामिन सी, कैटालेज़, एवं पाइनोसेंब्रिन भी पाये जाते हैं। शहद में जो मीठापन होता है, वह मुख्यतः ग्लूकोज़ और एकल शर्करा फ्रक्टोज के कारण होता है। कच्चे शहद में 22 एमिनो एसिड, 27 खनिज और 5,000 एंजाइम होते हैं।

आम तौर पर शहद गाढ़ा होता है, पर यह बिलकुल तरल या फिर क्रिस्टल जैसा रवेदार भी हो सकता है। शहद का गाढ़ापन, प्रोटीन की मात्रा पर भी निर्भर करता है, जो अन्ततः शहद के स्रोत पर निर्भर करता है। जिस शहद में प्रोटीन की ज्यादा मात्रा होती है, वह ज्यादा गाढ़ा होता है। गर्म करने से शहद का गाढ़ापन कम हो जाता है।

Amazing Health Benefits of Honey in Hindi

Honey Benefits in Hindi में अब हम आपको शहद के उन सभी ज्ञात फायदों और उपयोग के बारे में विस्तार से बतायेंगे, जो अनुभव और वैज्ञानिक शोध की कसौटी पर पूरी तरह से खरे उतरे हैं और जिन्हें हर स्वास्थ्यप्रेमी को जरुर जानना चाहिये।

1. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है शहद

Honey Boosts the Immune System in Hindi: शहद रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला पदार्थ है और इसके गुण तब और ज्यादा बढ़ जाते हैं, जब इसे दूध के साथ मिला लिया जाता है। शहद में फ्लेवोनॉयड, फिनोलिक एसिड और लैसोजाइम जैसे एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो सूजन को रोकने और घायल कोशिकाओं को सही होने में मदद करते हैं।

शहद में प्रमुख एंटीबैक्टीरियल तत्व हैं, मैथिलग्लायोजेल, हाइड्रोजन पेरोक्साइड और रॉयलीसिन। एक स्टडी, जिसमे 25 लोगों को 29 दिनों तक, सामान्य आहार के साथ रोजाना 4 चम्मच शहद दिया गया था, से पता चला है कि शहद रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढाता है।

क्योंकि जब इन लोगों के शुरूआती और बाद के रक्त सैम्पल का विश्लेषण किया गया तो पता चला कि शहद रक्त में रोगों से लड़ने वाले पोलीफिनोल्स का स्तर बढ़ा देता है। स्टडी में पता चला है कि शहद में बीमारियों से लड़ने वाले एंटीऑक्सीडेंटस, फ्लेवोनोइड्स, पिनोसेम्ब्रिन, पिनोस्ट्रोबिन और क्रिसिन पाये जाते हैं।

2. शरीर को उर्जा देकर स्टेमिना बढाता है शहद

Honey Gives Instant Energy in Hindi: शहद में प्रचुर उर्जा होती है। वर्कआउट या फिर कठोर मानसिक परिश्रम करने के बाद, अगर आपको अपने शरीर में कमजोरी और थकान महसूस होती है, तो दो चम्मच शहद को पानी में घोलकर पी जाएँ। यह आपको तुरंत एनर्जी देगा, क्योंकि शहद बहुत जल्दी पच जाता है। एक गिलास दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पियें। यह शरीर की स्टेमिना और ताकत बढ़ाने के लिये बहुत फायदेमंद है।

मेम्फिस एक्सरसाइज एंड स्पोर्ट्स न्यूट्रिशन लेबोरेट्री यूनिवर्सिटी के अनुसार, व्यायाम या योग करने से तुरंत पहले शहद का सेवन करना कार्बोहाइड्रेट हासिल करने का सबसे अच्छा जरिया है। शहद एथलीट की कार्यक्षमता को बढाता है, रक्त शर्करा का स्तर बरक़रार रखता है और माँसपेशियों को रिकवर होने में मदद करता है, साथ ही यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा को भी नियंत्रित करता है।

3. बेहतर नींद लाने में मदद करता है शहद

Honey Helps with Sleeping Disorders in Hindi: अगर आपको रात के समय अच्छी नींद नहीं आती है, तो सोने से पहले दूध में शहद मिलाकर पिये। यह नाड़ियों को शिथिल करके जल्दी नींद लाने में मदद करेगा। सोने से पहले शहद का सेवन करने से यह Liver की ग्लाईकोजन सप्लाई को दोबारा इकठ्ठा कर लेता है और मस्तिष्क को उर्जा की कमी का सन्देश भेजने से रोकता है, जो आपको जगा सकती है।

कच्चा शहद खाने से Brain में मेलाटोनिन का स्राव शुरू होने में आसानी होती है। क्योंकि शहद इन्सुलिन के स्तर में थोड़ी सी बढ़ोत्तरी कर देता है जो मस्तिष्क में ट्रिप्टोफन के स्राव को उत्प्रेरित करती है। इसके बाद ट्रिप्टोफन सेरेटोनिन में बदलता है जो फिर मेलाटोनिन में बदल जाता है। ध्यान रखें, कम सोने से हाइपरटेंशन, मोटापे, टाइप 2 डायबिटीज, दिल के रोग, स्ट्रोक और आर्थराइटिस का खतरा बढ़ जाता है।

4. आपकी याददाश्त को भी तेज करता है शहद

Honey is A Great Memory Booster Tonic in Hindi: प्रतिदिन शहद का इस्तेमाल करने से आप अपनी स्मरण शक्ति को भी तेज बना सकते हैं। किसी लम्बी और गंभीर बीमारी से रिकवरी करने के पश्चात या फिर वृद्धावस्था की वजह से लोगों की याददाश्त काफी कमजोर हो जाती है।

ऐसे लोगों को बादाम, मुनक्का, चाँदी का वर्क, शंखपुष्पी, और शहद को आपस में अच्छी तरह मिलाकर चटनी बनानी चाहिये और फिर उसे रोजाना दूध के साथ सुबह-शाम लेना चाहिये। इसकी पूरी विधि हम आगे बतायेंगे।

5. पाचन संस्थान को स्वस्थ रखता है शहद

Honey is Beneficial for Digestive System in Hindi: कब्ज दूर करने के लिये भी शहद एक शानदार घरेलू उपचार है। यह बोवेल मूवमेंट्स को ठीक रखता है। सुबह के समय खाली पेट एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पियें। टेस्ट बढ़ाने के लिये आप पानी के स्थान पर दूध भी ले सकते हैं। शहद आँतों में रहने वाले अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने में भी मददगार है।

22 Surprising Benefits of The Honey in Hindi

6. घावों को तेजी से भरने का अद्भुत उपचार है शहद

Honey Helps with Scrapes and Burns in Hindi: शहद एक हाइपरस्मॉटिक एजेंट है जो घाव से तरल पदार्थ निकाल देता है और तेजी से उसकी भरपाई करता है, जिससे उस जगह के हानिकारक जीवाणु मर जाते हैं। शायद यह भी एक वजह है कि क्यों चोट लगने पर शहद लगाने से वह जल्दी ठीक हो जाती है। जब Honey को सीधे घाव में लगाया जाता है, तो यह एक सीलैंट की तरह से कार्य करता है और घाव संक्रमण से बचा रहता है।

शहद को घाव पर लगाने के पश्चात, इसमें मौजूद एंजाइम हवा की ऑक्सीजन के संपर्क में आते ही जीवाणुनाशक हाइड्रोजन परआक्साइड बनाते है। इसके साथ ही घावों या सूजन से आने वाली दुर्गंध भी दूर हो जाती है। शहद की पट्टी बांधने से मरे हुए ऊतकों की कोशिकाओं के स्थान पर, नई कोशिकाएं पनप आती हैं। जिससे घाव तो भरता ही हैं, साथ ही उनके निशान भी गायब हो जाते हैं।

शहद एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक के रूप में किसी भी घाव या चोट में जीवाणुओं को फैलने से रोकता है, इसकी पुष्टि न्यूजीलैंड की वायकेटो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता पीटर चार्ल्स ने भी की है। जिन्होंने कई अध्ययनों में पाया है कि शहद एक नेचुरल एंटीबैक्टीरियल पदार्थ है जिसमे घावों को भरने का गुण होता है।

उन्होंने यह भी पाया कि शहद, शरीर के तरलों से क्रिया करके हाइड्रोजन पेरोक्साइड का निर्माण करता है, जो जीवाणुओं के लिये एक मुश्किल वातावरण तैयार करता है। शहद में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो त्वचा के जलने के पश्चात उसे वहां फैलने वाले संक्रमण से बचा सकते हैं। अगर आपकी त्वचा कहीं से कट-फट गयी है, तब भी आप शहद लगाकर लाभ उठा सकते हैं।

ध्यान दें, जले हुए घावों और चोटों को ठीक करने के लिये उन पर रोजाना शहद लगाया जाता है और अगर पट्टियाँ लगायी जाती हैं तो फिर उन्हें 24 से 48 घंटे बाद बदला जाता है। सन 1991 से मुंबई के चार अस्पतालों में शहद और घी का मिश्रण, संक्रमित घावों की ड्रेसिंग के लिये इस्तेमाल किया जा रहा है।

7. श्वसन रोगों को दूर रख सकता है शहद

Honey Cures Respiratory Problems in Hindi: सर्दी-जुकाम जैसी आम कोल्ड प्रोब्लेम्स को दूर करने के लिये भी शहद एक सरल और असरदार घरेलू औषधि है एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर शहद आम संक्रमण को आप से दूर ही रखता है गर्म पानी या दूध में शहद मिलाकर पीने से यह कफ की समस्या दूर करता है क्योंकि इसमें एंटीमाइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं शहद साइनस की समस्या भी दूर कर सकता है।

गले में खराश होने पर या गला बैठने पर एक चम्मच अदरक के रस को एक चम्मच शहद के साथ लें दूर होकर गला खुल जायेगा खाँसी से राहत पाने के लिये रात को सोने से पहले हलके गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर उसे पी जायें। श्वास नली में जमा कफ पतला होकर निकल जायेगा या फिर आप अदरक का एक चम्मच रस इतने ही शहद के साथ मिलाकर सेवन करें।

8. हार्टबर्न की समस्या से निजात दिलाता है शहद

Honey can Heal Heartburn Problem in Hindi: शहद GERD यानी गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स (Gastroesophageal Reflux) की समस्या को दूर करने में भी फायदेमंद है। इसके लिये सबसे बेहतर शहद है, न्यूजीलैंड का मनुका हनी। लेकिन अगर यह उपलब्ध नहीं हो पाता है तो कच्चा अप्रसंस्कृत शहद भी बेहतर रहेगा

हालिया रिसर्च में पता चला है कि शहद, एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों को कम कर सकता है। कुछ लोगों का तो यह भी मानना है कि शहद पेट के H. pylori के संक्रमण को भी ठीक कर सकता है जो कि पेट के अल्सर की मुख्य वजह होती है

9. त्वचा को तरोताजा और सुन्दर बनाता है शहद

Honey Can be Used as A Skin Moisturizer in Hindi: शहद एक नेचुरल मोइस्चराइजर है और यह आपकी त्वचा की नमी को बरक़रार रखने में मदद करता है। जिन लोगों की त्वचा बहुत रुखी हो, उन्हें अपनी स्किन को नम रखने हेतु इस पर शहद लगाना चाहिये। हलके-हल्के हाथों से त्वचा पर शहद लगायें और फिर 15 मिनट तक इसे सूखने दें, ताकि आपकी त्वचा शहद से नमी अवशोषित कर सके। उसके पश्चात इसे शीतल जल से धो लें।

अगर आपकी त्वचा पर ब्लैक हेड या फोड़े-फुंसियों के निशान हैं, तो इन्हें दूर करने के लिये नींबू, शहद, मलाई, योगर्ट और केले का फेसपैक बनायें और अपने चेहरे व हाथ-पैरों पर लगायें । घर पर ही मोईस्चराइजर बनाने के लिये 5 चमचे शहद, 2 चमचे गुलाब तेल और 2 कप बादाम तेल एक बोतल में मिलाकर रख लें और अच्छी तरह से हिलाकर मिलायें। जब कभी आपको इसका इस्तेमाल करना हो, तो थोडा सा मिश्रण निकालकर शरीर पर लगायें।

10. मुंहासों को भी दूर करता है शहद

Honey Helps with Acne in Hindi: शहद एक क्लीनिंग एजेंट होने के साथ-साथ जीवाणुनाशक भी है, इसीलिये यह मुंहासों को दूर करने में भी असरदार है। 2 या 3 चम्मच शहद लेकर उसे अच्छी तरह से अपने चेहरे पर लगायें और कम से कम 4-5 घंटों के लिये सूखने दें। उसके पश्चात अपना चेहरा स्वच्छ जल से धो लें। चूँकि दिन में लोगों के पास इतने वक्त की कमी रहती है, इसीलिये इस उपाय को रात के समय करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

11. दाँतों की सफाई में भी मददगार है शहद

Honey can Clean Your Teeth in Hindi: भले ही आप यकीन न करें, लेकिन जीवाणुनाशक होने के कारण शहद दाँतों (Teeth) की सफाई के लिये भी अच्छा है। बस इसे थोड़े से पानी में मिलाकर टूथपेस्ट के रूप में इस्तेमाल करें और फिर दाँतों पर ब्रश करें।

Incredible Benefits of The Honey in Hindi

12. वजन को कम करने में मददगार है शहद

Honey is A Weight Management Food in Hindi: शहद एक प्राकृतिक स्वास्थ्यवर्धक आहार है जिसे मोटापा कम करने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। अगर आप अपने बढ़ते हुए वजन से परेशान हो चुके हैं और एक्सरसाइज करने का समय नहीं है, तो शहद का प्रयोग करके आप बिल्कुल स्लिम‍-ट्रिम बन सकते हैं। शहद वजन कम करने में इसलिये मददगार है, क्योंकि इसमें वसा बिल्कुल नहीं होती है।

यह फैट तो बर्न करता ही है, साथ में कोलेस्ट्रोल भी कम करता है। सैनडियागो स्टेट यूनिवर्सिटी की एक स्टडी के अनुसार, शुगर की जगह शहद का इस्तेमाल करने से ब्लड शुगर के साथ-साथ वजन भी कम होता है। इस स्टडी के अनुसार, शुगर की तुलना में शहद, सीरम ट्राईग्लिसराइडस को कम कर सकता है।

मोटापा कम करने के लिये सुबह-सुबह एक गिलास हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद और आधे नींबू का रस मिलाकर पी जाएँ। इसके आधे घंटे बाद तक कुछ न खायें। भले ही शहद में शुगर से ज्यादा कैलोरी होती है, लेकिन गर्म पानी के साथ लेने से यह आपके शरीर की वसा को पचाने में मदद करता है।

व्योमिंग यूनिवर्सिटी के अनुसार, कच्चा शहद भूख मिटाने वाले हारमोंस को सक्रिय कर देता है जिससे आपको तृप्ति महसूस होती है। ज्यादातर लोगों का अनुभव भी यही है कि नींबू के रस के साथ या फिर इलायची के साथ शहद लेने से वजन कम करने में मदद मिलती है।

13. बालों को मजबूत और चमकदार बनाता है शहद

Honey Helps with Hair Problems in Hindi: बालों के रूखेपन की समस्या आजकल बहुत आम हो चली है और सिर्फ स्त्रियाँ ही नहीं, बल्कि पुरुष भी इससे प्रभावित हो रहे हैं। चूँकि शहद एंटीऑक्सीडेंटस और एंटीफंगल गुणों से युक्त है, इसीलिये इसे बालों में लगाने से यह उन्हें अतिरिक्त नमी प्रदान करता है और उन्हें पोषण देता है।

शहद सिर की रूसी और फंगस को ख़त्म कर देता है और बाजार में मिलने वाले कोस्मेटिक प्रोडक्ट्स की तरह कोई विपरीत प्रभाव भी नहीं डालता। दही और शहद का हेयर मास्क, इसके लिये विशेष रूप से गुणकारी है। क्योंकि यह बालों की रुक्षता को दूर करके उन्हें मजबूत बनाता है और साथ में शाइनी भी।

शहद सिर की उपरी त्वचा पर उभर रही छोटी-छोटी फुंसियों और शुष्क सफेद परत को भी दूर हटा देता है। शहद और एलोवेरा का मिश्रण, बालों की वृद्धि के लिये बहुत अच्छा माना गया है क्योंकि एलोवेरा, प्रकृति में उपलब्ध 5 सबसे महत्वपूर्ण वनौषधियों में से एक है।

अगर आपको नॉन वेज चीजों से परहेज नहीं है तो फिर आप शहद के साथ अंडा भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बालों का कंडिशनर तैयार करने के लिये आधा कप शहद को एक चौथाई कप वर्जिन ओलिव आयल में मिलायें आप इसे अपने बालों पर लगायें और उन्हें रगड़ें फिर 30 मिनट बाद इन्हें शैम्पू से धो लें।

14. कैंसर के उपचार में लाभदायक सिद्ध हो सकता है शहद

Honey Helps during Cancer Treatment in Hindi: कैंसर की रोकथाम या उपचार में शहद कितना प्रभावी है, इसका अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिल सका है। लेकिन यह कैंसर के उपचार में इस्तेमाल होने वाली रेडिएशन थेरेपी या कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को कम जरुर कर सकता है।

15. एलर्जी से बचने में मदद करता है शहद

Honey Helps with Allergies in Hindi: शहद में एलर्जी से लड़ने का गुण होता है, जिससे आप इस समस्या से बचे रह सकते हैं। अपने जीवाणुनाशक गुणों के कारण, शहद ज्यादातर इन्फेक्शन को दूर रखने में मददगार है।

16. डायबिटीज में फायदेमंद हो सकता है शहद

Honey can be Helpful for Diabetics in Hindi: शहद और दालचीनी का मिश्रण एक ऐसा आहार है जिसका ग्लाईसेमिक इंडेक्स कम होता है और जो Blood में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने से रोकता है। अप्रसंस्कृत शहद इन्सुलिन बढाता है और हाइपरग्लाईसेमिया घटाता है।

17. सिरदर्द और उलटी की समस्या दूर करता है शहद

Honey can cure Headache and Vomiting in Hindi: शहद मस्तिष्क रोगों में भी लाभदायक है। सिरदर्द और उलटी की समस्या दूर करने के लिये एक चमचे शहद को 2 कप ऑरेंज जूस और ग्रीक योगर्ट में मिलायें और इन्हें तब तक ब्लेंड करें जब तक कि यह बिलकुल मिक्स न हो जांय। अगर आप तनाव से पीड़ित हैं तो गर्म दूध में शहद मिलाकर पियें। क्योंकि इससे तनाव दूर होता है, साथ ही यह तंत्रिका तंत्र को भी आराम पहुंचाता है।

Wonderful Benefits of Honey in Hindi शहद के फायदे

18. योनि संक्रमण या खुजली का उपचार भी है शहद

Honey is A Simple Solution for Vaginal Itchiness in Hindi: शहद यीस्ट के संक्रमण (Yeast Infections) को भी दूर कर सकता है। स्त्रियों की योनि में खुजली (Vaginal Itchiness) और वाइट डिस्चार्ज की समस्या या फिर योनि से दुर्गन्ध आने की परेशानी भी शहद के सेवन से दूर हो सकती है। जब योनि में अम्लीयता बढ़ जाती है तब वहां Candida albicans के पनपने के कारण यीस्ट इन्फेक्शन शुरू हो जाता है।

इस परेशानी को दूर करने के लिये स्त्रियाँ Lactobacillus acidophilus लेती हैं, लेकिन ज्यादातर महिलायें नहीं जानती कि इस समस्या के उपचार में शहद भी फायदेमंद सिद्ध हो सकता है। शहद में उपस्थित फ्लेवोनोईडस, कैंडीडा अल्बीकंस को दूर रखते हैं आप शहद को सादी दही के साथ मिला सकती हैं।

इस मिश्रण को योनि के चारों ओर दिन में दो बार लगायें और खुद देखें कि क्या यह यीस्ट इन्फेक्शन को ठीक कर सकता है? अगर आप शहद को दही के साथ मिक्स नहीं करना चाहती हैं, तो सिर्फ शहद भी इस्तेमाल कर सकती हैं। मगर ध्यान रखें कि अपनी योनि को भी साफ़-सुथरा रखें।

उसके बाद ही इस मिश्रण को Vagina के चारों तरफ के क्षेत्र में लगायें। थोड़े से मिश्रण को अपनी उँगलियों की मदद से योनि के अन्दर भी प्रविष्ट करायें। इस मिश्रण को 10 मिनट तक लगा रहने दें, फिर स्वच्छ जल से योनि को अच्छी तरह से धो। प्रातःकाल और रात को सोने का समय, यह क्रिया करने के लिये सबसे बेहतर है।

19. यौन उत्तेजना बढ़ा सकता है शहद

Honey Increases Sex Drive in Hindi: शहद एक कुदरती कामोत्तेजक औषधि (Natural Aphrodisiac) है और इसका नियमित सेवन करने पर आपकी सेक्स ड्राइव बढ़ जाती है। शोध के अनुसार, शहद पुरुषों के शरीर में ज्यादा टेस्टोंस्टेरोन बनाता है। इसी तरह से यह स्त्रियों के शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढाता है।।

प्राचीन समय से ही यह माना जाता रहा है कि शहद बिस्तर में लोगों की उत्तेजना बढ़ा सकता है। वाइकिंग्स मानते थे कि शहद फर्टिलिटी बढ़ा सकता है। प्रसिद्ध यूनानी चिकित्सक हिप्पोक्रेटस् भी अपने रोगियों को सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिये शहद लेने की सलाह देते थे।

20. यौन रोगों के उपचार में मदद कर सकता है शहद

Honey can be Helpful in Treatment of Herpes in Hindi: शहद, हर्पीज जैसे यौन रोग के उपचार में भी लाभदायक है। ज्यादातर लोग अपने यौन रोगों को छिपाना ही पसंद करते हैं, क्योंकि उन्हें इस बारे में बात करते हुए शर्म आती है। वह तब तक उनका उपचार नहीं कराते, जब तक कि वह बहुत ज्यादा गंभीर नहीं हो जाते। ऐसे लोग अगर हर्पीज के शुरूआती लक्षणों में शहद का इस्तेमाल करें, तो उन्हें कुछ राहत मिल सकती है।

लेकिन यह हमेशा ध्यान रखिये कि यह औषधियों का उपचार नहीं है। अपने जख्मों पर शहद लगायें और यह इनसे गन्दा पानी बाहर निकाल देगा। साथ ही यह इन घावों में जीवाणुओं की वृद्धि भी नहीं होने देगा। शहद बाँझपन की समस्या को दूर करने में भी मददगार है।

21. एक्जीमा जैसे चर्म रोगों में राहत दिला सकता है शहद

Honey can Provide Relief in Eczema in Hindi: शहद, एक्जीमा से राहत दिलाने में भी मदद कर सकता है। एक्जीमा से पीड़ित लोगों को इम्यून सिस्टम कुछ ज्यादा ही एक्टिव होता है और इसकी प्रतिक्रिया के आधार पर यह रोग भी हल्का और उग्र हो सकता है। अगर खुजाने के पश्चात, त्वचा की उपरी परत उतर जाती है, तो वहां बैक्टीरियल इन्फेक्शन पनप सकता है।

इसका एक बेहतर घरेलू उपचार है – शहद, दालचीनी और नींबू का मिश्रण, बस एक बड़ा चम्मच शहद एक गिलास। गुनगुने पानी में मिलायें और फिर इसमें आधा नींबू निचोड़ें फिर इसे अच्छी तरह से हिलायें और रोज पियें।

22. कोलेस्ट्रोल की समस्या दूर करता है शहद

Honey can Lower Cholesterol in Hindi: शहद कोलेस्ट्रोल की समस्या को दूर कर सकता है। वैसे कोलेस्ट्रोल शरीर की वृद्धि के लिये जरुरी होता है, लेकिन इसकी रोजाना की निर्धारित मात्रा 1,000 मिग्रा से अधिक नहीं होनी चाहिये। शहद में शून्य कोलेस्ट्रोल होने के कारण, यह शरीर में कोई अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल नहीं जोड़ता।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •