Mango Fruit Benefits in Hindi

 

“फलों का राजा आम किसी परिचय का मोहताज नहीं है, क्योंकि सारी दुनिया इसके सौंदर्य और स्वाद पर लट्टू है। गर्मियों के मौसम में मिलने वाला यह फल कुदरत के किसी वरदान से कम नहीं है। जो न केवल भयंकर गर्मी में होने वाली लू और निर्जलीकरण से बचाव करता है, बल्कि अनेकों औषधियों गुणों से भी भरपूर है। चाहे अचार हो, जैम हो, मसाले हों, या फिर मैंगो शेक, आम का जादू, हर किसीके सिर चढ़कर बोलता है।”

Mango Fruit Benefits in Hindi
रसीला होने के साथ-साथ हरदिल अजीज भी है फलों का राजा आम

Mango Fruit Benefits in Hindi: यदि भारतीय लोगों के सबसे पसंदीदा फल की बात करें, तो हर इंसान के जेहन में सबसे पहले जिस फल का नाम आयेगा, वह शायद आम ही होगा। ऐसा होने के पीछे कोई अचरज की बात भी नहीं है, क्योंकि पीले रंग के इस रसीले फल की अद्भुत मिठास, हर किसी को अपना दीवाना बना देने के लिये काफी है। भारत में पैदा हुए इस फल के चाहने वाले, अब सिर्फ दक्षिण एशिया में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में हर जगह मौजूद हैं।

आम एक मीठा और रसीला फल है, जिसका स्वाद और गंध बेहद विशिष्ट होती है। भारत में तो इसे निर्विवाद रूप से फलों का राजा ही कहा जाता हैं। इसकी मूल प्रजाति को भारतीय आम कहते हैं, जिसका वैज्ञानिक नाम मेंगीफेरा इंडिका है। आमों की प्रजाति को मेंगीफेरा कहा जाता है। आम का पेड़ 7 मीटर से लेकर 25 मीटर तक ऊँचा हो सकता है और यह एक दीर्घजीवी पेड़ है।

आम का रंग अक्सर लाल, पीला, और नारंगी ही ज्यादा देखने में आता है पहले यह फल केवल भारतीय उपमहाद्वीप में ही मिलता था, लेकिन इसके बाद यह धीरे-धीरे दुनिया के दूसरे देशों में भी फैल गया। एक समय आम की पैदावार, सिर्फ दक्षिण एशिया तक ही सीमित थी, लेकिन अपने अनोखे और अतुलनीय स्वाद के कारण, अब यह उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में स्थित मैक्सिको देश तक जा पहुँचा है।

Mango Fruit in Hindi आम की सामान्य जानकारी

हालाँकि अभी भी इसका सबसे अधिक उत्पादन अपने भारत में ही होता है, जो इसका मूल निवास माना जाता है। वर्ष 2018 में भारत ने 2 करोड़ टन से भी ज्यादा आम का उत्पादन किया था, जो सकल विश्व का 45 प्रतिशत है। हालाँकि आश्चर्य की बात यह है कि आम की कुल उपज का लगभग 92 प्रतिशत भाग देश में ही खप जाता है। भारत के पश्चात चीन, थाईलैंड, इंडोनेशिया, मैक्सिको और फिलीपिंस इसके सबसे बड़े उत्पादक देश है।

लेकिन यह सब मिलकर भी भारत द्वारा उत्पन्न किये जाने वाले आधे आम का भी उत्पादन नहीं करते हैं। दुनिया भर में आम की 400 से भी ज्यादा किस्मे मिलती हैं, जिनमे से 280 से ज्यादा भारत में उपलब्ध हैं। अल्फांसो, तोतापुरी, दशहरी, चौसा, बंगनापल्ली, केसर, लंगड़ा, फजली और बोम्बे ग्रीन, भारत में उगायी और खायी जाने वाली आम की प्रमुख किस्में हैं।

आम की इन सभी किस्मों के आकार, रंग और आकृति अलग-अलग होते है। आम की माँग, अनोखे स्वाद और स्वास्थ्य के लिये अत्यंत लाभदायक गुणों ने ही इसे फलों का राजा बनाया है। Mango Benefits in Hindi में आज हम आपको आम के उन अद्भुत और अविश्वसनीय फायदों के बारे में बतायेंगे, जिनसे आप संभवतया अभी तक अनजान ही होंगे।

Nutritional Facts about Mango Fruit in Hindi

Mango in Hindi यह हैं आम में उपस्थित पोषक तत्व

आम गर्म व उष्ण कटिबंधीय जलवायु में उत्पन्न होने वाला फल है, जिसमे दूसरे फलों की अपेक्षा कई अनोखी विशेषताएं है। जहाँ कच्चे आम में विटामिन C का स्तर ज्यादा होता है, वहीँ पके हुए आम में विटामिन A का स्तर ज्यादा होता है। आम पोषक तत्वों से भरपूर फल है जिसमे अनेकों विटामिनों और खनिजों की प्रचुर मात्रा होती है। यह दिल, आँखों और पेट के लिये विशेष रूप से लाभकारी है।

ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालय में आम पर हुए एक विस्तृत शोध के अनुसार, आम में ऐसे जैव क्रियाशील यौगिक होते हैं, जो तंदुरुस्ती के लिए लाभदायक होते हैं। आम अनेक कार्बनिक यौगिक जैसे कि फायटोस्टेरोल्स (Phytosterols), कैरोटीनोईडस (Carotenoids) और फ्लेवेनोईडस (Flavonoids) से भरपूर फल है जो इसके गुणों को और ज्यादा बढ़ा देते हैं।

आम के विशिष्ट स्वाद के लिये कई प्रकार के वाष्पशील कार्बनिक रसायन जिम्मेदार होते हैं जो टेर्पेन, फुरानॉन, लैक्टोन और एस्टर वर्ग से आते हैं। 100 ग्राम आम में पाये जाने वाले विटामिन्स और मिनरल्स का संघटन इस प्रकार हैं – [स्रोत: आयोवा डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक हेल्थ]

Amazing Health Benefits of Mango in Hindi

आम (Avocado in Hindi) एक शानदार फल है। अपने स्वास्थ्यप्रद गुणों और दिलकश स्वाद के कारण ही यह लोगों का पसंदीदा फल बना हुआ है। शरीर को रोगों से बचाने और उसे लम्बे समय तक स्वस्थ रखने में, इसके पोषक तत्वों की अहम् भूमिका है। यही कारण है कि ज्यादातर बीमारियों की रोकथाम में इसका सेवन किया जाता है। नीचे हम आम के विस्तृत लाभों की जानकारी दे रहें हैं, ताकि आप भी इस फल से पर्याप्त लाभ उठा सकें।

1. दिमाग के स्वास्थ्य के लिये लाभदायक है आम

Mango is Good for Brain Health in Hindi: आम मस्तिष्क के स्वास्थ्य और अच्छी स्मृति के लिये भी बहुत लाभदायक है, क्योंकि इसमें विटामिन B6 की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो मस्तिष्क की क्रियाशीलता को बरकरार रखता है और उसे चुस्त-दुरुस्त और फुर्तीला बनाता है। अक्सर वृद्धावस्था में होने वाली खतरनाक याददाश्त की समस्या, जिसे अल्झाइमर (Alzheimer’s Disease) के नाम से जाना जाता है, के उपचार में आम के सेवन के उपरांत सुधार होते देखा गया है।

थाईलैंड में हुई एक स्टडी में आम के न्यूरोप्रोटेक्टिव (neuroprotective) गुणों का पता चला है जो तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने में असरदार सिद्ध हो सकते हैं। आम में उपस्थित जैविक रसायन विशेषकर ग्लुटामिन एसिड स्मरण शक्ति को बढाने में लाभदायक है।

इसलिये अगर आपको चीजें याद नहीं रहती या फिर आप भूलने की बीमारी से ग्रस्त हैं या आपमें एकाग्रता की कमी है, तो रोजाना एक आम जरुर खाइये। अगर सिर में दर्द हो रहा हो तो आम की गुठली और छोटी हरड को एक समान मात्रा में लेकर दूध में पीस लें। फिर इसे अपने मस्तक पर लगायें, सिर का दर्द दूर हो जायेगा।

2. कई जैव रासायनिक यौगिकों का शानदार स्रोत है आम

Mango is A Great Source of Biochemical Compounds in Hindi: आम कई प्रकार के विटामिन, मिनरल्स, पॉली-फिनोल्स, फ्लेवेनोईड, एंटीऑक्सीडेंट्स और प्री-बायोटिक फाइबर से भरपूर फल है। आम के गूदे और छिलके में कई प्रकार के फायटोकेमिकल्स पाये जाते हैं, जिनमे ट्रीटरपेन, ल्यूपेओल मुख्य हैं। आम के पेड़ की छाल में कई प्रकार के पोलीफिनोल्स पाये जाते हैं, जिन पर अभी भी परीक्षण चल रहा है। यह सभी यौगिक आम के स्वास्थ्यवर्धक गुणों को बहुत बढ़ा देते हैं।

अभी तक आम के गूदे से 25 तरह के कैरोटीनोईडस अलग किये जा चुके हैं, जो जल्दी से दूसरे फलों में नहीं मिलते। आम के गूदे में उपस्थिट कैरोटीनोईडस में प्रोविटामिन A यौगिक जैसे कि बीटा-कैरोटिन, लुटेन और अल्फ़ा-कैरोटिन शामिल हैं। इनके अलावा आम में क्वेरसिटिन, केंपफेरोल, गैल्लिक एसिड, कैफिक एसिड, कैटचिंस और टैनिन्स जैसे पोली फिनोल्स भी उपस्थित होते हैं।

जो शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट् गतिविधियाँ प्रदर्शित करते हैं। आम में एक विशिष्ट जैनथोनोइड भी उपस्थित होता है जिसे मैंगीफेरिन कहते हैं। आम में बीटा-कैरोटीन की प्रचुर मात्रा होती है, जो शरीर को कई बीमारियों से बचाने में कारगर है।

3. आँखों की रौशनी को कमजोर होने से रोकता है आम

Mango Improves Eye Health in Hindi: आम हमारी आँखों के लिए भी एक शानदार फल है। क्योंकि आम में विटामिन A और महतवपूर्ण प्रो-विटामिन बीटा कैरोटीन, अल्फा-कैरोटीन, ल्यूटिन और जियाजैंथिन जैसे कैरोटिनोइड प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। यह सभी तत्व आँखों की रौशनी को कमजोर होने से बचाते हैं और रतौंधी, मोतियाबिंद, धब्बेदार अध: पतन (मैकुलर डीजनरेशन), कोमल कॉर्निया और ड्राई आँखों जैसे नेत्र रोगों से बचाते हैं।

इसके अलावा यह उम्र बढ़ने पर होने वाली आँखों की कमजोर दृष्टि की समस्या को भी हल करते हैं। आम में इतना विटामिन A पाया जाता है कि इससे शरीर की रोजाना की जरुरत का 25 प्रतिशत तक पूरा हो जाता है। आम में पाया जाने वाला जियाजैंथिन, हानिकारक नीले प्रकाश की किरणों को फ़िल्टर करता है और मैकुलर डीजनरेशन की समस्या से बचाकर आँखों को स्वस्थ रखता है।

बोस्टन स्टडी के अनुसार, आम में एक कैरोटिनोइड क्रिप्टोजैन्थिन पाया जाता है, जो बूढ़े जापानी लोगों में मैकुलर डीजनरेशन के खतरे को कम करने में प्रभावी पाया गया था। अमेरिका की उटाह यूनिवर्सिटी में हुई एक स्टडी में भी जियाजैंथिन को मैकुलर डीजनरेशन से बचाने में कारगर माना गया था।

4. आपके दिल के लिये भी बहुत फायदेमंद है आम

Mango is A Great Food for Heart in Hindi: आम आपके दिल के लिये भी बहुत अच्छा फल है, क्योंकि इसमें पोटेशियम की प्रचुर मात्रा पायी जाती है, जो ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिये जरुरी मिनरल है। पोटैशियम शरीर में रक्त प्रवाह सुचारु बनाये रखता है और ह्रदय का तंत्रिका तंत्र से Communication बनाये रखने में मदद करता है।

पोटैशियम का सही स्तर बना रहने से ह्रदय की गति और रक्त-चाप नियंत्रित रहता है, जिससे दिल के दौरे और स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है। इसके अलावा आम में उपस्थित फाइबर और दूसरे विटामिन्स भी दिल को स्वस्थ बनाये रखने में अपना योगदान देते हैं।

5. आपकी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है आम

Mango Strengthens Your Bones in Hindi: विटामिन K का हड्डियों की मजबूती से सीधा संबंध है, क्योंकि यह शरीर में कैल्शियम के अवशोषण की क्षमता बढाता है। अगर शरीर में इस विटामिन की ज्यादा कमी हो जाय, तो हड्डियों में फ्रैक्चर होने का खतरा बढ़ जाता है। सही मात्रा में फल और सब्जियों का सेवन करने से शरीर में विटामिन K की पूर्ति सुनिश्चित की जा सकती है।

पोमोना कॉलेज द्वारा प्रकाशित एक लेख के अनुसार, आम में उपस्थित विटामिन A भी हड्डियों की मजबूती के लिये आवश्यक है। आम में उपस्थित विटामिन C, शरीर के अंदर कोलाजेन के निर्माण में सहायता करता हैं, जो हड्डियों और कनेक्टिव टिशू के निर्माण में अहम् भूमिका निभाता है। आम में ल्युपियोल नामक यौगिक भी मौजूद होता है, जो आर्थराइटिस और सूजन के विरुद्ध बचाव करने में सक्षम है।

6. हाई ब्लड प्रेशर को काबू में रखता है आम

Mango Regulates High Blood Pressure in Hindi: उच्च रक्तचाप यानि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, आज पूरी दुनिया के सबसे गंभीर रोगों में से एक है, क्योंकि धरती का हर आठवां व्यक्ति इसका शिकार है। हाई ब्लड प्रेशर दिल के रोगों और स्ट्रोक का सबसे बड़ा कारण है। इससे मस्तिष्क के स्वास्थ्य, गुर्दों और पैंक्रियास पर भी बुरा असर पड़ता है। इसीलिये आपको हर सम्भव कोशिश करनी चाहिये कि आपका रक्तचाप सामान्य बना रहे। आम के इस्तेमाल से हाइपरटेंशन के खतरे से बचा रहा जा सकता है।

Incredible Benefits of The Mango Fruit in Hindi

7. पाचन संस्थान को स्वस्थ रखता है आम

Mango Maintains Digestive System in Hindi: पाचन संस्थान के लिये आम एक बहुत ही अच्छा फल माना जाता है, क्योंकि Mango में रेशेदार पदार्थ तो होता ही है, साथ ही इसमें लैगजेटिव यानि पेट साफ करने का गुण भी होता है। इसीलिये आम कब्ज और अपच की समस्या को दूर करने में प्रभावशाली सिद्ध होता है। आम में उपस्थित साईट्रिक एसिड भी पाचन तंत्र को सही रखने में सहायक है।

आम में उपस्थित फाइबर पेक्टिन और प्रचुर पानी, अम्लता को घटाने, आँतों की चाल को नियमित बनाने और मल त्याग की प्रक्रिया को सरल बनाने में प्रभावी हैं। आम में मौजूद पाचक एंजाइम कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के पाचन में मदद करते हैं, जिससे भोजन जल्दी ही उर्जा में रूपांतरित हो जाता है। इस मामले में कच्चा और पका दोनों ही तरह के आम गुणकारी हैं।

सन 2013 में जर्नल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, आम, क्रोन डिजीज और दूसरे उदर-आंत्र विकारों (गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिजीज) की रोकथाम में फायदेमंद सिद्ध हो सकता है। आम कब्ज के साथ-साथ अल्सर और बवासीर के रोग में भी लाभदायक साबित हो सकता है। आम काटकर उसमे थोडा सेंधा नमक मिलाकर खाने से पाचन शक्ति बढती है।

आम के रस और गूदे से आम्रवर्त तथा पापड बनाया जाता है, जो न सिर्फ अपच और उल्टी की समस्या को दूर करता है, बल्कि कुपित हुई वायु तथा पित्त को भी शांत करता है। आम चूसकर खाने से रक्तपित्त विकार का शमन होता है।

8. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है आम

Mango Boosts Immune System in Hindi: स्वस्थ शरीर के लिये प्रतिरक्षा (Immunity) की कितनी अहमियत है, इसके बारे में हम आपको इम्यून सिस्टम में पहले ही बता चुके हैं। कमजोर प्रतिरोधकता वाले लोगों को जब तब कोई न कोई रोग लगा ही रहता है। Mango एक Immunity Booster Fruit है, इसका नियमित सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है और शरीर को स्वस्थ, क्रियाशील और ओजस्वी बनाने में मदद मिलती है।

Vitamin C और विटामिन E जैसे Immune-boosting Nutrients न केवल बीमारी को बढ़ने से रोकते हैं, बल्कि संक्रमण से लड़ने में भी शरीर की सहायता करते हैं। विटामिन A भी इम्यून सिस्टम के लिये जरुरी है, क्योंकि यह कोशिका झिल्ली को स्वस्थ रखता है, जिससे हानिकारक बैक्टीरिया और फंगस शरीर में प्रवेश करके ज्यादा नुकसान पहुँचाने में समर्थ नहीं होते।

विटामिन C एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करते हुए, त्वचा की बाहरी परत के माध्यम से शरीर में जीवाणुओं के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगा देता है। इनके अलावा आम में पाये जाने वाले दो दर्जन से भी ज्यादा फायटोकेमिकल्स, कैरोटेनॉयड्स और पोलीफिनोल्स प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने का काम करते हैं, जिससे आपका शरीर सर्दी, फ्लू और दूसरे प्रकार के संक्रमण से आसानी से लड़ सकता है।

9. निर्बल शरीर की कमजोरी दूर कर बुढ़ापा दूर रखता है आम

Mango Revitalize Your Body in Hindi: आप एक शक्तिशाली फल है। चूँकि इसमें शुगर की काफी ज्यादा मात्रा होती है, इसीलिये आम खाने पर आपको तुरंत शक्ति हासिल होती है। आम शरीर को हृष्ट-पुष्ट और मजबूत बनाता है। इसे खाने से शरीर में रोगों से लड़ने की शक्ति विकसित होती है। अपनी शक्तिशाली जैव रासायनिक क्रियाओं के कारण, यह खतरनाक फ्री रेडिकल्स को ख़त्म करके, असमय आने वाले बुढ़ापे को दूर रखता है और त्वचा को उम्र के प्रभाव से बचाता है।

10. यकृत और तिल्ली को सुरक्षित रखता है आम

Mango Protects Your Liver and Spleen in Hindi: आम में हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं जो हमारे Liver को, शरीर में बनने वाले और शरीर में बाहर से प्रवेश करने वाले विषाक्त पदार्थों से सुरक्षित रखते हैं। आम में उपस्थित शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स, जहरीले पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल देते हैं। इसीलिये अगर आप अपने यकृत को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आम का नियमित सेवन करें। आम के रस में शहद मिलाकर खाने से तिल्ली और यकृत की सूजन दूर होती है।

11. मलेरिया बुखार से बचा सकता है आम का सेवन

Mango Protects from Malaria in Hindi: आम आपको मलेरिया बुखार से बचा सकता है जो कि मच्छरों से फैलने वाली एक गंभीर बीमारी है। एक स्टडी के अनुसार आम में उपस्थित एंटी-मलेरियल गुण, मलेरिया के लक्षणों को कम करने में सहायक हैं।

12. मादक पदार्थों का नशा उतारता है आम

Mango Wards off Liquor Addiction in Hindi: नशा उतारने के लिये नींबू के स्थान पर आम का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि आम और आम का छिलका, अल्कोहल की खुमारी दूर करने में फायदेमंद है।

27 Surprising Benefits of The Mango in Hindi

13. जानलेवा कैंसर रोग को दूर रखता है आम

Mango Prevents Cancer in Hindi: कैंसर इस युग की सबसे बड़ी महामारी में से एक है, जिससे करोड़ों लोग दुखी हैं। लेकिन खुशी की बात यह है कि आम में पाये जाने वाले Antioxidants कैंसर जैसे जटिल रोग से बचाव करने में कारगर हैं। एक शोध के अनुसार, यह प्रोस्टेट कैंसर, रक्त कैंसर, आँतों का कैंसर और स्तन कैंसर से बचाव करने में कारगर है। आम में कई पॉलीफेनॉल्स, कैरोटिनॉइडस, टरपेनोइड्स और एस्कॉर्बिक एसिड सहित कई महत्वपूर्ण तत्व होते हैं।

इन यौगिकों में क्वरेटेटिन, आइसोक्विरसिट्रिन, एस्ट्रैगलिन, फ़िसेटिन, गैलिक एसिड और मेथिलगल्लाट के साथ-साथ प्रचुर मात्रा में एंजाइम भी शामिल हैं। इनके अलावा आम में पाया जाने वाला घुलनशील डायट्री फाइबर, पेक्टिन भी कैंसर को रोकने में मदद करता है। यह सभी मिलकर आम को एक शक्तिशाली कैंसर फाइटिंग फूड बनाते हैं। कई शोध अध्ययनों में आम की कैंसर से लड़ने की अपूर्व क्षमता का पता चला है।

हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसार, बीटा कैरोटिन से प्रचुर आहार प्रोस्टेट कैंसर से बचाने में अहम् भूमिका अदा कर सकते हैं। इसके अलावा एक जापानी स्टडी में भी इस बात का पता चला है कि बीटा कैरोटिन कोलोन कैंसर का खतरा कम कर सकते हैं। टेक्सास एग्री लाइफ रिसर्च द्वारा संपन्न एक स्टडी के अनुसार, आम में उपस्थित पोलीफिनोल्स बड़ी आंत, स्तन, प्रोस्टेट, फेफड़ों और रक्त कैंसर के विरुद्ध एक क्षमता तक बचाव करने में समर्थ है।

हालाँकि स्तन कैसनर और कोलोन कैंसर के विरुद्ध, यह सबसे ज्यादा प्रभावशाली पाये गये हैं। सन 2010 में हुई एक स्टडी में भी आम के एंटी-कार्सिनोजेनिक गुणों का पता चला है। आम में उपस्थित मैंगिफरिन, पेट व यकृत की कैंसर कोशिकाओं और अन्य ट्यूमर को बढ़ने से रोकता है।

टेक्सास ए एंड एम यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, आम में मौजूद पॉलीफेनॉल्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो उस ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं जिसके कारण कैंसर जैसी बीमारी के पैदा होने का खतरा बना रहता है। बोस्टन के ड डेना-फारबर कैंसर संस्थान में हुए एक अध्य्यन में भी आम के कैंसररोधी गुणों की पुष्टि हुई है।

14. दस्तों की शिकायत भी दूर करता है आम

Mango can Treat Dysentry in Hindi: भले ही यह सुनने में अटपटा लगे, लेकिन सच है कि आम दस्तों को बंद भी कर सकता है। आम की गुठली में दस्त बंद करने का गुण होता है। अगर इसे पानी में पीसकर नाभि के चारों तरफ लगाया जाय, तो बच्चों के दस्त बंद हो जाते हैं। अगर दस्त के साथ खून भी आ रहा हो (रक्तातिसार), तो आम की गुठली का एक चम्मच चूर्ण, मट्ठे के साथ लें, इससे बहुत फायदा होता है। रक्तातिसार में आम की छाल भी बहुत गुणकारी है।

आम, अर्जुन और जामुन की छाल को बराबर मात्रा में लेकर, उसे सुखाकर कूटकर रख लें। फिर प्रतिदिन दो चम्मच चूर्ण को रात के समय पानी में भिगोकर रख दें और सुबह के समय इसे छानकर शहद के साथ पी लें, लाभ होगा। अगर दस्त काफी समय तक लगे हों, तो इसके चूर्ण को थोड़ी सी दही में मिलाकर खायें, आँव आनी बंद हो जाती है। इस चूर्ण को चावल के पानी से भी लिया जा सकता है।

इसके अलावा आम की पत्तियों से भी डायरिया का उपचार हो सकता है, क्योंकि इसमें टैनिन पाया जाता है। आम के पत्तों का 2 चम्मच रस निकालें, फिर इसे एक चम्मच शहद और आधा चम्मच घी के साथ लें। इससे दस्तों में खून आना बंद हो जाता है। एक चम्मच आम के रस में 3 चम्मच दही और अदरक के रस की 8-10 बूंदे मिलाकर, दिन में तीन-चार बार खाने से, पुराने अतिसार और संग्रहणी रोग में बहुत लाभ होता है।

15. मधुमेह रोग से बचाने में लाभदायक है आम

Mango Regulates Diabetes in Hindi: डायबिटीज यानि मधुमेह आज की लाइफस्टाइल का सबसे खतरनाक रोग है, जिससे 50 करोड़ लोग पीड़ित हैं। मधुमेह के रोगियों को अपने भोजन का चुनाव बड़ी सावधानी के साथ करना चाहिये। अन्यथा उनकी रक्त शर्करा का स्तर ज्यादा बढ़ सकता है, जिससे आगे चलकर कई परेशानियाँ खड़ी हो सकती हैं। मोटे लोगों को तो डायबिटीज होने का खतरा कहीं ज्यादा रहता है।

हार्टलैंड यूनिवर्सिटी में मोटापे से पीड़ित 20 लोगों पर हुए एक शोध के अनुसार, 90 दिनों तक प्रतिदिन आधा ताजा पका आम खाने से, ब्लड शुगर का स्तर काफी कम हो जाता है। इसके अलावा एक अन्य स्टडी से पता चला है कि टाइप-1 डायबिटीज से पीड़ित वह लोग जो फाइबरयुक्त भोजन का अधिक सेवन करते हैं, उनकी रक्त शर्करा का स्तर कम रहता है।

फाइबर से टाइप-2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों की ब्लड शुगर, लिपिड और इन्सुलिन का स्तर सुधरता है। हालाँकि इसमें ध्यान रखने वाली बात यह है कि आम के यह लाभ मधुमेह के सिर्फ नये रोगियों में ही देखने को मिले हैं ।जिनका रोग कुछ पुराना हो गया हो, उन्हें मीठा आम नहीं खाना चाहिये। आम के पत्तों में भी एंटी-डायबेटिक गुण होते हैं और इन्हें सुखाकर व पीसकर चूर्ण बनाकर खाने से इन्सुलिन का स्तर ठीक बना रहता है।

16. कोलेस्ट्रोल को कम करने में मददगार है आम

Mango Lowers Cholesterol in Hindi: आम में पाये जाने वाले फायटोकेमिकल्स, LDL Oxidation का स्तर कम करते हैं। इसमें उपस्थित फाइबर, पेक्टिन और विटामिन C हानिकारक LDL कोलेस्ट्रॉल (Low-Density Lipoprotein Cholesterol) का स्तर घटाने में मदद करते हैं और HDL कोलेस्ट्रॉल यानि अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाते हैं। इसलिये जो लोग कोलेस्ट्रोल की समस्या से बचना चाहते हों, वह आम का सेवन जरुर करें, क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने नहीं देता है।

आम में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रासिटिकल (Nutraceutical) पाया जाता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में सहायता करता है। हार्वर्ड विश्वविद्यालय में चूहों पर हुए एक शोध के अनुसार, आम में उपस्थित मैंगीफेरिन कोलेस्ट्रोल का स्तर कम करने में मददगार है। आम रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर कम करने में भी मदद करता है।

17. गुर्दों की पथरी से बचाव में कारगर है आम

Mango can Save from Stone Problems in Hindi: क्या आप जानते हैं आम आपको गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन) से बचा सकता है? आम में विटामिन-B6 की पर्याप्त मात्रा होती है और एक स्टडी के अनुसार, यह विटामिन शरीर में ऑक्सालेट पथरी के बनने की संभावना को कम कर सकता है। ध्यान दीजिये जिन लोगों के शरीर में ऑक्सालेट का स्तर अधिक होता है, उनकी Kidney में स्टोन पनपने की प्रबल संभावना रहती है।

Mind Blowing Benefits of The Mango in Hindi

18. गर्मी और लू के आक्रमण से सुरक्षित रखता है आम

Mango Helps Fighting Heat Stroke in Hindi: आम स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभदायक फल है और गर्मी और लू से बचाव करने में इससे बढ़कर फल तो ढूँढने पर भी मुश्किल से ही मिल पायेगा। शायद यही कारण है कि प्रकृति ने इस फल की ग्रीष्म ऋतू के लिये ही व्यवस्था की है। आम न सिर्फ शरीर से निकलने वाले उस पानी की पूर्ति करता है, जो गर्मी के कारण पसीने के रूप में शरीर से बाहर निकल जाता है, बल्कि यह शरीर को उमस और गर्मी से भरे वातावरण में एक नयी ताजगी देता है।

आम हीट स्ट्रोक यानि लू से बचाता है, क्योंकि इसमें पानी के साथ-साथ बेहद जरुरी विटामिन्स और मिनरल्स भी होते हैं। जो शरीर में लवणों का संतुलन बनाये रखने में मदद करते हैं, क्योंकि लू का खतरा कम करने के लिये आपके शरीर में तरल पदार्थों का उच्च स्तर होना चाहिये। आज भी भारत के कई इलाकों में लोग, लू एवं इसके लक्षणों से बचने के लिये कच्चे-पके आम का इस्तेमाल करते हैं।

कच्चे आम को पकाकर पीने से यह लू लगने से बचाता है और अगर लू लग ही गयी हो, तो भी इसे पकाकर पीना फायदेमंद सिद्ध होता है। आम आपको ज्यादा से ज्यादा ताजगी देने में समर्थ हो, इसके लिये इसे घंटे-दो घंटे तक ठंडे पानी में ही डूबा रहने दे। इससे इसमें शीतलता का गुण आ जाता है।

अगर पका हुआ आम उपलब्ध न हो, तो कच्चे आम को पानी में उबालकर दिया जा सकता है। जब यह ठंडा हो जाय, तो इसके गूदे को बाहर निकालकर मसलकर, एक कप ठंडा पानी, नमक और चीनी मिलाकर पी जांय। इससे शरीर में खोये इलेक्ट्रोलाइटस की पूर्ति हो जायेगी।

19. अस्थमा और अन्य श्वास रोगों में भी लाभ देता है आम

Mango can Heal Respiratory Problems in Hindi: उन लोगों को दमा होने का खतरा बहुत कम रहता है, जो कुछ विशेष पोषक तत्वों का उच्च मात्रा में सेवन करते हैं। इनमे से एक तत्व है बीटा कैरोटिन, जो आम में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यही तत्व पपीते, खुबानी, गाजर, टमाटर, ब्रोकोली और कद्दू मे भी पाया जाता है। आम में उपस्थित एंटी-अस्थमैटिक गुण, दम के मरीजों को सामयिक राहत दे सकते हैं।

इसमें पाया जाने वाला विटामिन C ,कई स्टडी में दमे के कुछ मामलों के उपचार में फायदेमंद माना गया है। हालाँकि अभी कुछ और शोध की आवश्यकता है, क्योंकि प्रायः देखा गया है कि आम खाने पर दमे का प्रकोप कुछ ज्यादा ही बढ़ जाता है। लेकिन आम के पत्ते और गुठली श्वास रोगों में वाकई मददगार हैं। आम के पत्तों का काढ़ा बनाकर उसे शहद के साथ मिलाकर पीने से, बंद गला खुल जाता है और दबी आवाज साफ़ हो जाती है।

अगर आम के पत्तों को कूटकर, एक चिलम में भरकर इनका धुआं पिया जाय, तो हिचकी का रोग समाप्त हो जाता है। आम की गुठली का चूर्ण, शहद के साथ मिलाकर खाने से, हर तरह की खाँसी में बहुत लाभ होता है। आम की गुठलीयों को साफ करके और सुखाकर, इन्हें आग में जलाकर भस्म तैयार कर लें। फिर इसे शहद और लहसुन के अर्क में मिलाकर लेने से, कुक्कुर खाँसी या काली खाँसी समाप्त हो जाती है।

20. वजन को नियंत्रित रखने में सहायक है आम

Mango Aids in Weight Loss in Hindi: आज मोटापे से पूरी दुनिया परेशान है, विशेषकर विकसित देशों में तो यह एक बेहद गंभीर रोग बन चुका है। मोटापा मुख्य रूप से लाइफस्टाइल से जुडी हुई समस्या है और अगर अपनी दिनचर्या का ध्यान रखा जाय तथा आहार में संयम बरता जाय, तो 99 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में इस समस्या को दूर किया जा सकता है। वजन घटाने के लिये सही डाइट का चुनाव करना बहुत जरुरी है।

अर्थात आपके आहार में ज्यादा से ज्यादा फल, सब्जियां और तरल पदार्थ शामिल होने चाहियें। आम ऐसे लोगों के लिये एक उत्तम आहार है, जो अपना वजन कम करने के इच्छुक हैं। क्योंकि इसमें उपस्थित फाइबर आपकी भूख को देर तक शांत रखने में मदद करता है। मोटे लोग अगर आम की गुठली को खायें, तो इससे उन्हें ज्यादा लाभ मिल सकता है, क्योंकि यह हंगर पैंग्स से छुटकारा दिलाती है।

आम उन दुर्लभ फलों में से एक है जो एक तरफ तो बढे वजन को कम कर सकता है, वहीँ दूसरी ओर यह दुबले-पतले लोगों का वजन बढ़ा भी सकता है। दरअसल इसका राज छिपा है, आम में उपस्थित प्रचुर पोषक तत्वों और भारी उर्जा में। 100 ग्राम आम में 60 कैलोरी उर्जा होती है, जिसे हमारा शरीर आसानी से अवशोषित कर लेता है और यकृत पर कोई बोझ नहीं पड़ता। वजन बढ़ाने के लिये मैंगो मिल्कशेक ज्यादा फायदेमंद है।

 

21. अल्सर से बचाव करने में कारगर है आम

Mango can Save You from Ulcer in Hindi: क्या आपको पता है आम आपको अल्सर जैसे कष्टकारी रोग से भी बचा सकता है? जी हाँ यह सच है, कुछ स्टडी में आम के एंटी-अल्सर गुणों के बारे में पता चला है। आम में उपस्थित पोलीफिनोल्स यौगिक जिनमे एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, अल्सर की तीव्रता को घटाने में भी मदद कर सकते हैं।

22. थायराइड की समस्या के उपचार में भी फायदेमंद है आम

Mango Keeps Your Thyroid Gland Healthy in Hindi: आम में उपस्थित फ्लेवोनोइड्स और अन्य पोषक तत्व, थायराइड ग्रंथि से निकलने वाले हार्मोन्स को संतुलित करने का काम करते हैं, जिससे थायराइड से पीड़ित (Hypothyroidism) लोगों को कुछ रहत मिल सकती है।

Wonderful Mango Benefits in Hindi आम के फायदे

23. त्वचा को कोमल, खूबसूरत और गोरा बनाता है आम

Mango is Good for Skin Health in Hindi:: आम त्वचा के लिए भी काफी लाभदायक फल है, क्योंकि इसमें विटामिन सी की प्रचुर मात्रा के साथ-साथ अन्य शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंटस भी होते हैं। जो त्वचा को न सिर्फ स्वस्थ रखते हैं, बल्कि उसे कोमल, चमकदार और गोरा भी बनाते हैं। इस काम में आम का गूदा और छिलका दोनों ही फायदेमंद हैं। सन 2013 की एक स्टडी के अनुसार, आम का रस, सूर्य की हानिकारक और तेज पराबैंगनी किरणों से त्वचा का बचाव करता है।

जिससे त्वचा मुलायम बनी रहती है और इस पर उम्र का असर कम दिखता है। आम में विटामिन A और बीटा कैरोटिन जैसे कैरोटिनोईड्स भी काफी ज्यादा मात्रा में होते हैं और यह भी Skin को स्वस्थ बनाये रखने में अपना योगदान देते हैं। चूँकि बीटा-कैरोटीन एक फोटोप्रोटेक्टिव एजेंट (तेज रौशनी से बचाने वाला) है, इसीलिये यह भी अल्ट्रावायलेट रेज को रोक सकने में सक्षम है।

बर्कले यूनिवर्सिटी के अनुसार, विटामिन A और C न सिर्फ त्वचा को तैलीय होने से बचाते हैं, बल्कि यह झुर्रियों में भी कमी लाते हैं। अगर आप फोड़े-फुंसी और पिम्पल्स से परेशान हैं, तो आम का सेवन करें। घर पर तैयार किये जाने वाले फेस पैक और स्क्रब में आम का काफी इस्तेमाल किया जाता है। आम में उपस्थित सिट्रिक एसिड और विटामिन C, त्वचा के बंद पड़ चुके रोमछिद्रों को खोलते हैं और मुँहासों को ख़त्म करते हैं।

आम का रस, चेहरे को ताजगी और पोषण देता है, जिससे त्वचा साफ़ होकर चमकने लगती है। चाहे तो आप आम का गूदा अपने चेहरे पर लगायें या फिर इसका छिलका कुछ देर तक अपने चेहरे की त्वचा पर रगड़ें, दोनों ही प्रकार से आपकी त्वचा की रंगत निखर जायेगी। पर ध्यान रहे, इसे लगाने के 15-20 मिनट बाद अपने चेहरे को गर्म पानी से धो लें। न सिर्फ आपके चेहरे के धूल-धब्बे और गन्दगी दूर हो जायेगी, बल्कि यह रिफ्रेश भी हो जायेगी।

24. पुरुषों के लिये शानदार यौन शक्तिवर्धक फल है आम

Mango is Great Food for Male Sex Power in Hindi: आम पुरुषों की सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिये भी एक शानदार आहार है। इलिनोइस विश्वविद्यालय के अनुसार, इसमें कामोत्तेजक (Aphrodisiac) गुण होते हैं, जो मर्दों की सम्भोग करने की इच्छा को बढ़ा देते हैं। वह पुरुष जिनमे सम्भोग की इच्छा बहुत कम (Low Sex Libido) रह गयी हो, उन्हें पके हुए रसीले आमों का प्रतिदिन सेवन करना चाहिये, बशर्ते वह किसी अन्य रोग से ग्रस्त न हों।

आम एक उत्तम कामोद्दीपक फल इसलिये भी है, क्योंकि इसमें विटामिन E और बीटा कैरोटिन पाया जाता है। यह दोनों ही तत्व सम्भोग क्षमता बढ़ाने, शुक्राणुओं की संख्या और उनकी गुणवत्ता सुधारने में मददगार हैं। यह क्षतिग्रस्त शुक्राणुओं को भी ठीक करते हैं। अमेरिका के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार, विटामिन E ऑक्सीडेटिव डैमेज से शुक्राणुओं की कोशिका के आवरण (Sperm Cell Membrane) की सुरक्षा करता है।

आम में उपस्थित मैग्नीशियम और पोटेशियम भी बेहतर सेक्स के लिये जरुरी हैं, क्योंकि यह सेक्स हार्मोन के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा जिंक, पुरुषों और स्त्रियों की इनफर्टिलिटी की समस्या को दूर करने वाला एक महत्वपूर्ण खनिज है, जो आम में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आम से शरीर में हिस्टामिन का स्राव बढ़ता है जिससे पुरुषों का यौन स्वास्थ्य सुधरता है और उन्हें संभोग सुख पाने में आसानी होती है।

यही कारण है कि आम को “प्यार का फल” के नाम से भी संबोधित किया जाता है। जिन लोगों के शरीर में किसी कारण से नामर्दी आ गयी हो, वह रोजाना आम खाने के बाद उपर से दूध का सेवन करें। क्योंकि इससे वीर्य की वृद्धि होती है और जननांगों की नाडियों को पोषण मिलता है।

25. गर्भवती स्त्रियों के लिये भी फायदेमंद है आम

Mango is Beneficial for Pregnant Woman in Hindi: गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार और पोषक तत्वों की बहुत जरूरत होती है, विशेष रूप से विटामिन A और C की। क्योंकि यह भ्रूण के शारीरिक अंगों के विकास के लिये जरुरी होते हैं। इसके अलावा आम में आयरन, और विटामिन B6 भी मौजूद रहता है। इसीलिये गर्भावस्था के दौरान आम का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है, लेकिन तब भी सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिये।

अन्यथा जेस्टेशनल डायबिटीज (गर्भावस्था में होने वाला मधुमेह) होने का खतरा बढ़ सकता है। अक्सर गर्भावस्था में स्त्रियों को उल्टी और मितली की शिकायत हो जाती है, इसे दूर करने के लिये आम के रस में, गुलाब का अर्क, चुने का निथारा हुआ पानी और ग्लुकोज बराबर मात्रा में मिलाकर दिन में 2-3 बार दें। एक बार में 15 ग्राम से अधिक न दें, उल्टियाँ बंद हो जायेगी।

26. खून बनाकर एनीमिया की शिकायत दूर करता है आम

Mango Generates Blood in Body in Hindi: जिन लोगों के शरीर में लगातार रुग्ण रहने के कारण खून की कमी हो गयी हो या फिर जिनकी अभी-अभी सर्जरी हुई हो, ऐसे लोगों को अपने चिकित्सक से पूछकर, आम का सेवन करना चाहिये। क्योंकि आम अनेकों पौष्टिक तत्वों और आयरन से भरपूर फल है। यह तेजी से रक्त की कमी की भरपाई करके, एनीमिया की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

आम में उपस्थित विटामिन A और C, शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद करते है। खून बढ़ाने में यह उपाय कारगर है – एक कप दही में इतना ही आम का गूदा लेकर, मिक्सर में अच्छी तरह से मिक्स कर लें और इसे 60 दिन तक रोजाना पियें। इससे शरीर में तेजी से नया खून बनता है, साथ ही मर्दाना ताकत भी बढती है।

27. बालों को पोषण देकर मजबूत बनाता है आम

Mango Nourishes Your Hair in Hindi: आम आपके बालों को सुंदर, मजबूत और आकर्षक बनाने में भी बहुत कारगर है। आम में उपस्थित प्रो-विटामिन A, कैरोटिनोईड्स और विटामिन C जैसे पोषक तत्व न सिर्फ बालों का झड़ना रोकते हैं, बल्कि उन्हें रूखे और बेजान होने से भी बचाते हैं। आम के सेवन से डैनड्रफ भी दूर होता है। ध्यान दीजिये, बालों की मजबूती के लिये उत्तम आहार, शैम्पू और कंडिशनर से कहीं ज्यादा जरुरी है।

अगर आपकी डाइट में इन दोनों विटामिन की कमी रहती है, तो बालों की जड़ों को पोषण नहीं मिलने से वह कमजोर रह जाती हैं। नतीजन बाल जल्दी सफ़ेद होते हैं, अक्सर टूटते-गिरते हैं और जल्दी ही अपनी चमक खो देते हैं। आम की गुठलियों से निकलने वाला तेल बालों के लिये काफी फायदेमंद बताया गया है और ऐसा माना जाता है कि इसे आँवले के तेल के साथ मिक्स करके लगाने से बाल जल्दी काले होते हैं।

Common Side Effects of The Mango Fruit in Hindi

आम खाते समय बरती जाने वाली आवश्यक सावधानियाँ

फलों का राजा आम निःसंदेह एक बेहद ही फायदेमंद और हरदिल अजीज फल है। हालाँकि कुछ लोगों में इसके अधिक सेवन से कुछ दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं जो कि इस प्रकार हैं –

1. चूँकि प्रचुर प्राकृतिक शक्कर के कारण पका हुआ आम बेहद मीठा होता है, इसीलिये डायबिटीज के रोगियों को इसका सेवन नहीं करना चाहिये, अन्यथा रक्त-शर्करा बढ़ने से उनका स्वास्थ्य और बिगड़ सकता है। ऐसे लोग ज्यादा से ज्यादा आधा या चौथाई आम ही खायें और वह भी खट्टा।

2. पेड़ पर ही पका कुदरती पका आम मिलना मुश्किल है, इसीलिये प्रायः इन्हें कच्चा ही तोड़कर, कैल्सियम कार्बाइड द्वारा कृत्रिम तरीके से पकाया जाता है। इस तरह का आम कुछ लोगों में कई स्वास्थ्य समस्याएँ पैदा कर सकता है।

3. आम उष्ण प्रकृति का पित्तवर्धक फल है, इसीलिये इसे अधिक मात्रा में ना खायें, अन्यथा फोड़े-फुंसी और मुँहासों के निकलने का खतरा रहता है।

4. जिन लोगों को लेटेक्स से एलर्जी होती है, उन लोगों को आम खाने से एलर्जी हो सकती है और श्वास या पेट से संबंधित समस्याएँ हो सकती है।

5. गठिया रोग से पीड़ित व्यक्ति को भी ज्यादा आमों का सेवन नहीं करना चाहिये।

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •