Breakfast Meaning and Benefits in Hindi

 

“ब्रेकफास्ट दिन का पहला भोजन होता है जिसे ज्यादातर दिन के कामों को शुरू करने से पूर्व अल सुबह लिया जाता है। यह दिनभर मेहनत करने के लिए आवश्यक उर्जा की पूर्ति करता है। ज्यादातर एक्सपर्ट Breakfast को इसके महत्व के कारण, दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन (Most Important Meal of The Day) मानते है। विशेषकर बच्चों के शारीरिक विकास के लिये तो नाश्ता एक अनिवार्य आवश्यकता है।”

 

Breakfast Meaning and Benefits in Hindi
संतुलित और पौष्टिक नाश्ता आपकी स्वस्थ दिनचर्या का अभिन्न अंग है

Breakfast Meaning and Benefits in Hindi में आज हम आपको ब्रेकफास्ट के अर्थ के साथ-साथ, इसके महत्व, इतिहास और फायदों के बारे में भी बताएँगे। Breakfast शब्द का अर्थ है – नाश्ता या सुबह का भोजन। ब्रेकफास्ट का तात्पर्य है – पिछली रात का उपवास तोडना (Break The Fasting Period of The Prior Night)। आम तौर पर लगभग हर इंसान एक दिन में तीन बार भोजन करता है, क्योंकि शरीर को Active रखने के लिये Energy की जरुरत हर किसी को पड़ती है।

हाँ इसके अपवाद रूप में उन लोगों को रखा जा सकता हैं, जो दिन भर एक ही स्थान पर बैठकर काम करते हैं, या फिर उन रोगग्रस्त लोगों को, जो बेचारे शरीर की अक्षमता के कारण सीमित भोजन लेने को मजबूर हैं। कोई भी इंसान बिना कुछ खाये, लम्बे समय तक उतनी ही क्षमता से काम नहीं कर सकता है।

इसीलिये लगभग सभी घरों और कार्यस्थलों में भोजन के दो समय तो नियत रहते ही हैं – एक दोपहर का भोजन और एक रात्रिकाल का भोजन, भले ही उनका समय अलग-अलग क्यों न हो। लेकिन अधिकांश लोग एक तीसरे समय का भोजन भी लेते हैं, जिसे लोग Breakfast यानि नाश्ते के नाम से भी जानते हैं।

Importance of The Breakfast in Hindi नाश्ते का महत्व

Breakfast लेना या न लेना इंसान की भूख पर भी निर्भर करता है और अपनी शारीरिक आवश्यकता और सेहत पर भी। कुछ Physicians का यह मानना है कि आपको Breakfast अनिवार्य रूप से लेना ही चाहिये, क्योंकि यह आपके दिनभर की उर्जा की आवश्यकता की पूर्ति करता है।

उनके अनुसार Breakfast, दोपहर के खाने से भी ज्यादा जरुरी है। इसके पीछे कारण बताते हुए वे कहते हैं कि अगर रात के समय लिया गया भोजन सही तरह से पच गया है, तो आम तौर पर हर इंसान को सुबह सोकर उठने के लगभग 2 से 3 घंटे बाद भूख लगना शुरू हो जाती है, जिसके संकेत शरीर कई बार अपने आप ही देने लग जाता है।

यदि इस समय भोजन न लिया जाय तो शरीर अपने लिये आवश्यक उर्जा की पूर्ति, देह में संचित वसा और प्रोटीन के भंडार से पूरी कर लेता है और पीछे जब आपको खाने का समय मिलता है तो आपकी भूख नदारद हो चुकी होती है। इसका तात्कालिक प्रभाव हमें उस समय नहीं पता चल पाता है।

Breakfast in Hindi अच्छी सेहत के लिये जरुरी है नाश्ता

लेकिन यदि कोई व्यक्ति लंबे समय तक ऐसा करता रहे, तो फिर इसका परिणाम गिरते वजन, खराब स्वास्थ्य और कमजोर शरीर के रूप में भुगतना पड़ सकता है। इसलिये उनके अनुसार अच्छे स्वास्थ्य का आनंद उठाने के लिये नाश्ता जरुर लिया जाना चाहिये। वहीँ कुछ अन्य Nutritionist का यह मानना है कि नाश्ता करने या न करने से आपकी सेहत पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ता है।

इस तरह अगर दोनों पक्षों की मान्यता का तुलनात्मक अध्ययन करें तो पायेंगे कि Breakfast लेने या न लेने का निर्णय व्यक्ति की अपनी आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। जैसे कठोर परिश्रम करने वाले किसान को अनिवार्य रूप से भरपेट नाश्ते की जरुरत होती है, तो वहीँ Desk Job करने वाले Professional के लिये इसकी उतनी आवश्यकता नहीं होगी।

फिर भी हमारा मानना है कि नाश्ता बिल्कुल ही न लेने की तुलना में, थोडा, मगर प्राकृतिक पोषक तत्वों से युक्त हल्का Breakfast लेना ज्यादा बेहतर है। क्योंकि यह आपके शरीर को अतिरिक्त उर्जा देकर अनचाही थकान से बचाता है और शरीर के लिये आवश्यक तत्वों का संतुलन बनाये रखता है। अगर आप सुबह का Breakfast छोड़ देते हैं तो इससे आपके शरीर की कार्यक्षमता प्रभावित होती है

Ultimate Health Benefits of Breakfast in Hindi

1. आपको दिनभर एक्टिव बनाये रखता है नाश्ता

Breakfast Keeps You Active in Hindi: अब हम नाश्ते के बारे में कुछ तथ्य आपके सामने रखना चाहेंगे, जिनके आधार पर आप स्वयं ही इसका निर्णय करें कि क्या नाश्ता लेना उचित है या नहीं? Breakfast लेने का सबसे मुख्य कारण यह है कि इसे लेने से आप दिन-भर चुस्त-दुरुस्त रहते हैं। समय पर नाश्ता न लेने वाले या फिर अपर्याप्त Breakfast करने वाले लोगों को 99% से ज्यादा मामलों में शारीरिक कमजोरी की शिकायत करते पाया गया है।

दरअसल इसका कारण यह है कि दो समय के भोजन के बीच में 6 से 8 घंटे से अधिक का अंतर नहीं होना चाहिये। पर चूँकि रात का ज्यादातर समय सोने में निकल जाता है, इसीलिये अगर कोई व्यक्ति नाश्ता न करके सिर्फ दो ही समय का भोजन करें, तो उसका शरीर उर्जा की बहुत ज्यादा कमी महसूस करने लगता है। क्योंकि रात्रि के भोजन और लंच में 15 से 18 घंटे का अंतर हो सकता है।

चूँकि शरीर में हर समय सैकड़ों जैव-रासायनिक क्रियाएँ हमेशा चलती रहती हैं, इसीलिये समय पर आवश्यक उर्जा की पूर्ति होनी बेहद जरुरी है। ऐसा नहीं होने पर मानव शरीर, शरीर में संचित पोषक तत्वों जैसे कि वसा और प्रोटीन को ही इस्तेमाल में लेना शुरू कर देता है। इसीलिये अपने Breakfast पर जरुर ध्यान दें, क्योंकि यह न केवल शरीर के लिये आवश्यक उर्जा की पूर्ति करता है, बल्कि आपके मूड को भी अच्छा बनाये रखता है।

2. दिल के रोगों से बचाकर रखता है नाश्ता

Breakfast Protects from Heart Disease in Hindi: आहार पर हुए शोधों में सिद्ध हुआ है कि प्रतिदिन नियमित रूप से ब्रेकफास्ट लेने से चयापचय की समस्याओं (Metabolic Disorders) और दिल के रोगों (Cardiovascular Diseases) के होने का का खतरा कम हो सकता है। आपका Metabolism सही रहे, इसके लिए जरुरी है कि आप सही समय पर नाश्ता लें। वैसे ज्यादातर प्रोफेशनल ओपिनियन नाश्ते की हिमायती हैं।

ओमेगा-3 फैटी एसिड से युक्त Breakfast लेने से आप अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं। क्योंकि यह आपके Heart की कोशिकाओं और माँसपेशियों की हीलिंग पॉवर को बढाता है, सिर्फ इतना ही नहीं यह हार्ट अटैक की सम्भावना को भी कम करता है।

सन 2017 में जर्नल ऑफ़ अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ कार्डियोलोजी में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, जो लोग Breakfast छोड़ देते हैं, उनके एथेरोस्केलोरोसिस से पीड़ित होने की सम्भावना बढ़ जाती है। इस बीमारी में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

3. मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है नाश्ता

Breakfast Improves Brain Performance in Hindi: ब्रेकफास्ट, मानसिक एकाग्रता के स्तर में सुधार लाता है। एक कहावत है – “भूखे भजन न होये गोपाला”, अर्थात भूखा होने पर तो भजन भी नहीं हो सकता। फिर आपका मस्तिष्क कैसे काम करेगा, इसीलिये ब्रेकफास्ट जरुर लें।

एक शोध में पाया गया है कि Breakfast आपकी Memory और Creativity को बेहतर बनाता है, इसीलिये नाश्ता जरुर लेना चाहिये। Parents अपने टीनऐज बच्चों के सम्बन्ध में यह बात विशेष रूप से ध्यान रखें। Breakfast में Brain Nourishing Foods लेने से, आप खुद को पार्किन्सन और अल्झाइमर जैसे रोगों से बचा सकते हैं।

4. मोटापे की समस्या को दूर करता है नाश्ता

Breakfast Aids in Weight Management in Hindi: कुछ विशेषज्ञों के अनुसार, नाश्ता मोटापे को नियंत्रित करता है, क्योंकि यह वजन को कम करता है। Breakfast न लेने पर, बढ़ी हुई एनर्जी डिमांड को पूरा करने के लिए आप अनजाने में ही ज्यादा कैलोरी ग्रहण कर लेते हैं।

कई शोध में यह सिद्ध हुआ है कि सुबह का Breakfast लेने से, दिनभर में उठने वाली भूख की तलब और क्रेविंग्स पर लगाम लगती है। सन 2011 में जर्नल ऑफ़ न्यूट्रिशन में भी इस बात की पुष्टि हुई थी कि Breakfast आपकी भूख का स्तर घटा देता है। याद रखिये, अपने आप को भूखा मारना, वजन कम करने का खराब उपाय है।

5. डायबिटीज का खतरा कम होता है नाश्ते से

Breakfast Saves from Diabetes in Hindi: पोषक तत्वों से भरपूर और संतुलित ब्रेकफास्ट, न सिर्फ आपके सही शारीरिक विकास के लिये बेहद जरुरी है, बल्कि यह आपकी ब्लड शुगर को सही रखने से लेकर, वजन कम करने तक में मददगार है। 10 साल तक चली एक स्टडी से पता चला है कि Breakfast लेने से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

इसका संभावित कारण यह है कि Breakfast छोड़ने से इन्सुलिन रेजिस्टेंस का खतरा पैदा हो जाता है। डायबिटीज से पीड़ित रोगियों को Breakfast नहीं छोड़ना चाहिये। क्योंकि घंटों अपने पेट को खाली रखने से आपकी ब्लड शुगर का स्तर कम होने लगता है, जो दूसरी कई बीमारियों को जन्म दे सकती है। शुगर के रोगियों के लिये, साबुत अनाज, कम वसा वाले डेयरी उत्पाद और जौ से बनी चीजें फायदेमंद हैं।

Wonderful Benefits of The Breakfast in Hindi

6. शरीर को स्वस्थ और शक्तिशाली बनाता है नाश्ता

Breakfast is Helpful for Athletes in Hindi: अगर आप अपने ब्रेकफास्ट की क्वालिटी और टाइमिंग पर ध्यान दे सकें, तो खुद को न सिर्फ कई बीमारियों का शिकार होने से बचा सकते हैं, बल्कि एक स्वस्थ और शक्तिशाली शरीर के मालिक भी बना सकते हैं।

पहलवान, एथलीट और भारी वर्कआउट करने वाले लोग अपने Breakfast पर बहुत ध्यान देते हैं। Breakfast आपके शारीरिक और मानसिक विकास के लिये अनिवार्य है, फिर चाहें आप इस बात को स्वीकार करें या न करें।

7. थकान और अनिद्रा से मुक्ति दिलाता है नाश्ता

Breakfast Wards off Insomnia and Lithargy in Hindi: शरीर को एक्टिव रखने के लिए भी नाश्ता बहुत जरुरी है, वरना जल्दी थकने और काम के समय में ऊँघने की दिक्कत परेशान करती है। सही Breakfast करने वाले लोगों को असमय की निद्रा और शारीरिक थकान से मुक्ति मिल जाती है, क्योंकि शरीर में उर्जा की कमी ही इन समस्याओं की असली वजह है।

8. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है नाश्ता

Breakfast Boosts Your Immune System in Hindi: अगर आप Breakfast में Grapefruit, Lemon, Orange जैसे खट्टे फल लेते हैं, तो अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकते हैं और Immunity बढ़ने से लम्बे समय तक रहने वाले रोगों (Chronic Disease) का खतरा कम हो जाता है।

Other Health Benefits of Breakfast नाश्ते के अन्य फायदे

9. अगर आप अपने Breakfast में कैल्शियम से भरपूर चीजें लेते हैं, तो आपकी हड्डियाँ लम्बे समय तक मजबूत बनी रहती हैं। इसके लिये आपको अपने भोजन में Milk, Butter, Cheese जैसी चीजें लेनी चाहिये।

10. बहुत से लोगों को खाली पेट, गैस, पेट फूलने, एसिडिटी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे लोगों की समस्या Breakfast लेने से दूर हो जाती है।

11. प्रतिदिन सुबह का नाश्ता लेने से कोलेस्ट्रॉल का खतरा कम होता है, विशेषकर LDL cholesterol का स्तर कम करने में।

12. अपनी आँखों को सुरक्षित रखने के लिए, आपको अपने Breakfast में विटामिन A से भरपूर चीजें लेनी चाहियें।

13. इसके अलावा अगर आप अपनी Skin को जवां और खिली-खिली बनाये रखना चाहते हैं, तो Breakfast जरुर लें।

14. कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि नाश्ता करने से Chronic Disease के होने का खतरा कम हो जाता है।

15. नाश्ता करने वाले लोग, स्वस्थ जीवनशैली का पालन करने वाले होते हैं।

Amazing History of The Breakfast in Hindi

नाश्ते का सम्पूर्ण इतिहास जानिये

प्रत्येक देश में ब्रेकफास्ट की अलग परंपरा है। जैसे बर्मा में तमिन जॉ पारंपरिक नाश्ता है, जो उबली हुई मटर, फ्राई राइस और ग्रीन टी से मिलकर बनता है। यह विशेष रूप से गरीबों का ब्रेकफास्ट है। इसके अलावा वहां काओ ह्न्यीं, नान, ईजा गवे, और मोहिंगा जैसे ब्रेकफास्ट का भी चलन है। वहीँ चीन में ब्रेकफास्ट में प्रान्त अनुसार कई प्रकार की वैरायटी देखने को मिलती हैं।

चीनी लोग अपने ब्रेकफास्ट में मुख्य रूप से मीठे या नमकीन पैनकेक, सूप, अच्छी तरह से भुनी हुई ब्रेड, डूनट्स, बंद, हलवा और नूडल्स खाना पसंद करते हैं। इन चीजों को अक्सर चाय, या मीठे सोयाबीन दूध से खाया जाता है। वहीँ जापानी लोग, मिसों सूप के साथ उबले हुए सफ़ेद चावल और जापानी स्टाइल में डला अचार खाना पसंद करते हैं।

अक्सर एक कच्चा अंडा और नोरी (सूखे सीवीड से तैयार) भी नाश्ते में सर्व की जाती है। आम तौर पर ग्रिल्ड मछली और जापानी ग्रीन टी भी नाश्ते में परोसी जाती है। हालाँकि आज जापानी बच्चे, अमेरिकी बच्चों की तरह वेस्टर्न स्टाइल ब्रेकफास्ट ज्यादा अपनाने लगे हैं, जिसमे वह अक्सर कॉर्नफ्लेक, और दूध, गर्म चोकलेट या फ्रूट जूस लेते हैं।

दुनिया भर के देशों में है नाश्ते का चलन

जापानी व्यस्क, टोस्ट के साथ, Butter और जैम, अंडे, और सब्जियों की स्लाइस लेते हैं। कोरियाई ब्रेकफास्ट में मुख्य रूप से चावल और सूप की डिश शामिल होती हैं, जिसमे थोड़ी मात्रा में मछली और बीफ और हलवे का कोई प्रकार शामिल हो सकता है। पनामा और कोस्टारिका जैसे मध्य अमेरिकी देशों में भारी नाश्ते का चलन है। यूरोपीय देशों में ब्रेकफास्ट को लंच और डिनर की ही तरह महत्व दिया जाता है।

खान-पान के मामले में अपना भारत, दुनिया के बाकी देशों से कहीं ज्यादा आगे है। अपने देश में ऐसे कम से कम 25 ब्रेकफास्ट हैं, जिन्हें ज्यादातर भारतीय आहार में शामिल करते हैं। इनमे से प्रत्येक ब्रेकफास्ट में 100 से भी ज्यादा भोज्य पदार्थ शामिल हो सकते हैं। नाश्ते के मामले में भारत के प्रत्येक राज्य की अपनी विशेषता है, इसीलिये Indian Breakfast का कोई सिंगल स्टैण्डर्ड नहीं है।

यहाँ क्षेत्र बदलते ही नाश्ते का स्वरुप बदल जाता है, लेकिन फिर भी ब्रेकफास्ट वैरायटी को दो भागों में बाँटा जा सकता है – उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय। भारत के पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों की भी ब्रेकफास्ट के मामले में अपनी अलग संस्कृति है।

ब्रेकफास्ट में मामले में भी सबसे आगे है भारत

जैसे पारंपरिक दक्षिण भारतीय नाश्ते में इडली, वडा और डोसा की प्रधानता होती है, जिसे सांभर या नारियल की चटनी के साथ खाया जाता है। इन डिशों की भी कई वैरायटी देखने को मिलती है, जैसे कि रवा इडली, सांबर वडा और मसाला डोसा। इनके अलावा अन्य प्रसिद्ध, दक्षिण भारतीय ब्रेकफास्ट में पोंगल, बिसीबेलेबाथ, उपमा और पूरी प्रमुख है। केरल में कुछ अलग नाश्ते की डिशेज जैसे कि अप्पम, परोठा, पुट्टू, इडियाप्पम और पलप्पम भी खायी जाती हैं।

वहीँ उत्तर भारतीय नाश्ते में मुख्य रूप से चपाती और परोठे को अचार, दही, मट्ठे और सब्जी से खाया जाता है। पराठों की स्टाफिंग के आधार पर, कई प्रकार की वैरायटी देखने को मिलती हैं – जैसे पनीर पराठा, आलू पराठा, प्याज पराठा, गोभी पराठा, मूली पराठा, आदि। इसके अलावा पूरी भाजी, पोहा और भिन्डी भुजिया भी प्रसिद्ध ब्रेकफास्ट में से एक हैं।

पश्चिमी भारत और विशेषकर गुजरात में, ढोकला, खखरस, या थेपला को ब्रेकफास्ट में खाया जाता है। महाराष्ट्र में नाश्ते में कांदे पोहे, उपमा, उक्कड़, थालीपीठ, और मसालेदार पूरी खायी जाती है। कभी-कभी चपाती रोल, चपाती भाजी, और बड़ा पाव को चाय के साथ लिया जाता है।

Types of The Breakfast in Hindi नाश्ते के प्रकार

वैसे तो नाश्ते में शाकाहार और माँसाहार दोनों को ही शामिल किया जा सकता है, लेकिन शाकाहार अधिक फायदेमंद हैं। जिन लोगों को सुबह के समय भूख लगती है, उन्हें प्रोटीन से भरपूर Healthy Breakfast करना चाहिये। इससे उन्हें अपना वजन नियंत्रित रखने में भी मदद मिलेगी, लेकिन बिना भूख के कुछ नहीं खाना चाहिए।

अन्यथा इससे आपके पाचक अंगों विशेषकर Liver और Intestine पर दबाव पड़ता है और वह भोजन आपके शरीर के लिये विष से कम सिद्ध नहीं होगा। अब हम आपको कुछ प्रमुख Breakfast के बारे में बता रहे हैं।

अपने ब्रेकफास्ट में दूध और फल को जरुर शामिल करें

1. यदि नाश्ते में साबुत अनाजों और कच्ची या उबली हरी सब्जियों का प्रयोग किया जाय तो यह शरीर के लिये आवश्यक Vitamin और Minerals की पूर्ति आसानी से कर लेता है। इतना ही नहीं, इन्हें लेने से पाचन तंत्र भी सुधरता है और खुलकर भूख लगती है।

2. दूध एक Complete Food है। कठोर शारीरिक परिश्रम करने वाले लोगों को छोड़कर, यह हर इंसान के लिये सर्वोत्तम Breakfast है। यह हड्डियों, मांसपेशियों, पाचन संस्थान और मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिये विशेष रूप से लाभकारी है।

3. कमजोर पाचन शक्ति वाले लोगों के लिये दही एक सुपाच्य नाश्ता है। क्योंकि इसमें पाये जाने वाले Lactobacillus Bacteria इसके पाचन को सरल बना देते हैं और दूसरे हानिकारक बैक्टीरिया को भी नष्ट करके पाचन संस्थान को स्वस्थ रखते हैं।

4. नाश्ते में फलों का सेवन करना विशेष रूप से लाभप्रद है, जैसे – सेव, पपीता और अनार आदि जो दिल, यकृत, आँतों, और तंत्रिका तंत्र पर अत्यंत सकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

ब्रेकफास्ट में आनंद उठायें इन रेसिपीज का

5. ब्रेकफास्ट में इडली, वडा, कॉर्नफ्लेक्स, अंकुरित दालें, उपमा, सूप, दही-पराठा जैसे व्यंजन भी शामिल किये जा सकते हैं।

6. आप चाहें तो नाश्ते में खाली पेट लेमन टी या ग्रीन टी पी सकते हैं, लेकिन चाय, कॉफ़ी और कैफीनयुक्त पेय न पियें।

7. दूध, दलिया, और प्रमुख ड्राई फ्रूट्स से तैयार ओटमील, ब्रेकफास्ट की एक लजीज और शानदार डिश है।

8. अगर आप नॉन वेजिटेरियन हैं, तो उबले अंडे या आमलेट, चपाती के साथ ले सकते हैं।

9. लो फैट योगर्ट, केला और पोहा जैसी डिश भी ब्रेकफास्ट के लिए एक अच्छी चॉइस हैं।

Breakfast Keeps You Healthy नाश्ता आपको स्वस्थ रखता है

Breakfast की Importance के बारे में चाणक्यनीति की यह उक्ति बिल्कुल सही बैठती है – किसी व्यक्ति को सुबह का भोजन राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिये, अर्थात Breakfast पौष्टिक चीजों से भरपूर और भरपेट होना चाहिये।

चाणक्य के ऐसा कहने का कारण यह है, क्योंकि Breakfast लेने के बाद व्यक्ति को शाम तक कार्य-व्यवसाय के कारण लगातार व्यस्त रहना पड़ता है, जिससे भारी से भारी भोजन भी जल्दी ही पच जाता है। पर चूँकि रात में भोजन के कुछ देर बाद ही व्यक्ति सोने चला जाता है, इसीलिये पेट सही रखने के लिए हल्का भोजन ही लेना चाहिये।

उम्मीद है अब तो आप भी समझ गए होंगे कि अच्छी सेहत के लिये एक Healthy Breakfast कितना जरुरी है। इसलिये आज ही इस बात का निश्चय कर लें कि कल से ही आप नाश्ता लेना शुरू कर देंगे।

“सही पोषक तत्वों से युक्त नाश्ता लेने से मानसिक स्थिरता बढती है और आप Mental Works में ज्यादा बेहतर Performance दे सकते हैं। नाश्ता नहीं करने वाले लोगों की तुलना में, नाश्ता करने वाले लोग अधिक स्वस्थ, क्रियाशील और उत्साही होते हैं।”

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •