Lemon Fruit Benefits in Hindi नींबू के फायदे

 

नींबू, हरे-पीले रंग वाला एक फल है जो अपने खट्टे स्वाद और अनोखी खूबियों के कारण प्रसिद्ध है। यह अपच, कब्ज, मोटापा, आन्तरिक रक्त स्राव, हैजा, उच्च रक्तचाप और त्वचा रोग समेत दर्जनों रोगों के प्राकृतिक उपचार के रूप में प्रयुक्त होता है। इसके अलावा नींबू हर रसोई का आवश्यक अंग भी है और इसी कारण से यह पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है।

 

Amazing Health Benefits of Lemon in Hindi
खट्टा और चरपरा नींबू पाचन संस्थान के लिये बहुत लाभदायक है

Lemon Fruit Benefits in Hindi: नींबू कम ऊंचाई वाला एक सदाबहार पेड़ है जो फूल देने वाले रुटासै (Rutaceae) परिवार का एक सदस्य है। इसका पादप या वैज्ञानिक नाम (Botanical or Scientific Name), सिट्रस लिमोन (Citrus Limon) है। नींबू के पेड़ (Lemon Tree) की औसत ऊँचाई 1.5 से 3 मीटर होती है। इसकी शाखाएँ काँटेदार, पत्तियाँ छोटी तथा डंठल पतला होता है।

नींबू के फूल (Lemon Flowers), छोटे और सफेद-गुलाबी रंग के होते हैं। इसके फूलों से तेज सुगंध आती रहती है। नींबू, उष्णकटिबंधीय जलवायु में पैदा होने वाला फल है जिसे न्यूनतम 7 °C तापमान अवश्य चाहिये होता है। नींबू के फल (Lemon Fruit) की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि जहाँ दूसरे फल पकने पर मीठे हो जाते हैं, वहीं नींबू का स्वाद हमेशा खट्टा ही रहता है।

नींबू की कई प्रजातियाँ पाई जाती है, लेकिन उनमे से कागजी नींबू ही ज्यादा प्रसिद्ध है और अक्सर यही इस्तेमाल भी किया जाता है। यह छोटे या मध्यम आकार का होता है। चूँकि नींबू एक सदाबहार पेड़ (Lemon is An Evergreen Tree है), इसीलिये यह पूरे साल आसानी से उपलब्ध रहता है।

Lemon Fruit in Hindi नींबू की सामान्य जानकारी

नींबू की उत्पत्ति का मूल स्थान अज्ञात है, लेकिन फिर भी ऐसा माना जाता है कि यह सबसे पहले एशिया में उगाया गया था। विशेषकर भारत के असम राज्य, उत्तरी बर्मा और चीन मे, इसके पश्चात ही नींबू दक्षिण पूर्वी एशिया महाद्वीप से यूरोप, अफ्रीका और अमेरिका देशों में पहुँचा था।

मुगल काल में नीबू को शाही फल माना जाता था। कहा जाता है कि भारत में पहली बार असम में नीबू की पैदावार हुई थी। सन 2016 में पूरी दुनिया में नींबू का कुल उत्पादन, 17,347,153 टन था जिनमे एशिया (42.7%) तथा उत्तरी और दक्षिणी अमेरिकी महाद्वीप (41.8%) का योगदान सबसे अधिक था।

भारत, 2,978,000 टन पैदावार के साथ, नींबू का सबसे बड़ा उत्पादक देश है। इसके पश्चात क्रमशः मैक्सिको (2,429,839 टन), चीन (2,289,576 टन), अर्जेंटीना और ब्राज़ील, नींबू के सबसे बड़े उत्पादक देश हैं। नींबू के पेड़ के बारे में और जानने के लिये जीवनसूत्र पर Lemon Meaning in Hindi नामक लेख पढ़ें।

Nutritional Facts about Lemon Fruit in Hindi

यह हैं नींबू में उपस्थित पोषक तत्व

Lemon सेहत के लिये जरुरी कई शानदार पोषक तत्वों से भरा फल है और यह उन Healthy Food में से एक है, जिन्हें आपको रोजाना इस्तेमाल करना चाहिये । वैसे तो नींबू में अनेकों विटामिन और खनिज पाये जाते हैं, लेकिन विटामिन C इसमें प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। कच्चा नींबू, हरे रंग का और पका नींबू, पीले रंग का होता है।

नींबू के रस में उपस्थित सिट्रिक अम्ल के कारण ही इसका स्वाद खट्टा और तेज होता है। एक नींबू, संतरे की तुलना में 100 गुणा ज्यादा खट्टा होता है। नींबू की पत्तियाँ, फल और बीज सभी गुणकारी होते हैं। इसकी पत्तियों में भी एक विशेष प्रकार की तीक्ष्ण गंध और स्वाद होता है, जो इसे इसके फल की ही तरह कई कार्यों के लिये उपयुक्त बनाती है।

जैसे इसकी पत्तियों को उबालकर चाय तैयार की जाती है और पके माँस और Seafood (सागर के समीप उपलब्ध वस्तुओं से तैयार किया भोजन) को तैयार करने के काम में भी आती हैं। नींबू का छिलका और गूदा भोजन पकाने और बेकिंग में भी इस्तेमाल होता है। 100 ग्राम नींबू में पाये जाने वाले विटामिन्स और मिनरल्स का संघटन इस प्रकार हैं –

Amazing Health Benefits of Lemon Fruit in Hindi

नींबू (Lemon in Hindi) एक शानदार फल है। चाहे शरीर को तरोताजा करना हो या फिर इसे लू से बचाना हो या फिर शरीर को डीटोक्सीफाई करना हो, यह हर जगह आपकी मदद करेगा। नींबू में कई फायटोकेमिकल्स, जिनमे पोलीफिनोल्स, टर्पेंस और टैनिन शामिल हैं, पाये जाते हैं। इसके अलावा, इसमें विटामिन A, सेलेनियम और जिंक भी होता है। नीचे हम नींबू के विस्तृत लाभों के बारे में रहें हैं, ताकि आप भी इस फल से पर्याप्त लाभ उठा सकें।

1. आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है नींबू

Lemon Makes Your Immune System Strong in Hindi: नींबू में विटामिन C की प्रचुर मात्रा होने के कारण यह आपके Immune System को मजबूत बनाता है और संक्रमण से बचाव करने में मददगार सिद्ध होता है। विटामिन C से भरपूर नीबू, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ एंटी आक्सीडेंट का भी काम करता है। नींबू विटामिन C का प्रचुर स्रोत है। 100 ग्राम नींबू में 53 मिग्रा विटामिन C होता है।

इसमें मौजूद विटामिन C और पोटेशियम घुलनशील होते हैं, जिसके कारण ज्यादा मात्रा में इसका सेवन भी नुकसानदायक नहीं होता। विटामिन C उन लोगों की Immunity को भी बेहतर बनाता है जो बहुत ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी करते हैं।

2. शरीर को हाइड्रेट रखकर उसे स्वस्थ रखता है नींबू

Lemon Hydrates Your Body in Hindi: अच्छे स्वास्थ्य के लिये, हर इन्सान को अपने शरीर को सही प्रकार से हाइड्रेट रखने की जरुरत होती है और इसका सबसे बेहतर माध्यम है पानी। अगर आपको पानी के टेस्ट के कारण पानी पीने में समस्या महसूस होती है, तो लेमन वाटर आपके लिये सर्वश्रेष्ठ विकल्प सिद्ध हो सकता है।

अमेरिका के फ़ूड और न्यूट्रीशन बोर्ड के अनुसार, प्रत्येक पुरुष को रोजाना 125 औंस पानी पीना चाहिये, वहीँ स्त्रियों को 91 औंस। इस मात्रा में आहार और ड्रिंक्स दोनों से हासिल होने वाला पानी शामिल है।

3. एक हानिरहित कीटनाशक है नींबू

Lemon is A Harmless Insecticide in Hindi: नींबू और संतरे का तेल विषहीन कीटनाशक उपचार (Nontoxic Insecticide Treatment) के रूप में भी प्रयुक्त होता है। अगर आपको कभी मधुमक्खी या ततैया काट ले, तो प्रभावित स्थान पर लेमन जूस लगाने से यह उनके जहर की तीव्रता को कम कर देता है।

अगर आपके सिर में जुएँ हो गयी हैं, तो लहसुन के पेस्ट को नींबू के रस में मिलाकर अपने सिर में लगायें, सभी जुएँ ख़त्म हो जायेंगी। नींबू की तेज गंध से मच्छर भी दूर रहते हैं। अगर गले में मछली का कांटा फंस जाए तो नीबू के रस को पीने से वह निकल जाता है।

4. साँसों की बदबू दूर करता है नींबू

Lemon can cure Bad Breath Problem in Hindi: साँसों की दुर्गन्ध की समस्या ज्यादातर लोगों को होती है। अगर आप रोजाना एक गिलास लेमन जूस पीते हैं, तो आपकी सांस हमेशा फ्रेश रहेगी। हालाँकि ऐसा करते समय आपको यह बात ध्यान रखनी है कि पहले आप लेमन जूस पियें और फिर कुछ देर बाद अपने दांतों (Teeth) को ब्रश से साफ करें। इसके अलावा, अगर कभी आपके दाँतों में दर्द या फिर गिंगीविटिस (Gingivitis) की समस्या हो जाय, तो उससे छुटकारा पाने में भी नींबू का रस आपकी मदद कर सकता है।

5. यकृत की कार्यक्षमता बढाता है नींबू

Lemon Improves Liver Efficiency in Hindi: रोजाना सुबह-सुबह एक गिलास लेमन जूस पीने से आपके Liver की क्रियाशीलता पहले से ज्यादा बेहतर हो जाती है, जिससे यह टोक्सिंस को आसानी से शरीर से बाहर निकाल सकता है। साथ ही नींबू का रस आपके शरीर में पित्त (Bile) का उत्पादन भी बढ़ा देता है जो लिपिड्स और वसा को तोड़ने के लिए अनिवार्य है।

6. शरीर को तरोताजा बनाये रखता है नींबू

Lemon Revitalize Your Body in Hindi: खुद को दिन भर तरोताजा और स्फूर्ति बनाये रखने के लिए, एक गिलास गुनगुने पानी में एक नीबू का रस व एक चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिये। नींबू गर्मियों में ठंडक पाने का एक सरल उपाय है। एक बाल्टी पानी में एक नीबू के रस को मिलाकर गर्मियों में नहाने से दिनभर ताजगी बनी रहती है।

7. प्रभावशाली आयुर्वेदिक गर्भ निरोधक है नींबू

Lemon is A Natural Contraceptive in Hindi: शताब्दियों से नींबू एक गर्भ निरोधक के रूप में इस्तेमाल होता आ रहा है, हालाँकि आधुनिक युग में इसके इस गुण की ओर लोगों ने कम ही ध्यान दिया है। ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों के एक दल ने एक शोध के दौरान पाया है कि नीबू का रस, मानव शुक्राणु को मारने में सक्षम है। कुछ विशेषज्ञों ने यह भी दावा किया है कि Lemon Juice, एचआईवी विषाणु को भी मार देता है। हालाँकि अभी तक इस तथ्य की पुष्टि नहीं हो पायी है।

31 Surprising Benefits of The Lemons in Hindi

8. दिल के रोगों से बचाता है नींबू

Lemon Protects from Heart Diseases in Hindi: जिन लोगों के शरीर में पोटेशियम कम मात्रा में होता है, उन्हें अक्सर दिल की बीमारियाँ होने का खतरा रहता है। चूँकि नींबू में पोटेशियम भी होता है, इसलिये यह आपके शरीर में पोटेशियम का सही स्तर बनाये रखने में मदद कर सकता है, जिससे आप उच्च रक्तचाप के खतरे से बचे रह सकते हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, खट्टे फल स्त्रियों में इस्चेमिक स्ट्रोक का खतरा कम कर सकते हैं।

14 साल तक चली एक स्टडी में जिसमे 70 हजार स्त्रियों के स्वास्थ्य से सम्बंधित आँकड़े जुटाये गये थे, के अनुसार, जिन्होंने सबसे ज्यादा खट्टे फलों का सेवन किया था, उनमे कम खट्टे फल खाने वाली स्त्रियों की तुलना में इस्चेमिक स्ट्रोक का खतरा 19 प्रतिशत तक कम था। शोध के अनुसार विटामिन C से भरपूर फल और सब्जियाँ खाने से दिल के रोगों और स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है।

9. बढ़ते वजन को कम करने में मददगार है नींबू

Lemon can Control Your Weight in Hindi: जर्नल ऑफ़ क्लीनिकल बायोकैमिस्ट्री एंड न्यूट्रिशन के अनुसार, नींबू में पेक्टिन फाइबर होता है जो वजन को नियंत्रित रखने में मददगार है। इतना ही नहीं, नींबू आपको परफेक्ट बॉडी हासिल करने में भी मदद करता है, क्योंकि इससे एक्स्ट्रा कैलोरी बर्न होती हैं। चुहियों पर हुई एक रिसर्च के अनुसार, नींबू में पाये जाने वाले पोलीफिनोल्स एंटीऑक्सीडेंटस वजन कम करने में सहायक हैं।

सन 2008 में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, जिन चूहों को हाई फैट डाइट के साथ, लेमन फिनोल्स की खुराक दी गयी थी, उनका वजन उतना नही बढ़ा, जितना कि उन चूहों का, जिन्हें नींबू के छिलके में उपस्थित फिनोल्स नहीं दिये गये थे। हालाँकि अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि क्या इनका इंसानों पर भी उतना ही प्रभाव होता है जितना कि चूहों पर।

10. कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाता है नींबू

Lemon Treats Constipation in Hindi: बहुत से लोग लेमन वाटर का इस्तेमाल एक नेचुरल लेक्जेटिव के रूप में करते हैं ताकि वह कब्ज (Constipation) जैसी समस्या से निजात पा सके। नींबू आपकी आँतों की चाल यानी बोवेल मूवमेंट्स को बढाता है, जिससे मल के संचालन में आसानी होती है।

सुबह-सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में नींबू मिलाकर पीने से पेट की गैस की समस्या दूर होती है। इसके अलावा नींबू का रस पेट के कीड़ों को भी मारता है। अगर आपके पेट में दर्द हो रहा हो तो नींबू के रस में अदरक का रस और थोड़ी सी शक्कर मिलायें, इससे आपको तुरंत ही आराम मिलेगा।

11. डायबिटीज के रोगियों के लिये भी फायदेमंद है नींबू

Lemon is Beneficial for Diabetics in Hindi: नींबू, मधुमेह के रोगियों के लिये फायदेमंद सिद्ध हो सकता है, क्योंकि यह उनकी शुगर का स्तर बढ़ाये बिना एनर्जी प्रदान करता है। एक रिसर्च में यह पाया गया है कि नींबू, रक्त शर्करा का स्तर सुधारकर, इन्सुलिन रेजिस्टेंस को बेहतर करता है। ध्यान दें टाइप 2 डायबिटीज को विकसित करने में इन दोनों चीजों की मुख्य भूमिका है। डायबिटीज के साथ-साथ नींबू, तनाव और डिप्रेशन को भी कम करने में सहायक है।

12. नींबू के सेवन से ठीक होता है स्कर्वी रोग

Lemon Treats Scurvey Disease in Hindi: शरीर में विटामिन C की कमी से होने वाली एक गंभीर समस्या है स्कर्वी रोग। सन 1747 में जेम्स लिंड ने पाया कि नींबू और संतरे का सेवन करने से इस रोग का उपचार करने में बड़ी मदद मिलती है, जो उस समय समुद्री यात्रा करने वाले नाविकों की एक आम बीमारी थी। नींबू में Grapefruit से दोगुना और Orange से पाँच गुणा ज्यादा सिट्रिक एसिड पाया जाता है।

13. हैजे और लू से बचाव करता है नींबू

Lemon Protects from Cholera and Sunstroke in Hindi: गर्मीयों के मौसम में, हैजे से बचने के लिए नींबू को प्याज व पुदीने के साथ मिलाकर लेना चाहिये। लू से बचाव के लिए, नीबू को काले नमक युक्त पानी में मिलाकर पीने से, दोपहर में बाहर रहने पर भी लू नहीं लगती।

Wonderful Benefits of Lemon in Hindi with Images

14. त्वचा के दाग-धब्बे दूर करके उसे निखारता है नींबू

Lemon is A Great Skin Care Solution in Hindi: नींबू एक Natural Skin Cleanser और प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट है, इसीलिये घर पर तैयार होने वाले लगभग हर ब्यूटी प्रोडक्ट में इसका इस्तेमाल किया जाता है। चमकदार, निखरी और बेदाग त्वचा हासिल करने के लिये, नींबू एक असरदार औषधि है। पर जब इसमें शहद को भी साथ मिला लिया जाता है, तो इनका यह मिश्रण और भी ज्यादा गुणकारी बन जाता है।

नींबू का रस एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक औषधि है, इसीलिये यह त्वचा से संबंधित समस्याओं का उपचार भी कर सकता है। सनबर्न, ब्लैकहैड, एक्जिमा और मुँहासे जैसी समस्याएं इसके सेवन से ठीक हो सकती हैं। अगर आपके शरीर पर स्ट्रेच मार्क्स और डार्क स्पॉट हैं, तो इनसे छुटकारा पाने के लिये, आप इस नुस्खे का इस्तेमाल कर सकते हैं।

ध्यान दीजिये, अगर आपकी Skin अपनी नमी खो देती है, तो आपकी त्वचा पर झुर्रियाँ पड़ने की सम्भावना ज्यादा बढ़ जाती है। सन 2016 की एक स्टडी के अनुसार खट्टे फलों की ड्रिंक का सेवन करने से, बिना बालों वाली चुहियों की झुर्रियाँ कम करने में मदद मिली थी।

15. आग से जलने पर बने निशानों को मिटाता है नींबू

Lemon can Remove Burn Signs in Hindi: नींबू में उपस्थित साइट्रिक एसिड, जलने के निशानों को हटाने में मदद करता है। जले हुए स्थान पर नींबू का रस लगायें और वहां 2 मिनट तक मालिश करें। इस प्रक्रिया को तब तक दोहरायें, जब तक कि जली हुई त्वचा सही न हो जाय।

सिर्फ इतना ही नहीं नींबू, बर्निंग सेन्सेशन में भी राहत देता है, क्योंकि यह एक कूलिंग एजेंट है। तो अगर आपके शरीर का कोई हिस्सा आग से जल जाय, तो तुरंत वहां नींबू के रस में पानी मिलाकर लगायें। हालाँकि यह उपचार हलकी-फुलकी जलन के ही लिये है।

16. नाखूनों को स्वस्थ और सुन्दर बनाता है नींबू

Lemon Makes Your Nails Beautiful in Hindi: ज्यादातर स्त्रियों को लम्बे और सुन्दर नाखून बहुत भाते हैं और नाखूनों को लम्बा बनाये रखने के लिये उनकी सही देखभाल बहुत जरुरी है। Nails को स्वस्थ और चमकदार बनाने हेतु उनकी लगातार मसाज बहुत जरुरी है और असली लेमन जूस इसमें बहुत मददगार सिद्ध होता है। ज्यादा फायदों के लिये आप अपने नाखूनों को कुछ देर तक लेमन जूस में डुबोकर रख सकती हैं।

17. दाग-धब्बों को दूर करके चीजों को चमकाता है नींबू

Lemon Removes Stains in Hindi: नींबू को एक Cleaning Agent के रूप में भी प्रयोग किया जा सकता है। आधा कटे नींबू को 1-2 चम्मच नमक या बेकिंग पाउडर में मिला कर यदि इससे तांबे और पीतल के बर्तनों को माँजा जाय तो वह चमक उठते हैं। नींबू को लकड़ी साफ करने और पोलिश के रूप में भी प्रयोग किया जाता है । यह ग्रीज, ब्लीच और दूसरे दाग-धब्बों को दूर करने के लिये एक प्रभावी विलयन है। नींबू के रस से कपड़ो पर लगे दाग-धब्बे भी मिटाये जा सकते है।

18. अद्रश्य स्याही तैयार की जाती है नींबू से

Lemon is A Constituent of Invisible Ink in Hindi: Lemon Juice को गर्म करके एक साधारण Invisible Ink भी बनायी जा सकती है, जो गुप्त दस्तावेजों के लेखन में इस्तेमाल की जा सकती है । इसके अलावा Lemon Juice को लेखा-जोखा कार्यालयों में Finger Moistener के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जो न तो स्वास्थ्य के लिये नुकसानदेह सिद्ध होगा और न ही उतना महँगा पड़ेगा।

19. अरोमाथेरेपी में भी इस्तेमाल किया जाता है नींबू

Lemon is used in Aromatherapy in Hindi: नींबू का तेल अरोमाथेरेपी (Aromatherapy) में इस्तेमाल होता है। हालाँकि इसकी गंध प्रतिरक्षा तंत्र (Human Immune System) पर कोई प्रभाव नहीं डालती है, लेकिन शिथिलता में अवश्य योगदान दे सकती है।

Mind Blowing Health Benefits of Lemons in Hindi

20. गुर्दों में बनने वाली पथरियों को ख़त्म करता है नींबू

Lemon can Dissolve Kidney Stones in Hindi: Lemon Water आपके शरीर में मूत्र का उत्पादन (Urine Production) बढाता है, जिससे आपकी Kidney और Bladder की शुद्धि होती है। नींबू किडनी स्टोंस की रोकथाम करने में मददगार सिद्ध होता है, क्योंकि सिट्रिक एसिड में पाया जाने वाला सिट्रेट आपके Urine को कम अम्लीय बनाता है। यहाँ तक कि यह छोटे स्टोंस को तोड़ भी सकता है।

गुर्दों की पथरी तब बनती है, जब वेस्ट प्रोडक्ट क्रिस्टल का आकार धारण करके आपकी किडनी में इकठ्ठा होने लगते हैं। इनका बनना एक आम बात है और जिन लोगों को पथरी की समस्या होती है, उनके शरीर में बार-बार इनका निर्माण होता है। सिट्रिक एसिड पेशाब की मात्रा और यूरिन का pH बढ़ा देता है।

रोजाना आधा कप लेमन जूस में इतना सिट्रिक एसिड होता है कि वह पथरी निर्माण की प्रक्रिया रोक सके। कुछ आयुर्वेदिक विशेषज्ञों के अनुसार, जैतून के तेल के साथ नींबू का रस मिलाकर पीने से पित्ताशय की पथरी से छुटकारा मिल सकता है। एक पाठक ने भी इस तथ्य की पुष्टि की है कि प्रतिदिन 4 oz लेमन जूस पीने से गुर्दों की पथरी को बाहर निकालने के लिये सर्जरी की जरुरत नहीं पड़ती।

21. कैंसर जैसे रोग से बचा सकता है नींबू

Lemon Protects from Cancer in Hindi: जो लोग ज्यादातर खट्टे फलों का सेवन करते हैं, उन्हें कैंसर होने का खतरा कम रहता है, जबकि कुछ दूसरी स्टडी के अनुसार ऐसा नहीं है। जानवरों पर हुई स्टडी के अनुसार, नींबू के तेल में पाये जाने वाले D-लिमोनिन में एंटीकैंसर गुण होता है। एक टेस्ट-ट्यूब स्टडी के अनुसार, नींबू में उपस्थित कई यौगिक कैंसर कोशिकाओं को ख़त्म कर डालते हैं, लेकिन मानव शरीर पर उनका उतना प्रभाव नहीं पड़ता।

कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार नींबू में उपस्थित यौगिक जैसे कि लिमोनेन और नरिनगेनिन में संभवतया एंटीकैंसर गुण हो सकते हैं, लेकिन इस परिकल्पना को सिद्ध करने के लिये अभी और प्रमाणों की आवश्यकता है।

22. अस्थमा होने की सम्भावना कम करता है नींबू

Lemon Reduces The Respiratory Problems in Hindi: नींबू में एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो श्वसन मार्ग के संक्रमण, गले की खराश और टोंसिल की सूजन से लड़ने में मदद करते हैं। उन लोगों को अस्थमा होने का खतरा कम होता है, जो कुछ विशेष न्यूट्रीएंट्स का सेवन करते हैं। एलर्जी, अस्थमा एंड क्लिनिकल इम्यूनोलोजी में प्रकाशित एक रिव्यू के अनुसार, विटामिन C दमा और ब्रोंकाइटिस से पीड़ित लोगों के लिये फायदेमंद सिद्ध हो सकता है।

इसके अलावा नींबू कोल्ड की समस्या से भी बचा सकता है। एक स्टडी के अनुसार, विटामिन C जैसे एंटीऑक्सीडेंटस वस्तुतः सर्दी लगने की घटनाओं में कमी नहीं लाते, बल्कि यह कोल्ड की अवधि को कम कर देते हैं।

“नींबू एक नेचुरल रक्तशोधक है और यह ब्लीडिंग की समस्या को रोकने में भी मददगार है। अगर कभी नकसीर छूट जाय, तो एक रुई के फाहे में नींबू का रस मिलाकर अपनी नाक में लगा लें। थोड़ी देर बाद खून बहना बंद हो जायेगा।”

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •