Incredible Health Benefits of Banana in Hindi

 

“केला जो शायद दुनिया में सबसे ज्यादा खाया जाने वाला फल है, एक बारहमासी फल है जो लगभग 135 देशों में उगाया जाता है। भारत संसार का सबसे बड़ा केला-उत्पादक देश है। चीन दूसरे स्थान पर है। सन 2012 में भारत में 14 करोड़ टन केले का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ था। भारत केवल केले की खपत में ही अग्रणी नहीं है, बल्कि यह दुनिया का सबसे बड़ा केला निर्यातक देश भी है। भारत में तो शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा जिसने कभी केला देखा या खाया न हो।”

 

Incredible Health Benefits of Banana in Hindi
केला दुनिया में सबसे ज्यादा खाये जाने वाले फलों में से एक है

केला एक हरदिल अजीज फल है। यह न केवल फ्रूट सलाद का मुख्य फल है, बल्कि पूरे संसार में इसकी अनेकों डिश कई तरह से तैयार करके खायी जाती हैं। केले की इस दीवानगी के पीछे इसका आसानी से उपलब्ध होना और खाने की आसान प्रक्रिया (तुरंत छीलकर खा लेना) ही एकमात्र कारण नहीं है, बल्कि इसमें पाये जाने वाले पोषक तत्वों और तुरंत मिलने वाली उर्जा भी एक बहुत बड़ा कारण है। पका हुआ केला एक पीले रंग का मीठा और गूदेदार फल है जो पूरे वर्ष उपलब्ध रहता है और हर मौसम में खाया जाता है।

यह न केवल स्वादिष्ट और भूख मिटाने वाला होता है, बल्कि स्वास्थ्य के लिये भी बहुत ही उत्तम है। केला एक बीजरहित फल है। इसका पेड़ मध्यम ऊँचाई वाला शाखारहित पेड़ होता है जिसकी लम्बाई उसकी प्रजाति के अनुसार 3 से 7 मीटर (10-23 फुट) तक हो सकती है। इसकी पत्तियों की लम्बाई लगभग 2.75 मीटर तक और चौड़ाई 2 फीट तक हो सकती है। पेड़ पर केले एक बड़े और लम्बे गुच्छे के रूप में लगते हैं जिसमे लगभग 100 से 250 केले तक हो सकते हैं। इस गुच्छे का औसत वजन 30 से 50 किलोग्राम तक होता है।

सबसे पहले केले की खेती दक्षिण-पूर्व एशिया और पपुआ न्यू गिनी के लोगों ने आरम्भ की थी, यहीं से ही फिर बाकी दुनिया में इसका प्रसार हुआ। केले की जिस प्रजाति की आज संसार भर में व्यवसायिक रूप से खेती की जाती है उसे कैवेंडिश केला (Cavendish Banana) के नाम से जाना जाता है। पेड़ पर पका केला मुश्किल से ही कहीं मिल पाता होगा, क्योंकि इन्हें पेड़ से कच्चा ही तोड़कर दूसरे स्थानों पर भेजा जाता है। बाद में इन्हें एथिलीन गैस से भरे एयरटाइट कमरे में पकाया जाता है।

Nutritional Facts about Banana : –

केले का Boatnical (पादप) या Scientific Name (वैज्ञानिक नाम) Musa acuminata (मूसा एकुमिनाटा) है। आयुर्वेद के अनुसार केला कफ प्रकृति का, पित्तशामक, गरिष्ठ और बलवर्धक फल है। केला पोटैशियम की मात्रा के कारण प्राकृतिक रूप से कुछ रेडियोएक्टिव होता हैं। (इसमें यह तत्व अन्य फलों से अधिक मात्रा में होता है।) इसके अतिरिक्त इसमें आइसोटोप पोटैशियम-40 की भी थोड़ी मात्रा पायी जाती है।

एक केले का औसत वजन लगभग 125 ग्राम होता है। इसमें लगभग 75 प्रतिशत पानी और 25 प्रतिशत शुष्क पदार्थ (Dry Matter) होता है। 100 ग्राम छिलकेरहित केले में 1 ग्राम प्रोटीन, 23 ग्राम कार्बोहायड्रेट, 75 ग्राम पानी और 89 कैलोरी उर्जा होती है। इसके अतिरिक्त इसमें आधा ग्राम से कुछ कम वसा भी होती है।

केले के बारे में ऐसा माना जाता है कि इसमें पोटैशियम की अधिक मात्रा होती है। जबकि वास्तव में इसमें पोटैशियम की मात्रा केवल 358 मिग्रा होती है जो कि कुल RDA का मात्र 8 प्रतिशत है। केले में पाये जाने वाले Vitamins और Minerals इस प्रकार हैं –

Vitamins in Banana –

1. 100 ग्राम केले में 65 IU Vitamin A होता है।
2. इसमें 0.031 मिग्रा Vitamin B1 (थायमिन), 0.073 मिग्रा Vitamin B2 (रिबोफ्लेविन), 0.665 मिग्रा Vitamin B3 (नियासिन), 0.334 मिग्रा Vitamin B5 (पैंटोथेनिक एसिड) 0.4 मिग्रा Vitamin B6 और 20 माइक्रोग्राम Vitamin B9 (फोलेट) पाया जाता है।
3. इसके अलावा केले में 9.8 मिग्रा कोलिन, 8.7 मिलीग्राम Vitamin C, 0.102 मिग्रा Vitamin E और 0.51 माइक्रोग्राम Vitamin K भी होता है।

Minerals in Banana –

1. केले में 5.1 मिग्रा कैल्शियम, 358 मिग्रा पोटैशियम, 27 मिग्रा मैग्नीशियम, 22 मिग्रा फॉस्फोरस होता है।
2. इसके अतिरिक्त इसमें 1 मिग्रा सोडियम, 0.15 मिग्रा जिंक, 0.27 मिग्रा मैंगनीज और 0.26 मिग्रा आयरन भी पाया जाता है
3. 100 ग्राम केले में 2.6 ग्राम Dietary Fiber भी होता है।

How and When should You eat Banana : –

1. आप केले को कई तरह से खा सकते हैं जैसे – कच्चे केले की सब्जी, दूध में मिलाकर बनाया गया Banana Shake, केले के पकौड़े, केले के फूलों की सब्जी और केले को भूनकर बनाई गयी कचरी। इसके अतिरिक्त और भी न जाने किन-किन तरीकों से केला दुनिया के लगभग हर देश में खाया जाता है।

2. केले को काले नमक के साथ खाने पर इसका पाचन सरल हो जाता है और इलायची के साथ खाने से इसके कफकारक गुण कम हो जाते हैं। अतः अपने शरीर की प्रकृति के अनुसार ही इसका सेवन करें।

3. एक बार में अधिकतम 3 से 4 केले ही खाने चाहिये क्योंकि इनका पाचन भारी होता है दिन भर में 6 या 7 से अधिक केले खाना शरीर के लिये नुकसानदेह सिद्ध हो सकता है

4. जिन्हें केला आसानी से न पचता हो वे कच्चे केले की सब्जी बनाकर या केला भूनकर खा सकते हैं।

5. केला शरीर को पुष्ट बनाता है, इसीलिये कमजोर शरीर वालों को केला खाकर उपर से दूध पीना हितकर है।

Best and Worst Time to Eat Banana : –

1. सभी फलों में केले का पाचन सबसे भारी होता है। अतः केले को भोजन के पश्चात नहीं खाना चाहिये।

2. दोपहर का समय केला खाने के लिये सर्वोत्तम है। सांयकाल का समय भी केला खाने की दृष्टि से उत्तम है।

3. आयुर्वेद के अनुसार रात्रि के समय केले का सेवन नहीं करें, क्योंकि इससे शरीर में कफ की मात्रा बढती है।

Surprising Health Benefits of Banana : –

Banana is a Great Source of Essential Vitamins and Minerals –

केला शरीर के लिये जरुरी खनिजों की पूर्ति का एक सरल स्रोत है। इसमें Important Major Minerals जैसे पोटैशियम और कैल्शियम सहित अनेकों Trace Minerals भी होते हैं। इतना ही नहीं शरीर के लिये जरुरी कई Essential Vitamins भी केले में पाये जाते हैं जिनके बारे में हम आपको ऊपर बता चुके हैं। विटामिन और मिनरल्स शरीर के लिये अत्यावश्यक तत्व हैं जिनके बिना इसे रोगग्रस्त होते हुए देर नहीं लगती।

Banana Makes Your Bones Strong –

चूँकि केले में पोटैशियम की काफी मात्रा पाई जाती है, इसीलिये यह मजबूत हड्डियों के निर्माण में सहायक है। इसमें कैल्शियम भी पाया जाता है जो मूत्रमार्ग से बाहर निकलने वाले कैल्शियम की भरपाई कर सकता है। शरीर से कैल्शियम निकलने का तात्पर्य है कि आपको अपनी हड्डियों की मजबूती के लिये और अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होगी। प्रतिदिन एक या दो केले खाने से ओस्टियोपोरोसिस और हड्डियों के भंगुर होने के खतरे से बचा जा सकता है।

Banana is Good for Your Heart –

केला बढे हुए रक्तचाप को कम करता है और दिल के दौरों और स्ट्रोक से बचाता है। American Heart Association में छपे एक जर्नल के अनुसार नियमित रूप से केला खाने से दिल के दौरों का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो जाता है। पोटैशियम शरीर के लिये अनिवार्य खनिजों में से एक है। यह आपके ह्रदय के सही प्रकार से कार्य करने और आपका रक्तचाप नियंत्रित करने के लिये आवश्यक है। यदि आप अपनी जीवनशैली को संतुलित कर सकें और खान-पान में संयम बरतें तो दिल की बीमारियों से बहुत हद तक बचाव हो सकता है। Heart Disease से कैसे बचें जाने – How to Save Your Heart in Hindi

Banana aids in Disease of Reproductive Organs –

स्त्रियों में प्रदर रोग (ल्यूकोरिया) एक आम समस्या है। इसमें योनिमार्ग से कैल्शियम और पोटैशियम का leakage होता रहता है। Osteoporosis और हड्डियों के भंगुर होने के पीछे इस रोग का बहुत बड़ा हाथ है। यह आयुर्वेदिक उपचार 40 दिन तक करने पर श्वेत प्रदर में बहुत लाभ होता है। 2 अच्छी तरह पके केले लेकर उसके रेशे निकाल दें और उसे 250 मिली गाय के दूध में फेंट लें। (5-10 मिनट चलायें)

इसमें एक चम्मच शहद और 3 इलायची के दाने अच्छी तरह पीसकर मिला दें और खाली पेट सुबह के समय खा लें। एक घंटे बाद तक कुछ न खायें। तेल-मसाले और मिर्च जैसी तीखी चीज़ें खाना पूरी तरह वर्जित है, अन्यथा लाभ नहीं होगा। पेट में कब्ज भी न होने दें। पुरुषों में यही औषधि धातु रोग को दूर करने के लिये उत्तम है।

Banana is Great for Mental Health –

केला Nervous System (तंत्रिका तंत्र) को मजबूत बनाता है और Depression (तनाव) को दूर करने में मदद करता है, क्योंकि इसमें Tryptophan नाम के Amino Acid का उच्च स्तर पाया जाता है। यह तत्व शरीर में जाकर सेरेटोनिन में बदल जाता है जो कि मूड को अच्छा बनाने वाला एक Neurotransmitter है। ट्रिपटोफन Seasonal Affective Disorder (SAD) से भी मुक्ति दिलाने में मदद करता है। केला PMS symptoms को कम करता है और आपकी Blood Sugar रक्त शर्करा को नियंत्रित करके तनाव से छुटकारा दिलाकर आराम दिलाता है।

Banana is good for Digestive System –

केले में पेक्टिन की प्रचुर मात्रा पायी जाती है। यह तत्व पाचन में मदद करता है। केला एक Prebiotic की तरह से कार्य करता है। यह आँतों में जाकर मित्र जीवाणुओं की संख्या में वृद्धि करता है। केले में उपस्थित fiber आँतों की चाल को नियमित करता है। केला एक Natural Antacid है, यह एसिडिटी के कारण होने वाली जलन और Heartburn को शांत करता है।

Banana as a Skin Care Treatment –

केले का फेस पैक बनाकर इसे एक सौंदर्य प्रसाधन के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। क्योंकि यह मृत कोशिकाओं को हटाकर त्वचा को चमकदार और स्निग्ध बनाता है। यह एक Natural Skin Toner है जिसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। केला Eczema और Psoriasis जैसी बीमारियों के उपचार में भी एक औषधि की तरह प्रयुक्त किया जाता है। एक पारंपरिक प्रयोग के रूप में केले के गूदे को मसलकर उसे मस्सा हटाने के लिये भी इस्तेमाल किया जाता है।

Banana is A Rich Source of Antioxidants –

केले में Antioxidants की उच्च मात्रा पायी जाती है। इस तरह यह शरीर की Free Radicals से सुरक्षा करके उसे कमजोर पड़ने और दीर्घकालीन बीमारियों से बचाता हैं।

Banana is Better for Your Kidney –

Banana में उपस्थित पोटैशियम हड्डियों के साथ-साथ आपकी Kidney के लिये भी अच्छा होता है। क्योंकि Potassium मूत्र में कैल्शियम जाने से रोकता है और साथ ही गुर्दे में बनने वाली पथरी से भी बचाव करता है। इतना ही नहीं यह Kidney के Cancer के खतरे से भी बचाता है

Banana makes Your Body Strong –

एथलिट और कठोर शारीरिक परिश्रम करने वाले लोगों के लिये केला बहुत फायदेमंद है। क्योंकि यह कार्य करते समय Muscle Cramps होने से बचाता है। जिन लोगों का शरीर दुबला-पतला है उनके लिये केला बहुत मुफीद है। प्रातःकाल दो केले खाकर ऊपर से दूध पीने से शरीर में मेद और चर्बी बढती है। दूध में केला फेंटकर इसका शेक बनाकर पीने से भी शरीर स्थूल बनता है।

Banana helps in Blood Loss and Diabetes –

केले में लौह तत्व पाया जाता है। यह रक्त की कमी से होने वाली समस्याओं को दूर करने में सहायक है। यह सूजन कम करता है और श्वेत रक्त कणिकाओं के निर्माण में मदद करता है, क्योंकि इसमें Vitamin B6 की उच्च मात्रा पायी जाती है। केला टाइप टू डायबिटीज से भी बचाता है।

Common Side-Effects of Banana (Who should not Eat Banana) : –

1. गठिया-बाय आदि रोगों में केला खाने से जोड़ों की सूजन और दर्द बढ़ जाता है। इसलिये इन बीमारियों से ग्रस्त रोगी चिकित्सक के निर्देशानुसार ही इनका सेवन करें।

2. जिन्हें खाँसी-जुकाम और श्वास रोगों से संबंधित समस्या हो उन लोगों को केले का सेवन नहीं करना चाहिये, अन्यथा रोग की तीव्रता और बढ़ जाती है।

3. पेट में कब्ज होने पर या गैस के रोग होने पर केले का सेवन नहीं करना चाहिये।

4. हेपेटाइटिस (पीलिया) रोग में केले का सेवन नहीं करना चाहिये।

5. खट्टे पदार्थों (इस प्रकार का फल और भोजन) के साथ केले का सेवन नहीं करना चाहिये।

6. केला चर्बी बढाता है, इसलिये डाइटिंग पर रहने वालों को इसका सेवन नहीं करना चाहिये।

हिन्दुओं के व्रतों और उपवासों का तो यह मुख्य भोजन ही है। इतना ही नहीं केला देवी-देवताओं को सर्वाधिक अर्पित किये जाने फलों में से भी एक है। केले के संबंध में जो तथ्य यहाँ दिये गये हैं, वह हमने अपनी जानकारी, अनुभव और उपलब्ध वैज्ञानिक प्रमाणों के आधार पर दिये हैं। हमारा उद्देश्य केवल जनसामान्य की जानकारी का अभिवर्धन और जागरूकता का प्रसार है। यह चिकित्सीय परामर्श का विकल्प नहीं है। किसी भी रोग के सम्बन्ध में एक निष्णात चिकित्सक की वैज्ञानिक द्रष्टिकोण युक्त सलाह को सर्वप्रमुख महत्व दिया जाना चाहिये।

“आप जीवन में जो कुछ भी हासिल करना चाहते हैं उसके लिये सबसे महत्वपूर्ण पहला कदम है: उसका निश्चय करना जो आप चाहते हैं।”
– बेन स्टेन

 

Comments: आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि जीवनसूत्र को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। एक उज्जवल भविष्य और सुखमय जीवन की शुभकामनाओं के साथ!

Spread Your Love