Picture of Virgo Zodiac Sign

Hindi Virgo Zodiac: कन्या राशि के व्यक्तित्व के अबूझ रहस्य

  Hindi Astrology: Personality of Virgo Zodiac Sign   “धैर्यवान और समझदार बनिये जीवन ईर्ष्यालु होने और प्रतिशोधी होने के लिये बहुत छोटा है।” – फिलिप ब्रुक्स   Nature of Virgo कन्या राशि का स्वभाव : – जब जन्म कुंडली में चन्द्रमा कन्या राशि में हो, तो उस व्यक्ति की जन्मराशि कन्या होती है। कन्या राशि, राशिचक्र की छठी राशि है। इस राशि का विस्तार भचक्र के 150° से 180° Read More

Image of Leo Zodiac Sign

Hindi Leo Zodiac: सिंह राशि के व्यक्तित्व के अबूझ रहस्य

  Hindi Astrology: Personality of Leo Zodiac Sign   “केवल आपके अलावा और कोई दूसरा आपके लिये शांति नहीं ला सकता।” – राल्फ वाल्डो एमर्सन   Nature of Leo Zodiac सिंह राशि का स्वभाव : – जब जन्म कुंडली में चन्द्रमा सिंह राशि में हो, तो उस व्यक्ति की जन्मराशि सिंह होती है। सिंह राशि राशिचक्र की पाँचवीं राशि है। इस राशि का विस्तार भचक्र के 120° से 150° तक Read More

Hindi Cancer Zodiac: कर्क राशि के व्यक्तित्व के अबूझ रहस्य

  Hindi Astrology: Personality of Cancer Zodiac Sign   “रुकावटें और पीड़ाएँ जीवन में आवश्यक हैं। क्योंकि वे हमें धैर्य, प्रेम, कौशल और संघर्ष की महत्ता सिखाती हैं।” – अरविन्द सिंह   Nature of Cancer Zodiac कर्क राशि का स्वभाव : – जब जन्म कुंडली में चन्द्रमा कर्क राशि में हो, तो उस व्यक्ति की जन्मराशि कर्क होती है। कर्क राशि राशिचक्र की चौथी राशि है। इस राशि का विस्तार Read More

Hindi Gemini Zodiac: मिथुन राशि के व्यक्तित्व के अबूझ रहस्य

  Hindi Astrology: Personality of Gemini Zodiac Sign   “मन कोई ऐसा पात्र नहीं है जिसे भरा जाय, बल्कि एक अग्नि है जिसे प्रज्वलित किया जाय।” – प्लूटार्क Nature of Gemini Zodiac मिथुन राशि का स्वभाव : – जब जन्म कुंडली में चन्द्रमा मिथुन राशि में हो, तो उस व्यक्ति की जन्मराशि मिथुन होती है। मिथुन राशि, राशिचक्र की तीसरी राशि है। इस राशि का विस्तार भचक्र के 60° से Read More

Hindi Taurus Zodiac: वृष राशि के व्यक्तित्व के अबूझ रहस्य

  Hindi Astrology: Personality of Taurus Zodiac Sign   “ताकत और प्रगति, केवल सतत संघर्ष और प्रयासों के जरिये ही आती हैं।” – नेपोलियन हिल   Nature of Taurus Zodiac वृष राशि का स्वभाव : – जब जन्म कुंडली में चन्द्रमा वृष राशि में हो, तो उस व्यक्ति की जन्मराशि वृष होती है। वृष राशि, राशिचक्र की दूसरी राशि है। इस राशि का विस्तार भचक्र के 30° से 60° तक Read More