10 Best Food for A Healthy Body in Hindi

 

“भोजन (Food) सिर्फ जिन्दा रहने के लिये ही नहीं, बल्कि शरीर को स्वस्थ और बलवान बनाये रखने के लिये भी एक अनिवार्य आवश्यकता है। अगर सिर्फ जिन्दा रहना ही उद्देश्य हो, तो कुछ भी खाकर जिया जा सकता है। लेकिन अगर संसार का भरपूर आनंद लेते हुए, एक सफल और सुखकर जीवन जीने की चाह है, तो भोजन की गुणवत्ता और उसके पोषणीय महत्व पर भी ध्यान देना होगा।”

 

10 Best Food for A Healthy Body in Hindi
मानव स्वास्थ्य के लिये सर्वश्रेष्ठ भोजन हैं यह चीज़ें

कहते हैं कि तंदुरुस्ती दुनिया की सबसे बड़ी दौलत है और व्यवहार में भी ऐसा ही पाया जाता है कि सबसे ज्यादा सुखी इन्सान वही है, जिसकी काया सुखी है। किसी इन्सान के पास करोड़ों रूपये की दौलत हो और साथ ही उसे सुख/भोग का हर साधन भी उपलब्ध हो, लेकिन अगर उसका शरीर रोगग्रस्त हो, तो फिर उसे उस धन-दौलत से भी कोई संतोष नहीं हो सकता। क्योंकि यदि देह ही पीड़ा से त्रस्त हो, तो फिर बड़े से बड़ा सुख भी आखिर किस काम का!

Healthy Food in Hindi स्वास्थ्यप्रद भोजन

शरीर को स्वस्थ और सबल बनाये रखना, हर इंसान का पहला कर्तव्य है और इसमें हमारी सहायता करता है – Food यानि आहार। वैसे तो भोजन के चुनाव में प्रत्येक व्यक्ति स्वतंत्र है। आप अपनी इच्छानुसार शाकाहार (Vegetable Food) या माँसाहार (Non-veg Food) कोई भी विकल्प चुन सकते हैं, लेकिन मनुष्य की शारीरिक संरचना के आधार पर, भारत के प्राचीन चिकित्सा विज्ञानियों ने, शाकाहार को मनुष्य के लिये सर्वश्रेष्ठ आहार घोषित किया है।

अगर कुछ वैज्ञानिकों को छोड़ दिया जाय, तो आज भी ज्यादातर आधुनिक चिकित्सक, इसी मत का समर्थन करते हैं। सभी उत्तम स्वास्थ्य का आनंद उठायें, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिये, आज हम आपको शरीर और मन को स्वस्थ रखने के लिये आवश्यक, उन Healthy Food के बारे में बता रहे हैं, जो न सिर्फ बलवर्धक और रोगनाशक हैं, बल्कि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) को भी सशक्त बनाते हैं।

यह आहार जीवनी शक्ति से भरपूर हैं और आपके स्वास्थ्य को बुढ़ापे में भी अक्षुण्ण रखने में मददगार होंगे। इन आहारों (Food) की सबसे बड़ी बात यह है कि यह पूर्ण रूप से प्राकृतिक हैं और जीवों को कष्ट पहुँचाये बिना हासिल होते हैं। वैसे भी वह भोजन, क्या आहार माना जा सकता है जो किसी प्राणी को दर्द देकर हासिल होता हो, और क्या कोई जीवनी शक्ति उसमे बची होगी, जिसमे स्वयं ही जीवन शेष न हो।

1. Fruits फल

Healthy Food 1: यदि ऐसे किसी एक आहार (Food) का नाम लेना हो जो स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोषक तत्वों से भी भरपूर हो और साथ ही आसानी से उपलब्ध भी हो जाय, तो सबसे पहले हर किसी को सिर्फ फलों का ही ध्यान आयेगा। अच्छी सेहत के लिये फल कितने जरुरी हैं, इसका वर्णन हमने Health Benefits of Fruits in Hindi में किया है। फल न केवल पचने में अत्यंत सुपाच्य हैं, बल्कि यह शरीर की जैव-रासायनिक क्रियाओं के लिये अनिवार्य माने जाने वाले विटामिन और मिनरल्स का भी प्रचुर स्रोत हैं।

शरीर का ऐसा कोई अंग नहीं है जिसके स्वास्थ्य और कार्यकुशलता को बेहतर बनाने में, फल अपना योगदान न देते हों। रोगियों का तो इन्हें मित्र ही कहा गया है, क्योंकि पाचन सरल होने के कारण, यह उनके कमजोर शरीर पर बिल्कुल भी भार नहीं डालते हैं।

एनर्जी ड्रिंक के रूप में भी फलों का जूस, किसी बहुराष्ट्रीय कंपनी के डिब्बाबंद उत्पाद की तुलना में कहीं ज्यादा सस्ता, गुणकारी व प्राकृतिक है और किसी भी तरह की मिलावट और हानिकारक पदार्थ से रहित है। इन फलों में भी पपीता, सेव, अमरुद, अनार, आम, केला, जामुन और नारियल विशेष रूप से उपयोगी हैं।

Best Healthy Food for Body in Hindi

2. Vegetables सब्जियाँ

Healthy Food 2: आहार की बात हो और उनमे सब्जियों का नाम न हो, ऐसा कैसे संभव हो सकता है। आखिर सूखी रोटियों को गले से नीचे उतारने के लिये भी तो कुछ चाहिये। लेकिन यह मानना सही नहीं होगा कि सब्जियों की महत्ता सिर्फ उनके स्वादिष्ट और रुचिकर होने तक ही सीमित हैं। फलों की ही तरह सब्जियाँ भी शरीर के लिये अनिवार्य कई तरह के विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होती हैं।

रोगों से लड़ने के लिये आवश्यक पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स भी इनमे भरे होते हैं। जब कभी आप बीमार पड़ जाते हैं, तो चिकित्सक आपको कुछ विशेष सब्जियाँ खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि वह न केवल पचने में सरल होती हैं, बल्कि उनमे रोगहर गुण भी होते हैं। ऐसी सब्जियों में लौकी, तोरी, करेला, परमल, मूली, गाजर, गोभी और पत्तेदार सब्जियाँ प्रमुख हैं।

3. Grains अनाज

Healthy Food 3: अन्न को धार्मिक ग्रंथों में देवता की संज्ञा दी गयी है और इसका यह नाम पूरी तरह सार्थक भी है। क्योंकि यह प्राणियों को जीवन देने वाला है, सभी प्राणियों के प्राण इसी अन्न पर ही टिके हैं। किसी व्यक्ति को एक या दो दिन ही अन्न न मिले, तो उसे ऐसा मालूम होने लगता है कि जैसे उसके शरीर में अब कुछ करने के लिये ताकत ही न बची हो। अन्न की क्या महत्ता है, इससे कोई भी इंकार नहीं कर सकता।

लेकिन जब इसके नैसर्गिक स्वरुप को नष्ट कर दिया जाता है, तो यही अन्न शरीर को रोगग्रस्त भी बना देता है। अन्न में भी मोटे अनाजों, जैसे जौ, बाजरा, मक्का और चने को विशेष महत्ता दी गयी है। दरअसल इसका कारण छिपा है, इनमे उपस्थित शर्करा की कम मात्रा में। इसके अतिरिक्त रेशे की अधिक मात्रा और बलवर्धक होने के कारण भी, यह अन्न पाचन संस्थान के लिये भी विशेष रूप से उपयोगी हैं।

4. Pulses दालें

Healthy Food 4: दालें प्रोटीन का सबसे मुख्य और प्रचुर स्रोत हैं। चिकित्सा विज्ञानी कहते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति को हर दिन, एक समय अपने आहार में दालों को अवश्य शामिल करना चाहिये। उनके इस कथन में कोई अतिश्योक्ति नहीं है, क्योंकि शरीर में हर समय, टूट-फूट और मरम्मत का कार्य चलता रहता है।

हर दिन करोड़ों कोशिकाओं की मृत्यु होती है और इतनी ही नयी कोशिकाएँ और पैदा हो जाती हैं। शरीर की वृद्धि करने से लेकर, आंतरिक अंगों के स्वास्थ्य को बनाये रखने तक, हर जगह प्रोटीन की आवश्यकता होती है और इसकी पूर्ति का सबसे सरल माध्यम है दालें।

कुछ दालें सुपाच्य, तो कुछ गरिष्ठ भी होती हैं, इसीलिये अपने शरीर की प्रकृति को ध्यान में रखते हुए ही इनका चुनाव करना चाहिये। लेकिन सभी दालें प्रोटीन का शानदार स्रोत हैं। मूँग, मसूर, अरहर, उड़द और चने की दाल, दुनिया में कुछ सबसे ज्यादा खायीं जाने वाली दालें हैं।

5. Herbs जड़ी बूटियाँ

Healthy Food 5: रामायण में जड़ी बूटियों यानि वनौषधियों की शक्तियों का बड़ा अद्भुत वर्णन हुआ है, जब एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में लक्ष्मणजी के प्राण बचाने के लिये संजीवनी बूटी का प्रयोग किया जाता है। यह छोटी सी घटना प्रकृति में मुक्त रूप से उपलब्ध, इन भुला दिये गये दिव्य अनुदानों का एक छोटा सा शक्ति प्रदर्शन है। आयुर्वेद में एक से बढ़कर एक वनस्पितयों का वर्णन हुआ है।

इनकी सबसे अच्छी बात यह है कि कई जड़ी-बूटियों को आहार के रूप में भी खाया जा सकता है, और आहार है भी क्या? जो शरीर को पुष्ट करे, उसकी क्लान्ति मिटाये, उसे जीवनी शक्ति प्रदान करे, उसे रोगग्रस्त न होने दे, वही तो आहार कहलाने योग्य है और यह प्राकृतिक पदार्थ इस कसौटी पर पूरी तरह से खरे उतरते हैं। इनकी थोड़ी सी मात्रा भी, शरीर के स्वास्थ्य को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिये पर्याप्त है।

यह जड़ी-बूटियाँ शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स और अद्भुत रोगनाशक तत्वों से लैस हैं। अच्छी बात यह है कि इनमे से अधिकतर हमारे आस-पास ही उपलब्ध होती है, जैसे – तुलसी, ब्राह्मी, शंखपुष्पी इत्यादि। इनका विशेष वर्णन हमने 10 Amazing Herbs for Human Body in Hindi (चमत्कारिक जड़ी-बूटियाँ) में किया है।

Great Food for A Healthy Body in Hindi

6. Milk दूध

Healthy Food 6: पौराणिक साहित्य में अमृत नाम के एक ऐसे पदार्थ का वर्णन किया गया है, जो निर्बल, कमजोर और मरणासन्न प्राणियों को जीवनीशक्ति देने वाला है। पता नहीं किसी व्यक्ति ने कभी अमृत को देखा भी है या नहीं, लेकिन अगर इसके छिपे अर्थ को देखे, तो पाएंगे कि इस दुनिया में ऐसा एक पदार्थ अवश्य है जिसकी समता इस अमृत से की जा सकती है और यह पदार्थ है दूध, जिसे वैज्ञानिक भी सम्पूर्ण भोजन मानते हैं।

प्रोटीन, वसा, खनिज, और विटामिन सहित इस आहार में वह हर चीज उपस्थित है जिसकी मानव शरीर को आवश्यकता है। हमारे पूर्वज इस सत्य से अच्छी तरह परिचित थे, इसीलिये उन्होंने दूध की पूर्ति हेतु गौपालन पर विशेष बल दिया था। यदि आप विचारपूर्वक इस लेख, 30 Health Benefits of Milk in Hindi को पढें, तो आसानी से समझ जायेंगे कि क्यों दूध को धरती का अमृत कहा गया है।

7. Rasayan रसायन

Healthy Food 7: रसायन वह पदार्थ हैं जो खाये जाने पर मानव शरीर पर एक अद्भुत और चमत्कारिक प्रभाव डालते हैं। रसायन का तात्पर्य उस पदार्थ से है जिसे रासायनिक प्रक्रिया से निर्मित किया गया हो और जब इस शब्द को आहार विज्ञान से जोड़कर देखा जाता है, तो इसका अर्थ है – “वह पदार्थ जो शरीर की धातुओं को पुष्ट करके, देह का कायाकल्प कर देता है।”

इसमें धातुओं के परिशुद्ध और सूक्ष्म अंश से लेकर, पशुओं से उपलब्ध होने वाले पदार्थों को प्रसंस्करित करके बनाये गए द्रव्य भी शामिल हैं। इन रसायनों मे घी, भस्म और अवलेह मिश्रण उल्लेखनीय हैं। प्राचीन काल के प्रसिद्ध रसायनशास्त्री नागार्जुन ने तो रसायनों के द्वारा दीर्घ जीवन का रहस्य तक खोज निकाला था।

सभी रसायनों में घी को एक विशिष्ट स्थान प्राप्त है, विशेषकर गाय के घी की महत्ता के बारे में तो आयुर्वेद विशेषज्ञ कहते नहीं थकते। घी सिर्फ वसा का ही स्रोत नहीं है, जैसा कि कुछ चिकित्सा विज्ञानी समझते हैं। यह एक अद्भुत रसायन है जो शरीर में तेज और ओज को बढ़ाकर, उसे शक्तिसंपन्न बना देता है।

गाय के घी के अविश्वसनीय फायदों के बारे में जानने के लिये पढ़ें – 25 Amazing Health Benefits of Ghee in Hindi

8. Water जल

Healthy Food 8: प्राणियों के जीवन में पानी का क्या योगदान है, इसके बारे में सभी जानते हैं। बिना भोजन किये आदमी कई दिन तक जिन्दा रह सकता है, लेकिन बिना पानी के 72 घंटे से अधिक जी पाना मुश्किल है। आहार का सामान्य अर्थ है – वह पदार्थ जिससे मनुष्य को तृप्ति हो और शरीर में उर्जा का संचार हो।

इसी कारण से जल को भी आहार माना जा सकता है। उपापचय की प्रक्रिया में, शरीर के भीतर बनने वाले विषैले पदार्थ, सिर्फ पानी की सहायता से ही बाहर निकलते हैं। इसके अतिरिक्त यह हर समय, शरीर में अम्ल और क्षार का महत्वपूर्ण संतुलन भी बनाये रखता है। जल अपने आप में एक स्वतंत्र चिकित्सा पद्धति भी है, जिससे कई प्रकार के रोग दूर होते हैं।

जल के महत्व के बारे में विस्तार से जानने के लिये “Amazing Health Benefits of Water in Hindi: जल चिकित्सा” यह लेख ध्यान से पढ़ें और तब आप भी समझ सकेंगे कि जल वास्तव में, शरीर को स्वस्थ रखने के लिये कितना सरल और निरापद उपचार है।

Healthy Food for Humans in Hindi

9. Air वायु

Healthy Food 9: आपमें से बहुत से पाठको को, हवा को आहार के रूप में, देखकर आश्चर्य हुआ होगा। क्योंकि हवा को हम मुँह से नहीं, बल्कि नाक से ग्रहण करते हैं और यह हमारे पेट के अन्दर आहार के रूप में नहीं, बल्कि फेफडों के अन्दर जीवनदायी प्राणवायु के रूप में इस्तेमाल होती है। लेकिन यह तथ्य सिर्फ स्थूल दृष्टि से ही सही है, जैसा कि हमारे चिकित्सा विज्ञानी हमें बताते हैं।

क्योंकि शरीर रचना का जितना ज्ञान, हमारे प्राचीन ऋषि-मुनियों और योगियों को था, उतना अभी तक इन विशेषज्ञों को नहीं हो पाया है। वास्तविकता तो यह है कि वायु को भी, इसमें उपस्थित सूक्ष्म जीवन प्रदायक तत्वों के कारण आहार के रूप में ग्रहण किया जा सकता है, लेकिन इस प्रक्रिया का ज्ञान बहुत ही गुप्त और दुर्लभ है।

आपने पौराणिक कहानियों में ऐसे अनेकों लोगों के बारे में पढ़ा होगा, जो लम्बे समय तक बिना कुछ खाये-पीये रह जाते थे। यहाँ तक कि आधुनिक समय में भी ऐसे कितने ही लोग अभी भी जिन्दा है जो दिनों और महीनों क्या सालों तक कुछ नहीं खाते। वैसे तो ऐसे सैकड़ों योगी, आज भी हिमालय के गुप्त और सिद्ध क्षेत्र में निवास करते हैं, जो वायु के बल पर ही जिन्दा रहते हैं।

लेकिन गुजरात के एक सन्यासी प्रह्लाद जानी, जिन्हें आज लगभग पूरा देश जानता है और जिन्होंने पिछले 75 वर्षों से कुछ भी खाया-पिया नहीं है, इस बात का ज्वलंत प्रमाण है कि अगर इन्सान चाहे तो सिर्फ वायु के  बल पर भी जिन्दा रह सकता है।

10. Meditation ध्यान

Healthy Food 10: अभी तक हमने आहार (Food) के रूप में जिन पदार्थों का वर्णन किया है, वह केवल हमारे शरीर की ही भूख शांत करते हैं। लेकिन मनुष्य सिर्फ हाड-माँस का पुतलाभर नहीं है, वह एक विचारशील और भावनाप्रधान जीव हैं। हमारी तृप्ति केवल स्थूल भोजन खा लेने भर से संभव नहीं है, क्योंकि इससे तो सिर्फ यह चर्म देह ही संतुष्ट होती है। हमारा मन और आत्मा तो तब भी भूखे ही रह जाते हैं, क्योंकि उनका आहार, उनकी ही तरह सूक्ष्म है।

लेकिन उसकी ओर से हम सदा उदासीन बने रहते हैं, मन और आत्मा की तृप्ति होती है – ध्यान से, प्रार्थना से। एकाग्रता की उस अवस्था से, जब संसार के कोलाहल से रहित होकर, हम अपने परम दिव्यस्वरूप का साक्षात्कार करने की ओर अभिमुख होते हैं। महान महात्मा गाँधी कहते थे – “मै एक दिन बिना भोजन किये रह सकता हूँ, लेकिन बिना प्रार्थना किये नहीं रह सकता।

उनकी इस बात का ज्वलंत उदाहरण तब देखने को मिला था, जब एक समय उन्होंने बिना प्रार्थना किये ही भोजन कर लिया था और फिर भूल सुधारने हेतु अगले दिन, पूरे 24 घंटे तक उपवास किया था। आध्यात्मिक विज्ञान के विशेषज्ञ बताते हैं कि ध्यान की गहन अवस्था, शरीर के अन्दर कितने चमत्कारिक परिणाम पैदा कर सकती है और मन और आत्मा को असाधारण तृप्ति दे सकती है।

हमें आशा है 10 Healthy Food for Body in Hindi में दिए गये यह दस आहार, न सिर्फ आपको आहार के वास्तविक अर्थ को समझा पाने में सफल होंगे, बल्कि भोजन के चुनाव में, आपको किन बातों को ध्यान में रखना चाहिये, यह भी बताने में मददगार होंगे।

“जो शरीर के साथ-साथ मन और आत्मा को भी तृप्त कर सके, वही आहार, सर्वश्रेष्ठ आहार है।”

जीवनसूत्र को अपना प्यार बाँटें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •